विज्ञापन
विज्ञापन
गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें
Myjyotish

गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

भारत-नेपाल सीमा पर बनेंगे सुरक्षा के वाच टॉवर

बलरामपुर। भारत-नेपाल सीमा की निगरानी के लिए सुरक्षा के वाच टॉवर का निर्माण कराया जाएगा। नेशनल हाईवे की तरह सीमा से सटी सड़कें बनाई जाएंगी। एसएसबी 9वीं व 50वीं वाहिनी से गृह मंत्रालय ने रिपोर्ट मांगी है।
बजट मिलने के बाद सीमा क्षेत्र में विकास कार्यों का खाका खींचा जाएगा। गृह मंत्रालय ने भारत-नेपाल सीमा पर डेवलपमेंट कराने की पहल की है। वाच टॉवर व चौड़ी सड़क निर्माण होने से सीमा क्षेत्र पर होने वाली देश विरोधी गतिविधियों पर कड़ी नजर रखी जा सकेगी।
गृह मंत्रालय भारत सरकार की तरफ से भारत-नेपाल सीमा क्षेत्र में विकास कार्यक्रमों के तहत वार्षिक कार्ययोजनाओं व त्रैमासिक प्रगति रिपोर्ट उपलब्ध करने के लिए ऑनलाइन प्रबंधन प्रणाली विकसित की गई है।
सीमावर्ती जिले के प्रभारी अधिकारियों के साथ गृह मंत्रालय से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से विकास कार्यों को कराने का ब्यौरा तलब किया जा रहा है। डीएसटीओ संजीव कुमार ने बताया कि जिले के चार ब्लॉकों की सीमा भारत-नेपाल से सटी हुई है।
एसएसबी 9वीं वाहिनी के क्षेत्र में हरैया सतघरवा, तुलसीपुर व गैसड़ी ब्लॉकों की और 50वीं वाहिनी के क्षेत्र में पचपेड़वा ब्लॉक की सीमा जुड़ी है। सीडीओ रिया केजरीवाल से 9वीं वाहिनी के सहायक कमांडेंट ने बताया कि हरैया सतघरवा, तुलसीपुर व गैसड़ी सीमा पर नेशनल हाइेव, राजमार्ग व अन्य मार्गों की मरम्मत कराने की आवश्यकता है।
मार्गों पर प्रकाश की कोई व्यवस्था नहीं है। भारी ट्रकों के पार्किंग व नई तकनीक से सघन सुरक्षा जांच की कोई व्यवस्था नहीं है। सीमा क्षेत्र में वाच टॉवर भी नहीं लगे हैं। एसएसबी 50वीं वाहिनी के सहायक कमांडेंट ने बताया कि पचपेड़वा ब्लॉक में आने वाले नेशनल हाईवे, राजमार्ग व अन्य मार्गों की स्थिति दयनीय है।
मरम्मत व चौड़ीकरण कराने की आवश्यकता है। वन क्षेत्र की छह सीमा चौकियों तक जाने के लिए कोई मार्ग नहीं है। सीमावर्ती मार्गों पर प्रकाश की कोई व्यवस्था नहीं है। ट्रकों की चेकिंग निरंतर की जा रही है। ट्रकों के ओवरलोड पाए जाने पर कार्रवाई भी की जा रही है।
क्षेत्र की चार सीमा चौकी त्रिलोकपुर, मजगवां, बेलभरिया व गिधवा में वाच टॉवर लगाने का प्रस्ताव भेजा गया है जो प्रस्तावित है। दोनों वाहिनी के प्रस्तावों को गृह मंत्रालय को भेजा गया है। गृह मंत्रालय से बजट मिलने के बाद भारत-नेपाल सीमा पर नेशनल हाइवे जैसी सड़कों का निर्माण, मार्गों पर प्रकाश की व्यवस्था, वाच टॉवरों के निर्माण, ट्रकों के पार्किंग व सघन सुरक्षा जांच जैसे सभी विकास कार्य कराए जाएंगे।
भारत-नेपाल सीमा से सटे क्षेत्रों में नेशनल हाइवे जैसी सड़कों, मार्गों पर प्रकाश की व्यवस्था, वाच टॉवरों के निर्माण, ट्रकों के पार्किंग व सघन सुरक्षा जैसे विकास कार्यों को कराने के लिए गृह मंत्रालय को रिपोर्ट भेजी गई है।
... और पढ़ें

