काम की खबर: जानिए कार के लिए क्यों जरूरी है रेडिएटर फ्लश, क्या हैं इसके फायदे

ऑटो डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: ‌डिंपल अलावाधी Updated Sat, 15 May 2021 11:48 AM IST

सार

रेडिएटर फ्लश को कूलेंट फ्लश भी कहा जाता है। यह कार रेडिएटर साफ करने वाले केमिकल्स का मिश्रण होता है। 
कार के लिए जरूरी है रेडिएटर फ्लश
कार के लिए जरूरी है रेडिएटर फ्लश - फोटो : pixabay
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

अगर आप अपनी कार से लंबी-लंबी ट्रिप करना पसंद करते हैं, तो कार की परफॉरमेंस बनाए रखने के लिए उसकी देखभाल करना भी बेहद जरूरी है। खासतौर पर लंबे सफर पर निकलने से पहले सर्विस सेंटर पर उसकी सर्विस जरूर कराएं। इस दौरान कई लोगों को कार के इंजन के ओवरहीट होने से परेशानियों का सामना करना पड़ता है। कई बार यह इंजन इतना गर्म हो जाता है, कि हादसा होने तक की आशंका हो जाती है। आज हम आपको रेडिएटर फ्लश के बारे में बताने जा रहे हैं, जिससे आप अपनी कार को लंबी ट्रिप्स के दौरान मेंटेन कर सकेंगे।
विज्ञापन


क्या है रेडिएटर फ्लश?
कूलेंट कार इंजन को ठंडा रखकर उसे ज्यादा सक्षम बनाता है। रेडिएटर फ्लश को कूलेंट फ्लश भी कहा जाता है। दरअसल यह कार रेडिएटर साफ करने वाले केमिकल्स का मिश्रण होता है। इससे स्केलिंग और जंग हटाने के लिए भी उपयोग में लाया जाता है। 


कार के लिए क्यों जरूरी है रेडिएटर फ्लश?
  • कार के इंजन की ओवरहीटिंग रेडिएटर फ्लश की पहली निशानी है। यदि कूलेंट का स्तर बरकरार है, लेकिन कार ओवरहीट हो रही है, तो समझ जाइए कि कार दूषित कूलेंट पर चल रही है।
  • यदि कूलेंट लीक हो रहा है, तो भी आपको रेडिएटर फ्लश करवाना होगा। कोई भी लीकेज, रेडिएटर में गंदगी होने की निशानी है।
  • कूलेंट के रंग बदलने पर रेडिएटर फ्लश करवाना जरूरी है।
  • इसके अलावा यदि इंजन से नॉकिंग आ रही है, तो भी आपको रेडिएटर फ्लश करवाना होगा। अगर कूलेंट अपना काम ठीक से नहीं करता है, तो ओवरहीटिंग के साथ नॉकिंग भी संभव है।
  • इंजन के आस-पास किसी गंध का होना भी अच्छी बात नहीं है। इसका मतलब होता है कि इंजन के अंदर कूलेंट लीक हो रहा है। 

कैसे फायदेमंद है रेडिएटर फ्लश? 
  • रेडिएटर फ्लश स्टेलिंग और जंग को हटाने के साथ-साथ पुराने एंटी-फ्रीज अवशेषों को भी हटाने में मदद करता है। यदि आप समय-समय पर नियमित फ्लशिंग करते हैं, तो कार का कूलिंग सिस्टम बढ़िया रहता है और इंजन को ठीक तरह ठंडा रखता है।
  • रेडिएटर फ्लश दूषित कूलेंट में बनी झाग से भी निजात दिलाता है। दूषित कूलेंट में झाग बनने लगे तो नया कूलेंट डालने पर भी झाग बनने की आशंका रहती है। ऐसे में रेडिएटर फ्लश लाभदायक है।
  • रेडिएटर फ्लशिंग न कराने पर वॉटर पंप का फेल होना संभव है। जब कूलेंट दूषित होता है, इसके अवशेष पंप सील पर जम जाते हैं और सीलिंग सतह को घिसने लगते हैं। वॉटर पंप बेयरिंग की जिंदगी बढ़ाने के लिए कूलिंग सिस्टम की फ्लशिंग जरूरी है। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें ऑटोमोबाइल समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। ऑटोमोबाइल जगत की अन्य खबरें जैसे लेटेस्ट कार न्यूज़, लेटेस्ट बाइक न्यूज़, सभी कार रिव्यू और बाइक रिव्यू आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00