विज्ञापन
विज्ञापन
लाभ पंचमी - सौभाग्य वर्धन का दिन,घर बैठे कराएं लक्ष्मी गणेश पूजन एवं लक्ष्मी सहस्रनाम पाठ,मात्र 101/- में,अभी बुक करें
Myjyotish

लाभ पंचमी - सौभाग्य वर्धन का दिन,घर बैठे कराएं लक्ष्मी गणेश पूजन एवं लक्ष्मी सहस्रनाम पाठ,मात्र 101/- में,अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

धान के नुकसान की शिकायत के लिए कंट्रोल रूम शुरू

श्रावस्ती। अतिवृष्टि एवं बाढ़ के कारण धान की फसल को हुए नुकसान की शिकायत दर्ज कराने के लिए प्रशासन ने एक कंट्रोल रूम का संचालन शुरू किया है। कृषि भवन में स्थापित इस कंट्रोल रूम के मोबाइल नंबर 9918405082, 6387112101 एवं 7704078582 पर पीड़ित किसान अपने नुकसान का विवरण दर्ज करा सकते हैं। यह जानकारी उप कृषि निदेशक कमल कटियार ने दी। दूसरी तरफ विकास भवन सभागार में भी शुक्रवार को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की समीक्षा के लिए जिला स्तरीय अनुश्रवण समिति की बैठक हुई।
सीडीओ ईशान प्रताप सिंह की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में योजना के तहत किसानों को लाभ दिलाने के लिए गहन मंथन हुआ। जिला प्रबंधक पीएमएफबीवाई राम पुजारी यादव ने बताया कि खरीफ 2021 में 19444 ऋणी किसानों का फसल बीमा हुआ है। पिछले वर्ष रबी 2020-21 में 19665 किसानों का फसल बीमा हुआ था। जिसमें से फसल कटाई प्रयोग के आधार पर 2620 किसानों का क्षतिपूर्ति के रूप में 8.11 करोड़ की राशि स्वीकृत हुई। जिसे किसानों के खाते में भेजा जा रहा है। केनरा बैंक भिनगा, इंडियन बैंक संग्रामगंज एवं इंडियन बैंक पूरे गोकुल सिंह पुरवे भिनगा द्वारा किसानों का चालान जनरेट नहीं किया गया है। इससे क्षतिपूर्ति लाभांवित किसानों के खाते में पैसा भेजने में परेशानी हो रही है।
मुख्य विकास अधिकारी ने इस पर नाराजगी जताते हुए इसकी सत्यापन आख्या तत्काल कार्यालय को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। एडीएम कमलेश चंद्र ने कहा कि जिन अधिकारियों की क्राप कटिंग की ड्यूटी लगाई गई है, वह पूरी गंभीरता से अपना कार्य करे ताकि क्षति का आंकलन किया जा सके। कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिक डा. उमेश बाबू ने बताया कि धान का औसत उत्पादकता चावल के रूप में 24.30 कुंतल प्रति हेक्टेयर है। ऐसे गांव जहां क्षति अधिक हुई है, उसकी सूचना क्षेत्रीय कर्मचारियों व किसानों द्वारा मोबाइल के माध्यम से दी जा रही है। जिले में 100 राजस्व ग्रामों में क्राप कटिंग का कार्य कराया जाना है।
... और पढ़ें