उल्टी-दस्त से एक की मौत, 12 बीमार

बलरामपुर। सीएचसी तुलसीपुर क्षेत्र के ग्राम लछुआपुर में संक्रामक रोग का प्रकोप कम नहीं हो रहा है। गांव में उल्टी-दस्त से एक 50 वर्षीय महिला की मौत हो गई है वहीं 12 लोग बीमार हैं। संक्रामक रोग से पीड़ित सभी मरीजों का इलाज निजी चिकित्सकों के यहां चल रहा है। गांव में स्वास्थ्य विभाग की टीम अभी नहीं पहुंची है।
बताते चलें की तुलसीपुर व हरैया सतघरवा ब्लॉक के तमाम गांवों में संक्रामक रोग फैला हुआ है। शुक्रवार को सीएचसी तुलसीपुर क्षेत्र के लछुआपुर गांव में उल्टी-दस्त से 50 वर्षीय महिला कमला देवी की मौत हो गई है। गुरू प्रसाद, मझिला, रीता, सनेही, राधारानी, वीपत, प्रधान, अंकिता, अंशिका, खुश्बू, भोला व दिवसी उल्टी-दस्त से पीड़ित हैं।
सभी लोगों का इलाज आसपास के निजी चिकित्सकों द्वारा किया जा रहा है। ग्रामीणों का आरोप है कि गांव में संक्रामक रोग फैलने की सूचना विभागीय अधिकारियों को दी गई है इसके बावजूद गांव में अभी तक कोई टीम नहीं पहुंची है। सरकारी अस्पताल होने के कारण पीड़ित प्राइवेट डाक्टरों के यहां इलाज कराने को विवश हैं।
ग्रामीणों ने गांव में स्वास्थ्य विभाग की टीम भेजकर दवा वितरण कराने तथा नालियों में कीट नाशक का छिड़काव कराए जाने की मांग जिलाधिकारी से की है। इस संबंध में सीएचसी तुलसीपुर के अधीक्षक डॉ. सुमंत सिंह चौहान ने बताया कि शुक्रवार की शाम को गांव में संक्रामक रोग फैलने की सूचना मिली है।
गांव में स्वास्थ्य विभाग की टीम भेजी जा रही है। आवश्यकता पड़ने पर बीमार लोगों को अस्पताल लाकर इलाज किया जाएगा। उन्होंने गांव वालों को पानी उबालकर पीने तथा साफ-सफाई रखने का सुझाव दिया है।
... और पढ़ें

फरार ब्लाक प्रमुख की बढ़ी मुसीबत, इनाम घोषित

बलरामपुर। बीते दिनों जमीन के विवाद में वकील से मारपीट और पुलिस कर्मियों के साथ हुई अभद्रता के मामले में पुलिस ने आरोपी हरैया सतघरवा के ब्लॉक प्रमुख विशाल सिंह मुसीबत बढ़ती हुई दिख रही है।
मामले में फरार चल रहे ब्लाक प्रमुख के खिलाफ पुलिस ने 25 हजार का इनाम घोषित कर दिया है। कोर्ट से उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट भी जारी हुआ है। पुलिस ब्लाक प्रमुख के शरणदाताओं को भी चिह्नित उनके खिलाफ कार्रवाई करने की तैयारी कर रही है।
नगर कोतवाल संजय कुमार दुबे ने शुक्रवार को बताया कि बीते 10 अक्तूबर को मेवालाल पुलिस चौकी के निकट जमीन विवाद को लेकर सनातन देव त्रिपाठी व विशाल सिंह के बीच मारपीट हुई थी।
ब्लॉक प्रमुख व उनके सहयोगियों ने मौके पर पहुंचे पुलिसकर्मियों के खिलाफ अभद्रता कर उनका मोबाइल भी छीन लिया था। मामले में सनातन देव त्रिपाठी तथा पुलिस कर्मी कन्हैया लाल की तहरीर पर ब्लॉक प्रमुख विशाल सिंह व अन्य 20 अज्ञात के खिलाफ विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया गया था।
विशाल सिंह फरार चल रहे हैं। उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने 25 हजार का इनाम घाषित किया है। साथ ही साथ उनके खिलाफ न्यायालय से गैर जमानती वारंट भी जारी किया गया है। उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार दबिश दे रही है। पुलिस फरार ब्लाक प्रमुख के शरणदाताओं को भी चिह्नित कर रही है। इनके खिलाफ भी विधिक कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

वीकली प्लान की खबर.

बलरामपुर। आजादी के सात दशक बाद शहर में सीवर लाइन के निर्माण का काम कार्यदायी संस्था ने शुरु कर दिया है। सरकार ने 123 करोड़ की लागत से बनने वाली सीवर लाइन के लिए 61.88 करोड़ की पहली किश्त जारी कर दी है।
यह स्वीकृति प्रधानमंत्री जनकल्याण मिशन के तहत दी गई है। इस प्रोजेक्ट के बनने से न केवल शहर को गंदे पानी व जलभराव से निजात मिलेगी बल्कि ठोस कचरे से जैविक खाद भी तैयार की जाएगी।
कार्यदायी संस्था सीएनडीएस के नलकूप विंग ने आनंदबाग के पास सीवर लाइन निर्माण का काम शुरू कर दिया है। विशुनापुर तथा कालीथान के पास सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट बनाया जाएगा। सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट बनने के बाद 100 किमी के दायरे में पाईप लाइन तैयार की जाएगी। पहले चरण में 29 किमी पाईप लाइन तैयार की जाएगी।
नगर पालिका के नालों तथा नालियों पर लोगों ने अतिक्रमण कर लिया है। यही कारण है कि वर्तमान समय में बारिश होने पर शहर के लगभग सभी वार्डों के लोग जलभराव की समस्या से जूझते हैं। नालियां चोक होने के कारण कई जगह गंदा पानी सड़कों पर बहता रहता है। मोहल्ला गोविंदबाग, चिकनी, सिविल लाइन, पहलवारा, तुलसीपार्क, नई बस्ती, गदुरहवा, नौशहरा आदि मोहल्लों में यह समस्या बढ़ती जा रही है।
-सीवर लाईन से शहर के सभी मकानों को जोड़ा जाएगा। सीवर लाइन से निकलने वाले गंदे पानी को विशुनापुर तथा कालीथान के पास 6500 वर्ग मीटर में बनने वाले ट्रीटमेंट प्लांट में शोधित कर इसे कटराशंकर नगर गांव के पास चांदे ताल में छोड़ा जाएगा। यहीं से यह पानी राप्ती नदी में जाकर मिलेगा।
... और पढ़ें

कटान प्रभावित क्षेत्रों में किए जाएंगे इंतजाम

बलरामपुर। कटान प्रभावित क्षेत्रों के पीड़ितों को सरकार की तरफ से मदद मुहैया कराई जाएगी। यह आश्वासन एडीएम राम अभिलाष ने रविवार को सदर तहसील क्षेत्र के राप्ती नदी के कटान प्रभावित क्षेत्रों का निरीक्षण करते हुए पीड़ितों को दिया।
सदर तहसील के कल्याणपुर सहित कई अन्य स्थानों पर राप्ती नदी कटान कर रही है। डीएम श्रुति के निर्देश पर रविवार को एडीएम ने सदर एसडीएम राजेंद्र बहादुर एवं आपदा सलाहकार सचिन मदान के साथ कटान प्रभावित स्थलों का निरीक्षण किया।
निरीक्षण के दौरान उन्होंने प्रभावित क्षेत्रों में कटान रोकने का निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिया। कटान पीड़ितों को सरकार की तरफ से हर संभव सहायता दिलाए जाने का आश्वासन भी दिया।
विदित हो कि जिले के दर्जनों गांव राप्ती नदी की कटान की जद में हैं। कटान की वजह से प्रतिवर्ष सैकड़ों हेक्टेअर खेत व किसानों का जमीन तथा मकान राप्ती नदी की धारा में विलीन हो जाती है। कटान से प्रभावित पीड़ित पलायन करने को मजबूर हो जाते हैं।
... और पढ़ें

