लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   World ›   South Korea launches 30 military planes after North Korea flies 12 warplanes near border

War Planes: उत्तर कोरिया ने उड़ाए 12 युद्धक विमान, जवाब में दक्षिण कोरिया के 30 सैन्य विमानों ने भरी उड़ान

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, सियोल Published by: Amit Mandal Updated Thu, 06 Oct 2022 06:05 PM IST
सार

उत्तर कोरिया ने अपने पूर्वी जल सीमा की ओर दो बैलिस्टिक मिसाइलें दागीं, और दक्षिण कोरिया ने जवाब में कोरियाई प्रायद्वीप के पूर्वी तट से अमेरिका और जापान के साथ नौसैनिक अभ्यास किया।
 

उत्तर कोरिया का तानाशाह किम जोंग उन
उत्तर कोरिया का तानाशाह किम जोंग उन - फोटो : PTI
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

दक्षिण कोरिया और उत्तर कोरिया के बीच एक बार फिर तनाव के हालात पैदा हो रहे हैं। दक्षिण कोरिया का कहना है कि उत्तर कोरिया ने गुरुवार को उनकी आपसी सीमा के पास 12 युद्धक विमान उड़ाए, जिसके जवाब में दक्षिण कोरिया के 30 सैन्य विमानों ने उड़ान भरी। दक्षिण कोरिया की सेना का कहना है कि आठ उत्तर कोरियाई लड़ाकू जेट और चार बमवर्षक विमानों ने उड़ान भरी। कहा जा रहा है कि उत्तर कोरियाई विमानों ने हवा से सतह पर गोलीबारी करने का अभ्यास किया। इसमें कहा गया है कि दक्षिण कोरिया ने 30 युद्धक विमानों को उड़ाकर इसका जवाब दिया। इससे पहले, उत्तर कोरिया ने अपने पूर्वी जल सीमा की ओर दो बैलिस्टिक मिसाइलें दागीं, और दक्षिण कोरिया ने जवाब में कोरियाई प्रायद्वीप के पूर्वी तट में अमेरिका और जापान के साथ नौसैनिक अभ्यास किया।



उ. कोरिया ने दो बैलिस्टिक मिसाइल लॉन्च की 
प्योंगयांग द्वारा जापान के ऊपर परमाणु-सक्षम मिसाइल के पिछले प्रक्षेपण के जवाब में अमेरिका द्वारा कोरियाई प्रायद्वीप के पास एक विमानवाहक पोत को फिर से तैनात करने के बाद उत्तर कोरिया ने गुरुवार को अपने पूर्वी जल क्षेत्र की ओर दो छोटी दूरी की बैलिस्टिक मिसाइलें लॉन्च कीं। नवीनतम मिसाइल प्रक्षेपणों से पता चलता है कि उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंधों की अवहेलना कर अपने परमाणु शस्त्रागार को बढ़ावा देने के उद्देश्य से हथियारों के परीक्षण को जारी रखे हुए हैं। कई विशेषज्ञों का कहना है कि किम का लक्ष्य अंततः एक वैध परमाणु देश के रूप में अमेरिकी मान्यता प्राप्त करना और प्रतिबंधों को हटाना है।  


दक्षिण कोरिया के ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ ने एक बयान में कहा कि नवीनतम मिसाइलों को उत्तर राजधानी क्षेत्र से 22 मिनट की दूरी पर लॉन्च किया गया और कोरियाई प्रायद्वीप और जापान के बीच इसकी लैंडिंग हुई। पहली मिसाइल ने 350 किलोमीटर की उड़ान भरी और अधिकतम 80 किलोमीटर की ऊंचाई तक पहुंची और दूसरी ने 60 किलोमीटर ऊपर जाकर 800 किलोमीटर की उड़ान भरी। उड़ान विवरण रक्षा मंत्री यासुकाज़ु हमदा द्वारा घोषित जापानी आकलन के समान थे, जिन्होंने पुष्टि की कि मिसाइलें जापान के विशेष आर्थिक क्षेत्र तक नहीं पहुंचीं।

उ. कोरिया से निपटने के लिए संयुक्त सैन्य अभ्यास 
उन्होंने कहा कि दूसरी मिसाइल को संभवतः एक अनियमित प्रक्षेपक पर लॉन्च किया गया था। इस शब्द का उपयोग रूस के इस्केंडर मिसाइल के बाद तैयार किए गए उत्तर कोरियाई हथियार की उड़ान विशेषताओं का वर्णन करने के लिए किया गया है, जो कम ऊंचाई पर यात्रा करता है और मिसाइल सुरक्षा से बचने की संभावनाओं को बेहतर बनाने के लिए डिजाइन किया गया है। दक्षिण कोरिया के ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ ने कहा कि अमेरिका, दक्षिण कोरियाई और जापानी विध्वंसकों ने उत्तर कोरियाई बैलिस्टिक मिसाइलों की खोज, ट्रैक और इंटरसेप्ट करने की अपनी क्षमताओं को बढ़ाने के लिए गुरुवार को कोरियाई प्रायद्वीप के पूर्वी तट पर संयुक्त अभ्यास शुरू किया।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00