विज्ञापन
विज्ञापन
गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें
Myjyotish

गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

यूपी: पुलिस ने प्रियंका गांधी को हिरासत में लिया, अरुण वाल्मीकि के परिजनों से मिलने जा रही थीं आगरा

आगरा जा रहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के काफिले को आगरा एक्सप्रेस वे के एंट्री पॉइंट पर रोक लिया गया। प्रियंका आगरा जाने के लिए अड़ी हैं। वह वहां पुलिस कस्टडी में मारे गए व्यक्ति के परिजनों से मिलने जा रही हैं। पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया है और पुलिस लाइन लेकर जा रही है।

इस पर जानकारी देते हुए प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया कि अरुण वाल्मीकि की मृत्यु पुलिस हिरासत में हुई। उनका परिवार न्याय मांग रहा है। मैं परिवार से मिलने जाना चाहती हूं। उत्तर प्रदेश सरकार को डर किस बात का है? क्यों मुझे रोका जा रहा है।

आज भगवान वाल्मीकि जयंती है, पीएम ने महात्मा बुद्ध पर बड़ी बातें की, लेकिन उनके संदेशों पर हमला कर रहे हैं। उन्होंने पूछा कि क्या आगरा में पुलिस हिरासत में मारे गए अरुण वाल्मीकि के लिए न्याय मांगना अपराध है? भाजपा सरकार की पुलिस मुझे आगरा जाने से क्यों रोक रही है। क्यों हर बार न्याय की आवाज को दबाने की कोशिश की जाती है? मैं पीछे नहीं हटूंगी।

इसके पहले उन्होंने कहा था कि किसी को पुलिस कस्टडी में पीट-पीटकर मार देना कहां का न्याय है? आगरा पुलिस कस्टडी में अरुण वाल्मीकि की मौत की घटना निंदनीय है। भगवान वाल्मीकि जयंती के दिन उप्र सरकार ने उनके संदेशों के खिलाफ काम किया है। उच्चस्तरीय जांच व पुलिस वालों पर कार्रवाई हो व पीड़ित परिवार को मुआवजा मिले।
... और पढ़ें
प्रियंका गांधी को पुलिस लाइन ले जाया गया। प्रियंका गांधी को पुलिस लाइन ले जाया गया।

यूपी में बड़ा हादसा: लखीमपुर खीरी में घाघरा नदी में पलटी नाव, 10 लोग बहकर टापू पर फंसे

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर जिले में बुधवार को बड़ा हादसा हुआ है। यहां घाघरा नदी में एक नाव पलटने की सूचना है। नाव पर सवार 10 लोग बह गए थे, वह सभी एक टापू पर फंसे हुए हैं। इन लोगों को निकालने के लिए पीएसी फ्लड बुलाई गई थी जो असफल रही। अब यहां राहत व बचाव के लिए हेलीकॉप्टर बुलाया गया है और एनडीआरएफ की टीम आई हैं।

जानकारी के अनुसार, लखीमपुर खीरी जिले की धौरहरा तहसील के थाना ईसानगर इलाके के मिर्जापुर गांव में यह घटना हुई है। बताया जा रहा है कि बुधवार की सुबह एक नाव घाघरा नदी में पलट गई। नाव पर सवार 18 लोग घाघरा नदी में बह गए हैं। घटना की सूचना मिलते ही जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक घटनास्थल पहुंच गए हैं। बचाव कार्य जारी है।

लकड़ी पकड़ने के लालच में घाघरा की बीच धार में फंसे ग्रामीण, रेस्क्यू के लिए हेलीकॉप्टर बुलाया
धौरहरा तहसील के ईसानगर थाना क्षेत्र के गांव मिर्जापुर के 10 लोग सुबह बाढ़ में बहकर आई लकड़ी पकड़ने के लिए जाते वक्त नदी में फंस गए। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे पुलिस प्रशासन ने रेस्क्यू की कोशिश की पर नाकाम रहे। इसके बाद डीएम की तरफ से मुख्य सचिव को पत्र लिखकर रेस्क्यू के लिए एयर फोर्स का हेलीकॉप्टर मंगाया गया। रेस्क्यू ऑपरेशन में राजू, कौशल और राजेंद्र को बचा लिया गया है, वहीं सुंदर नाम के एक व्यक्ति की मौत हो गई है।





ग्राम पंचायत मिरजापुर गांव के आठ से दस लोग नाव लेकर सुबह नदी पार अपने खेत देखने जा रहे थे। वहीं, गांव वालों का कहना है कि नदी में बहकर आई लकड़ी उठाने के लिए गांव के 10 लोग नाव पर सवार होकर गए थे कि अचानक नाव पलटने से हादसा हो गया।