एक की मौत के बाद जागा स्वास्थ्य महकमा, बांटी दवाएं

बलरामपुर। लछुआपुर में अज्ञात बीमारी से हुई मौत के बाद स्वास्थ्य महकमा आखिरकार जाग गया। गुलरिहा हिसामपुर पीएचसी की मेडिकल टीम ने बीते दिन गांव में पहुंचकर दवाओं का वितरण किया और ग्रामीणों को सेहतमंद रहने के बारे में सलाह दी।
गौरतलब हो कि थाना महराजगंज लछुआपुर गांव में बीते दिन 50 वर्षीय कमला देवी की अज्ञात बीमारी से मौत हो गई थी। शनिवार को पीएचसी गुलरिहा हिसामपुर की मेडिकल टीम ने 105 मरीजों को निशुल्क दवाओं का वितरण किया। चिकित्सक डा. सलमान ने ग्रामीणों को सुझाव देते हुए कहा कि बरसात के बाद अक्सर संक्रामक बीमारियां पांव पसारती हैं।
संक्रामक बीमारियों से बचने के लिए हम सभी को सतर्क रहने की जरूरत है। ताजे भोजन व फलो का प्रयोग करें। बासी व कटे फलों का प्रयोग कदापि न करें। सब्जियों को अच्छी तरह से धोंए।
पानी को उबालकर ठंडा करें फिर उसका उपयोग करें। घरों के आस पास गंदगी न होने दें। सोते समय मच्छरदानी का प्रयोग करें। पूरी बांह का कपड़ा पहने जिससे मच्छरों से सुरक्षित रहें। मेडिकल टीम ने गांव में दवाओं का वितरण करने के साथ-साथ नालियों में कीटनाशक पाउडर का छिड़काव कराया। राकेश, रंजीत, आशा, गुड़िया व राम अधार आदि ने घर-घर जाकर दवाओं का वितरण किया।
पीएचसी महराजगंज तराई के चिकित्सक डॉ. रत्नसेन वर्मा ने लौकहवा गांव में उल्टी दस्त से पीड़ित 30 मरीजों को दवा का वितरण किया। इस अवसर पर फार्मासिस्ट एनके उपाध्याय, शकील व अजीत कुमार आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

आठ डाक्टरों के सहारे चल रहा संयुक्त जिला चिकित्सालय

बलरामपुर। जिले की करीब 25 लाख आबादी के इलाज की जिम्मेदारी संभालने वाला संयुक्त जिला चिकित्सालय डॉक्टरों व संसाधनों की कमी से जूझ रहा है। मात्र आठ स्थायी डॉक्टरों के सहारे इस अस्पताल का संचालन किया जा रहा है।
अस्पताल में डॉक्टरों के साथ अन्य स्वास्थ्य कर्मियों की भी भारी कमी है। विशेषज्ञ डॉक्टरों, स्वास्थ्य कर्मियों एवं संसाधनों की कमी के चलते अस्पताल आने वाले मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं का समुचित लाभ नही मिल पा रहा है। मुख्य चिकित्सा अधीक्षक ने विशेषज्ञ चिकित्सकों की तैनाती के लिए शासन को पत्र लिखा है।
बताते चले की जिले की करीब 25 लाख आबादी को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के उद्देश्य से वर्ष 2013 में संयुक्त जिला चिकित्सालय का संचालन शुरू किया गया था।
अस्पताल अत्याधुनिक पैथोलॉजी, डायलिसिस मशीन, सिटी स्कैन, अल्ट्रासाउंड, डिजिटल एक्सरे एवं आक्सीजन प्लांट से लैैस है। अस्पताल में कोविड वार्ड एवं पीकू वार्ड का भी संचालन किया जा रहा है।
अत्याधुनिक मशीनों व उपकरणों से लैस होने के बावजूद डाक्टरों एवं कर्मचारियों की कमी के चलते मरीजों को इलाज के लिए दर-दर भटकना पड़ता है। अस्पताल में डॉक्टरों के कुल स्वीकृत पद 32 है जिसके सापेक्ष यहां मात्र आठ स्थायी डाक्टरों की तैनाती है।
इसी तरह अस्पताल में 19 स्टाफ नर्स के सापेक्ष मात्र 6 स्टाफ नर्स की तैनाती है। डॉक्टरों की कमी को देखते हुए मुख्य चिकित्सा अधिकारी की तरफ से यहां पांच डॉक्टर अस्थाई रूप से संबद्ध किए गए हैं।
जिले का प्रमुख अस्पताल होने के कारण यहां प्रतिदिन करीब आठ सौ मरीज आते हैं ऐसे में डाक्टरों की कमी के चलते उन्हें समुचित इलाज का लाभ नही मिल पाता है।
अस्पताल के सीएमएस डॉ. प्रवीण कुमार का कहना है कि यहां स्थायी रूप से एक स्त्री रोग विशेषज्ञ, एक फिजीशिएन, एक सर्जन, दो एनस्थेटिक, एक त्वचा रोग, एक इएनटी सर्जन, एक कार्डियोलाजिस्ट, एक डेंटल सर्जन तथा तीन महिला व तीन पुरुष इमरजेंसी मेडिकल आफीसर की सख्त जरूरत है।
... और पढ़ें

