विज्ञापन

यमन के होदीदा शहर पर कब्जे की लड़ाई में 58 लड़ाकों की मौत

एजेंसी, अदन Updated Thu, 08 Nov 2018 07:55 PM IST
प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : फाइल फोटो
विज्ञापन
ख़बर सुनें
यमन के बंदरगाह शहर होदीदा में सरकार समर्थक बलों और विद्रोहियों के बीच हुए संघर्ष में 58 लड़ाकों की मौत हो गई है। अस्पताल के सूत्रों ने यह जानकारी दी है। सूत्रों ने बताया कि रात भर चली लड़ाई और सऊदी अरब की मदद से हुए हवाई हमलों में 47 विद्रोही मारे गये। सऊदी अरब के नेतृत्व वाला गठबंधन सरकार का समर्थन करता है।
विज्ञापन
सरकारी नियंत्रण वाले बाहरी इलाकों में बने अस्पतालों के सूत्रों ने बताया कि इन संघर्षों में 11 सैनिकों की भी मौत हो गई। यमन सरकार के सैनिकों को गठबंधन से सैन्य सहायता मिल रही है, जिसकी मदद से वे अब पहले से बेहतर स्थिति में आ गये हैं और छह लाख की आबादी वाले इस शहर में अपनी पकड़ मजबूत कर रहे हैं। यह इलाका लाल सागर के तट पर विद्रोहियों का अंतिम मजबूत गढ़ माना जाता है। 

होदीदा में सेना के एक सूत्र ने बताया कि यहां बिछी बारूदी सुरंगों और खाइयों की वजह से सैनिकों को मुश्किल हो रही है। यमन का करीब 80 प्रतिशत वाणिज्यिक आयात और संयुक्त राष्ट्र की देखरेख में आने वाली मानवीय सहायता होदीदा से ही होकर गुजरती है। 

राहत पहुंचाने वाले समूहों ने विद्रोहियों और गठबंधन, दोनों से अपील की है कि वे नागरिकों को वहां से निकलने की अनुमति प्रदान करें। होदीदा पर विद्रोहियों का 2014 से ही कब्जा है।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Gulf Countries

कच्चे तेल का घटेगा निर्यात, गिरते दामों के कारण वैश्विक रूप से प्रतिदिन होगी कटौती

सऊदी अरब के ऊर्जा मंत्री ने सोमवार को कहा कि वैश्विक रूप से तेल निर्यात में 10 लाख बैरल प्रतिदिन कटौती करने का फैसला लिया गया है। जबकि सऊदी दिसंबर से तेल निर्यात में पांच लाख बैरल प्रतिदिन कटौती करने का फैसला पहले ही ले चुका है।

13 नवंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

प्रचार करने पहुंचीं मुख्यमंत्री की पत्नी पर भड़की महिला, सुनाई खरी-खोटी

चुनाव की तारीख का एलान होते ही पार्टियां अपने प्रचार-प्रसार में जोरों-शोरों से लग गई हैं। मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के प्रचार के लिए जब उनकी पत्नी साधना रेहाटी गांव पहुंचीं तो उन्हें खरी-खोटी सुनने को मिली।

13 नवंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree