लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   World ›   Taliban carry out first public execution since Afghan takeover

Taliban: अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद पहली बार तालिबान ने दी सार्वजनिक फांसी, हत्यारोपी को सजा

एजेंसी, काबुल। Published by: देव कश्यप Updated Thu, 08 Dec 2022 12:52 AM IST
सार

फांसी की इस घोषणा के साथ अफगानिस्तान के नए शासकों ने अगस्त 2021 में देश पर कब्जा करने के बाद से लागू की गई सख्त नीतियों को जारी रखने और इस्लामी कानून (शरिया) पर टिके रहने के इरादे जाहिर कर दिए। तालिबान सरकार के शीर्ष प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाबिद के मुताबिक, पश्चिमी फराह प्रांत में जिस वक्त आरोपी को फांसी दी गई उस वक्त वहां सैकड़ों नागरिक मौजूद थे।

तालिबानी प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद।
तालिबानी प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद। - फोटो : PTI (फाइल फोटो)
विज्ञापन

विस्तार

तालिबान के अधिकारियों ने बुधवार को एक अन्य व्यक्ति की हत्या के दोषी अफगानिस्तानी नागरिक को सार्वजनिक रूप से फांसी दे दी। तालिबान प्रवक्ता ने बताया कि पिछले साल अफगानिस्तान पर पूर्व विद्रोहियों के कब्जे के बाद से यह पहली सार्वजनिक फांसी हुई है। पश्चिमी फराह प्रांत में सैकड़ों नागरिकों और तालिबान के कई शीर्ष अधिकारियों के सामने दोषी को फांसी पर लटकाया गया।



फांसी की इस घोषणा के साथ अफगानिस्तान के नए शासकों ने अगस्त 2021 में देश पर कब्जा करने के बाद से लागू की गई सख्त नीतियों को जारी रखने और इस्लामी कानून (शरिया) पर टिके रहने के इरादे जाहिर कर दिए। तालिबान सरकार के शीर्ष प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाबिद के मुताबिक, पश्चिमी फराह प्रांत में जिस वक्त आरोपी को फांसी दी गई उस वक्त वहां सैकड़ों नागरिक मौजूद थे।


देश की तीन सर्वोच्च अदालतों और तालिबान के सर्वोच्च नेता मुल्ला हैबतुल्ला अखुंदजादा द्वारा अनुमोदन के बाद मुजाहिद ने कहा कि सजा देने का फैसले में बहुत सावधानी बरती गई। मारे गए व्यक्ति की पहचान हेरात प्रांत के ताजमीर के रूप में हुई है। उसे पांच साल पहले एक अन्य व्यक्ति की हत्या करने और उसकी मोटरसाइकिल और मोबाइल फोन चोरी करने का दोषी ठहराया गया था। पीड़ित की पहचान पड़ोसी फराह प्रांत के रहने वाले मुस्तफा के रूप में हुई है। प्रवक्ता मुजाहिद ने एक बयान में कहा कि पीड़ित परिवार द्वारा अपराध का आरोप लगाने के बाद तालिबान सुरक्षा बलों ने ताजमीर को गिरफ्तार कर लिया था। उसने हत्या कुबूल भी कर ली है।

पुराने शासन में मिलीं ऐसी कई सजाएं
1990 के दशक के अंत में देश के पिछले तालिबान शासन के दौरान तालिबानी अदालतों में किसी भी अपराध के दोषी को सार्वजनिक रूप से फांसी देना, कोड़े मारना और पत्थर मारकर हत्या करने जैसी सजाओं को अंजाम दिया गया था। उन्होंने चोरी, व्यभिचार या घर से भागने के आरोपी कई पुरुषों और महिलाओं को दंडित करते हुए विभिन्न प्रांतों में सार्वजनिक रूप से कोड़े मारे हैं। लेकिन 2021 में अफगानिस्तान पर कब्जा करने के बाद से तालिबान ने यह पहली कार्रवाई की है।

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00