बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW
विज्ञापन
विज्ञापन
SBI भर्ती 2021: शुरू होने वाली है भारतीय स्टेट बैंक में क्लर्क भर्ती, ऐसे करें तैयारी
Safalta

SBI भर्ती 2021: शुरू होने वाली है भारतीय स्टेट बैंक में क्लर्क भर्ती, ऐसे करें तैयारी

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

कुंभ 2021 : जूना सहित कई अखाड़ों ने की कुंभ विसर्जन की घोषणा, सरकार की एसओपी में मेला अवधि में कोई बदलाव नहीं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील के बाद नागा संन्यासियों के सबसे बड़े श्री पंचदशनाम जूना अखाड़ा ने शनिवार देर शाम कुंभ विसर्जन की घोषणा कर दी। अखाड़ा पदाधिकारियों एवं संतों की आपात बैठक में कोविड के बढ़ते हुए खतरे को देखते हुए यह निर्णय लिया गया।

कुंभ 2021 : सीमित संख्या में 27 का शाही स्नान करेंगे बैरागी, सबसे बड़े जूना अखाड़ा ने की कुंभ विसर्जन की घोषणा

जूना के सहयोगी अग्नि, आह्वान और किन्नर अखाड़ा भी इसमें शामिल हैं। पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी और श्री तपोनिधि आनंद अखाड़ा ने भी शनिवार से कुंभ विसर्जन कर दिया है। विधिवत समापन 30 अप्रैल को होगा। 30 अप्रैल कुंभ अवधि तक सात अखाड़ों में आयोजन होते रहेंगे। 

उत्तराखंड : रविवार को प्रदेश में रहेगा पूर्ण कर्फ्यू, अब रात नौ बजे से सुबह पांच बजे तक लगेगा

महाकुंभ में भीड़ के चलते कोरोना फैलने से सवाल उठने लगे थे। 12 और 14 अप्रैल के स्नान में 39 लाख से अधिक श्रद्धालुओं और संतों की डुबकी लगाए जाने के बाद हरिद्वार में कोरोना तेजी से फैल गया है। मरीजों के साथ मृतकों की संख्या भी बढ़ने लगी है।
... और पढ़ें
हरिद्वार कुंभ हरिद्वार कुंभ

कुंभ 2021 : सीमित संख्या में 27 अप्रैल को शाही स्नान करेंगे बैरागी, सबसे बड़े जूना अखाड़ा ने की कुंभ विसर्जन की घोषणा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के कुंभ मेला प्रतीकात्मक करने की अपील पर बैरागी संतों ने भी कोविड नियमों के पालन के साथ 27 अप्रैल का शाही स्नान करने की घोषणा कर दी है।

कोरोना की दूसरी लहर: उत्तराखंड में आए रिकॉर्ड 2757 नए संक्रमित मरीज, 37 की मौत

बैरागी संतों ने कहा कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रसार को देखते हुए संत सभी नियमों का पालन करेंगे और सीमित संख्या में स्नान करेंगे। बैरागियों ने देशभर से पहुंचने वाले श्रद्धालुओं से भी कोविड नियमों के पालन के साथ हरिद्वार पहुंचने का आह्वान किया है। 

उत्तराखंड : रविवार को प्रदेश में रहेगा पूर्ण कर्फ्यू, दून में हफ्ते में दो दिन रहेगा लॉकडाउन

बैरागी कैंप में पत्रकारों से बातचीत में अखिल भारतीय श्रीपंच निर्मोही अणि अखाड़ा अध्यक्ष श्रीमहंत राजेंद्रदास ने कहा 27 अप्रैल का शाही स्नान कोविड नियमों के पालन के साथ होगा। उन्होंने कहा कि केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से उनकी लंबी वार्ता हुई।

गृहमंत्री अमित शाह से 27 अप्रैल के शाही स्नान पर कुंभ एसओपी का पालन करने की अपील की। श्रीमहंत राजेंद्रदास ने कहा कि सरकार की गाइडलाइन का पालन करते हुए परंपरा निभाई जाएगी। वैष्णव संत सीमित संख्या में ही आखिरी शाही स्नान करेंगे। ... और पढ़ें

उत्तराखंड बोर्ड : 10वीं की निरस्त और 12वीं की परीक्षा हो सकती है स्थगित, मुख्य सचिव को भेजा प्रस्ताव

प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए उत्तराखंड बोर्ड की चार मई से शुरू होने वाली 10वीं की परीक्षा को निरस्त एवं 12वीं की परीक्षा को स्थगित किया जा सकता है। शिक्षा सचिव आरमीनाक्षी सुंदरम के मुताबिक इस संबंध में मुख्य सचिव को प्रस्ताव भेजा गया है। शिक्षा मंत्री और फिर मुख्यमंत्री के स्तर से इस पर अंतिम निर्णय लिया जाएगा। 

