लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttarakhand ›   Uttarkashi News ›   Every year many families become homeless due to house burning.

अग्निकांड: हर साल मकान जलने से कई परिवार हो जाते हैं बेघर, आज भी खौफनाक मंजर याद कर डर जाते हैं लोग

संवाद न्यूज एजेंसी, उत्तरकाशी Published by: देहरादून ब्यूरो Updated Wed, 07 Dec 2022 04:47 PM IST
सार

वर्ष 2007 में ओसला गांव में 53 मकान आग की भेंट चढ़े थे। वर्ष 2010 में सिदरी गांव में 40 मकान व दो लोगों की मौत हुई थी। वर्ष 2013 में सुनकुंडी में 22 व 2018 में सांवणी में 30 मकान जले थे। मोरी विकासखंड का करीब 60 फीसदी हिस्सा नेटवर्क विहीन है। ऐसे में आगजनी की घटना होने पर तुरंत सूचना भी नहीं पहुंच पाती।

घर में लगी आग
घर में लगी आग - फोटो : अमर उजाला फाइल फोटो
विज्ञापन

विस्तार

विकासखंड मोरी में गोविंद वन्य जीव विहार क्षेत्र के कई गांवों में अक्सर आग की घटनाएं होती है। ऐसे में गांवों में संचार, पानी और सड़क सुविधा नहीं होने के कारण कई परिवार आग में मकान जलने के बाद बेघर हो जाते हैं। संचार सुविधा नहीं होने के कारण ग्रामीण घटना की सूचना तक प्रशासन को समय पर नहीं दे पाते हैं। इतना ही नहीं सड़क व पानी नहीं होने से उन्हें आग बुझाने में खासी मशक्कत उठानी पड़ती है।



गोविंद वन्य जीव विहार क्षेत्र के गांवों में आगजनी में अब तक सैकड़ों मकान जल चुके हैं। देवदार की लकड़ी पर आग जल्दी पकड़ती है। ऐसे में देवदार की लकड़ी से बने मकान यहां आग में बारूद का काम करते हैं। क्षेत्र के अधिकांश गांव सड़क से नहीं जुड़े हैं जिससे अग्निशमन वाहन भी गांव तक नहीं पहुंच पाते हैं।


मोरी विकासखंड का करीब 60 फीसदी हिस्सा नेटवर्क विहीन है। ऐसे में आगजनी की घटना होने पर तुरंत सूचना भी नहीं पहुंच पाती। ऐसे क्षेत्रों में प्रशासन ने ग्राम पंचायतों में सेटेलाइट फोन दिए हैं। दिसंबर 2006 में ढाटमीर गांव में 120 मकान आग की भेंट चढे़ थे।


ये भी पढ़ें...Uttarakhand: उत्तरकाशी में ग्वाड़ गांव के एक मकान में लगी भीषण आग, आस पास के कई मकानों को भी पहुंचा नुकसान

 

अग्निकांड में एक व्यक्ति की मौत भी हुई थी। वर्ष 2007 में ओसला गांव में 53 मकान आग की भेंट चढ़े थे। वर्ष 2010 में सिदरी गांव में 40 मकान व दो लोगों की मौत हुई थी। वर्ष 2013 में सुनकुंडी में 22 व 2018 में सांवणी में 30 मकान जले थे।

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00