250 साल पुराने इन फूड के पीएम भी दिवाने

अमर उजाला

Thu, 18 August 2022

Image Credit : Social Media

फेमस पनीर घेवर

जयपुर के जौहरी बाजार में स्थित लक्ष्मी मिष्ठान भंडार है, जहां वर्ल्ड फेमस पनीर घेवर बनता है
Image Credit : Social Media

जयपुर के लक्ष्मी भंडार में घेवर मुगल काल से ही बनाया जा रहा है

 

Image Credit : Social Media

पनीर घेवर आज पीएम मोदी से लेकर अमिताभ बच्चन और कई बॉलीवुड सेलिब्रिटीज को पसंद है
Image Credit : Social Media

अजमेर का कढ़ी-कचौरी  

अजमेर में कढ़ी-कचौरी बेहद प्रसिद्ध है. 
 
Image Credit : Social Media
कोटा में हींग कचौरी बनाने की शुरुआत करीब 80 साल पहले मानी जाती है
 
Image Credit : Social Media

कोटा शहर में करीब 1000 बड़ी-छोटी दुकानों पर करीब 2 लाख कचौरी रोज बिकती है.
 
Image Credit : Social Media

दादी के तिलपट्टी लड्डू

ब्यावर में सबसे पहले 1938 में तिलपट्टी बनाने का श्रेय रामधन भाटी को जाता है
 
Image Credit : Social Media
तिलपट्टी का स्वाद देश ही नहीं बल्कि सात समुंदर पार विदेशी लोगों की जुबान पर भी चढ़ चुका है.
Image Credit : Social Media

कोटा की रानी' और 'कोटा का राजा'

हींग कचौरी को 'कोटा की रानी' के नाम से बुलाते हैं
 
Image Credit : Social Media
वहीं बेसन के मोटे कड़क सेव को कोटा में कड़के नाम से जाना जाता है. जिसे 'कोटा का राजा' कहा जाता है
 
Image Credit : Social Media
हींग कचौरी बनाने की शुरुआत करीब 120 साल पहले सन 1902 में हुई थी
 
Image Credit : Social Media

शहीद लांसनायक चंद्रशेखर का पार्थिव शरीर हल्द्वानी पहुंचा

अमर उजाला
Read Now