नाव पर सवार लोगों में सुंदर पुत्र गया प्रसाद, त्रिमोहन पुत्र सुंदर, अशोक कुमार पुत्र गया प्रसाद, ढोड़े पुत्र ननकू, दीपू पुत्र ननकऊ, सुरेंद्र कुमार पुत्र ननकऊ, कृपा दयाल पुत्र मोहन, मुरारी पुत्र मौजीलाल, राजू पुत्र  शैलाफी बताए गए हैं। मौके पर एसडीएम धौरहरा रेनू, थाना अध्यक्ष राज करण शर्मा, तहसीलदार संतोष कुमार शुक्ला बचाव दल के साथ मौजूद हैं।
... और पढ़ें

भीषण सड़क हादसा: बोलेरो की टक्कर से पति-पत्नी की मौत, मासूम समेत दो लोग घायल

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले में दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां रामकोला थाना क्षेत्र के रामकोला-कप्तानगंज मार्ग पर बुधवार की दोपहर एक बोलेरो चालक ने रामपुर बगहा गांव के सामने एक बाइक को जोरदार टक्कर मार दिया। जिसके बाद पकड़े जाने के भय से चालक बोलेरो लेकर भागने लगा। करीब दो सौ मीटर आगे बगहा खुर्द गांव के पास बोलेरो चालक ने बाइक से जा रहे एक दंपति को भी पीछे से टक्कर मार दिया। इससे गंभीर रूप से घायल पति-पत्नी की मौके पर मौत हो गई, जबकि महिला के गोद में बैठा करीब एक वर्षीय बालक गंभीर रूप से घायल है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोटस्टमार्टम के लिए भेज दिया और दोनों घायलों को अस्पताल भिजवाया। उधर, बोलेरो चालक गाड़ी छोड़कर मौके से फरार हो गया। दुर्घटना ग्रस्त बाइक और बोलेरो पुलिस के कब्जे में है।

जानकारी के अनुसार, बुधवार की दोपहर करीब एक बजे महाराजगंज जिले की नंबर प्लेट वाली एक बोलेरो कप्तानगंज से रामकोला की तरफ आ रही थी। अभी रामपुर बगहां गांव के सामने पहुंची ही थी कि बाइक से जा रहे इसी गांव के बाइक सवार दिनेश यादव को पीछे से टक्कर मार दिया। जिससे दिनेश का पैर टूट गया। वहां पकड़े जाने के भय से बोलेरो चालक तेज गति से भागने लगा।

बोलेरो चालक करीब दो सौ मीटर आगे जैसे ही रामपुर खुर्द गांव के सामने पहुंचा तो कप्तानगंज से इलाज करवाकर घर जा रहे कठिनाइयां निवासी बाइक सवार दंपति को टक्कर मार दिया। जिसमें गंभीर रूप से घायल पति अमित सिंह और पत्नी बिंदु देवी की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि पत्नी के गोद में बैठा करीक एक वर्षीय बालक गंभीर रूप से घायल हो गया।

सूचना पर पहुंची रामकोला पुलिस ने अमित और बिंदु के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा, जबकि दुर्घटना में घायल दिनेश यादव और एक वर्षीय बालक को इलाज के लिए रामकोला सीएचसी भिजवाया। पुलिस दुर्घटना ग्रस्त बाइक और बोलेरो को कब्जे में ले लिया है।

रामकोला एसओ डीके सिंह ने बताया कि रामकोला-कप्तागनंज मार्ग पर बुधवार की दोपहर करीब एक बजे एक बोलेरो की टक्कर से दो बाइक सवार सहित चार लोग घायल हुए थे। इसमें से दो की मौत मौके पर हो गई। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। घायलों का इलाज सीएचसी रामकोला कराया जा रहा है। दुर्घटना ग्रस्त बाइक और बोलेरो पुलिस के कब्जे में है। तहरीर मिलने पर विधिक कार्रवाई होगी।
... और पढ़ें

प्रयागराज : नैनी में भाजपा के बूथ अध्यक्ष की संदिग्ध दशा में गोली लगने से मौत, तीन आरोपी गिरफ्तार

प्रयागराज के नैनी में भाजपा के बूथ अध्यक्ष की संदिग्ध दशा में गोली लगने से मौत हो गई। अभिलाष पांडेय नामक यह युवक अरैल का भाजपा बूथ अध्यक्ष भी था। घटना बुधवार को दोपहर करीब 12 हुई। आनन फानन में उसे स्वरूप रानी नेहरू हास्पिटल ले जाया जा रहा था कि रास्ते में उसकी मौत हो गई। इस घटना से परिवार में कोहराम मच गया। बड़ी संख्या में भाजपा नेता मौके पर पहुंच गए। सूचना पाकर कई थानों की पुलिस भी मौके पर पहुंच गई है। इस मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। मुख्य आरोपी फरार बताया जा रहा है।

