लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Sitapur ›   Used to bring weapons in the bag, the school had expelled

बैग में लाता था असलहा, स्कूल ने किया था निष्कासित

Lucknow Bureau लखनऊ ब्यूरो
Updated Sun, 25 Sep 2022 12:12 AM IST
जहांगीराबाद के आदर्श रामस्वरूप विद्यालय इंटर कॉलेज जांच करते एएसपी एनपी सिंह व अन्य। - संवाद
जहांगीराबाद के आदर्श रामस्वरूप विद्यालय इंटर कॉलेज जांच करते एएसपी एनपी सिंह व अन्य। - संवाद - फोटो : SITAPUR
विज्ञापन
ख़बर सुनें
जहांगीराबाद (सीतापुर)। प्रधानाचार्य को गोली मारने की घटना के बाद से आरोपी छात्र फरार है। इससे पहले भी वह कॉलेज में कई छात्रों के साथ मारपीट कर चुका है। बैग में असलहा लाने पर उसे कॉलेज से निष्कासित कर दिया गया था। बाद में फिर उसे दाखिला दे दिया गया था। शनिवार सुबह कॉलेज में हुई घटना सीसीटीवी में कैद हो गई है। छात्र की तलाश में पुलिस दबिश दे रही है।

आदर्श रामस्वरूप इंटर कॉलेज में लगे सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा है कि छात्र गुरविंदर सिंह (19) बैग में अवैध असलहा लेकर आया था। इसके बाद उसने कक्षा में जाकर बैग से असलहा निकाला। उसे कमर में लगा लिया। आरोपी ने पहले से ही यह योजना बनाई थी कि वह घटना के बाद मौके से फरार हो जाएगा।

इसलिए वह बैग में कपड़े और आधारकार्ड भी रखकर लाया था। घटना के बाद वह बैग लेकर भाग नहीं सका।
हिंदी के शिक्षक बालक राम का कहना था कि छात्र कक्षा तीन से विद्यालय में पढ़ रहा था। उसकी बहन भी विद्यालय में ही पढ़ती थी। बहन ने इस साल ही इंटर पास किया था। गुरविंदर भी इस वर्ष इंटर में आया था। उसे सही से हिंदी भी नहीं आती थी।
प्रधानाचार्य को गोली मारने की दी थी धमकी
बीते शुक्रवार को विद्यालय में गुरविंदर व एक अन्य छात्र में मारपीट हुई थी। इसके बाद गुरविंदर ने स्कूल में कई बेंच तोड़ दी थी। इस पर प्रधानाचार्य राम सिंह वर्मा ने गुरविंदर को पीट दिया था। गुरविंदर ने अगले दिन प्रधानाचार्य को गोली मारने की धमकी दी थी। इसे अन्य लोगों ने अनसुना कर दिया था। वह काफी गुस्से में घर के लिए निकला था।
घर पहुंचने से ही पहले ही वह रास्ते में एक जगह रुक गया था। वहां पर उसने रोहित को बुरी तरह पीट दिया था। मामले की शिकायत रेउसा के मंगू चौराहे पर स्थित पुलिस चौकी पर की गई थी। सीओ महमूदाबाद रवि कुमार के मुताबिक मामला एक ही गांव को होने के कारण दोनों पक्षों को शांत करा दिया गया था।
कई छात्रों की कर चुका पिटाई
प्रधानाचार्य की पुत्री और शिक्षिका अंजू देवी वर्मा ने बताया कि आरोपी पहले भी स्कूूल में काफी शरारत करता था। अक्सर वह छात्रों को पीट दिया करता था। इसलिए ही उसे निष्कासित भी किया गया था। बाद में फिर उसका दाखिला ले लिया गया था।
विज्ञापन
परिजन हिरासत में
छात्र को अवैध असलहा कैसे मिला, इसकी जांच में भी पुलिस कर रही है। पुलिस ने परिजनों से भी पूछताछ की है। परिजनों का कहना है कि गुरविंदर झगड़े के बाद काफी गुस्से में था। असलहा कहां से आया, इसका जवाब उनके पास भी नहीं है। घटनास्थल से तीन खोखे बरामद किए गए हैं। इंस्पेक्टर प्रदीप कुमार ने बताया कि परिजनों को हिरासत में लिया गया है।
पुलिस दिखाती तत्परता तो न होती घटना
वारदात के एक दिन पहले छात्रों में हुई मारपीट की शिकायत पुलिस के पास पहुंची थी। अगर पुलिस घटना में गंभीरता दिखाती तो शायद यह घटना न होती। पुलिस ने केवल शिकायती पत्र लेकर मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया। अब पुलिस मामले में ज्यादा कुछ कहने से बच रही है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00