विज्ञापन
विज्ञापन
गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें
Myjyotish

गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Digital Edition

अद्भुत : पांच साल से गिरा पीपल का पेड़ अचानक खड़ा हो गया, दैवी चमत्कार मान पूजा पाठ में जुटे ग्रामीण

सदर तहसील के डकशरीरा करीब सप्ताह भर पहले एक अद्भुत घटना हुई। पांच साल पहले गिरे जिस पीपल के पेड़ को व्यापारी कई टुकड़ों में काटकर घर ले जा चुका था। उसी के बचे हुए कुछ हिस्से (तने) इस बार बरसात में फिर से जुड़ गए। तने जुड़े ही नहीं बल्कि एक विशालकाय पेड़ की शक्ल में खड़े भी हो गए हैं। यह बात पूरे इलाके में जंगल की आग की तरह फैल गई है। लोग इसे दैवीय शक्ति मानकर पूजा-पाठ के लिए वहां पहुंच रहे हैं।

  डकशरीरा निवासी इंद्रनारायण चौबे के बाग में पीपल का एक बड़ा पेड़ था। पांच साल पहले हुई बरसात के दौरान पीपल का पेड़ गिर गया। इस पर इंद्रनारायण ने पेड़ का एक व्यक्ति के हाथ सौदा कर दिया था। खरीदार ने पेड़ की शाखाएं काट कर ले गया, लेकिन तने के हिस्सों को चार भागों में काटकर छोड़कर कर चला गया।
 
तब से वह वापस नहीं आया। इंद्र नारायण ने भी पेड़ की तरफ ध्यान नहीं दिया। पिछले सप्ताह हुई बरसात के दौरान एक अजीब घटना ने लोगों को चौंका दिया। तने के अधकटे हिस्से न सिर्फ आपस में जुड़े बल्कि पेड़ की तरह खड़े हो गए। यह बात धीरे-धीरे पूरे इलाके में जंगल की आग की तरह फैल गई। सोमवार को जहां पेड़ खड़ा हुआ था वहां बड़ी संख्या में लोग दर्शन-पूजन के लिए भी पहुंचे।

आस्था या अंधविश्वास वैज्ञानिक भी भौचक
कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक डॉ. मनोज का कहना है कि वैज्ञानिक तौर पर ऐसी घटनाओं के प्रमाण नहीं है। यह हो सकता है कि कहीं पेड़ काटा गया हो और उसका तना या जड़ें जमीन के काफी नीचे रह जाने के कारण पेड़ दोबारा खड़ा हो सकता है। लेकिन इस तरह की घटना समझ से परे है। फिलहाल इसे अंधविश्वास ही कहा जा सकता है।
 
पूजा, पाठ, चढ़ावा, अब चबूतरे की बारी
 स्थानीय लोगों की मानें तो जहां पर पीपल के वृक्ष का पुर्नजन्म हुआ है, वहां पर अब चबूतरा बनाकर पूजा-पाठ कराने की तैयारी है। सूत्रों की मानें तो यहां तक दान पेटिया व खुला दान लिए जाने की भी योजना तैयार कर ली गई है। जिस परिवार का यह वृक्ष है वह इस पर विचार कर रहा है।

वन विभाग नहीं दे सका कोई जानकारी
अमर उजाला अंधविश्वास को बढ़ावा देने वाली खबरों से दूरी भी बनाता है। पीपल के वृक्ष की सच्चाई जानने के लिए हमारे संवाददाता ने वन विभाग के लोगों से कई बार फोन पर हकीकत जानने का प्रयास किया गया, लेकिन कोई कुछ बोलने को तैयार नहीं हुआ। गांव के लोगों से इतना जरूर पता चला कि जिस वक्त व्यापारी टहनियों को कटवाने के बाद तना कटवा रहा था तो उसका आरा कई बार टूटा। जानकारों की मानें तो पुराने पौधे में गांठ होने के कारण भी ऐसा हो सकता है। तने पर चार जगह आरे के निशान थे, लेकिन कोई भी तना समूचा नहीं कट सका था।
... और पढ़ें

कौशाम्बी : देश में विघटनकारी शक्तियां हावी, ऐसी शक्तियों की साजिशों को करें नाकाम - आरिफ मोहम्मद खान

सैयदसरांवा गांव स्थित खानकाह-ए-अरिफिया दरगाह में रविवार को केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने हजरत आरिफ सफी की दरगाह में चादर चढ़ाई। दौरान राज्यपाल ने देश मे अमन, चैन कायम रखने के लिए दुआएं मांगीं। गांव में उनके स्वागत के लिए व्यवस्थाएं चाक चौबंद रहीं। यहां मदरसा में आयोजित कार्यक्रम में भी उन्होंने शिरकत की।

