विज्ञापन

अवैध खनन में बेलगाम दौड़ रहे गैर पंजीकृत ट्रैक्टर

Dehradun Bureauदेहरादून ब्यूरो Updated Sun, 13 Jan 2019 02:02 AM IST
ख़बर सुनें
ब्यूरो/अमर उजाला, ऋषिकेश। विभागों की अनदेखी के चलते गैर पंजीकृत ट्रैक्टर तीर्थनगरी में बेलगाम अवैध खनन में लिप्त हैं। ऐसे में जहां राजस्व को भारी क्षति पहुंचा रही है, वहीं पंजीकृत ट्रैक्टर संचालक परेशान हैं। परिवहन विभाग और तहसील प्रशासन की अनदेखी से परेशान पंजीकृत वाहन संचालकों ने अपना रजिस्ट्रेशन संभागीय परिवहन कार्यालय में जमा करने का फैसला लिया है। एआरटीओ कार्यालय ऋषिकेश में पंजीकृत कामर्शियल ट्रैैक्टर 473, ट्राली 467 और 4631 ट्रक हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन
इसके अलावा कृषि कार्य के लिए 1051 ट्रैक्टर पंजीकृत हैं। इन पंजीकृत वाहनों में सात टन की ट्रॉली से सालाना 7560, दो टन के ट्रैक्टर से 4000, 17 टन के ट्रक से 18,360 रुपए का टैक्स वसूला जाता है। गंभीर मामला यह है कि जो ट्रैक्टर व्यावसायिक में पंजीकृत नहीं हैं वे अवैध खनन की ढुलाई में धड़ल्ले से दौड़ रहे हैं। हरिद्वार, रुड़की से आने वाले ट्रैक्टर ट्रालियों का हुजूम रोजाना सुबह पांच बजे देखा जा सकता है। मानकों के मुताबिक ट्राली में सिर्फ छह हजार ईंटें ही ढोई जा सकती है। हकीकत यह है कि ट्रैक्टर-ट्राली संचालक 10 हजार ईंट लादकर छह हजार की पर्ची लेकर घूम रहे हैं। ये हाल तब है जब रुड़की, हरिद्वार से ऋषिकेश आने में आठ से दस पुलिस चौकियों की निगरानी से गुजरना पड़ता है।
सरकार ट्रांसपोर्टरों पर ध्यान नहीं दे रही है। गाड़ी का बीमा भी महंगा किया हुआ हैं। इस समय ऑलवेदर रोड में मिट्टी भरान का कार्य किया जा रहा है, लेकिन स्थानीय पंजीकृत संचालकों को काम नहीं दिया जा रहा है। बाहरी राज्यों की गाड़ियां यहां लोकल में काम कर रही है। यह सीधे-सीधे परमिट शर्तों का उल्लंघन हो रहा है।
- दिनेश बहुगुणा, गढ़वाल ट्रक ऑनर्स एसोसिएशन
बाहरी क्षेत्रों से यहां खनिज की ढुलाई हो रही है। कई बार प्रशासन को ज्ञापन भी दिया गया, लेकिन कार्रवाई नहीं हो सकी। हम लोग टैक्स भी देते हैं। हमारा क्षेत्र भी सात किलोमीटर तक ही सीमित है, फिर भी पुलिस हमें बेवजह परेशान भी करती है। हमारी एसोसिएशन के सभी ट्रैक्टर ट्राली संचालक अपने-अपने रजिस्ट्रेशन एआरटीओ कार्यालय को 15 जनवरी से पूर्व सौंप देंगे।
- रमेश रांगड़, देवभूमि ट्रैक्टर मालिक एवं चालक संघ

बाहरी राज्यों से यदि यहां मालवाहक वाहक आ रहे हैं तो उनका परमिट अवश्य होगा। हमने पिछले साल अप्रैल से दिसंबर के बीच कुल 183 टैक्टर ट्रालियों का चालान किया है। इसमें 133 ऐसे हैं, जो कृषि कार्य के लिए पंजीकृत थे मगर, इसका उपयोग व्यावसायिक कार्यों में हो रहा था। ट्रैक्टर ट्राली वालों की पूर्व में कैपेसिटी बढ़ाने की मांग थी। मुख्यालय ने इसमें सवा दो टन की बढ़ोतरी की है।
- डॉ. अनिता चमोला, एआरटीओ ऋषिकेश

ऋषिकेश क्षेत्र में कुल पांच लोगों को खनिज भंडारण के लाइसेंस दिए गए हैं। इसमें ढालवाला के संतोष पांथरी, हरिद्वार रोड पुरानी चुंगी के समीप सत्यवीर तोमर, बाईपास मार्ग से सुशीला भट्ट, मंशा देवी से उदय चंद रमोला, रायवाला तीन पानी में आकाश जैन शामिल हैं। इसके अलावा यदि खनिज भंडारण हो रहा है तो वह पूरी तरह से अवैध है।
- कुंदन सलाल, खनिज अधिकारी

Recommended

कुंभ मेले में अतुल धन, वैभव, समृधि प्राप्ति हेतु विशेष पूजा करवायें और प्रसाद की होम डिलीवरी पायें
त्रिवेणी संगम पूजा

कुंभ मेले में अतुल धन, वैभव, समृधि प्राप्ति हेतु विशेष पूजा करवायें और प्रसाद की होम डिलीवरी पायें

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Dehradun

राष्ट्रीय बालिका दिवस: अमर उजाला की अनूठी पहल, कार्यस्थल पर बेटियों के साथ शेयर करें सेल्फी

बेटियों में आत्मविश्वास जगाकर भावनात्मक रूप से मजबूत करने के उद्देश्य से अमर उजाला ने अनूठी पहल 'कार्यस्थल पर बेटियां' शुरू की है।

21 जनवरी 2019

विज्ञापन

गुस्साई भीड़ ने किया दिल्ली-यमुनोत्री हाईवे जाम, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

देहरादून के विकासनगर में एक युवक के अपहरण और हत्या के बाद लोगों के द्वारा दिल्ली-यमुनोत्री हाईवे को जाम करने की खबर सामने आई है। जिसके बाद पुलिस ने लोगों पर लाठीचार्ज करके हाईवे को जाम से मुक्त किया।

20 जनवरी 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree