लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Pilibhit News ›   Civic Amenities

Pilibhit News: अस्तित्व खो चुके कुओं की मिलेगी पहचान

Bareily Bureau बरेली ब्यूरो
Updated Wed, 07 Dec 2022 06:00 AM IST
नेहरु पार्क के पास स्थित कुआं। संवाद
नेहरु पार्क के पास स्थित कुआं। संवाद - फोटो : PILIBHIT
विज्ञापन
पीलीभीत। प्राचीन समय में कुओं को अपना महत्व था। पानी की जरूरत के साथ सामाजिक और धार्मिक क्रियाकलापों में भी इसका उपयोग किया जाता था। समय के साथ कुओं का अस्तित्व समाप्त होता चला गया। अधिकांश जगह इनको पाटकर लोगों ने कब्जा कर लिया। अब शासन ने ऐसे कुओं को पुन: जीवंत करने के लिए प्रयास शुरू किए हैं। इसके लिए शासन ने जलदूत एप को जारी कर सर्वे के निर्देश दिए हैं। सचिवों और रोजगार सेवकों को जिम्मेदारी सौंपी गई है कि वे कुओं के बारे में सारी जानकारी जुटाकर एप में फीड करें।

अधिकांश स्थानों पर पानी के लिए कुओं का चलन बंद हो चुका है। नल और अन्य संसाधनों से पानी की जरूरतों को पूरा किया जा रहा है। कुओं का अस्तित्व भी समाप्ति के कगार पर है। सिर्फ नाम से ही स्थान की पहचान बनी हुई है। अब एक बार फिर शासन ने कुओं की सुध ली है। शासन की तरफ से जारी किए गए जलदूत एप से पूरे प्रदेश में कुओं की पड़ताल कराने के लिए निर्देश दिए गए हैं। एप के माध्यम से गांवों में सचिव और रोजगार सेवक मौके पर जाकर कुओं की लोकेशन दर्ज करेंगे। यही नहीं कुएं का व्यास, जलस्तर, प्री और पोस्ट मानसून को दर्ज किया जाएगा। कुआं कितना पुराना, कब पाटा गया। पाटते समय उसमें पानी था या नहीं आदि सभी जानकारियों एप के जरिए फीड की जाएंगी। इसके बाद कुओं को अस्तित्व में लाने की प्रक्रिया को शुरू की जाएगी।

---
केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय ने बनाया एप
जल संरक्षण के अभियान में अब कुओं को भी शामिल किया गया है। केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय ने इस एप को बनाया था। इसमें मनरेगा को भी जोड़ा गया है। मनरेगा में कार्य कर रहे रोजगार सेवकों को इसकी जिम्मेदारी दी जाएगी। नेशनल मोबाइल मॉनीटरिंग सिस्टम की यूजर आईडी एवं पासवर्ड सभी को देने के लिए कहा गया है।
--
शासन की ओर से कुओं की पड़ताल कराने के आदेश हुए हैं। गांवों में सचिव और रोजगार सेवक को आईडी और पासवर्ड दे दिया गया है। जल्द ही जलदूत एप के जरिए जिले के सभी कुओं की जानकारी हो जाएगी।
- मृणाल सिंह, डीसी मनरेगा
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00