Hindi News ›   World ›   covid-19 vaccination update : 29 dead in Norway after getting vaccinated Pfizer vaccine NMA

नॉर्वे में कोविड वैक्सीन लगने के बाद 29 लोगों की मौत, फाइजर के टीके पर उठे सवाल, जानिए अब तक क्या हुआ

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, ओस्लो Published by: दीप्ति मिश्रा Updated Sun, 17 Jan 2021 08:47 AM IST
Pfizer and BioNTech Covid-19 vaccine
Pfizer and BioNTech Covid-19 vaccine - फोटो : Agency
विज्ञापन
ख़बर सुनें
भारत समेत पूरी दुनिया में वैश्विक महामारी कोरोना वायरस को खत्म करने के लिए टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। नार्वे में नए साल के चार दिन पहले फाइजर की कोरोना वायरस वैक्सीन को लगाने का काम शुरू किया गया। नॉर्वे में टीका लगने के बाद अब तक 29 लोगों की मौत हो चुकी है और 75 लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है। 
विज्ञापन


पिछले साल 27 दिसंबर को कोविड टीकाकरण अभियान शुरू होने के बाद से देश में 25,000 से अधिक लोगों को टीका लगाया गया है। नॉर्वे में जिन लोगों की मौत हुई है, उन्होंने वैक्सीन की पहली ही डोज ली थी, जिसके बाद उनकी तबीयत बिगड़ गई। सरकार का कहना है कि जो लोग बीमार हैं और बुजुर्ग हैं, उनके लिए टीकाकरण काफी रिस्क भरा हो सकता है। मरने वाले 29 लोगों में से 13 लोगों की वैक्सीन से ही मरने की पुष्टि हो चुकी है, जबकि अन्य की मौत के मामले में जांच चल रही है। 


मरने वालों की उम्र 80 के पार
नॉर्वेयिन मेडिसिन एजेंसी ने कहा कि जिन लोगों की मौत की जांच की गई है, उनमें से कमजोर, बुजुर्ग लोग थे, जो नर्सिंग होम में रहते थे। जिन लोगों की मौत हुई है, उनमें सभी की उम्र 80 साल के ऊपर थी। वहीं शनिवार को मरने वाले छह लोगों की उम्र 75 साल के करीब है। ऐसा लगता है कि इन मरीजों को वैक्सीन लगवाने के बाद बुखार और बेचैनी के साइड इफेक्ट का सामना करना पड़ा, जिससे वे गंभीर रूप से बीमार हो गए। इसके चलते उनकी मौत हो गई। इसके बाद से यह भी सवाल उठाया जा रहा है कि राष्ट्रीय टीकाकरण कार्यक्रम में किन समूहों को टीका लगाना है। 

अब तक क्या हुआ 
  • नॉर्वेजियन मेडिसिन एजेंसी (एनएमए) के अनुसार, Pfizer और BioNTech द्वारा बनाया गया कोविड -19 टीका नॉर्वे में उपलब्ध एकमात्र वैक्सीन है और सभी मौतों को इसके साथ जोड़कर देखा जा रहा है।
  • नॉर्वेयिन मेडिसिन एजेंसी के अनुसार, 13 का अब तक परिणाम सामने आया है, जिसमें बताया गया है कि सामान्य दुष्प्रभाव ने बीमार, बुजुर्ग लोगों में गंभीर रिएक्शन किया है। वहीं अभी 16 लोगों की जांच के परिणाम आने का इंतजार है।
  • ज्यादातर लोगों में देखा जा रहा दुष्प्रभाव मतली, उल्टी और बुखार आदि है, जिससे से उनकी स्थिति बिगड़ती जा रही है।
  • फाइजर के टीके पर सवाल उठने के बाद कंपनी ने कहा कि बायोएनटेक और एनआईपीएच के साथ मौतों की जांच कर रहा है। 
  • नॉर्वे ने अभी तक छोटे बच्चों और स्वस्थ लोगों को टीका लगवाने से बचने के लिए नहीं कहा है।
बुजुर्गों को नहीं मिलेगा टीके का लाभ
नॉर्वेयिन इंस्टीट्यूट ऑफ पब्लिक हेल्थ का कहना है कि जो काफी बुजुर्ग हैं और लगता है कि उनकी जिंदगी का कुछ ही वक्त बचा है, तो ऐसे लोगों को वैक्सीन का लाभ शायद ही मिले या फिर अगर मिले भी तो काफी कम मिलने की संभावना है। 

 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00