मदरसा के कांफ्रेंस हाल में आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने देश के विकास और तरक्की के लिए आम आदमी से एकजुट रहने को कहा। उन्होंने कहा कि कि देश में इस समय विघटनकारी शक्तियां हावी हैं, ऐसी शक्तियों की साजिशों को किसी भी कीमत पर कामयाब ना होने दें। कार्यक्रम की सफलता के लिए पुलिस और स्थानीय प्रशासन पूरी तरह से मुस्तैद रहा। इस दौरान उन्होंने सैयद सरावा स्थित दरगाह पर जियारत कर चादर चढ़ाई और सूफी संत एहसानुल्लाह मोहम्मदी उर्फ अबु मियां से दुआएं मांगी। उन्होंने खानकाह को अमन व शांति का रूहानी मरकज बताया है। कार्यक्रम में हसन सईद, हुसैन सईद, अली सईद व मैनेजर साजिद सईदी मौजूद रहे।

राज्यपाल बनने से दो दिन पहले आए थे आरिफ मोहम्मद खान
मूलत: बुलंदशहर के बाराबस्ती निवासी आरिफ मोहम्मद खान रविवार को सैयद सरावां स्थित मदरसे में आकर अपने आप को खुशनसीब बताया। उन्होंने कहा कि वह दो साल पहले राज्यपाल बनने के दो दिन पहले यहां आए थे। इस दौरान उन्होंने दरगाह पर चादर चढ़ा कर मन्नत मांगी थी। उन्होंने बताया कि उनके द्वारा मांगी गई मन्नत पूरी हुई। दो साल बाद वह फिर से दरगाह पर चादर चढ़ाने के लिए आए हैं।
... और पढ़ें

मगन सिंह हत्याकांड का खुलासा : प्रेम संबंध में रोड़ा बनने पर पत्नी ने ही प्रेमी संग मिलकर कराई थी हत्या

पूरामुफ्ती पुलिस ने राम मगन सिंह की हत्या का किया खुलासा कर दिया है। प्रेमी के साथ अवैध सम्बंध बनाने के रोड़ा बनने पर पत्नी रूमा सिंह ने ही प्रेमी के साथ मिलकर कराई थी पति की हत्या। भाड़े के शूटर को पांच लाख की दी गई थी सुपारी। एक सप्ताह की गहन छानबीन के बाद पुलिस ने घटना का किया खुलासा। पत्नी और उसके कथित प्रेमी सहित भाड़े के शूटर को गिरफ्तार का जेल भेज रही पुलिस। पिछले दिनों 12 सितंबर को पूरामुफ्ती के मंदर बाजार में गोली मारकर की गई थी राममगन सिंह की हत्या। 

बता दें कि प्रयागराज पूरामुफ्ती के मंदर बाजार के पास रविवार की देर शाम ड्राइवर के साथ घर लौट रहे एक ट्रैक्टर मालिक को बदमाशों ने गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। घटना को लेकर परिजनों में कोहराम मचा है। बदमशों ने ट्रैक्टर मालिक को गोली क्यों मारी? इसका पता लगाने के लिए पुलिस छानबीन में जुट गई है।

पिपरी कोतवाली के अकबरपुर मिर्जापुर निवासी मगन सिंह पटेल (35) अपने पिता का इकलौता पुत्र था। चार सार पहले उसके पिता हीरा लाल पटेल की भी हादसे में मौत हो चुकी है। पिता की मौत के बाद मगन सिंह पटेल खेत और घर की जिम्मेदारी सम्भालता था। इन दिनों मगन ने परिवार के भरण पोषण के लिए दो ट्रैक्टर खरीद रखा था। वह ट्रैक्टर से मकानों में पाइलिंग और पोल को गाड़ने का काम करता था।

रविवार को वह पूरामुफ्ती बाजार स्थित एक निर्माणाधीन माकान में पाइलिंग कर देर शाम करीब पांच बजे मंदर के रास्ते घर लौट रहा था। साथ मे उसका ड्राइवर मंगल ट्रैक्टर चला रहा था और मगन ट्रैक्टर पर बैठे था। दोनों लोग जैसे ही मंदर बाजार स्थित रेलवे क्रासिंग के पास पहुंचे तभी झाड़ियों में पहले से ही घात लगाए बैठे दो बदमाशों ने मगन सिंह पर निशाना साध कर गोली चला दिया। इसमें एक गोली मगन के सीने में जा लगी। घटना से दहशत में आए ड्राइवर मंगल ने भाग कर जान बचाई। सूचना पर पहुंचे परिजनों ने आनन फानन में मगन को इलाज के लिए प्रयागराज एसआरएन ले गए जहां देर शाम इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। मगन को किन हालातों में और किसने गोली मारी? इसको लेकर पुलिस ने छानबीन शुरू कर दिया है।
... और पढ़ें

