विज्ञापन
विज्ञापन
गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें
Myjyotish

गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Digital Edition

वृंदावन: शरद पूर्णिमा पर विशेष पोशाक धारण करेंगे श्रीबांकेबिहारी, जानिए शृंगार में क्या होगा खास

शरद पूर्णिमा पर ठाकुर श्रीबांकेबिहारी महाराज वर्ष में एक ही दिन बांसुरी, मोर मुकुट कट काछनी पोशाक हार तथा लकुटी आदि धारण कर श्रद्धालुओं को दर्शन देंगे। सेवा अधिकारी बिट्टू गोस्वामी ने बताया कि 20 अक्तूबर को शरद पूर्णिमा वाले दिन ठाकुरजी का विशेष शृंगार होगा। सोने चांदी का शृंगार जयपुर में कारीगरों ने तैयार किया है। ठाकुर श्रीबांकेबिहारी जी महाराज की सफेद पोशाक दिल्ली के चांदनी चौक में विशेष कारीगरों ने बनाई है। ठाकुर श्री राधा सनेह बिहारी जी एवं ठाकुर श्रीबांकेबिहारी के सेवा अधिकारी करन कृष्ण गोस्वामी ने बताया की श्रीमद्भागवत में वर्णन के अनुसार शरद पूर्णिमा पर भगवान श्रीकृष्ण ने यमुना किनारे गोपियों के साथ रात्रि वृंदावन में वंसीवट पर महारास किया था, इसलिए शरद पूर्णिमा वाले दिन ठाकुर श्रीबांकेबिहारी जी महाराज को शृंगार मोर मुकुट कट काछनी व बंसी धारण कराई जाती है। उस दिन ठाकुरजी को विशेष रूप से खीर एवं चंद्रकला का भोग चंद्रमा के दर्शन करने के पश्चात लगाया जाता है। 
... और पढ़ें
श्रीबांकेबिहारी मंदिर श्रीबांकेबिहारी मंदिर

मथुरा: कारीगरों ने तराशी तुलसी की माला में राधा-कृष्ण की युगल छवि, विदेशों तक पहुंची कंठी, कार्तिक नियम में है विशेष मान्यता

मथुरा के राधाकुंड में बनी तुलसी की कंठी माला अब देश ही नहीं बल्कि विदेशों में पहुंच रही है। राधा-कृष्ण नाम तो कहीं उनकी युगल स्वरूप की तस्वीर से बनी कंठी माला, किसी माला की आकृति शंख की है तो किसी माला में जगन्नाथ प्रभु विराजमान हैं। ऐसी सैकड़ों प्रकार की तुलसी से बनी कंठी माला राधाकुंड में कार्तिक नियम सेवा में आने वाले भक्तों को आकर्षित कर रही हैं। भक्तों का भाव माला को गले से पहनने से लेकर जप करने का है। यही कारण है कि ब्रज के आंगन की तुलसी की कंठी माला बनकर देश ही नहीं बल्कि सात समुंदर पार अमेरिका, रूस, चीन जैसे देशों में इस्कॉन अनुयायियों के माध्यम से पहुंच रही है। राधाकुंड में गौड़ीय संप्रदाय से जुड़े वैष्णव राधा-कृष्ण नाम की तुलसी धारण कर रहे हैं। हिंदू धर्म में भी तुलसी का विशेष महत्व है। इसलिए ज्यादातर घरों के आंगन में तुलसी का पौधा होता है।
... और पढ़ें

महिला सैन्य कर्मी आत्महत्या प्रकरण: फांसी लगाने से पहले भेजा मैसेज- पापा उसे माफ नहीं करना

फांसी लगाकर आत्महत्या करने वाली भारतीय सेना की लांस नायक कुछ दिन से परेशान थी। पिता ने बताया कि उनकी पुत्री दो अक्तूबर को छुट्टी पर आई थी। उन्होंने बेटी के छुट्टी पर आने पर गिरिराजजी की दूध की धारा के साथ परिक्रमा लगाई थी। ब्राह्मण को भोजन भी कराया था।  
उन्होंने कहा कि परिवार में सब कुछ ठीक-ठाक चल रहा था। रविवार को बेटी की मां मायके गई थी। वह मकान की दूसरी मंजिल पर सो रहे थे। छवि नीचे सो रही थी। प्रतिदिन की तरह सुबह 4 बजे वह जागे तो मोबाइल पर बेटी का मैसेज पढ़कर वह हक्के-बक्के रह गए और उसके कमरे की ओर दौड़े। उन्होंने देखा कि बेटी कमरे में पंखे से गले में फंदा डाल कर लटकी हुई है। आनन-फानन पुत्री को फंदे से उतार कर मथुरा मिलिट्री अस्पताल ले गए। वहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। 
... और पढ़ें