मड़ाई से पहले ही खेत में अंकुरित हो रहा धान

श्रावस्ती। बीते दिनों हुई अतिवृष्टि के कारण राप्ती नदी सहित पहाड़ी नाले उफनाए हुए हैं। तेज हवाओं के साथ हुई बरसात के कारण खेतों में लगी धान की फसल गिरी पड़ी है और खेतों में अभी भी पानी भरा है। इसके चलते खेतों में काट कर रखी धान की फसल मड़ाई से पहले ही अंकुरित होने लगी है। इससे किसानों के लिए फसल की लागत निकालना भी मुश्किल हो गया है।
विगत वर्ष धान की फसल खराब होने के बाद इस वर्ष किसानों को बेहतर पैदावार की उम्मीद थी। जिले में 75,500 हेक्टेयर भूमि में धान की खेती का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। इसके इतर किसानों ने इस वर्ष 77,553 हेक्टेअर क्षेत्र में धान की रोपाई की थी। इसमें 42,112 हेक्टेयर में हाइब्रिड, 2142 हेक्टेयर में बासमती व 31498 हेक्टयर में सामान्य धान की खेती की गई थी। धान की नर्सरी डालने से लेकर अब तक अच्छी बरसात होने के कारण इस वर्ष बेहतर पैदावार की संभावना से किसानों के चेहरों पर खुशी दिख रही थी। लेकिन बीते दिनों हुई अतिवृष्टि व तेज हवाओं ने किसानों के उम्मीदों पर पानी फेर दिया।
तेज हवा के कारण खेत में लगी फसल गिर गई। वहीं अतिवृष्टि के कारण खेत खलिहान भी जलमग्न हो गए। ऐसे में एक तरफ खेतों में लगी धान की फसल खराब हो रही है तो वहीं जिन किसानों ने धान की फसल काट ली थी, वह भी बिना मड़ाई के ही अंकुरित होने लगी है। इससे किसानों को फसल की लागत भी वापस न लौट पाने की चिंता सताने लगी है। कृषि विभाग के अफसरों की माने तो तेज हवाओं व अतिवृष्टि के कारण करीब 50 फीसदी फसल का नुकसान हुआ है। खेतों में पानी होने के कारण जहां धान की कटाई व मड़ाई का कार्य बाधित है। वहीं खेत व खलिहानों के जलमग्न होने के कारण किसानों के सामने पानी में खराब हो रही फसल को सुखाना भी बड़ी चुनौती है।
जलभराव के कारण धान की फसल में सबसे अधिक नुकसान सिरसिया में और इसके बाद जमुनहा में हुआ है। यहां बाढ़ के पानी का असर सबसे ज्यादा रहा। जबकि हरिहरपुररानी, इकौना व गिलौला में आंशिक नुकसान देखा गया है। औसतन जिले में धान की 40 से 45 फीसदी फसल के नुकसान की आशंका है।
-डॉ. अवधेश कुमार यादव, जिला कृषि अधिकारी
... और पढ़ें

दुबई में आयोजित वर्ल्ड एक्सपो में जाएंगे मेधावी

श्रावस्ती। हाईस्कूल के मेधावियों को दुबई में आयोजित वर्ल्ड एक्सपो में जाने का मौका मिलेगा। इसके लिए नीति आयोग ने गुरुवार को जिले के छह विद्यार्थियों की परीक्षा ली। इस परीक्षा में उत्तीर्ण होने वाले को ही यह अवसर मिलेगा।
नीति आयोग हाईस्कूल के मेधावियों को दुबई में आयोजित होने वाले वर्ल्ड एक्सपो 2021-22 में प्रतिभाग करने के लिए भेजेगा। इसके लिए जिले में प्रथम द्वितीय व तृतीय स्थान रखने वाले मेधावियों में से छात्रों का चयन किया जाना है। चयन के लिए नीति आयोग ने गुरुवार को विकास भवन स्थित राप्ती सभागार में परीक्षा का आयोजन किया। जिसमें जिले के छह छात्राओं ने प्रतिभाग किया।
इन बच्चों को 100 प्रश्नों का प्रश्न पत्र दिया गया। इसमें से सफल छात्र को ही दुबई जाने का मौका मिलेगा। इस संबंध में सीडीओ ईशान प्रताप सिंह ने बताया कि इस परीक्षा में हाईस्कूल में प्रथम द्वितीय व तृतीय स्थान पाने वाले मेधावियों को शामिल किया गया था। प्रश्न पत्र में अंग्रेजी, गणित, विज्ञान एवं सामाजिक विषय से कुल 100 प्रश्न दिए गए थे। इसका मूल्यांकन नीति आयोग ही कराएगा। इसमें सफल विद्यार्थी को ही आगे जाने का मौका मिलेगा।
... और पढ़ें