हैवानियत : पोर्न फिल्म दिखाकर पांच साल के बच्चे से कुकर्म, आरोपी हिरासत में

कोतवाली इलाके के एक गांव में एक युवक ने पांच साल के बच्चे को मोबाइल पर फिल्म दिखाने का लालच देकर अपने घर बुलाया और उसके साथ जबरन कुकर्म किया। बच्चे का कहना है कि उसे गंदी फिल्म दिखाई जा रही थी। घटना की जानकारी पर पहुंची पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया। फिलहाल घटना की रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई है।

कोतवाली इलाके के एक गांव का व्यक्ति का कहना है कि उसका भांजा इन दिनों उसेक यहां आया था। सोमवार शाम गांव का एक युवक उसके पांच वर्षीय भांजे को अकेला पाकर मोबाइल पर फिल्म दिखाने के बहाने अपने घर ले गया। आरोप है कि युवक ने वहां बच्चे को फिल्म दिखाने की बजाय पोर्न दिखाई और कुकर्म किया।

रोते हुए घर पहुंचे भांजे ने यह बात परिवार के लोगों को बताई तो वह लोग सन्न रह गए। मामले की शिकायत पुलिस से की गई। पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया है। थानाध्यक्ष का कहना है कि आरोपी को हिरासत में लिया गया है। पीड़ित परिवार की तरफ से तहरीर नहीं मिली है। तहरीर मिलने पर रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

कौशाम्बी : घर के बाहर सो रहे मजदूर की गला रेत कर हत्या, ग्रामीणों ने लगाया जाम

नगर पालिका परिषद भरवारी के आंबेडकर नगर वार्ड (बिसारा) में बुधवार देर रात घर के बाहर सो रहे ईंट भट्ठा मजदूर की अज्ञात बदमाशों ने गला रेत कर हत्या कर दी। वह रात को घर के बाहर सो रहा था। सुबह पत्नी ने दरवाजा खोला तो देखा कि पति का खून से लथपथ शव चारपाई पर पड़ा है। वारदात के बाद इलाके में सनसनी फैल गई। सूचना पर सीओ सिराथू सहित इंस्पेक्टर फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। दोपहर बाद पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कर ली है। इधर, शाम को शव पोस्टमार्टम के बाद ग्रामीणों ने जाम लगा दिया। इस दौरान करीब दो घंटे तक जाम लगा रहा। सीओ के समझाने पर ग्रामीण मानें। 

कोखराज कोतवाली के आंबेडकर नगर मोहल्ला में रहने वाली पूनम देवी ने बताया कि उसका पति देवराज (45) ईंट भट्ठे पर मजदूरी करता था। बुधवार रात खाना खाने के बाद वह घर के बाहर चारपाई बिछाकर सो गया। इसके बाद सुबह जब वह घर से बाहर निकली तो देखा कि पति का शव चारपाई पर खून से लथपथ पड़ा है। उसके शोर मचाने पर मोहल्ले के लोग जमा हो गए। घटना की जानकारी पुलिस को दी गई।

सूचना पर सीओ सिराथू योगेंद्र कृष्ण नारायण सिंह, इंस्पेक्टर ज्ञान सिंह फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। देवराज की हत्या किसी धारदार हथियार से गला रेत कर की गई थी। पुलिस ने परिवार व मोहल्ले के लोगों से पूछताछ की, लेकिन कोई ऐसा कुछ ठोस सुराग नहीं दे सका। मृतक की पत्नी की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कर पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। बृहस्पतिवार दोपहर पोस्टमार्टम के बाद शव गांव पहुंचा तो ग्रामीणों का गुस्सा भड़क उठा। शाम को ग्रामीणों ने शव बिसारा टॉवर के समीप सड़क पर रखकर चक्काजाम कर दिया।

करीब छह बजे तक चले जाम से मंझनपुर, रोही और भरवारी मार्ग पर वाहनों की कतार लग गई। मामले की सूचना पर सीओ सिराथू योगेंद्र कृष्ण नारायण सिंह मौके पर पहुंचे। ग्रामीण पीड़ित परिवार को मुआवजा व कातिलों को शीघ्र गिरफ्तार किए जाने की मांग कर रहे थे। सीओ के समझाने के बाद ग्रामीणों ने जाम समाप्त किया। सीओ हर संभव मदद का आश्वासन दिया है। परिजनों ने शुक्रवार को शव का अंतिम संस्कार करने का फैसला लिया है।