कुंभ 2021 : सीमित संख्या में 27 का शाही स्नान करेंगे बैरागी, सबसे बड़े जूना अखाड़ा ने की कुंभ विसर्जन की घोषणा

कोविड-19 की वजह से सीबीएसई, आईसीएसई और कई राज्यों की परीक्षाएं स्थगित होने के बाद अब उत्तराखंड बोर्ड की परीक्षाएं भी स्थगित हो सकती हैं। शिक्षा सचिव आरमीनाक्षी सुंदरम के मुताबिक सीबीएसई की तर्ज पर इन परीक्षाओं को निरस्त एवं स्थगित करने की सिफारिश की गई है।

कोरोना की दूसरी लहर: उत्तराखंड में आए रिकॉर्ड 2757 नए संक्रमित मरीज, 37 की मौत

इसमें 10वीं के बच्चों को पिछले पर्फोरमेंस के आधार पर पास माना जाएगा। जबकि 12वीं के छात्रों की परीक्षा के लिए स्थिति कुछ सामान्य होने के बाद अगल से परीक्षा तिथि तय की जाएगी। 

दो लाख 70 हजार से अधिक परीक्षार्थी 

उत्तराखंड बोर्ड की 10 और 12वीं की परीक्षा में दो लाख 70 हजार से अधिक परीक्षार्थी पंजीकृत हैं। इसमें 10वीं में 148355 एवं 12वीं में 122184 परीक्षार्थी पंजीकृत हैं। शिक्षा विभाग की ओर से इनकी परीक्षा के लिए प्रदेश भर में 1347 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं।
... और पढ़ें

उत्तराखंड : रविवार को प्रदेश में रहेगा पूर्ण कर्फ्यू, दून में हफ्ते में दो दिन रहेगा लॉकडाउन

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रदेश सरकार ने पूरे प्रदेश में साप्ताहिक कर्फ्यू का एलान कर दिया है। देहरादून के नगर निगम क्षेत्र में शनिवार और रविवार को साप्ताहिक कर्फ्यू रहेगा।

उत्तराखंड में कोरोना : हल्द्वानी में साप्ताहिक बंदी आज, एसडीएम और सिटी मजिस्ट्रेट मैदान पर, तस्वीरें

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रदेश सरकार ने पूरे प्रदेश में साप्ताहिक कर्फ्यू का एलान कर दिया है। देहरादून के नगर निगम क्षेत्र में शनिवार और रविवार को साप्ताहिक कर्फ्यू रहेगा।

कोरोना: उत्तराखंड में बढ़ने लगी बंदिशें, 15 दिन के भीतर चार जिलों में 74 कंटेनमेंट जोन बने

जबकि अन्य सभी जिलों में रविवार को साप्ताहिक कर्फ्यू रहेगा। अभी यह व्यवस्था 30 अप्रैल तक के लिए ही की गई है। दूसरी ओर शनिवार को प्रदेश में सर्वाधिक 37 कोरोना मरीजों की मौत हुई, जबकि 2757 नए मरीज मिले हैं।

प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मद्देनजर शनिवार को मुख्य सचिव ओमप्रकाश की ओर से नए दिशा-निर्देशों से संबंधित आदेश जारी कर दिए गए। आदेश के मुताबिक शनिवार से ही पूरे प्रदेश में रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक 8 घंटे का रात्रि कर्फ्यू रहेगा।

अभी तक इसका समय रात साढ़े दस बजे से सुबह पांच बजे तक ही था। वहीं, साप्ताहिक कर्फ्यू वाले दिन जरूरत की चीजों की दुकानें खुली रहेंगी। वहीं, आवागमन सशर्त और अनुमति के अधीन ही हो पाएगा। जबकि नगर निगम क्षेत्र में शनिवार की साप्ताहिक बंदी में आवश्यक सेवा से संबंधित कार्यालय और संस्थान खुले रखने की छूट दी गई है।
... और पढ़ें

उत्तराखंड :  बदरी-केदार, हेमकुंड के साथ ही ऊंचाई वाले क्षेत्रों में हुई बर्फबारी, लौटी ठंड, तस्वीरों में देखें