बच्चों को कोरोना से बचाने के लिए जागरूकता जरूरी

श्रावस्ती। कोविड की आशंकित तीसरी लहर का प्रभाव बच्चों पर ही अधिक होने की संभावना है। इससे बचाव के लिए बच्चों की सेहत पर खास ध्यान देने की जरूरत है क्योंकि अभी तक बच्चों को कोविड संक्रमण से बचाने के लिए टीका लगाने का कार्य शुरू नहीं हुआ है। ऐसे में बच्चों में कोविड के अनुरूप व्यवहार की आदत डालना चाहिए। यह अपील मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. एपी भार्गव ने सभी अभिभावकों से कही है।
उन्होंने कहा कि बच्चों में बार बार हाथ धोने के साथ बिना कारण और मास्क लगाए बिना घर से बाहर न निकलने की आदत डालनी होगी। अगर घर से बाहर निकल रहे हैं तो दूसरों से दो गज की दूरी बनाए रखने के लिए भी अभिभावक बच्चों को मानसिक रूप से तैयार करें। साथ ही बच्चों को अन्य बीमारियों से बचाने के लिए समय से उनका निर्धारित टीकाकरण भी जरूर करवाएं।
जिला प्रतिरक्षण अधिकारी व एसीएमओ डा. मुकेश मातनहेलिया ने बताया कि बच्चों को सभी टीका समय से लगवाना चाहिए। यह टीके जिला महिला अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों (सीएचसी) , प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों और एएनएम केन्द्रों पर नि:शुल्क लगाये जा रहे हैं। इसके तहत बीसीजी का टीका जन्म के समय या फिर जन्म के एक माह के अंदर, हेपेटाइटिस बी (बर्थ डोज) और पोलियो का टीका जन्म के समय या फिर जन्म के 24 घंटे के अंदर बच्चे को अवश्य लगवाना चाहिए।
... और पढ़ें

विशेष संचारी रोग नियंत्रण व दस्तक अभियान को लेकर बैठक

श्रावस्ती। जिले में 18 नवंबर तक चलने वाले संचारी रोग नियंत्रण व दस्तक अभियान की बैठक बुधवार को सीएमओ कार्यालय में हुई। अध्यक्षता करते हुए सीएमओ डॉ. एपी भार्गव ने की। उन्होंने निर्देश दिए कि संबंधित विभागों के अधिकारी संचारी रोग नियंत्रण के लिए अपने विभागों द्वारा पूरी की जाने वाली गतिविधियों को बेहतर ढंग से संचालन करें।
संचारी रोग नियंत्रण व दस्तक अभियान के दौरान आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व आशा घर घर जाकर लोगों को संचारी रोग के प्रति जागरूक करेंगी। आशा अपने कार्यों की सूचना प्रतिदिन भरकर एएनएम को उपलब्ध करायेंगी। अभियान के दौरान जन जागरूकता कार्यक्रम, एंटी लार्वा व फागिंग कराई जाए। बैठक में एसीएमओ डॉ. मुकेश मातनहेलिया, डब्ल्यूएचओ के एसएमओ सहित प्रभारी चिकित्साधिकारी मौजूद रहे। (संवाद)
... और पढ़ें

काठमांडू में पकड़े गए 11 अफगान, सीमा पर अलर्ट

श्रावस्ती। काठमांडू के सिनामंगल में सोमवार को 11 अफगान नागरिक भारतीय आधार कार्ड के साथ पकड़े गए हैं। इस सूचना के बाद जिले में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। मंगलवार को अधिकारियों ने दौरा कर सीमा पर चौकसी का जायजा लिया। भारत नेपाल सीमा जिले में लगभग 96 किलोमीटर की दूरी में है। सीमा पूरी तरीके से खुली हुई है। नेपाल आने जाने के लिए केवल भारतीय आधार कार्ड ही पर्याप्त है। इसका फायदा आतंकी संगठन व गैर मुल्कों के लोग कई बार उठा चुके हैं।
ऐसे ही एक मामले में सोमवार को काठमांडू के सिनामंगल में 11 अफगान नागरिक पकड़े गए हैं। तलाशी के दौरान नेपाल की पुलिस ने उनके कब्जे से भारतीय आधार कार्ड बरामद किया है। इस सूचना से भारत-नेपाल सीमा पर तैनात तमाम एजेंसियों के कान खड़े हो गए हैं। सीमा की चौकसी के लिए लगी एसएसबी व अन्य केंद्रीय जांच एजेंसियां सीमा पर तैनात सुरक्षा बलों के कार्यों का जायजा ले रही हैं। एक जांच एजेंसी के अधिकारी ने बताया कि काठमांडू में पकड़े गए लोग सोनौली सीमा से नेपाल में घुसे थे। सभी अफगान नागरिक हैं। पकड़े गए लोगों के पास से बरामद भारतीय आधार कार्ड फर्जी था।
इस सूचना के बाद जिले में फिर से भारत नेपाल सीमा सुरक्षा को लेकर कसरत तेज हो गई है। अपर पुलिस अधीक्षक बीसी दुबे ने सीमा क्षेत्र के थाना व चौकी प्रभारियों के साथ समीक्षा बैठक की और सीमा सुरक्षा का जायजा लिया। अपर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि श्रावस्ती जिले से भारत नेपाल की सीमा करीब 96 किलोमीटर लगती है। अधिकांश इलाका जंगल, नदी व खेतों से जुड़ा हुआ है। इसके बावजूद सीमा सुरक्षा के लिए एसएसबी, पुलिस की विशेष पिकेट तैनात है। सीमा पर राउंड टू क्लॉक गश्त हो रही है।
... और पढ़ें