मथुरा में डेंगू-बुखार का प्रकोप: बच्चे समेत दो मरीजों की मौत, जिले में करीब चार हजार बीमार

मथुरा जिले में डेंगू और बुखार से हजारों लोग ग्रसित हैं। दो दिन से हो रही बारिश ने तो डेंगू का खतरा और बढ़ा दिया है। सोमवार को डेंगू से एक बच्चे सहित दो की मौत हो गई। पिछले 24 घंटे में स्वास्थ्य विभाग को डेंगू के 18 मरीज मिले हैं। हालात ऐसे हैं कि जनपद के अधिकांश सरकारी और निजी अस्पतालों में डेंगू-बुखार के मरीजों से फुल हैं। बदले मौसम में चिकित्सक विशेष सावधानी बरतने की सलाह दे रहे हैं। 

वृंदावन के अहीरपाड़ा क्षेत्र निवासी केशव देव के 12 वर्षीय पुत्र शशांक की डेंगू से मौत हो गई, वहीं राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित कोटा के निकट चंद्रनगर में रहने वाले रामबाबू की 60 वर्षीय पत्नी रूपवती ने दम तोड़ दिया। बुखार आने पर उनका उपचार वृंदावन के रामकृष्ण मिशन अस्पताल में चल रहा था।  

वृंदावन के सौ शैया संयुक्त जिला अस्पताल में सौ मरीज भर्ती हैं। इनमें लगभग 34 मरीज डेंगू मरीज हैं, जबकि 46 मरीज बुखार के बताए गए हैं। इनमें बच्चों की संख्या अधिक है। वहीं जिला अस्पताल के हालात भी ऐसे ही हैं। दस बेड का डेंगू वार्ड फुल हैं। अस्पताल में 28 मरीज बुखार से पीड़ित हैं। वहीं आईएमए में पंजीकृत 90 अस्पतालों के साथ बिना पंजीकृत लगभग 20 अस्पताल डेंगू और बुखार के मरीजों से भरे हैं। 
... और पढ़ें

मथुरा: बारिश से बर्बादी का मंजर देख किसानों के घरों में नहीं जले चूल्हे, सरकार से मुआवजे की गुहार

डेंगू (सांकेतिक तस्वीर)
मथुरा जिले में पिछले दो दिन से हो रही बारिश से छाता, मांट, महावन, गोवर्धन तहसील के किसान बर्बादी के कगार पर पहुंच गए हैं। बारिश से खेतों में कटी तथा खड़ी धान की फसल पानी में डूब गई है। आलू और लाहा की हाल ही में बोई गई फसलें पूरी तरह बर्बाद हो गई हैं। बारिश से बर्बादी के मंजर को देख किसानों के घरों में चूल्हे तक नहीं जले हैं। प्रशासन ने अभी तक नुकसान का सर्वे तक शुरू नहीं कराया है। इससे किसानों में रोष व्याप्त है।
 
तहसील छाता के गांव छाता देहात, भीम नगर रनवारी, लाडपुर, बहरावली, लोधौली, बिजवारी, सांखी, अलवाई, नगला पचावर, अकोस, सोनई, परखम, नगला छीतर, जमालपुर, शहजादपुर गूजर आदि गांवों फसलें पूरी तरह नष्ट हो गई हैं। किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष चरन सिंह जादौन ने टीम के साथ क्षतिग्रस्त फसलों का निरीक्षण किया। 
 
आगरा में बारिश से बर्बादी: धान की फसल खेतों में गिरी, बाजरे को नुकसान, किसानों ने लगाई मदद की गुहार

उनका कहना है कि बारिश से धान, आलू, सरसों की फसलें पूरी तरह बर्बाद हो गई हैं। खेतों में एक-एक फीट पानी भरा हुआ है। उन्होंने डीएम को ज्ञापन देकर किसानों की फसलों का सर्वे करा कर मुआवजा दिलाने की मांग की है। चौमुहां, पसौली, परखम, अकबरपुर, तरौली, सिहाना, बढ़ौता, आझई, परखम गुर्जर, सेही, शहदपुर, नौगांव, भरतिया आदि गांवों में धान, कपास, लाहा, आलू की फसलें बर्बाद हो गई हैं। 


 
... और पढ़ें

श्रीकृष्ण जन्मभूमि प्रकरण: वादी पक्ष 19 नवंबर को उठाएगा शाही ईदगाह मस्जिद में नमाज का मुद्दा

मथुरा के श्रीकृष्ण जन्मभूमि और शाही ईदगाह मस्जिद केस में वादी केशवदेव पक्ष की ओर से शाही ईदगाह में नमाज पढ़ने का मुद्दा आगामी 19 नवंबर को अदालत के समक्ष उठाया जाएगा। सोमवार को बारिश के अवकाश के कारण इस मामले पर अदालत में सुनवाई नहीं हो सकी। अदालत ने इस संबंध में 19 नवंबर की सुनवाई की तारीख तय की है। अदालत में चल रहे अन्य केसों में भी इसी दिन सुनवाई होगी।