100 महिलाओं से तिलक लगाकर बनाया जाएगा बहन

बलरामपुर। कायस्थ एकता सेवा समिति की एक बैठक रविवार को पीडब्लूडी गेस्ट हाउस में हुई। बैठक में भैया दूज एवं कलम दवात पूजा की तैयारियों पर चर्चा की गई। इस दौरान भैया दूज के अवसर पर समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित श्रीवास्तव ने 100 महिलाओं व लड़कियों से तिलक लगवाकर बहन बनाने का निर्णय भी लिया।
समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि बेटियों व महिलाओं की रक्षा एवं सम्मान बढ़ाने के लिए भैयादूज के लिए 100 महिलाओं से तिलक लगाकर बहन बनाएंगे। राष्ट्रीय वरिष्ठ उपाध्यक्ष रमेश चंद्र श्रीवास्तव ने कहा कि कार्यक्रम महेश चंद्र श्रीवास्तव के आवास पर आयोजित होगा।
भगवान श्री चित्रगुप्त जी का हवन-यज्ञ के बाद कलम दवात का पूजन किया जाएगा। कलम दवात की पूजा के बाद भइया दूज कार्यक्रम किया जाएगा जिसमें बहनों से तिलक लगवाने के कार्य का शुभारंभ होगा।
इस दौरान संगठन को मजबूत बनाने तथा समाज की अन्य समस्याओं पर चर्चा भी की गई। इस अवसर पर विजय श्रीवास्तव, सुधीर श्रीवास्तव, महेश चंद्र श्रीवास्तव, कांति प्रसाद श्रीवास्तव, संजय श्रीवास्तव, मधुप श्रीवास्तव, अनूप श्रीवास्तव व आशीष श्रीवास्तव आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