संदिग्ध हालात में फंदे से लटकता मिला युवक का शव

तुलसीपुर (श्रावस्ती)। दिकौली के मजरा बभनचक निवासी एक युवक की लाश संदिग्ध परिस्थितियों में घर के अंदर कुंडे से लटकती मिली। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने लाश का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेजकर मामले की जांच पड़ताल शुरू की
सोनवा थाना क्षेत्र के ग्राम दिकौली के मजरा बभनचक निवासी बड़े लाल के तीन पुत्र थे। इनमें से सबसे छोटे पुत्र मिंदर (21) का शव मंगलवार को उसी के घर में छत के कुंडे से रस्सी के फंदें के सहारे संदिग्ध स्थिति में लटकता मिला। शव का पैर नीचे रखे बक्से पर टिका हुआ था जबकि कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था। मृतक के बड़े भाई पिंटू ने दरवाजे के होल से देखा तो मिंदर फंदे से लटका मिला। दरवाजा तोड़ कर अंदर जाकर देखने पर मिंदर की मौत हो चुकी थी। इसकी सूचना सोनवा पुलिस को दी गयी। मृतक मिंदर के बड़े भाई साधू की भी बगल के घर में पंद्रह दिन पूर्व संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो चुकी है। एक पखवारे में दो भाईयों की मौत को लेकर गांव में तरह तरह की चर्चा हो रही है। पुलिस मामले की जांच के लिए पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।
... और पढ़ें

व्यापारियों की सुरक्षा का प्रकोष्ठ में उठा मुद्दा

श्रावस्ती। व्यापारियों की सुरक्षा का मुद्दा सोमवार को प्रकोष्ठ की बैठक में गंभीरता से उठा। इस दौरान बैठक की अध्यक्षता कर रहे एएसपी ने व्यापारियों को सुरक्षा का भरोसा दिलाया और स्वयं की भी ओर से एहतियात बीतने की नसीहत दी। इस दौरान दीपावली में लगने वाली पटाखे की दुकानों पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम के निर्देश दिए।
व्यापारियों की सुरक्षा के लिए पुलिस विभाग में व्यापारी सुरक्षा प्रकोष्ठ का गठन पहले से है। इस प्रकोष्ठ के प्रभारी एएसपी स्वयं हैं। व्यापारियों से जुड़ी समस्याओं व उनकी सुरक्षा की समीक्षा के लिए पुलिस सभागार में बैठक आयोजित की गई। इस दौरान व्यापार संघ ने व्यापारियों से जुड़े मुद्दे जिसमें दुकान के सामने अतिक्रमण, उचक्कों द्वारा धोखाधड़ी करके सामान की चोरी या फिर व्यापारियों के साथ होने वाली मारपीट जैसी घटनाओं को गंभीरता से लेने को कहा।
इस मौके पर बैठक की अध्यक्षता कर रहे एएसपी बीसी दुबे ने व्यापारियों को पूर्ण भरोसा दिलाया कि वह जब चाहे तब पुलिस की सहायता ले सकते हैं। पांच मिनट के अंदर पुलिस सहायता उन तक पहुंचेगी। इस मौके पर एएसपी ने व्यापारियों से दुकानों की सुरक्षा को लेकर सीसीटीवी कैमरे लगवाने व उनकी समय-समय पर जांच करवाने की बात कही। किसी प्रकार की समस्या होने पर तत्काल पुलिस को सूचना देने को भी कहा।
इस दौरान उन्होंने त्यौहारों को देखते हुए व्यापारियों से मानक के अनुसार सुरक्षा व्यवस्था से संबंधित पूर्ण उपकरणों को दुकानों में रखेने के लिए कहा। जिससे किसी प्रकार की अप्रिय घटना घटित न हो। यदि किसी को भी इमरजेंसी सहायता (जैसे पुलिस, स्वास्थ्य, आग आदि) की आवश्यकता हो तो तत्काल 112 नंबर डायल करें। इस दौरान प्रभारी निरीक्षक भिनगा, निरीक्षक प्रज्ञान, प्रभारी फायर सर्विस, प्रभारी यूपी 112, प्रभारी यातायात, अध्यक्ष व्यापार मंडल सहित विभिन्न प्रतिष्ठानों से आए हुए व्यापारी मौजूद रहे।
... और पढ़ें