श्रीकृष्ण जन्मभूमि की 13.37 एकड़ जमीन को लेकर वर्ष 1968 में हुए राजीनामा को खत्म करने की मांग को लेकर अदालत आए एडवोकेट महेंद्र प्रताप सिंह, एडवोकेट राजेंद्र माहेश्वरी द्वारा सोमवार को सिविल जज सीनियर डिवीजन की अदालत में प्रार्थनापत्र दिया जाना था, जिसमें वह शाही ईदगाह मस्जिद में नमाज पढ़े जाने के मुद्दे को अदालत के समक्ष रखते। 

राज्यसभा सांसद का बयान: कब्जामुक्त होनी चाहिए श्रीकृष्ण जन्मभूमि, मंदिर तोड़ बनवाई गई थी मस्जिद

महेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि उक्त प्रार्थनापत्र में यह बताया गया है कि विवादित होने के कारण कुछ वर्ष पहले तक इस मस्जिद में मुस्लिमों द्वारा नमाज तक नहीं पढ़ी जाती थी। उन्होंने बताया कि अब वह इस प्रार्थनापत्र को 19 नवंबर को देंगे। इस दिन वह अदालत में उनके द्वारा अमीन रिपोर्ट मंगवाने की मांग भी करेंगे। अधिवक्ता राजेंद्र माहेश्वरी ने बताया कि अब इस संबंध में 19 नवंबर को सुनवाई होगी।

नारायणी सेना की सुनवाई भी 19 नवंबर को
अदालत में एडवोकेट शैलेंद्र सिंह के अलावा मनीष यादव, पंकज शास्त्री आदि द्वारा दायर वाद में भी सुनवाई 19 नवंबर को जाएगी। वादी महेंद्र यादव ने बताया कि उनके केस में  की तारीख दी है। 
... और पढ़ें

राज्यसभा सांसद का बयान: कब्जामुक्त होनी चाहिए श्रीकृष्ण जन्मभूमि, मंदिर तोड़ बनवाई गई थी मस्जिद

श्रीकृष्ण जन्मभूमि को लेकर एटा के राज्यसभा सांसद हरनाथ सिंह यादव ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि मुस्लिम समाज दिल बड़ा करे और श्रीकृष्ण जन्मस्थान की जमीन को हिंदू समाज को सौंप दे। यह भी कहा है कि विदेशी आक्रांताओं ने पूर्व में मंदिर को ध्वस्त कर यहां पर मस्जिद बनाई थी। कुरान के अनुसार जबरन कब्जा कर बनाई गई मस्जिद में की गई इबादत स्वीकार नहीं की जाती है। वह अपने धर्म की बात ही मानकर सकारात्मक निर्णय लें। 


रविवार को पत्रकारों से वार्ता के दौरान राज्यसभा सांसद ने कहा कि विदेशी आक्रांताओं ने हिंदू आस्था पर ठेस पहुंचाने के लिए हजारों मंदिर ध्वस्त किए थे। इनमें अयोध्या का श्रीराम मंदिर और मथुरा का श्रीकृष्ण मंदिर भी शामिल था। सुनियोजित तरीके से यह पूरा काम किया गया, जिससे भारत का इतिहास और भूगोल बदल दिया जाए और हिंदू अपनी परंपराए व आस्था भूल जाएं। 

श्रीकृष्ण जन्मभूमि: तीन बार टूटा और चार बार बनाया गया भगवान श्रीकृष्ण का मंदिर, यह है इतिहास

उन्होंने कहा कि भगवान श्रीकृष्ण भारत में ही नहीं, विदेशों में तक आदर्श माने जाते हैं। मथुरा में उनकी जन्मभूमि पर मंदिर को तोड़कर मस्जिद बनाई गई थी। लंबे समय से मामला विवादित रहा है। श्रीकृष्ण जन्मस्थान को मुक्त होना चाहिए। मुस्लिम भाइयों को बहुसंख्यकों की भावनाओं का सम्मान कर इस जमीन को सौंपकर विवाद का निपटारा करना चाहिए।

यह है विवाद 
श्रीकृष्ण जन्मभूमि की 13.37 एकड़ जमीन विवाद को लेकर मथुरा की अदालत में केस दर्ज है। इस पर सुनवाई चल रही है। एडवोकेट महेंद्र प्रताप सिंहकी ओर से दर्ज कराए केस में 13.37 एकड़ जमीन को लेकर वर्ष 1967 में हुए समझौते और उसके बाद की गई डिक्री (न्यायिक निर्णय) गलत बताते हुए निरस्त करने की मांग है। यह भी दावा किया गया है कि शाही ईदगाह मस्जिद मंदिर तोड़कर जन्मभूमि की जमीन पर भी बनाई गई है। 
... और पढ़ें