रात एक बजे लौटी थी बेटी
परिवार के लोगों के अनुसार देवराज के घर से करीब सौ मीटर की दूरी पर दुर्गा पूजा पंडाल सजा था। बुधवार रात देवराज की 13 वर्षीय बेटी वंदना पंडाल में देवी प्रतिमा देखने गई थी। वंदना के मुताबिक रात एक बजे वह घर लौटी। इस दौरान उसके पिता जिंदा थे। पुलिस ने भी बेटी से बातचीत कर जानकारी जुटाई। 

ससुराल में रहता था देवराज
देवराज का एक और भाई है। देवराज परिवार के साथ ससुराल में रहता था। गांव वालों के मुताबिक देवराज यहां अपनी पत्नी व तीन बच्चों के साथ अकेला रहता था। उसका किसी से कोई लेना-देना नहीं था। रात दिन कमाना और घर आकर खा-पीकर सो जाना। यही उसकी दिनचर्या थी।

इनका कहना
घटना के बाबत परिवार के लोग कुछ बोलने के स्थिति में नहीं है। बड़ी बेटी का कहना है कि रात एक बजे जब वह पूजा पंडाल से लौटी तो पिता जिंदा थे। फिलहाल, कई बिंदुओं को ध्यान में रखकर जांच की जा रही है। जल्द ही मामले का पर्दाफाश किया जाएगा। - योगेंद्र कृष्ण नारायण सिंह, सीओ सिराथू
... और पढ़ें

कौशाम्बी : सिराथू ओवरब्रिज पर आग का गोला बानी बोलेरो, बाल बाल बचे लोग

नवनिर्मित ओवरब्रिज पर मंगलवार की देर रात सगाई समारोह से लौट रही एक बोलेरो आग का गोला बन गई। धू-धूकर जलती बोलेरो देख मौके पर हड़कंप मच गया। आनन फानन बोलेरो सवार सभी आठ लोगों को सकुशल बाहर निकाल लिया गया।
 
फतेहपुर जनपद के डेडाशही निवासी महेश कुमार मंगलवार को अपने गांव से कुछ लोगों को लेकर प्रेम नगर (खागा) में आयोजित एक सगाई समारोह में गया था। रात करीब दस बजे वह अपनी बोलेरो में चार महिलाएं और तीन पुरुषों को बैठाकर सिराथू के रास्ते घर लौट रहा था।

रास्ते मे सिराथू कस्बा स्थित नवनिर्मित ओवरब्रिज पर पहुंचते ही बोलेरो में अचानक आग लग गई। धू-धू कर जल रही बोलेरो पर जब लोगों की नजर पड़ी तो हड़कंप मच गया। हादसा देख जुटे स्थानीय लोगों  ने सक्रियता से बोलेरो सवार सभी लोगों को सकुशल बाहर निकला। सूचना स्थानीय फायर स्टेशन को दी गई, लेकिन सूचना के 40 मिनट बाद भी मौके पर कोई नहीं पहुंचा। इस दौरान पूरी गाड़ी धू-धू कर जल कर राख हो गई।
... और पढ़ें

कौशाम्बी : पैतृक आवास पहुंच डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने पुण्यतिथि पर पिता को दी श्रद्धांजलि

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य बुधवार को पैतृक आवास सिराथू पहुंचे। जहां पर उन्होंने पिता स्व. श्याम लाल की तीसरी पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि दी। इस दौरान विधि विधान के साथ हवन पूजन किया गया। डिप्टी सीएम के पिता की पुण्यतिथि होने के कारण उनके आवास पर सुबह से ही भाजपाइयों सहित कस्बे के लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा था। 

डिप्टी सीएम ने माता एवं बड़े भाई सुखलाल और भाभी से मुलाकात करते हुए आशीर्वाद लिया। परिवार के छोटे सदस्यों को आशीर्वाद देते हुए उनका कुशलक्षेम जाना। डिप्टी सीएम ने कहा कि वह पिता के बताए मार्ग पर चलकर जनता की लगातार सेवा करते रहेंगे। उन्हीं की प्रेरणा और मार्गदर्शन के चलते वह इस मुकाम पर पहुंचे है। निश्चित तौर से आज पिता की कमी तो बहुत खल रही है।