खाद के दामों में आया उछाल, उपलब्धता भी हुई कम

श्रावस्ती। एक वर्ष के अंदर रासायनिक खाद के दाम 40 फीसदी तक बढ़ गए। इसके बावजूद जिले में रासायनिक खादों की उपलब्धता मांग के सापेक्ष कम है। महंगी लागत के बाद होने वाली फसल अब किसानों को पहले जैसा मुनाफा नहीं दे पा रही है।
रासायनिक खाद का प्रयोग करने से जमीन की उर्वरा शक्ति अब उसी पर निर्भर हो गई है। इसलिए किसानों के सामने एक तरह की मजबूरी है कि वह रासायनिक खाद का उपयोग करें। यदि किसानों की मांग को देखा जाए तो तराई वाले इस जिले में सबसे अधिक मांग एनपीके खाद की है। इसी के साथ ही डाई व यूरिया की भी मांग है। लेकिन एनपीके को प्राथमिक रासायनिक खाद माना जाता है। जिसे बोआई के समय जमीन में डालना ही पड़ता है। लेकिन खाद की कीमत आसमान छू रहे हैं। यदि एक वर्ष के अंदर खाद की कीमतों पर आई वृद्धि पर नजर डाली जाए तो लगभग 40 फीसदी तक खाद के दाम बढ़े हैं। लेकिन इसके सापेक्ष उत्पादन व उससे किसानों को होने वाला मुनाफा तेजी से घटा है।
एक वर्ष में एनपीके के दाम (रुपये प्रति बोरी में)
खाद वर्ष 2020 वर्ष 2021
एनपीके 20.20.13 840 1220
एनपीके 10.26.26 1095 1440
एनपीके 12.32.16 1104 1450
फसल बोने का लक्ष्य (हेक्टेअर में)
फसल आच्छादन का लक्ष्य पूर्ति
गेहूं 707784 00
जौ 54 00
मक्का 55 15
योग 7089 3 15
उर्वरक की उपलब्धता (मैट्रिक टन में)
उर्वरक लक्ष्य जिले में उपलब्धता
यूरिया 19000 6485
डीएपी 8100 3696
एनपीके 1200 1086
एमओपी 600 89
एसएसपी 2415 2483
वर्जनसरकारी समितियों के लिए जारी हुआ आदेश
जिले में खाद की बिक्री के लिए सबसे बड़ी एजेंसी सहकारिता है। जिसमें एक पत्र जारी करके सभी समितियों को 15 सितंबर 2021 से बढे़ हुए दामों पर खाद बेचने का आदेश दिया गया है। यही आदेश मौजूदा समय में लागू है। -डॉ. अवधेश कुमार यादव, जिला कृषि अधिकारी
... और पढ़ें