आधी आबादी के वोटों को बढ़ाने पर होगा फोकस

बलरामपुर। आधी आबादी के वोटों को बढ़ाने पर फोकस होगा। पुरुषों की तुलना में महिलाओं के वोटों का प्रतिशत कम है। 18 वर्ष की आयु पूरा करने वाले जिले के युवा वोटरों को मतदाता सूची में अभियान चलाकर शामिल किया जाएगा। जिला निर्वाचन अधिकारी/डीएम श्रुति के निर्देशानुसार वोटरों को बढ़ाने का जिले भर में एक नवंबर से विशेष अभियान चलाने की तैयारी की जा रही है।
जिले के सभी पोलिंग बूथों पर वोटरों को बढ़ाने के लिए एक-एक बीएलओ तैनात किए गए हैं। वर्ष 2022 में जिले के 1857 पोलिंग बूथों पर विधानसभा चुनाव का मतदान कराने की सभी तैयारियां शुरु कर दी गई हैं।
यह बातें उप जिला निर्वाचन अधिकारी एडीएम राम अभिलाष ने शनिवार को कलेक्ट्रेट सभागार में प्रेस वार्ता के दौरान मतदाता जागरूकता कार्यक्रमों की तैयारी के संबंध में कही। उन्होंने बताया कि जिले में 80 साल से ऊपर आयु के 37,676 मतदाता चिन्ह्ति किए गए हैं।
निर्वाचन आयोग की तरफ से बुजुर्ग वोटरों को पोलिंग बूथों पर लाने के बजाय पोस्टल बैलेट से मतदान कराने की तैयारी की जा रही है। बुजुर्ग वोटरों को घर बैठे मतदान करने का अवसर मिल सकता है।
एक जनवरी 2022 को 18 साल की आयु पूरा करने वाले जिले के सभी युवाओं को वोटर बनाने के लिए अभियान शुरु किया गया है। जिले के चारों विधानसभाओं में एक हजार पर 825 महिला वोटर दर्ज हैं। महिला वोटरों का प्रतिशत पुरुषों की तुलना में कम है जिसे बढ़ाने के लिए हर संभव प्रयास किया जाएगा। एक से 30 नवंबर तक दावे व आपत्तियां ली जाएंगी।
सात, 13, 21 व 28 नवंबर को विशेष अभियान चलाकर युवाओं व महिलाओं को वोटर बनाया जाएगा। दावे व आपत्तियों का 20 दिसंबर तक निस्तारण कराया जाएगा। पांच जनवरी को वोटर लिस्ट की अंतिम सूची प्रकाशित की जाएगी। जिले में 26,91,350 आबादी की तुलना में 58.36 प्रतिशत के साथ 15,70,717 वोटर अभी तक मतदाता सूची में दर्ज हैं।
मतदाता पुनरीक्षण कार्य में 300 शिक्षकों, 38 राजस्व कर्मियों, 51 इंजीनियरों, 24 मेडिकल ऑफीसर व 1444 अन्य विभागों के कर्मियों को बीएलओ के रुप में तैनात किया गया है। जिले के 93 डिग्री कालेजों व इंटर कालेजों में छात्र-छात्राओं का मतदाता सूची में पंजीकरण कराने के लिए ईएलसी क्लब का गठन किया गया है।
जिले भर में अन्य जागरूकता कार्यक्रम भी कराए जा रहे हैं। मतदाता बनने के लिए प्रारुप-6 के साथ जरूरी अभिलेख पासपोर्ट साइज रंगीन फोटो, निवास पते से संबंधित साक्ष्य, जन्म तिथि प्रमाण पत्र की फोटो प्रति के साथ संबंधित तहसील के एसडीएम, तहसीलदार, मतदाता पंजीकरण केंद्र, अपने मतदेय स्थल/बीएलओ/जिला निर्वाचन अधिकारी कार्यालय में जमा कर सकते हैं।
... और पढ़ें