इस दौरान जिला पंचायत अध्यक्ष कल्पना सोनकर, सांसद विनोद सोनकर, विधायक सिराथू शीतला प्रसाद, विधायक सदर लाल बहादुर, विधायक चायल संजय गुप्ता, भाजपा जिलाध्यक्ष अनीता त्रिपाठी, ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि लवकुश मौर्य, भाजपा किसान मोर्चा जिलाध्यक्ष रमेश पाल, उपाध्यक्ष बच्चा केशरवानी, अरूण केशरवानी, धर्मराज मौर्य आदि सैकड़ों भाजपाई सहित कस्बाई मौजूद रहे।

दिव्यांगों को विकास की मुख्य धारा से जोड़ा जा रहा : केशव

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने सिराथू स्थित आवास पर 35 दिव्यांगों को इलेक्ट्रिक ट्राई साइकिलें वितरित की। इस दौरान डिप्टी सीएम ने कहा कि प्रदेश के सभी दिव्यांगों को विकास की मुख्यधारा से जोड़ा जा रहा है। 

 केशव ने कहा कि हमारी सरकार गरीबों के हित के लिए ठोस कदम उठा रही है। विभिन्न योजनाओं के माध्यम से गरीबी हटाने के प्रयास किए जा रहे हैं, लेकिन विरोधी दलों को सरकार की यह कार्यशैली रास नहीं आ रही है। विरोधी दलों को लगता है कि यदि गरीबी दूर होकर जातिवाद की दीवारें टूटीं तो वह राजनीति किसके सहारे करेंगे।

उन्होंने दिव्यांगों से कहा कि किसी भी तरह की हीन भावना को मन में न रखें और शारीरिक क्षमता के अनुरूप अपने पसंद का कार्य करें। इस दौरान सांसद विनोद सोनकर, सिराथू विधायक शीतला प्रसाद, सदर विधायक लाल बहादुर, चायल विधायक संजय गुप्ता, भाजपा जिलाध्यक्ष अनीता त्रिपाठी, रमेश पाल, बच्चा केशरवानी, अरुण केशरवानी, सुनील मिश्रा, कृष्णा रौनियार समेत सैकड़ों भाजपाई मौजूद रहे। 

डिप्टी सीएम ने आम लोगों से की मुलाकात 
 डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने बुधवार को पिता की पुण्यतिथि पर हवन-पूजन किया। इसके बाद वह दूर-दराज से आए लोगों से मुलाकात की। उन्होंने अपनों की तरह सभी लोगों से मुलाकात की और उनका हालचाल जाना।  
... और पढ़ें

हाईकोर्ट : भरवारी नगर पंचायत को नगर पालिका परिषद बनाने का निर्णय उचित, उच्चीकृत के विरोध में दायर याचिका खारिज

Prayagraj News : केशव प्रसाद मौर्य, डिप्टी सीएम।
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कौशाम्बी की नगर पंचायत भरवारी को उच्चीकृत कर नगर पालिका परिषद बनाने की 26 अक्तूबर 16 की अधिसूचना को सांविधानिक करार दिया है। कहा है कि जनसंख्या वृद्धि प्रतिदिन हो रही है। पंचायत को परिषद में उच्चीकृत करना जनहित में है। इससे बेहतर विकास होगा। कोर्ट ने कहा कि जिलाधिकारी ने आपत्तियों पर विचार करने के बाद राज्यपाल को संस्तुति की और राज्यपाल ने संविधान के उपबंधों के तहत उच्चीकृत करने का फैसला लिया।

कोर्ट ने आरटीआई रिपोर्ट को सक्षम प्राधिकारी की नहीं माना और कहा कि अधिशासी अधिकारी की जनसंख्या वृद्धि दर की रिपोर्ट तथ्यात्मक है। अनुच्छेद 226 के तहत दाखिल याचिका पर विचार नहीं किया जा सकता। कोर्ट ने नगर पंचायत भरवारी को नगर पालिका परिषद उच्चीकृत करने की अधिसूचना की वैधता को चुनौती देने वाली याचिका खारिज कर दी है।
 
यह आदेश न्यायमूर्ति सुनीता अग्रवाल तथा न्यायमूर्ति साधना रानी ठाकुर की खंडपीठ ने ग्राम प्रधानों व ग्रामीणों की तरफ से दाखिल सुषमा देवी, 8 अन्य, संतोष कुमार त्रिपाठी व 7 अन्य की याचिका पर दिया है। याची का कहना था कि 10 नवंबर 2014 के शासनादेश में निकायों के उच्चीकृत करने के मानक तय किए गए हैं। मानक के अनुसार वार्षिक आय, जनसंख्या, जनसंख्या घनत्व प्रति वर्ग किमी के आधार पर निकाय को उच्चीकृत किया जा सकता है।

