बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

परत-दर-परत : एडल्ट कंटेंट में बादशाहत चाहता था राज कुंद्रा, कानपुर का यश ठाकुर बना सबसे बड़ा मददगार

प्रदीप अवस्थी, कानपुर Published by: दुष्यंत शर्मा Updated Sun, 01 Aug 2021 06:22 AM IST

सार

  • एकता कपूर को मात देने की थी चाहत
  • एएलटी बालाजी और उल्लू जैसे तमाम एप की लोकप्रियता देखकर इनसे आगे निकलने की मंशा थी
विज्ञापन
raj kundra
raj kundra - फोटो : इंस्टाग्राम
ख़बर सुनें

विस्तार

श्याम नगर का रहने वाला अरविंद कुमार श्रीवास्तव उर्फ यश ठाकुर कुंद्रा का सबसे बड़ा राजदार निकला। दरअसल राज कुंद्रा एडल्ट कंटेंट इंडस्ट्री में एकछत्र राज चाहता था। एएलटी बालाजी और उल्लू जैसे तमाम एप की लोकप्रियता देखकर इनसे आगे निकलने की मंशा थी। कुंद्रा ने अपने बिजनेस का बड़ा काम यश ठाकुर के हिस्से कर दिया था। 
विज्ञापन


इसी वजह से नए एप बनाने, पोर्न और सेमी पोर्न फिल्मों को अपलोड करने, वेबसीरीज में काम करने के लिए बोल्ड अभिनेत्रियों से सौदेबाजी करने, कमाई को इधर-उधर करने में यश ठाकुर का पूरा दखल था। ये सारी जानकारी राज कुंद्रा और यश ठाकुर के बीच हुई व्हाट्सएप चैट और पकड़े गए लोगों की पूछताछ में सामने आई है।




यश ठाकुर ने छह माह पहले पोर्न फिल्मों का कारोबार सिंगापुर में शिफ्ट करा लिया था। यश नियो फ्लिक्स कंपनी के बैनर पर अंग्रेजी में शार्ट न्यूड फिल्में बनाने की योजना पर काम कर रहा था। लंदन में रह रहा भारतीय नागरिक ‘रॉय’ और कुंद्रा का सहयोगी उमेश कामत सिंगापुर में कुंद्रा के लिए काम कर रहे थे।

‘रॉय’ भारतीय मॉडल, इंडस्ट्री में संघर्षरत अभिनेत्रियों से सौदा करता था। नई अभिनेत्रियों को पांच हजार और चर्चित बोल्ड अभिनेत्रियों को 20 से 40 हजार रुपये प्रतिदिन के हिसाब से भुगतान होता था। एक बार धंधे में उतरने के बाद कोई मुंह नहीं खोलता था।

ऐसे सामने आया कानपुर कनेक्शन
मुंबई क्राइम ब्रांच ने कुंद्रा से जुड़े 11 लोगों को गिरफ्तार किया।
18 ऐसे बैंक खाते पकड़े जिनमें करोड़ं का लेन-देन हुआ। इनमें तीन खाते कानपुर निवासी अरविंद श्रीवास्तव, उसकी पत्नी हर्षिता और पिता नर्वदा प्रसाद के हैं। महज 20 महीने में ही इनमें चार करोड़ रुपये जमा हुए।

कुछ ही महीनों में खाते में रुपयों की बारिश
अरविंद ने नवंबर 2020 में अलग-अलग तारीख में पत्नी हर्षिता के खाते में 67 लाख रुपये ट्रांसफर किए। 2021 में जनवरी और फरवरी में आठ बार में 95 लाख रुपये भेजे। इसके बाद रकम भेजने का तरीका बदला गया। 21.60 लाख रुपये सैलरी के हासिल होना भी बताया गया है।

ऐसे बना कुंद्रा का मददगार
कुंद्रा की कंपनी फ्लिज मूवीज अरविंद की देखरेख में संचालित होती थी। साथ ही वह सिंगापुर में कुंद्रा की दूसरी कंपनी नियो फ्लिक्स का भी काम देखता था। इन्हीं में पोर्न और सेमी पोर्न फिल्में रिलीज करवाता था। जनवरी 2021 में फ्लिज मूवीज पर पोर्न फिल्माें के आरोप में कुंद्रा पर एफआईआर हुई तो अरविंद ने ही इसके स्थान पर फ्लिज मूवीज एचडी मी के नाम से नई वेबसाइट बनाई थी और इसी में नई पोर्न फिल्में अपलोड करवाने लगा।

आईबी अफसर को भी धंधे में फंसाया...मुंबई क्राइम ब्रांच ने दावा किया है कि पोर्नोग्राफी मामले में वांटेड यश ठाकुर ने सिंगापुर में रहकर इंटेलीजेंस ब्यूरो के अधिकारी असिस्टेंट सेंट्रल इंटेलिजेंस ऑफिसर सचींद्र रुमाले को भी इस धंधे में फंसाया। पहले दोस्ती की फिर सचींद्र की पत्नी के नाम से फ्लिज मूवीज एप बनाकर एडल्ट फिल्में डालने लगा।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

यूएसए में रजिस्टर वेबसाइट का लखनऊ से हो रहा था संचालन

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us