बंद पड़े बाजार
चमोली जिले में शनिवार को मौसम दिनभर खराब रहा। बदरीनाथ धाम, हेमकुंड साहिब के साथ ही औली, फूलों की घाटी, रुद्रनाथ, लाल माटी, नीती और माणा घाटियों में बर्फबारी हुई। जबकि निचले क्षेत्रों में तेज हवाओं के साथ झमाझम बारिश हुई। बर्फबारी और बारिश से हेमकुंड साहिब यात्रा मार्ग से बर्फ हटाने का काम नहीं हो पाया। वहीं  केदारनाथ, मद्महेश्वर समेत ऊंचाई वाले क्षेत्रों में हल्की बर्फबारी हुई। शुक्रवार रात करीब दो बजे से ही चमोली जिले में मौसम खराब हो गया था। रात को कुछ देर तक बारिश हुई, जबकि रविवार को निचले क्षेत्रों में दोपहर बाद बारिश हुई। बारिश और बर्फबारी से मौसम में ठंडक आ गई है। वहीं केदारनाथ, मद्महेश्वर समेत ऊंचाई वाले क्षेत्रों में दोपहर से शाम तक हल्की बर्फबारी होती रही, जिससे वहां ठंड बढ़ गई है। जबकि निचले क्षेत्रों में लगभग तीन घंटे तक रूक-रूककर बारिश होती रही।  यमुनोत्री एवं गंगोत्री धाम सहित समुद्र सतह से तीन हजार मीटर से अधिक ऊंचाई वाले इलाकों में एक बार फिर बर्फ की सफेद चादर बिछ गई है। शुक्रवार देर रात से उत्तरकाशी जिले की निचली घाटियों में रिमझिम बारिश हुई। शनिवार को भी जिले के विभिन्न इलाकों में तेज हवाओं के साथ रुक-रुक कर बारिश हुई, जबकि ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी हुई है।
... और पढ़ें

उत्तराखंड : जंगलों की आग बुझाने के लिए वन विभाग के साथ एनडीआरएफ ने संभाला मोर्चा, तस्वीरें

जंगलों में लगी आग को बुझाने के लिए वन विभाग के साथ-साथ अब एनडीआरएफ (राष्ट्रीय आपदा अनुक्रिया बल) ने भी मोर्चा संभाल लिया है। एनडीआरएफ की 7वीं बटालियन भटिंडा की एक टीम टिहरी वन प्रभाग के अंतर्गत तैनात की गई है। 
शनिवार को एनडीआरएफ की 7वीं बटालियन भटिंडा के कमांडेंट राहुल प्रताप सिंह के नेतृत्व में 28 सदस्यीय टीम का डीएफओ डा. कोको रोसे और एसडीओ रमेश खंडूड़ी ने वन चेतना केंद्र में स्वागत किया। उन्होंने कहा कि वन विभाग वनाग्नि की घटनाएं रोकने को युद्ध स्तर पर प्रयास कर रहा है।

उत्तराखंड : ‘विशेष जैल’ से बुझेगी जंगलों की आग, रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन के वैज्ञानिकों ने किया तैयार

अब केंद्र सरकार ने एनडीआरएफ की एक टुकड़ी को यहां तैनात किया है, जिससे आग पर और जल्द काबू पाया जा सकता है। डीएफओ ने बताया कि टीम को वन विभाग ही उपकरण उपलब्ध कराएगा। एनडीआरएफ की टीम फायर सीजन तक यहां तैनात रहेगी।
... और पढ़ें

कुंभ 2021 : अवधेशानंद गिरी ने की घोषणा, कहा- प्रतीकात्मक रूप में जारी रहेगा कुंभ, वीडियो देखें

कोरोना :  स्वास्थ्य, बिजली, पानी से संबंधित विभागों में प्रतिबंधित होगी हड़ताल, उत्तराखंड सरकार ने लिया फैसला

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच सरकार ने बिजली, पानी और सेहत पर फोकस करने का मन बनाया है। बिजली और पेयजल के साथ ही स्वास्थ्य सेक्टर में किसी भी तरह की हड़ताल को पूरी तरह से प्रतिबंधित किया जाएगा। जल्द ही इसके आदेश भी जारी हो जाएंगे।

उत्तराखंड में कोरोना : हल्द्वानी में साप्ताहिक बंदी आज, एसडीएम और सिटी मजिस्ट्रेट मैदान पर, तस्वीरें

कोरोना के तेजी से बढ़ रहे मामलों के बीच सरकार के लिए स्वास्थ्य सेक्टर में निरंतर सेवा को बनाए रखना जरूरी हो गया है। डाक्टरों, नर्स सहित अन्य स्टाफ की कमी से सरकार पहले से ही जूझ रही है। ऐसे में इस सेक्टर में हड़ताल होती है तो लोगों को भारी समस्या का सामना करना पड़ सकता है।
 
उत्तराखंड में कोरोना : रात्रि कर्फ्यू को लेकर हल्द्वानी में भी सख्ती, बेवजह सड़क पर न घूमें, चालान हो जाएगा

यही हाल पेयजल सेक्टर का भी है। गर्मियों में प्रदेश में पेयजल की कमी होना अब सामान्य हो चला है। दूसरी ओर जलवायु परिवर्तन और अन्य कारणों से प्राकृतिक जल स्रोंतो की संख्या में तेजी से कमी हो रही है।

ऐसे में कोरोना संक्रमण के दौर में अगर इस सेक्टर में हड़ताल जैसी कोई बात होती है तो सरकार के साथ ही लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। ऐसी ही गर्मी बढ़ने पर बिजली की सुचारु आपूर्ति भी जरूरी है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X