लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Bijnor ›   Asian Volleyball Championship: son of Bijnor best playing in Iran and Indian team beat Thailand

एशियाई वॉलीबाल चैंपियनशिप: ईरान में छाया बिजनौर का छोरा, भारतीय टीम ने थाईलैंड को हराया

अमर उजाला ब्यूरो, बिजनौर Published by: कपिल kapil Updated Wed, 17 Aug 2022 08:39 PM IST
सार

बिजनौर का छोरा ईरान में छाया हुआ है। लवी चौधरी ने शानदार प्रदर्शन करते हुए भारतीय टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई।

लवी चौधरी।
लवी चौधरी। - फोटो : amar ujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

ईरान के तेहरान में बिजनौर का छोरा लवी छाया हुआ है। लवी चौधरी ने ईरान में जबरदस्त खेलते हुए वॉलीबाल में भारतीय टीम की जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। भारतीय टीम ने थाईलैंड को हराया है, आज गुरुवार को कोरिया की टीम से मुकाबला होगा। 



बिजनौर में कोतवाली देहात के गांव रहमापुर का रहने वाला लवी चौधरी ईरान के शहर तेहरान में चल रही अंडर-18 एशियाई वॉलीबाल चैंपियनशिप में भारत की टीम में खेल रहा है। इस भारतीय टीम ने थाईलैंड की टीम को 3-1 से शिकस्त दी। बेहद रोमांचक मुकाबले में भारत की टीम ने जीत हासिल की। थाईलैंड के साथ हुए मैच में भारतीय टीम ने पहला सेट जीत लिया, लेकिन दूसरे सेट में भारतीय टीम को हार का सामना करना पड़ा। लेकिन तीसरे सेट में लवी ने बेहतरीन खेल दिखाया और एक समय 15-19 से पिछड़ रही टीम को 25-23 से सेट जीता कर मैच अपने नाम कर लिया। 


भारतीय टीम ने मुकाबला 25-21, 24-26, 27-25, 25-23 से जीता। लवी के प्रदर्शन से परिवार में खुशी की लहर दौड़ गई। परिजनों ने एक-दूसरे को मिठाई खिलाकर भारतीय टीम की जीत की खुशी मनाई। लवी के पिता मांगेराम ने बताया कि उन्हें अपने पुत्र पर गर्व है। उन्होंने विश्वास जताया कि भारतीय टीम चैंपियनशिप जीतकर लौटेगी। इस अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में हिस्सा लेने से पहले लवी हरियाणा की टीम की ओर से खेलता रहा है। लवी का चयन भारतीय टीम के भुवनेश्वर कैंप के लिए हुआ था, जहां से उसे भारतीय टीम में चुन लिया गया। 

यह भी पढ़ें: कौन थी शाइना: कब्रिस्तान के पास मिली थी सिर कटी लाश, पहचान हुई तो खुले खौफनाक राज, अफसर भी हैरान

आठ साल की कड़ी मेहनत से मिला मुकाम
राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के बाद साल 2017 में लवी चौधरी का चयन भारतीय खेल प्राधिकरण के प्रशिक्षण सेंटर कुरुक्षेत्र में हुआ था। पिछले पांच सालों से लवी साईं के हॉस्टल में कड़ा प्रशिक्षण ले रहा है। साल 2017 से पहले लवी ने तीन सालों तक बिजनौर के नेहरू स्टेडियम में खेल के गुर सीखे थे। आठ साल की इस कड़ी मेहनत के बाद लवी अंडर-18 भारतीय टीम का हिस्सा बना है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00