मथुरा: छुट्टी पर घर आई महिला सैन्य कर्मी ने की आत्महत्या, युवक पर तस्वीरें वायरल करने का आरोप

मथुरा के गोवर्धन में महिला सैन्य कर्मी ने अपने घर में आत्महत्या कर ली। सोमवार की सुबह उसका शव कमरे में फंदे से लटका मिला। महिला सैन्य कर्मी जम्मू में लांस नायक पद पर तैनात थी। वह दो अक्तूबर को छुट्टी लेकर घर आई थी। आत्महत्या का कारण एक युवक द्वारा परेशान किए जाना बताया गया है। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया है। 

जानकारी के मुताबिक कस्बा निवासी 22 वर्षीय युवती का चयन करीब दो वर्ष पूर्व सेना पुलिस में हुआ था। दो वर्ष की ट्रेनिंग के बाद उसकी नियुक्ति हाल ही में जम्मू में लांस नायक पद पर हुई। दो अक्तूबर को वह छुट्टी लेकर घर पर आई हुई थी। इस दौरान परिजनों ने बेटी के आने की खुशी में गिरिराज जी का पूजन कराया और लोगों को भोज कराया था। 

बेटी के मैसेज देख उड़े पिता के होश 
मृतका के पिता ने बताया कि परिवार में सब कुछ ठीक चल रहा था। रविवार को युवती की मां अपने मायके गई थी, पिता मकान की दूसरी मंजिल पर सो रहे थे। छवि नीचे की मंजिल में सोई थी। प्रतिदिन की तरह सुबह चार बजे वह जागे तो मोबाइल फोन पर बेटी का मैसेज देखकर उनके होश उड़ गए। वह तुरंत उसके कमरे की ओर दौड़े। 
... और पढ़ें

वृंदावन: शरद पूर्णिमा पर बदला श्रीबांकेबिहारी मंदिर खुलने का समय, सोने-चांदी के सिंहासन पर वंशी धारण करेंगे ठाकुरजी

शरद पूर्णिमा पर जन-जन के आराध्य ठाकुर श्रीबांकेबिहारी महाराज मोर मुकुट और कटि काछिनी के साथ वंशी धारण कर भक्तों को दर्शन देंगे। ठाकुरजी सोने-चांदी के सिंहासन पर विराजमान होंगे। इस दौरान मंदिर के पट खुलने के समय में बदलाव किया गया है। मंदिर प्रशासन ने इस बार एक-एक घंटे प्रात:कालीन सेवा और सायंकालीन सेवा में समय बढ़ाया गया है। इस दिन भक्तों को अपने आराध्य के दर्शन के लिए दो घंटे का समय अधिक मिलेगा।
एक-एक घंटे मंदिर के पट खुलने का समय बढ़ाया
20 अक्तूबर शरद पूर्णिमा के दिन राजभोग और शयन भोग सेवा में एक-एक घंटे मंदिर के पट खुलने का समय बढ़ाया गया है। दिन में दो घंटे अधिक मंदिर खुलने के कारण आरती के समय में भी परिवर्तन होगा। शरद पूर्णिमा के दिन दोपहर में राजभोग आरती 11:55 के स्थान पर 12:55 बजे होगी और रात में होने वाली शयनभोग आरती रात 9:25 के स्थान पर 10:25 बजे की जाएगी। शरद पूर्णिमा पर अधिक संख्या में आने वाले भक्तों को लेकर दर्शनों के समय को बढ़ाया गया है। 
... और पढ़ें

कोरोना योद्धाओं का सम्मान: 100 करोड़ टीका लगने पर 'तिरंगामय' होंगे वृंदावन के दो मंदिर, देखें ट्रायल की तस्वीरें

देश में सौ करोड़ टीका लगने पर कोरोना योद्धाओं के सम्मान में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) द्वारा संरक्षित मंदिरों और स्मारकों को तिरंगामय रोशनी से रोशन किया जाएगा। इसमें ब्रज के मंदिर और ऐतिहासिक स्मारक भी शामिल हैं। वृंदावन के सबसे प्राचीन मंदिरों में शुमार मदनमोहन और गोविंद देव मंदिर पर भी भव्य रूप से सजावट की गई है। रविवार को दोनों मंदिरों पर तिरंगामय की रोशनी का ट्रायल किया गया है। इससे पूर्व ट्रायल के दौरान आगरा के चार स्मारकों आगरा किला, फतेहपुर सीकरी, एत्माद्दौला और सिकंदरा स्मारक को तिरंगे के रंग में रोशन किया गया था। ताजमहल सुरक्षा कारण से इस महोत्सव में शामिल नहीं किया गया है। 
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00