Hindi News ›  

Video

विज्ञापन
SMART BETIYAN 2:00

सागौन के पत्तों पर खाना खाया पर शिक्षा में कमी न होने दी

अमर उजाला ब्यूरो, बलरामपुर Updated Fri, 16 Nov 2018 01:13 PM IST

बेटे-बेटियां शिक्षित होंगे तो अपने साथ-साथ समाज के भी काम आयेंगे। और लड़कियां तो दो घरों को रौशन करती हैं, इसलिए उनका शिक्षित होना तो बहुत ही जरूरी है।

अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
SMART BETIYAN 1:36

एकजुट परिवार से हार गये गांव-समाज के ताने और दबाव

अमर उजाला ब्यूरो, बलरामपुर Updated Fri, 16 Nov 2018 01:12 PM IST

अनपढ़ उर्मिला देवी की पांच बेटियों को इसी तरह की समझ का सहारा मिला है और सब इस हौसले के साथ बढ़ रही हैं कि पढ़-लिख कर कुछ बनना है।

अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन
विज्ञापन
SMART BETIYAN 1:53

स्मार्ट बेटियांः चार बेटियों के बाप ने लिया पवित्र संकल्प

140 Views
अमर उजाला ब्यूरो, बलरामपुर Updated Thu, 15 Nov 2018 11:32 AM IST

राकेश मिश्रा किसान हैं और चार बेटियों व दो बेटों के पिता हैं। उनकी उपलब्धि यह है कि उन्होंने बेटियों को बेटों से बराबर तालीम दी है। वह कहते हैँ कि खुद उनकी शादी छोटी उम्र में हुई थी। वह गलती अब उनके बच्चे नहीं दोहराएंगे।

अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन
SMART BETIYAN 1:31

अपनी गलती बेटियों को नहीं दोहराने देगी सरस्वती

142 Views
अमर उजाला ब्यूरो, बलरामपुर Updated Thu, 15 Nov 2018 11:20 AM IST

सरस्वती देवी की कहानी एक आम ग्रामीण भारतीय परिवार की कहानी जैसी ही है। कम उम्र में शादी। एक के बाद एक बच्चे पैदा होना। किसी विपदा के बाद घर में कमाई बंद हो जाना और फिर जिंदगी का घिसट घिसट कर बढ़ना। 

अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन
विज्ञापन
SMART BETIYAN 1:16

मंजू ने बच्चों को बाल विवाह के दंश से आजाद रखा

129 Views
अमर उजाला ब्यूरो, बलरामपुर Updated Wed, 14 Nov 2018 06:10 PM IST

घर की तमाम मजबूरियों के नाम पर मां ने मंजू देवी की शादी उनके बचपन में ही कर दी थी। अपने बाल विवाह से जूझकर आगे बढ़ी मंजू देवी ने अपने बच्चों को ऐसी दिक्कतों से बचा कर रखने का प्रण किया 

अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
प्रतीकात्मक तस्वीर 1:56

14 में शादी, 16 में मां बन गई दर्द के दरिया से गुजरी जिंदगी

437 Views
चुनाव डेस्क, अमर उजाला Updated Wed, 14 Nov 2018 05:45 PM IST

सुनीता की शादी 14 साल की उम्र में हो गयी थी। फिर 16 साल की उम्र में बेटी हो गयी। कच्ची उम्र में ही घर की जिम्मेदारियों, बच्चों का बोझ आ पड़ा जिसके लिए न तो सुनीता का शरीर तैयार था और न ही मन।

अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन
विज्ञापन
SMART BETIYAN 1:18

बाल विवाह से बची तो पढ़ाई भी जारी रख पाई प्रीति

258 Views
अमर उजाला ब्यूरो, बलरामपुर Updated Wed, 14 Nov 2018 04:41 PM IST

प्रीती आज जब बोलती है कि “हमारी शादी भी रुक गयी और हम बीए की पढ़ाई भी कर रही हैं”, तो उसके चेहरे की खुशी देखते ही बनती है।

अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन
SMART BETIYAN 1:18

खुद अनपढ़, पति किसान, पर बच्ची को पढ़ाने का प्रण

204 Views
अमर उजाला ब्यूरो, बलरामपुर Updated Tue, 13 Nov 2018 03:59 PM IST

मालती वर्मा खुद स्कूल नहीं जा पाईं। पति किसान हैं और गृहस्थी मुश्किल से चलती है। लेकिन एक बात उन्होंने गांठ बांध रखी है -- बिना शिक्षा के कोई आगे नहीं बढ़ सकता और मेरा बेटा और बेटी दोनों पूरी शिक्षा हासिल करने के बाद ही विवाह करेंगे। 

अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन
SMART BETIYAN 1:14

बहन का हश्र देख बेटी का जीवन संवारा सर्वजीत ने

131 Views
अमर उजाला ब्यूरो, बलरामपुर Updated Tue, 13 Nov 2018 03:45 PM IST

सर्वजीत ने बाल विवाह और अशिक्षा का कहर अपनी आंखों से अपनी बहन के जीवन पर टूटते देखा। बहन का हश्र देखकर वे इतना सहम गए कि उन्होंने अपनी बेटी को उच्च शिक्षा दिलाने का संकल्प कर लिया। 

अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
SMART BETIYAN 1:17

खुद आगे बढ़ी और घर की मददगार बनी संजना

205 Views
अमर उजाला ब्यूरो, बलरामपुर Updated Tue, 13 Nov 2018 03:36 PM IST

संजना ने खुद को सबल बेटी के रूप में स्थापित किया ही, साथ ही अपने परिवार के लिए मजबूत मददगार भी साबित हुई। निराशा को दरकिनार करके संजना ने लगातार अपने हालात को बदलने का संघर्ष किया है ...

अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
SMART BETIYAN 2:30

पिता और सहेलियों की मदद से गुंजन ने बृजरानी को बचाया

252 Views
अमर उजाला ब्यूरो, बलरामपुर Updated Tue, 13 Nov 2018 03:28 PM IST

बृजरानी की पढ़ाई आठवीं के बाद रुकने वाली थी और उसका बाल विवाह भी हो ही जाता अगर उसकी दोस्त गुंजन त्रिपाठी और उसकी सहेलियों ने मिलकर बृजरानी की हर तरह से मदद न की होती।
 

अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
SMART BETIYAN 1:59

स्मार्ट बेटियांः जिठानी के लड़के को बचाया बाल विवाह से

132 Views
अमर उजाला ब्यूरो, बलरामपुर Updated Mon, 12 Nov 2018 02:33 PM IST

लक्ष्मी मजबूर थीं और बचपन में अपने खुद के ब्याह को रोक नहीं पाईं। लेकिन जब आंखें खुलीं तो पता चला कि बहुत कुछ खो गया। फिर वे महिला समाख्या संगठन से जुड़ीं और अब अपने गांव-देहात में सुनिश्चित कर रहीं हैं कि जिस हद तक हो सके, बाल विवाहों को रोका जाए। 

अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
SMART BETIYAN 1:33

चौदह बरस की निशा ने लड़ी परिवार से जंग

117 Views
अमर उजाला ब्यूरो, बलरामपुर Updated Mon, 12 Nov 2018 02:21 PM IST

निशा की उम्र महज चौदह साल है। वह सही मायने में बच्ची ही है। लेकिन इस बच्ची ने ऐसा काम कर दिखाया कि आज उसका स्कूल, उसका गांव और उसकी सहेलियां-- सब उसकी तारीफ कर रहे हैं। 

अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
SMART BETIYAN 1:38

अपने तर्क काम न आये, तो स्कूल का सहारा लिया प्रीति ने

101 Views
अमर उजाला ब्यूरो, श्रावस्ती Updated Mon, 12 Nov 2018 02:15 PM IST

स्कूल में हुई चर्चा के आधार पर जब दोबारा प्रीति ने मां से बात की तो बाल विवाह के खतरे और उससे उन्हीं की बेटी के जीवन पर आने वाले संकट की बात उनके गले उतर गई।

अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
SMART BETIYAN 1:38

पड़ोसी दादाजी की मदद से रुकवाई शादी, बीटीसी कर रही है अर्चना

122 Views
अमर उजाला ब्यूरो, बलरामपुर Updated Mon, 12 Nov 2018 02:10 PM IST

बलरामपुर के नयानगर गांव की अर्चना की अपना विवाह रोकने की जिद जब पिता से न जीत पाई तो उसने बिना देर किए पड़ोस के दादाजी यानी कन्हैया लाल वर्मा की मदद लेने की जुगत बिठाई। बलरामपुर के नयानगर गांव की अर्चना की अपना विवाह रोकने की जिद जब पिता से न जीत पाई तो उसने बिना देर किए पड़ोस के दादाजी यानी कन्हैया लाल वर्मा की मदद लेने की जुगत बिठाई।

अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
प्रतीकात्मक तस्वीर 1:03

`` बेटी, तेरी किस्मत है कि उनको तू पसंद आ गई है। पढ़ाई-लिखाई तो बाद में भी होती रहेगी.....!``

475 Views
अमर उजाला ब्यूरो, बलरामपुर Updated Sat, 10 Nov 2018 04:35 PM IST

अपनी मां के ये शब्द पुष्पा के कानों में अब भी गूंजते हैं। उसे याद है कुछ माह पहले जब वह स्कूल से घर लौटी थी तो घर में उसकी शादी की बात चल रही थी। हैरान-परेशान पुष्पा ने सबसे पूछा तो कोई सही से जवाब नहीं देता था। 

अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
प्रतीकात्मक तस्वीर 1:53

स्मार्ट बेटियांः खुद नहीं पढ़े लेकिन चारों बेटियों को पढ़ाने का प्रण

अमर उजाला ब्यूरो,श्रावस्ती Updated Sat, 10 Nov 2018 04:29 PM IST

राधेश्याम जानते हैं कि जीवन में शिक्षा का क्या मोल है। इसलिए गरीबी की तमाम चुनौतियों को झेलने के  बावजूद उनका संकल्प है कि वे अपनी चारों बेटियों में से किसी का ब्याह जल्दी नहीं करेंगे और सबको अच्छी शिक्षा दिलाकर ही उनके हाथ पीले करेंगे। 

अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
प्रतीकात्मक तस्वीर 1:52

स्मार्ट बेटियांः शिक्षक संतराम की समझाइश से बदला गांव का माहौल

147 Views
अमर उजाला ब्यूरो, श्रावस्ती Updated Fri, 09 Nov 2018 06:08 PM IST

शिक्षामित्र अध्यापक संतराम वर्मा ने अपने गांव और कर्मक्षेत्र में समाज के बीच लगातार संवाद करके बाल विवाह के खिलाफ माहौल बनाया और धीरे धीरे लोगों का मन बदलने में सफलता हासिल की है।

अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
प्रतीकात्मक तस्वीर 1:54

स्मार्ट बेटियांः छोटी बहन का बाल विवाह रुकवा पाने की खुशी से तकलीफ घटी

136 Views
अमर उजाला ब्यूरो, बलरामपुर Updated Fri, 09 Nov 2018 06:07 PM IST

घर की बड़ी बेटी की शादी मात्र 16 साल की उम्र में ही हो गयी थी और इस बाल विवाह को बड़ा भाई बंशीलाल रोक नहीं पाया था। इसका गहरा मलाल था उसके मन में।

अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
प्रतीकात्मक तस्वीर 1:35

स्मार्ट बेटियां: पिता की समझदार जिद की छाया में बढ़ रहे हैं बच्चे

202 Views
अमर उजाला ब्यूरो, श्रावस्ती Updated Wed, 07 Nov 2018 05:24 PM IST

सात बेटों और दो बेटिओं के पिता लालमणि विश्वकर्मा ने अपनी बड़ी बेटी की शादी 18 साल की उम्र में ही की थी। लेकिन उसे भी अपनी दसवीं की पढ़ाई पूरी करने में जो दिक्कतें आईं...

अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree