इलेक्ट्रिक कार: किफायती कीमतों पर भारत में लांच होगी 'टेस्ला', हिंदुस्तान में लगेगा एलन मस्क की कंपनी का प्लांट

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: प्रांजुल श्रीवास्तव Updated Sun, 10 Oct 2021 02:21 PM IST

सार

भारत में टेस्ला की इलेक्ट्रॉनिक कारों की राह देख रहे लोगों के लिए अच्छी खबर है। केंद्रीय मंत्री का कहना है कि टेस्ला से भारत में प्लांट लगाने के लिए वार्ता चल रही है। 
नितिन गडकरी
नितिन गडकरी - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

टेस्ला की इलेक्ट्रिक कारों का उत्पादन जल्द ही भारत में शुरू होने की उम्मीद है। संभव है कि आने वाले कुछ महीनों में एलन मस्क की कंपनी टेस्ला भारत में इलेक्ट्रॉनिक कार भी लांच कर दे। इसके संकेत केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने दिए हैं। एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा है कि भारतीय बाजार में प्रवेश के लिए टेस्ला और सरकार के बीच लगातार बातचीत चल रही है। टेस्ला को भारत में उत्पादन शुरू करने और यहां से कारें अन्य देशों में निर्यात करने के लिए जो मदद चाहिए होगी, उसके लिए सरकार तैयार है। 
विज्ञापन


चीन में बनीं कारों का नहीं होगा भारतीय बाजार में प्रवेश 
एलन मस्क की कंपनी टेस्ला ने अमेरिका से बाहर सबसे पहला प्लांट चीन में लगाया था। यहीं से वह यूरोप व अन्य देशों में इलेक्ट्रॉनिक कारों का निर्यात करती है। टेस्ला चाहती है कि वह चीन में बनाई गई कारों को भारतीय बाजार में बेचे, लेकिन इसके लिए भारत सरकार तैयार नहीं है। नितिन गडकरी ने कहा कि टेस्ला से कहा गया है कि वह भारत में अपना प्लांट लगाए और यहीं से कारें अन्य देशों को निर्यात करे। 


किफायती होगी कीमत 
टेस्ला की कीमत को लेकर लोगों के मन में बहुत से सवाल हैं। लोगों को शंका है कि इलेक्ट्रॉनिक कार की घरेलू भारतीय बाजार में कीमत काफी ज्यादा होगी। इसको लेकर गडकरी का कहना है कि टेस्ला की कारों की कीमत किफायती होगी। वह भारत में ही कारें बनाकर बेचेंगे। यहां के वेंडर्स तैयार हैं। उन्होंने बताया कि कारों की कीमत 35 लाख के आसपास होगी। 

फ्यूचर फ्यूल का भारत करेगा निर्यात 
नितिन गडकरी ने कहा कि सरकार का लक्ष्य है कि आने वाले वर्षों में पेट्रोल-डीजल का आयात बंद करके इसकी निर्भरता खत्म कर दी जाए। उन्होंने कहा कि अब पेट्रोल-डीजल पर कुछ देशों की दादागिरी नहीं चलेगी। हम ऊर्जा के वैकल्पिक श्रोतों पर निर्भरता बढ़ा रहे हैं। ग्रीन हाइड्रोजन फ्यूचर फ्यूल है, आने वाले सालों में हम ग्रीन हाइड्रोजन निर्यात करने की स्थिति में होंगे।

भारतीय कंपनियां कर रहीं रिसर्च 
गडकरी ने कहा कि आने वाले दिनों में भारतीय कंपनियां भी टेस्ला के बराबर आकर खड़ी हो जाएंगी। वे भी रिसर्च कर रही हैं। सुरक्षा व एनर्जी की दृष्टि से कंपनियां बहुत से बदलाव कर रही हैं। भारतीय युवा भी इस बारे में सोच रहे हैं। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें ऑटोमोबाइल समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। ऑटोमोबाइल जगत की अन्य खबरें जैसे लेटेस्ट कार न्यूज़, लेटेस्ट बाइक न्यूज़, सभी कार रिव्यू और बाइक रिव्यू आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00