लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Meerut ›   Meerut: Cleanliness system derailed, garbage vehicles jammed, employees locked the depot

Meerut: पटरी से उतरी सफाई व्यवस्था, कूड़ा गाड़ियों का चक्का जाम, कर्मचारियों ने डिपो पर जड़ा ताला

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, मेरठ Published by: Dimple Sirohi Updated Wed, 17 Aug 2022 03:22 PM IST
सार

मेरठ में वेतन न मिलने से नाराज बीवीजी कंपनी के गाड़ी चालक और परिचालकों ने हड़ताल कर दी और सूरजकुंड वाहन डिपो के गेट पर ताला जड़ दिया। चालक व परिचालक डिपो के बाहर टेंट लगाकर धरने पर बैठ गए।

कूड़ा गाड़ी डिपो
कूड़ा गाड़ी डिपो - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

मेरठ महानगर के 43 वार्डों की सफाई व्यवस्था एक बार फिर पटरी से उतर गई। बीवीजी कंपनी के गाड़ी चालक और परिचालकों ने हड़ताल कर दी और सूरजकुंड वाहन डिपो के गेट पर ताला जड़कर बाहर टेंट लगाकर धरने पर बैठ गए।



कर्मचारियों के पक्ष में भाजपा पार्षद नीरज सिंह भी धरने पर बैठ गए। लगभग पांच घंटे तक सूरजकुंड वाहन डिपो के गेट पर धरना चला। मौके पर पहुंची भारी पुलिस फोर्स और निगम के अपर नगर आयुक्त प्रमोद कुमार पशु कल्याण अधिकारी डॉक्टर हरपाल सिंह ने धरने पर बैठे चालक व परिचालकों को समझाने का प्रयास किया लेकिन पार्षद नीरज सिंह सभी चालक परिचालकों को वेतन दिए जाने की मांग पर अड़ गए।


इस दौरान अपर नगर आयुक्त और पार्षद के बीच तीखी नोकझोंक भी हुई। एक सप्ताह में वेतन दिए जाने के आश्वासन पर धरने पर बैठे कर्मचारियों ने वाहन डिपो के गेट पर लगा ताला खोला और धरना समाप्त किया। उधर, नगर निगम सूरजकुंड वाहन डिपो के प्रभारी की ओर से बीवीजी कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर सलिल सील और पार्षद नीरज सिंह के खिलाफ थाने में तहरीर दी है।

यह भी पढ़ें: UP: सहारनपुर में बोले सीएम योगी-तेज होगी विकास गति, लापरवाही बरती तो होगी कार्रवाई

दरअसल, नगर निगम ने बीबीजी इंडिया कंपनी को शहर के 43 वार्डों में घर-घर से कूड़ा एकत्र करने की व्यवस्था दी हुई है। मार्च 2022 से कंपनी वालों में घर-घर से कूड़ा उठाने का कार्य कर रही है लेकिन अभी तक नगर निगम की तरफ से कंपनी को कोई भुगतान नहीं मिला है। वेतन की मांग को लेकर गाड़ी चालक व परिचालक  नाराज हैं।

रक्षाबंधन के त्यौहार पर भी तीन दिन तक हड़ताल रखी थी जिस दौरान नगर निगम के अधिकारियों ने 16 अगस्त को सभी को वेतन दिए जाने का आश्वासन दिया था लेकिन अब 16 अगस्त बीत जाने के बाद बीवीजी कंपनी के गाड़ी चालक व परिचालकों ने इनके वेतन की मांग को लेकर बुधवार सुबह 7:00 बजे से हड़ताल कर दी और सूरजकुंड वाहन डिपो के गेट पर ताला जड़कर बाहर धरने पर बैठ गए।

यह भी पढ़ें: मां के सामने बेटे ने उजाड़ा परिवार: पिता व दो बहनों की हत्या कर यमुना में नहाया था आरोपी, बोला-नहीं कोई पछतावा

चालक परिचालकों के बीच पहुंचे पार्षद नीरज सिंह ने कहा कि कर्मचारियों के साथ किसी भी तरह से अन्याय नहीं होने दिया जाएगा। उनको वेतन दिया जाना चाहिए। पांच घंटे तक वाहन डिपो पर चले धरने प्रदर्शन से नाराज होकर अपर नगर आयुक्त ने कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर को निर्देश दिए कि वह कर्मचारियों के वेतन की वयवस्था करें। इतना ही नहीं अपर नगर आयुक्त ने चालक परिचालकों को आश्वासन दिया कि कंपनी एक सप्ताह के अंदर उनके वेतन का भुगतान करेगी। इस आश्वासन पर सभी कर्मचारियों ने धरना समाप्त कर दिया।

उधर वाहन डिपो पर हुए आंदोलन और आए दिन हड़ताल से नाराज होकर नगर निगम सूरजकुंड वाहन डिपो के प्रभारी बीवीजी कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर और पार्षद नीरज सिंह के खिलाफ थाना सिविल लाइन पर तहरीर दी है।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00