सामान्य जांच के साथ लिया जाएगा वर्गवार सैंपल

बलरामपुर। कोरोना महामारी पर नियंत्रण के लिए टीकाकरण के साथ जांच को काफी महत्वपूर्ण माना गया है। कई दिनों से कोरोना का एक भी पॉजिटिव केस न मिलने के बावजूद जिले में टेस्टिंग की रफ्तार बढ़ाने के लिए स्वास्थ्य विभाग की तरफ से हर संभव प्रयास किया जा रहा है। जांच के लिए स्वास्थ्य विभाग की तरफ से स्वास्थ्य केंद्रों के अलावा अन्य सेंटरों पर भी टीम भेजकर सैंपल लिए जाने का निर्णय लिया गया है।
सीएमओ डॉ. सुशील कुमार ने बताया कि कोविड का पॉजिटिव केस न मिलने के कारण लोग जांच के प्रति लापरवाह हो गए है। जांच करवाने के लिए लोग स्वास्थ्य केंद्रों पर नही आ रहे हैं जिससे जांच की रफ्तार काफी सुस्त हो गई है।
जांच की रफ्तार को तेज करने के लिए कैटेगरी वाइज सैंपलिंग का निर्णय लिया गया है। कैटेगरी वाइज सैंपल के तहत स्वास्थ्य विभाग की टीम शुक्रवार को मिठाई की दुकानो, होटल व रेस्टोरेंट आदि में पहुंचकर दुकानदारों तथा ग्राहकों का सैंपल लेगी।
23 अक्टूबर को दवा की दुकानों, नर्सिंग होम तथा निजी अस्पतालों से दुकानदार, स्वास्थ्य कर्मी व मरीजों का सैंपल लिया जाएगा। 24 अक्टूबर से जिला कारागार, बाल सुधार गृह, बालिका सुधार गृह, नारी निकेतन तथा वृद्धा आश्रम में जेल कर्मी, सुरक्षा कर्मी, कैदी व सुधार गृह में रहने वाले सभी लोगों की जांच की जाएगी। 25 अक्तूबर को सभी कार्यालयों में संबंधित अधिकारियों व कर्मचारियों का सैंपल लिया जाएगा।
26 अक्तूबर को माल तथा बाजार की भीड़भाड़ वाली दुकानों से सैंपलिंग की जाएगी। 27 अक्टूबर को टैक्सी स्टैंड, रिक्शा स्टैैैंड, प्राइवेट बस स्टेशन व रोडवेज बस स्टेशन पर स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंचकर चालक परिचालक व यात्रियों का सैंपल लेगी। 28 अक्तूबर को साप्ताहिक हाट बाजार एवं ग्रामीण क्षेत्र के बाजारों में पहुंचकर सैंपल लिया जाएगा।
29 अक्तूबर को इलेक्ट्रानिक दुकान, साइकिल व मोटर साइकिल की दुकान, बर्तन की दुकान तथा आभूषण वाली दुकानों से सैंपल एकत्र किया जाएगा। 30 अक्तूबर को पुन: जेल व विभिन्न सुधार गृहों से सैंपल लिया जाएगा। 31 अक्तूबर को सर्राफा बाजार, माल में दुकानदार ग्राहक व सुरक्षा गार्ड का सैंपल एकत्र किया जाएगा। एक नवंबर को मिठाई की दुकान, दो नवंबर को पटाखा बाजार तथा पटरी दुकानदारों से सैंपल लिया जाएगा।
... और पढ़ें

पति की लंबी आयु के लिए सुहागिनों ने रखा करवा चौथ व्रत

बलरामपुर। सुहागिनों ने रविवार करवा चौथ का निर्जला व्रत रखकर पतियों के दीर्घायु की कामना की। शाम होते ही सुहागिन करवा चौथ की पूजा के लिए जगह-जगह एकत्र हो गई।
पूजा का सिलसिला रात में चंद्रोदय तक चलता रहा। पूजा अर्चना कर सुहागिनों ने पति की लंबी आयु के साथ-साथ परिवार की खुशहाली व सुख समृद्धि का आशीर्वाद भी मांगा। चंद्र दर्शन कर सुहागिनों ने पतियों के हाथ से जल ग्रहण कर व्रत का परायण किया।
सनातन धर्म में करवा चौथ का विशेष महत्व है। कार्तिक मास कृष्ण पक्ष की चतुर्थी के दिन करवा चौथ का व्रत रखा जाता है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन निर्जला व्रत रखकर चंद्र दर्शन व पूजन से अखंड सुहाग का आशीर्वाद प्राप्त होता है। रविवार को जिले में करवा चौथ की धूम रही।
घरों में सुहागिनों द्वारा सवेरे से ही व्रत व पूजा की तैयारियां शुरु कर दी गई थी। शाम के समय जगह-जगह सुहागिनें सज-धज कर करवा चौथ पूजन के लिए एकत्र हुई। महिलाओं ने एक दूसरे को करवा चौथ की कथा सुनाते हुए पूजा अर्चना की।
पूजा-अर्चना का यह सिलसिला चंद्र दर्शन तक जारी रहा। पूजा अर्चना करते हुए सुहागिनों ने अखंड सुहाग के साथ परिवार की खुशहाली एवं सुख समृद्धि का आशीर्वाद मांगा। देर शाम चंद्रोदय होने पर सुहागिनों ने चंद्र दर्शन कर पति की लंबी आयु की कामना की। चंद्रदर्शन के बाद सुहागिनों ने पति के हाथों जल ग्रहण कर व्रत का परायण किया।
... और पढ़ें