नैनी थाना क्षेत्र के अरैल गांव सच्चा बाबा नगर निवासी अभिलाष पांडेय पुत्र दीनानाथ पांडेय (28)  भाजपा बूथ अध्यक्ष था। बुधवार करीब 12 बजे अपने घर के बाहर बने कमरे में अपने दोस्त गांव के ही विवेक पांडेय पुत्र अशोक तिवारी, मुनीम तिवारी पुत्र राजाराम तिवारी, नितिन पांडेय पुत्र कुलभूषण पांडेय व सुरेंद्र शुक्ला के साथ मौजूद था।
 
पुलिस के अनुसार ये सभी दोस्त कमरे में अवैध पिस्टल देख रहे थे, तभी विवेक द्वारा गोली चली जिसमे अभिलाष के सीने में गोली लगी ओर मौत हो गई। पुलिस ने विवेक को छोड़कर सभी को गिरफ्तार कर लिया है। मौके पर सीओ करछना ओर फॉरेंसिक टीम जांच पड़ताल कर रही है। बताया जाता है कि अभिषेक प्लाटिंग का कार्य करता था। इसके पिता तीर्थपुरोहित हैं। 
... और पढ़ें

मेरठ: किठौर के भटीपुरा में निर्माणाधीन विद्युत टावर गिरने से चार मजदूर दबे, हालत गंभीर

Prayagraj news : अभिलाष पांडेय। फाइल फोटो
मेरठ के किठौर थानाक्षेत्र में बुधवार दोपहर एक दर्दनाक हादसे में चार मजदूर गंभीर रूप से घायल हो गए। बताया गया कि भटीपुरा क्षेत्र में निर्माणाधीन विद्युत टावर गिरने से यह हादसा हुआ है। जिसमें चार मजदूर दब कर घायल हुए हैं। आनन-फानन में मजदूरों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। 

यह भी पढ़ें:  
यूपी: मेरठ-करनाल हाईवे पर किसानों का जोरदार प्रदर्शन, धान से लदे वाहन सीमा पर वाहन रोकने पर लगाया जाम
 
जानकारी के अनुसार भटीपुरा में बुधवार दोपहर निर्माणाधीन बिजली का टावर गिरने से हड़कंप मच गया। टावर की चपेट में आने से चार मजदूर घायल हो गए, जिन्हें आनन-फानन में मेरठ के मेडिकल में भर्ती कराया गया। बताया गया कि घायल मजदूरों की हालत गंभीर बनी हुई है।
 
बताया गया कि भाटीपुरा निवासी मनवीर पुत्र कृपाल सिंह के खेत मे एल एंड टी कंपनी के द्वारा विद्युत टावर का निर्माण चल रहा था। बुधवार को तकरीबन एक दर्जन से ज्यादा मजदूर टावर निर्माण का कार्य कर रहे थे। इसी दौरान निर्माणाधीन टावर अचानक गिर गया। टावर की चपेट में आकर चार मजदूर घायल हो गए।
... और पढ़ें

यूपीः जौनपुर के रामघाट पर सुखदेव राजभर पंचतत्व में विलीन, बेटे ने दी मुखाग्नि, अंतिम विदाई में उमड़ा जनसैलाब

पूर्व विधानसभा अध्यक्ष और बसपा विधायक सुखदेव राजभर बुधवार दोपहर जौनपुर के रामघाट पर पंचतत्व में विलीन हो गए। पुत्र कमलाकांत उर्फ पप्पू ने मुखाग्नि दी।  पूर्व विधानसभा अध्यक्ष को अंतिम विदाई देने के लिए घाट पर जनसैलाब उमड़ा। आजमगढ़ के बड़गहन स्थित पैतृक आवास से निकली शव यात्रा करीब एक बजे रामघाट पहुंची। जिसके बाद विधि-विधान से अंतिम संस्कार किया गया।

इस दौरान सुरक्षा के भी व्यापक प्रबंध किए गए। घाट पर कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर, पूर्व मंत्री रामअचल राजभर, दारा सिंह चौहान, पूर्व मंत्री जगदीश नारायण राय, सपा के विधायक व पूर्व मंत्री शैलेंद्र यादव ललई समेत कई दिग्गज नेता मौजूद रहे।  

कई दिनों से बीमार चल रहे सुखदेव राजभर का सोमवार को लखनऊ स्थित एक अस्पताल में निधन हो गया था। मंगलवार शाम उनका पार्थिव शरीर आजमगढ़ के बड़गहन स्थित पैतृक आवास पर लाया गया था। जिसके बाद से श्रद्धासुमन अर्पित करने और अंतिम दर्शन करने के लिए शुभचिंतकों और समर्थकों का जमावड़ा लग गया था। बुधवार सुबह शवयात्रा निकाली गई। जौनपुर के रामघाट पर अंतिम संस्कार हुआ। 