भरवारी नगर पंचायत के मामले में इसका ख्याल नहीं रखा गया है। शासनादेश का उल्लंघन किया गया है। 2011 की जनगणना के अनुसार जनसंख्या व घनत्व कम है। नगर पंचायत के लिपिक द्वारा जारी आरटीआई के अनुसार वार्षिक आय कम है।

सरकार का कहना था कि 2016 में अधिसूचना जारी की गई है। पिछले पांच सालों में जनसंख्या वृद्धि हुई है। वार्षिक आय पर अधिशासी अधिकारी ने रिपोर्ट दी है। याची की रिपोर्ट विश्वसनीय नहीं है। सक्षम प्राधिकारी की रिपोर्ट नहीं है। शासनादेश एक गाइड लाइंस है। निर्णय सभी तथ्यों को ध्यान में रखते हुए राज्यपाल द्वारा किया गया है। निर्णय संविधान के अनुच्छेद 243 एक्स के तहत लिया गया है।
... और पढ़ें

कौशाम्बी : क्षेत्र बंटवारे को लेकर भिड़े किन्नरों के गुट, मौके पर पहुंची पुलिस ले गई थाने

कोखराज कोतवाली के शहजादपुर पुलिस चौकी के समीप शनिवार किन्नरों के दो गुटों के बीच जमकर मारपीट हुई। घटना में दोनों पक्ष के लोग जख्मी हो गए। शोरगुल सुन स्थानीय चौकी पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने दोनों पक्षों को कोतवाली भेज दिया है।

चौकी प्रभारी गौरव द्विवेदी ने बताया कि इलाके में किन्नरों ने कुछ ग्रुप लोगों के यहां बधाई आदि गाकर पैसा लेते हैं। सोमवार को एक ग्रुप की रेशमा व दूसरे पक्ष की मुस्कान पक्ष के पीछ विवाद हो गया। दोनों तरह से जमकर मारपीट हुई।

इस  बीच किसी स्थानीय लोगों ने बीच-बचाव करने का प्रयास किया लेकिन सफलता नहीं मिली। बाद में मौके पर पहुंची पुलिस दोनों पक्षों को कोतवाली ले गई। वहां क्षेत्र के बंटवारे को लेकर विवाद की बात सामने आ रही थी। देर शाम तक पुलिस किसी नतीजे तक नहीं पहुंच सकी थी।
... और पढ़ें

कौशाम्बी : चिल्ड्रेन बैंक के जाली नोट के साथ तीन बदमाश गिरफ्तार, चार लाख के फर्जी नोट बरामद

एसओजी के एक खास ऑपरेशन ने जिला पुलिस की खासी किरकिरी कराई। पुलिस का दावा था कि नकली नोट के कारोबार की सूचना पर सैनी के दिलावलपुर मोड़ से तीन बदमाशों को पकड़ा गया। उनके पास जो नोट मिली वह चिल्ड्रेन बैंक ऑफ इंडिया (नकली) की निकली। एसओजी गिरोह की तह तक पहुंचना चाह रही थी, इस बीच खबर सोशल मीडिया वायरल हो गई। कहा गया कि आतंकियों को फंडिंग करने वाले गिरोह में इन्हीं सदस्यों का हाथ है। पुलिस भी शुक्रवार से सैनी कोतवाली में आरोपियों को रखकर अपनी पीठ थपथपा रही थी। 

शनिवार दोपहर में पुलिस ऑफिस में घटना के खुलासे को लेकर प्रेसवार्ता हुई। जिसमें एएसपी समर बहादुर ने बताया कि सूचना नकली नोट सप्लाई करने वाले गिरोह की मिली थी। लेकिन, मीडिया में मामला आ जाने के कारण सरगना सतर्क हो गया और भाग निकला। तीन लोग पकड़े गए हैं जिनकी पहचान फतेहपुर जिले के हथिगवां इलाके के मलाका निवासी शमीम, किल्हानापुर निवासी रमाकांत व रोहित मिश्रा के रूप में की गई है।

इन लोगों के पास से दो बाइक, दो हजार रुपये के चिल्ड्रेन बैंक की एक गड्डी, पांच सौ के नोट की चार गड्डी, 100 सौ रुपये के तीन असली नोट जिन्हें कैस्टोफिन टैबलेट लगाकर असली जैसा किया जाता था। तीन मोबाइल फोन, एक तमंचा-कातूस और एक पत्ता कैस्टोफीन टैबलेट बराबद की गई है। एएसपी ने बताया कि विंग के प्रभारी सिद्धार्थ सिंह, राजेंद्र प्रसाद, सुरेंद्र सिंह, विजय सिंह यादव, प्रमोद कुमार, मनोज कुमार, सरताज, मनीष कुमार शामिल रहे। गिरोह के दो सदस्य फरार है, जल्द ही उनकी गिरफ्तारी के बाद पूरे मामले का खुलासा होगा।