दो सड़क दुर्घटनाओं में एक की मौत, तीन घायल

बलरामपुर। दो सड़क दुर्घटनाओं में एक व्यक्ति की मौत हो गई है। दोनों घटनाओं में तीन लोग घायल हो गए हैं। घायलों की हालत गंभीर होने पर सभी घायल जिला अस्पताल रेफर किए गए हैं।
उतरौला कोतवाल पंकज सिंह ने शुक्रवार को बताया कि ग्राम बारम पूरे कोहिनिया निवासी राजा बाबू बाइक से गांव के रवींद्र कुमार के साथ ससुराल महमूद नगर गए थे। रात में घर लौटते समय उतरौला-बलरामपुर मार्ग पर रमवापुर कला गांव के पास तेज रफ्तार अज्ञात वाहन ने बाइक को टक्कर मार दिया।
घटना में 23 वर्षीय राजा बाबू की मौके पर ही मौत हो गई और रवींद्र कुमार गंभीर रुप से घायल हो गए। रवींद्र की हालत गंभीर होने पर उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया है। दूसरी घटना तुलसीपुर थाना क्षेत्र के नेशनल हाइवे टोल प्लाजा से महज 100 मीटर की दूरी अनियंत्रित कार ने बाइक सवार को टक्कर मार दिया।
घटना में बाइक से जा रहे दो लोग गंभीर रुप से घायल हो गए। प्रभारी निरीक्षक तुलसीपुर थाना आलोक राय ने बताया कि सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे और दोनों घायलों को सीएचसी तुलसीपुर में भर्ती कराया गया है।
घायलों की पहचान चमरबोझिया निवासी राजकुमार व ललिया थाना क्षेत्र के पटवा बाजार निवासी राजेश कुमार के रुप में हुई है। हालत गंभीर होने पर दोनों को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया है। मामले की जांच कराई जा रही है।
... और पढ़ें

गांव में नही आते सफाई कर्मचारी, गंदगी से फैल रही बीमारी

बलरामपुर। बारिश व बाढ़ के बाद गांवों में संक्रामक रोगों ने कहर बरपा रखा है। बुखार तथा उल्टी-दस्त से अब तक करीब 25 लोगों की मौत हो चुकी है। गांवों मे मोटी तनख्वाह लेकर सफाई के लिए तैनात सफाई कर्मचारी गायब है। यह लोग रसूख या पैसे के बल पर अपना काम ही नही कर रहे हैं। आलम यह है गांवों में गंदगी का खामियाजा मासूम ग्रामीण संक्रामक रोगो के तौर पर झेल रहे हैं।
विदित हो कि सरकार ने जिले की 801 ग्राम पंचायतों में सफाई के लिए वर्ष 2008-09 में सफाई कर्मियों की तैनाती की थी। तैनाती के समय इन लोगों ने पूर्ण निष्ठा के साथ अपने कर्तव्यों के निर्वहन का शपथ पत्र भी भरा था लेकिन आज इसके बिल्कुल उल्टा है।
कुछ लोग अधिकारियों के घर का काम कर रहे हैं तो कुछ लोग पैसे व रसूख के बल पर केवल तनख्वाह उठा रहे है। तुलसीपुर तहसील की बाजार महराजगंज तराई में सफाई कर्मी न होने से जगह-जगह गंदगी का ढेर लगा हुआ है।
स्थानीय निवासी ग्राम प्रधान प्रतिनिधि गणेश सोनी, शिव सिंह, अब्दुल्ला व नफीस अहमद आदि ने बताया कि बीते दो माह से शिकायत के बाद भी ग्राम पंचायत में सफाई कर्मी की तैनाती नही की गई है।
इसी क्षेत्र की ग्राम पंचायत जहानडीह निवासी कादिर, भुर्रे, लियाकत व शब्बीर ने बताया कि गांव में सफाई कर्मी कभी आता ही नही है। गांव की गलियां व सड़के गंदगी तथा कीचड़ से भरी हुई है।
लोग संक्रामक रोगो का शिकार हो रहे है। इस संबंध में तुलसीपुर विकास खंड के एडीओ पंचायत कष्ण कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि महराजगंज में सफाई कर्मी का पद रिक्त है तथा जहानडीह में सफाई कर्मी के खिलाफ जांच कर कार्रवाई की जाएगी। संवाद
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00