पढ़ेंः
काशी में आज भाजपा के दिग्गजों का जमावड़ा, सरकार और संगठन की थाह लेंगे बीएल संतोष

पांच बार चुने गए विधायक
लोगों ने कहा कि गरीब, शोषित और मजलूमों के लिए लीक से हटकर कार्य करने के कारण इस वर्ग के लोग सुखदेव राजभर को काफी सम्मान देते थे। वह हर व्यक्ति को साथ लेकर चलने में विश्वास रखते थे। उनकी किसी से भी कोई वैमनस्यता नहीं थी। अपने इसी व्यवहार के कारण वह तीन बार लालगंज और दो बार दीदारगंज विधानसभा क्षेत्र से विधायक चुने गए। 
... और पढ़ें

कुशीनगर में बोले पीएम मोदी: यूपी में पहले थी खुली छूट और लूट की नीति, अब माफी मांगता फिर रहा है माफिया

लखीमपुर हिंसा पर सुप्रीम फटकार: रात तक किया इंतजार, क्यों नहीं अपलोड हुई स्टेटस रिपोर्ट? सरकार बोली- सुनवाई टाल दीजिए

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा मामले पर सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को सुनवाई हुई। इस दौरान सुप्रीम कोर्ट ने स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करने में देरी पर यूपी सरकार को जमकर फटकार लगाई। शीर्ष अदालत ने कहा कि कल रात एक बजे तक इंतजार करते रहे। आपकी स्टेटस रिपोर्ट हमें अंतिम समय में मिली है। जबकि पिछली सुनवाई के दौरान हमने आपको साफ कहा था कि कम से कम एक दिन पहले हमें स्टेटस रिपोर्ट मिल जानी चाहिए। वहीं इसके जवाब में यूपी सरकार की तरफ से पेश वकील हरीश साल्वे ने कहा कि हमने प्रगति रिपोर्ट दाखिल की है। आप मामले की सुनवाई शुक्रवार तक टाल दीजिए। हालांकि, शीर्ष अदालत ने सुनवाई टालने से इनकार कर दिया।

आपने 44 लोगों की गवाही ली है, बाकी की क्यों नहीं: सुप्रीम कोर्ट
मुख्य न्यायाधीश एनवी रमन्ना ने यूपी सरकार से पूछा कि आपने 44 लोगों की गवाही ली है, बाकी की क्यों नहीं? साल्वे ने इस पर जवाब देते हुए कहा कि फिलहाल प्रक्रिया चल रही है। साल्वे ने कहा कि दो अपराध हैं। एक मामला किसानों पर गाड़ी चढ़ाने का और दूसरा लिंचिंग का। पहले मामले में दस लोग गिरफ्तार किए गए हैं। मुख्य न्यायाधीश ने पूछा कि कुछ लोग न्यायिक हिरासत और कुछ पुलिस हिरासत में क्यों हैं ? सभी को पुलिस हिरासत क्यों नहीं? इसपर यूपी सरकार की ओर से बताया गया है कि चार आरोपी पुलिस हिरासत में हैं और छह आरोपी पहले पुलिस हिरासत में थे अब न्यायिक हिरासत में हैं। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि गवाहों और पीड़ितों के 164 के तहत बयान जल्द से जल्द दर्ज कराए जाएं। साथ ही गवाहों की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा जाए।

हिंसा के 70 से ज्यादा वीडियो मिले, क्राइम सीन भी रिक्रिएट किया: यूपी सरकार
उधर, यूपी सरकार की ओर से पेश वकील हरीश साल्वे ने स्टेटस रिपोर्ट पर जानकारी देते हुए कहा कि इस मामले में आरोपियों से पूछताछ हो चुकी है इनमें भी सबूत मिले हैं। हमें 70 से ज्यादा वीडियो मिले हैं। साल्वे ने बताया कि क्राइम सीन रिक्रिएट भी किया गया और पीड़ितों और गवाहों के बयान दर्ज कराए जा रहे हैं। दशहरे की छुट्टी में कोर्ट बंद होने पर बयान दर्ज नहीं हो सके। 

26 अक्तूबर तक के लिए टली सुनवाई
सुप्रीम कोर्ट ने मामले को 26 अक्तूबर तक के लिए स्थगित कर दिया क्योंकि उत्तर प्रदेश सरकार ने अन्य गवाहों के बयान दर्ज करने के लिए और समय मांगा। अब सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार से 26 अक्तूबर से पहले तक की स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करने को कहा।
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00