एक से शुरू होगा मतदाता पुनरीक्षण कार्य

श्रावस्ती। मतदाता सूची पुनरीक्षण का कार्य एक से तीस नवंबर के मध्य होगा। इसके लिए सोमवार को कलेक्ट्रेट सभागार में राजैतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक हुई। इस दौरान दिव्यांग व महिलाओं का नाम प्राथमिकता से जोड़ने का निर्देश दिया गया है। ताकि जेंडर संतुलन बना रहे।
विधानसभा चुनाव की तैयारियां जिले में तेजी से चल रही है। मतदाताओं का नाम सूची में जोड़ने के लिए एक नवंबर से मतदाता सूची पुनरीक्षण कार्य प्रारंभ होगा। इस दौरान दावा व आपत्ति ली जाएंगी। मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन पांच जनवरी 2022 को किया जाएगा। इस बारे में और अधिक सूचना देते हुए एडीएम कमलेश चंद्र बताते हैं कि विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण अभियान के लिए 90 सुपरवाइजर व 902 बीएलओ की तैनाती जिले में की गई है। सभी बीएलओ को जेंडर रेशियो तथा ईपी रेशियो मानक के अनुरूप रखने का निर्देश दिया गया है।
जिले में जेंडर रेशियो का मानक 875 के सापेक्ष विधानसभा भिनगा में 86 व विधानसभा श्रावस्ती में 875 के सापेक्ष 880 है। जिले का जेंडर रेशियो 875 के सापेक्ष 871 है। उन्होंने बताया कि जिले में कुल 7,79,655 मतदाता है, जिसमें 3,78,888 पुरुष व 4,00,767 महिला हैं। भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर बूथ लेवल एजेंट एक बार में 10 और पूरी पुनरीक्षण अवधि में कुल 30 फॉर्म आवश्यक घोषणा पत्र के साथ जमा कर सकेंगे। बीएलओ सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक मतदान केंद्र पर उपस्थित रहेंगे। उनके साथ मतदाता सूची जन सामान्य को निशुल्क दिखाने के लिए उपलब्ध कराई जाएगी।
मतदेय स्थलों पर पर्याप्त संख्या में फॉर्म 6, 6ए, 7, 8 एवं 8क उपलब्ध कराया जाएगा। फार्म 6 प्राप्त करते समय निर्धारित प्रारूप पर प्राप्ति रसीद अवश्य दी जाएगी। बैठक के दौरान रमन सिंह, हनुमान प्रसाद, यशोदा नन्दन शर्मा, राजकुमार ओझा, दीनानाथ वर्मा, शीबू राईनी सहित अन्य मौजूद रहे।
... और पढ़ें

किसानों को मुआवजा दिलाने के लिए सीएम को लिखा पत्र

श्रावस्ती। बाढ़ व जलभराव के कारण सिरसिया, जमुनहा व इकौना क्षेत्र में 40 से 50 फीसदी फसल बर्बाद हो गई। इस नुकसान की भरपाई के लिए जिला पंचायत अध्यक्ष ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है। इसमें मांग की है कि किसानों को उनके नुकसान का शत प्रतिशत मुआवजा दिलाया जाए।
जिले में हुई बरसात के दौरान राप्ती नदी में बाढ़ भी आई थी। जिसके चलते लगभग एक सप्ताह तक धान के खेतों में जलभराव की स्थिति थी। इसी कारण कुछ खेतों में कटे पड़े धान का अंकुरण हो गया था। यही नहीं कुछ क्षेत्रों में तो धान की कटी फसल बाढ़ के पानी के साथ ही बह गई। इसके चलते किसानों को ज्यादा नुकसान हुआ। नुकसान तो जिले के लगभग सभी किसानों को हुआ। लेकिन अधिक नुकसान की स्थिति में जमुनहा, सिरसिया व इकौना के किसान रहे। जमुनहा व इकौना में बाढ़ का प्रकोप रहा तो सिरसिया में जलनिकासी की उचित व्यवस्था न होने के कारण बाढ़ का पानी खेतों में भरा रहा।
किसानों की इस समस्या को देखते हुए जिला पंचायत अध्यक्ष दद्दन मिश्र ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को एक पत्र लिखा है। जिसमें कहा है कि 17 अक्तूबर को जिले में अचानक बिना मौसम की बरसात हुई। तेज हवाओं के साथ हुई बरसात के कारण देवीपाटन मंडल सहित जिले में किसानों को भारी नुकसान हुआ। इस भीषण आपदा के कारण जहां किसानों की धान की फसल पूरी तरह से गिर गई। वहीं फसलों को काफी नुकसान भी हुआ। ज्यादातर किसानों का धान खेतों में सड़ गया। ऐसे में इसे दैवीय आपदा घोषित करते हुए किसानों की क्षतिग्रस्त फसल का मूल्यांकन कराकर सभी किसानों को उचित मुआवजा दिलाया जाए।
... और पढ़ें

