ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने इजराइल को बताया ‘कैंसर कारक ट्यूमर’ 

भाषा, तेहरान Updated Sat, 24 Nov 2018 04:04 PM IST
Hassan Rouhani
Hassan Rouhani
विज्ञापन
ख़बर सुनें
ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने शनिवार को इजराइल को ‘‘कैंसर कारक ट्यूमर’’ बताया जिसे पश्चिमी देशों ने पश्चिम एशिया में अपने हितों को आगे बढ़ाने के लिए स्थापित किया है। ईरान के नेता अक्सर इजराइल की निंदा करते हैं और उसके समाप्त होने की भविष्यवाणी करते हैं लेकिन अपेक्षाकृत नरमपंथी रूहानी ऐसी बयानबाजी नहीं करते हैं। रूहानी ने वार्षिक इस्लामी एकता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि द्वितीय विश्वयुद्ध के मनहूस परिणामों में से एक क्षेत्र में एक कैंसर कारक ट्यूमर का निर्माण था।’’ 
विज्ञापन


उन्होंने इजराइल को एक ‘‘फर्जी शासन’’ करार दिया जिसे पश्चिमी देशों द्वारा स्थापित किया गया है। ईरान हिजबुल्ला और हमास जैसे आतंकवादी समूहों का समर्थन करता है जो इजराइल के विनाश को प्रतिबद्ध हैं।


रूहानी ने ईरान के क्षेत्रीय प्रतिद्धंद्वी सऊदी अरब की ओर परोक्ष रूप से इशारा करते हुए कहा कि अमेरिका इजराइल की रक्षा करने के लिए ‘‘क्षेत्रीय मुस्लिम देशों’’ के साथ अपने निकट संबंधों का इस्तेमाल करता है। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00