लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Sitapur News ›   Dew drops reaching the bed by filtering with tarpaulin

Sitapur News: तिरपाल से छनकर बिस्तर तक पहुंच रहीं ओस की बूंदे

Lucknow Bureau लखनऊ ब्यूरो
Updated Mon, 05 Dec 2022 04:30 AM IST
रामपुर मथुरा के चहलारी घाट-गनेशपुर तटबंध पर अखरी के पास तंबू त्रिपाल के नीचे जीवनयापन करते बाढ़ प
रामपुर मथुरा के चहलारी घाट-गनेशपुर तटबंध पर अखरी के पास तंबू त्रिपाल के नीचे जीवनयापन करते बाढ़ प - फोटो : SITAPUR
विज्ञापन
रामपुर मथुरा(सीतापुर)। सरयू नदी की कटान से बेघर हुए 14 परिवार बंधे पर रात गुजारने को मजबूर हैं। इन परिवारों को छत नसीब नहीं हो सकी है। सर्द रातों में जब ओस की बूंदें पड़ती हैं तो तिरपाल से छनकर बिस्तर तक पहुंच जाती है। प्रशासनिक मदद के नाम पर फूटी कौड़ी तक नहीं मिली है।

महमूदाबाद तहसील के रामपुर मथुरा विकासखंड में प्रतिवर्ष बाढ़ आती है। बाढ़ में खेत कट जाते हैं। इस बार सरयू नदी की बाढ़ में अखरी, कनरखी, अंगरौरा, बाबाकुटी, शंकरपुरवा आदि गांवों के करीब 14 घर कटान में समा गए थे। इसके बाद से ये परिवार तटबंध पर जीवनयापन करने को मजबूर हो रहे हैं। अखरी निवासी सुमन तटबंध पर रह रही है। उन्होंने बताया कि घर कटे तीन माह हो गए हैं। अभी घर बनाने के लिए कोई जगह प्रशासन से नहीं मिली है। अब सर्द रातों में तिरपाल के नीचे रहना मुश्किल है।

राजेश ने बताया कि ठंड के महीनों में घने कोहरे के कारण तिरपाल भी टपकने लगता है। बिस्तर व कपड़े भीग जाते हैं। राकेश ने बताया कि यहां से 13 किमी. दूर रायसेनपुर गांव में जमीन देने की बात प्रशासन कह रहा है। इतनी दूर रहकर जीवनयापन का इंतजाम कैसे होगा। जो लोग पहले से वहां हैं उन्हें न तो मजदूरी का काम मिल रहा है और न ही बंटाई पर खेत। तटबंध पर अखरी, कनरखी, अंगरौरा, बाबाकुटी, शंकरपुरवा आदि गांवों को मिलाकर 10 हजार की आबादी निवास कर रही है। एसडीएम महमूदाबाद मिथिलेश त्रिपाठी ने बताया कि आसपास के गांवों में ग्राम पंचायत की जमीन न होने के कारण ही दूर बसाने की व्यवस्था की गई है।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00