जिला प्रभारी का कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने किया स्वागत

श्रावस्ती। कांग्रेस जिला प्रभारी रविवार को भिनगा पहुंचे। जिनका पार्टी कार्यकर्ताओं ने स्वागत किया। इस दौरान जिला प्रभारी ने कार्यकर्ताओं को कांग्रेस महासचिव की सात प्रतिज्ञाओं को बूथ स्तर से लेकर गांव-गांव घर तक पहुंचाने का आह्वान किया।
जिले के नवनियुक्त प्रभारी दुर्ग विजय सिंह मान रविवार को पार्टी कार्यालय भिनगा पहुंचे। जहां कांग्रेस जिलाध्यक्ष मोहम्मद नसीम चौधरी, इकबाल अहमद सहित अन्य पदाधिकारियों ने उनका जोरदार स्वागत किया। इस दौरान जिला प्रभारी ने कार्यकर्ताओं से कहा कि 2022 का विधानसभा चुनाव बहुत दूर नहीं है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने जो सात प्रतिज्ञाएं ली हैं। उनको जनता के बीच पहुंचाना है।
आप सभी कार्यकर्ताओं को इन सातों प्रतिज्ञाओं को बूथ स्तर से लेकर गांव-गांव घर घर तक लोगों के बीच पहुंचाना है। इन प्रतिज्ञाओं में कर्ज माफ, बच्चियों को स्मार्टफोन और स्कूटी, कांग्रेस पार्टी महिलाओं को 40 प्रतिशत राजनीतिक हिस्सेदारी प्रमुख है। इस दौरान मोहम्मद असलम, नीतू मिश्रा, इमरान मलिक, दीपक पाठक, आशीष मिश्रा सहित काफी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे। (संवाद)
... और पढ़ें

जिले के चहुंमुखी विकास के लिए करूंगी प्रयास

श्रावस्ती। नवागंतुक जिलाधिकारी नेहा प्रकाश ने सोमवार को कोषागार में कार्यभार ग्रहण किया। वह 2012 बैच की आईएएस अधिकारी हैं और जिले की 34वीं डीएम हैं। डीएम ने बताया कि इससे पूर्व वे विशेष सचिव माध्यमिक शिक्षा, विशेष सचिव आईटी इलेक्ट्रॉनिक, प्रबंध निदेशक यूपी डेस्को, विशेष सचिव संस्थागत वित्त, मुख्य विकास अधिकारी अंबेडकर नगर, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट कानपुर नगर, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट गोरखपुर, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ललितपुर एवं ज्वाइंट मजिस्ट्रेट गाजीपुर में तैनात रही हैं। प्रशिक्षण अवधि में जनपद रामपुर में भी तैनात रह चुकी हैं।
जिलाधिकारी ने कार्यभार ग्रहण करने के उपरांत बताया कि जिले के चहुंमुखी विकास के लिए विशेष प्रयास किये जाएंगे। सरकार की ओर से संचालित विकास योजनाओं की मॉनिटरिंग कर विकास कार्यों में तेजी लाई जाएगी। उन्होंने कहा कि जिले का कोई भी गरीब, असहाय एवं मजलूम व्यक्ति सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं से वंचित न रहने पाए, इसके लिए हर संभव प्रयास किए जाएंगे।
डीएम के कार्यभार ग्रहण करने के दौरान मुख्य विकास अधिकारी ईशान प्रताप सिंह, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट परीक्षित खटाना, अपर जिलाधिकारी कमलेश चंद्र, अपर पुलिस अधीक्षक बीसी दुबे, प्रभागीय वनाधिकारी एपी यादव, उपजिलाधिकारी प्रवेंद्र कुमार, उपजिलाधिकारी आरपी चौधरी, तहसीलदार जमुनहा नरायण सिंह, वरिष्ठ कोषाधिकारी गिरीश कुमार, जिला सूचना अधिकारी शिवनाथ, अपर कोषाधिकारी अवधेश कुमार यादव सहित कलेक्ट्रेट एवं सूचना परिवार के सदस्यगण उपस्थित रहे।
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00