बैंक के समीप ग्राहकों को बनाते थे निशाना
एसओजी प्रभारी सिद्धार्थ सिंह का कहना है कि गिरोह के सदस्य बैंक के आसपास सक्रिय रहते थे। खासतौर पर इनके निशाने पर वह ग्रामीण इलाके का बैंक होते थे जहां सीसीटीवी कैमरे नहीं लगे होते थे। वहां बिड्राल भरने के बहाने उसका पैसा निकलवाते, फिर उसे नकली नोट की गड्डी थमाकर भाग निकलते थे।

खांसी में काम आती है कैस्टोफिन
पकड़े गए बदमाशों के पास से कैस्टोफिन टैबलेट का पत्ता बरामबद हुआ है। पूछताछ के दौरान बदमाशों ने बताया कि इस दवा का इस्तेमाल व नकली नोट का रंग चटख करने में किया करते थे। अक्सर यह नोट पेट्रोल पंप, शराब के ठेके का सट्टे में लगाई जाती थी। इस वजह से किसी को शक नहीं जाता था।

गाजियाबाद कांड से तार जोड़ रही है पुलिस
जिले में पकड़े गए कथित नकली नोट के बाबत पुलिस को सूचनी मिली थी कि गाजियाबाद मदरसा कांड में जिले के रास्ते ही फंडिंग कराई कराई गई। खुफिया रिपोर्ट के आधार पर एसपी राधेश्याम ने एसओजी को सक्रिय भी किया। इससे पहले मामला कोखराज कोतवाली से लीक हो गया। सोशल मीडिया में खबरें आने के बाद पुलिस को मजबूरी में पकड़े गए तीन लोगों को जाली नोट के साथ गिरफ्तारी दिखाकर जेल भेजना पड़ा।
... और पढ़ें

कौशाम्बी : खंडहर में लटकता मिला बाइक मिस्त्री का शव

पिपरी कोतवाली के गिरिया खालसा गांव में शनिवार सुबह एक 22 वर्षीय युवक का शव उसके ही खंडहर माकान में फांसी पर लटकता हुआ मिला। युवक ने इस तरह का आत्मघाती कदम क्यों उठाया ? फिलहाल साफ नहीं हो सका है। सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने पंचनामा भरकर लाश पोसटमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस घटना की जांच-पड़ताल कर रही है।

 गिरिया खालसा गांव निवासी कुल्लू  मेहनत मजदूरी करता है। उसका 22 वर्षीय बेटा धीरेंद्र कुमार चायल तहसील गेट के पास मोटरसाइकिल सर्विस की दुकान चलाता था। उसका शव शनिवार की सुबह नौ बजे घर के समीप ही रहे एक खंडहर में उसका शव फंदे पर लटकता मिला। खबर फैलते ही परिजनों के साथ ही पड़ोसी ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई।

युवक ने खुदकुशी क्यों की? फिलहाल परिजन इस बाबत कुछ नहीं बता पा रहे हैं। सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने मौका मुआयना करने के बाद पंचनामा भरकर लाश पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। उधर, जवान बेटे की मौत से पीड़ित परिवार में कोहराम मचा हुआ है।
... और पढ़ें

किल्लत बरकरार : डिप्टी सीएम के गृह क्षेत्र के ऑक्सीजन प्लांट का निकला दम

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या के गृह नगर सिराथू में 70 लाख की लागत से स्थापित ऑक्सीजन प्लांट शोपीस बनकर रह गया है। जल्दबाजी में 13 अगस्त को तकनीकी काम पूरा किए बगैर ही डिप्टी सीएम से प्लांट का लोकार्पण करा दिया गया। लेकिन डेढ़ माह बाद भी प्लांट में ऑक्सीजन का उत्पादन शुरू नहीं हो सका। अस्पताल में आज भी सिलिंडर के जरिए ही ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है।

कोरोना काल में ऑक्सीजन की घोर किल्लत होने से देश में हाहाकार मचा था। इसी को देखते हुए डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या ने अपने गृहनगर की सीएचसी सिराथू में 70 लाख की लागत से ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना कराई। काम जल्दी पूरा करने का दबाव पड़ा तो कार्यदायी संस्था लोक निर्माण विभाग ने 13 अगस्त को आधे-अधूरे प्लांट का ही डिप्टी सीएम से लोकार्पण भी करा दिया।

इस दौरान प्लांट में नियमित ऑक्सीजन उत्पादन होने का दावा भी किया गया था। लेकिन लोकार्पण के डेढ़ माह से अधिक समय गुजरने के बावजूद प्लांट से गैस का उत्पादन नहीं हो रहा है। बताया जा रहा है कि काम पूरा किए बगैर है कार्यदायी संस्था के ठेकेदार लोकार्पण के बाद ही अपना समान बटोरकर खिसक गया। मौके से लोकार्पण का शिलापट्ट भी गायब हो गया है।

जेनरेटर के अभाव में रुका गैस का उत्पादन
जेनरेटर के अभाव में प्लांट में ऑक्सीजन का उत्पादन संभव नहीं हो पा रहा है। जानकारों का कहना है कि ऑक्सीजन उत्पादन के लिए 24 घंटे बिजली का होना जरूरी है। इसके अभाव में ऑक्सीजन का उत्पादन संभव ही नहीं है। कस्बे में बदहाल बिजली आपूर्ति किसी से छिपी नहीं है।

लोक निर्माण विभाग ने अपने हिस्से का काम पूरा किया : एक्सईन
लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता हरवंश सिंह का कहना है कि उन्होंने अपने हिस्से का काम पूरा करा दिया है। जेनरेटर की व्यवस्था करना स्वास्थ्य विभाग की जिम्मेदारी है। ऐसे में जेनरेटर के अभाव में प्लांट नहीं चलने से उनका कोई लेना-देना नहीं है।

शासन से नहीं मिला जेनरेटर: सीएमओ
सीएमओ डॉ. केसी राय का कहना है कि प्लांट संचालन के लिए शासन से जेनरेटर नहीं मिला है। सिलिंडर से मरीजों की जरूरत पूरी की जा रही है। कभी इमरजेंसी पड़ी तो उस समय हालत के हिसाब से कदम उठाए जाएंगे।
... और पढ़ें

कौशाम्बी : दुष्कर्म पीड़ित युवती ने अस्पताल में बच्चे को दिया जन्म, कुछ देर बाद बच्चे की मौत

कोखराज कोतवाली इलाके के एक गांव में बुधवार की देर रात एक दुष्कर्म पीड़ित युवती ने नवजात को जन्म दिया है। जन्म लेने के बाद नवजात की मौत हो गई। पीड़िता की तहरीर पर पुलिस ने मामले में कार्रवाई करते हुए नवजात के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।

कोखराज कोतवाली के मूरतगंज चौकी क्षेत्र के एक गांव की युवती को पड़ोसी युवक ने शादी का झांसा देकर दुष्कर्म किया था। युवती ने जब शादी करने के लिए आरोपी से बात की तो वह मुकर गया। दूसरी तरफ आरोपी दुष्कर्म से गर्भवती हुई पीड़िता ने बुधवार को प्रसव पीड़ा के बाद एक नवजात को जन्म दिया। अस्पताल में जन्म लेने के बाद नवजात ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। पीड़ित युवती ने मामले में आरोपी युवक के खिलाफ चौकी पुलिस को तहरीर दी। चौकी पुलिस ने नवजात के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।

एक साल बाद दर्ज हुई दुष्कर्म की रिपोर्ट
कोखराज इलाके के एक गांव में दुष्कर्म पीड़िता के नवजात को जन्म देने के बाद हरकत में आई पुलिस ने एक साल बाद आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म की रिपोर्ट दर्ज की है। पीड़िता के परिजनों ने बताया कि गांव के ही एक युवक उनकी बेटी से शादी का झांसा देकर कई सालों से दुष्कर्म कर रहा था। मामले की शिकायत पुलिस ने की गई थी। लेकिन पुलिस ने मामले में कोई कार्रवाई नहीं की। अब जब पीड़िता ने नवजात को जन्म दिया तो पुलिस हरकत में आई और आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज किया है।

शव के डीएनए रिपोर्ट से होगी दुष्कर्म के आरोपी को पहचान
नवजात को जन्म देने वाली युवती ने जिस युवक पर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। उस आरोपी की पहचान के लिए नवजात की डीएनए की जांच कराई जाएगी। कोखराज इंस्पेक्टर ज्ञान सिंह ने बताया कि पीड़िता की तहरीर पर दुष्कर्म की रिपोर्ट दर्ज कर नवजात के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।आरोपी और नवजात के डीएनए का मिलान का दुष्कर्म के आरोपी की भी पहचान कराई जाएगी।
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00