विज्ञापन
विज्ञापन
लाभ पंचमी - सौभाग्य वर्धन का दिन,घर बैठे कराएं लक्ष्मी गणेश पूजन एवं लक्ष्मी सहस्रनाम पाठ,मात्र 101/- में,अभी बुक करें
Myjyotish

लाभ पंचमी - सौभाग्य वर्धन का दिन,घर बैठे कराएं लक्ष्मी गणेश पूजन एवं लक्ष्मी सहस्रनाम पाठ,मात्र 101/- में,अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

विवादित बयान: जीतन राम मांझी बोले- राम से कई गुणा बड़े संत थे वाल्मीकि, मर्यादा पुरुषोत्तम काल्पनिक चरित्र

बिहार में एनडीए सरकार के सहयोगी और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने एक बार फिर से विवादित बयान दिया है। उन्होंने बुधवार को दिल्ली में पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की मीटिंग में भगवान वाल्मीकि को श्रद्धांजलि देने के बाद एक बार फिर दोहराया कि भगवान राम एक काल्पनिक चरित्र थे।

हिन्दुस्तान अवाम मोर्चा (HAM) के  प्रमुख मांझी ने कहा कि महाकाव्य रामायण के लेखक महर्षि वाल्मीकि राम से हजारों गुना बड़े थे।' हालांकि, उन्होंने आगे कहा कि यह मेरा निजी विचार है और मैं किसी की भावनाओं को ठेस नहीं पहुंचाना चाहत हूं। 

रामायण को बताया काल्पनिक ग्रंथ
दिल्ली में बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने 'हम' की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में विवादित बयान दिया। इससे पहले पिछले माह सितंबर में मांझी रामायण को लेकर विवादित बयान दे चुके हैं। पटना में मीडिया ने उनसे मध्य प्रदेश की तर्ज पर बिहार के स्कूली पाठ्यक्रम में रामायण को शामिल करने को लेकर सवाल पूछा था। तब हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा के अध्यक्ष ने पाठ्यक्रम में रामायण को शामिल करने की जरूरत तो बताई थी, लेकिन साथ ही कहा था- 'रामायण की कहानी सत्य पर आधारित नहीं है।' श्रीराम महापुरुष थे, वह इस बात को भी नहीं मानते। उन्होंने रामायण को काल्पनिक ग्रंथ बताया था।

कश्मीर में सरकार के प्रयासों के परिणाम नहीं दिख रहे
दिल्ली में अपनी पार्टी हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (सेक्युलर) की राष्ट्रीय कार्यकारिणी को संबोधित करने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए मांझी ने यह भी कहा कि केंद्र सरकार कश्मीर में शांति स्थापित करने के प्रयास कर रही है, लेकिन परिणाम दिखाई नहीं दे रहे हैं।  

इन पांच सांसदों का लिया नाम
मांझी ने आरोप लगाया कि केंद्रीय मंत्री एसपी सिंह बघेल, जय सिद्धेश्वर शिवाचार्य महास्वामी (भाजपा), कांग्रेस सांसद मोहम्मद सादिक, टीएमसी सांसद अपरूपा पोद्दार और निर्दलीय सांसद नवनीत रवि राणा चुनाव लड़ने के बाद एससी के लिए आरक्षित सीटों का प्रतिनिधित्व करते हैं। मांझी ने इस मामले की जांच की मांग की है। 

मांझी ने दावा किया कि अनुसूचित जाति के लोगों को नौकरियों और यहां तक कि स्थानीय निकाय चुनावों में भी 15 से 20 प्रतिशत कोटा लाभ जाली जाति प्रमाण पत्र के आधार पर दूसरों द्वारा हड़प लिया जाता है। ऐसे मामले रुकने चाहिए। 
... और पढ़ें

बिहार पंचायत चुनाव: चौथे चरण का मतदान जारी, 75808 उम्मीदवार आजमा रहे किस्मत, समस्तीपुर में ईवीएम मशीन खराब

बिहार पंचायत चुनाव के चौथे चरण के लिए मतदान जारी है। 36 जिलों के 53 प्रखंडों में वोटिंग हो रही है। सुबह सात बजे से शाम पांच बजे तक वोट डाले जाएंगे। इस चरण में 11 हजार 318 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। पंचायत चुनाव में आज चौथे चरण के 799 ग्राम पंचायतों के लिए मतदान का दिन है। इस चरण में 75808 उम्मीदवार मैदान में हैं। इसमें 35,525 पुरुष और 40283 महिला उम्मीदवार शामिल हैं।

कई जगह ईवीएम खराब 
समस्तीपुर के विभूतिपुर पतैलिया में बूथ संख्या 3, 5, 15 में ईवीएम मशीन खराब होने की जानकारी आ रही है, वहीं खगड़िया में ईवीएम में खराबी के कारण बन्नी पंचायत के बूथ संख्या 11 पर 50 मिनट देरी से शुरू हुआ मतदान।अररिया के नरपतगंज प्रखंड में मतदान केन्द्र संख्या 172 हाजी जाकिर टोला में ईवीएम खराब के कारण मतदान बाधित। वहीं कई शहरों में भारी बारिश के कारण मतदाता बूथ पर नहीं पहुंच पा रहे हैं।

सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद
मतदान के दौरान बूथ पर सुरक्षा के लिए होमगार्ड, बिहार पुलिस और बिहार सशस्त्र पुलिस के जवान तैनात किए गए हैं। चौथे चरण की सीटों पर 22 और 23 अक्तूबर को मतगणना होनी है।

799 ग्राम पंचायतों के मुखिया और सरपंच के लिए चुनाव
चौथे चरण में 799 ग्राम पंचायतों के मुखिया और सरपंच के लिए चुनाव होंगे। 10888 वार्डों में ग्राम पंचायत सदस्य और ग्राम कचहरी के पंच पर चुनाव हो रहा है। जिला परिषद की 119 सीटों पर, जबकि पंचायत समिति की 1093 पदों पर चुनाव के लिए चुनाव कराया जा रहा है।
... और पढ़ें

बिहार: कुलगाम में टारगेट किलिंग के शिकार दो युवकों के शव पटना लाए गए, भाजपा नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में 17 अक्तूबर को टारगेट किलिंग के शिकार हुए बिहार के दो युवकों के शव मंगलवार को पटना लाए गए। पटना एयरपोर्ट पर बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम व सांसद सुशील मोदी और मौजूदा डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।

आतंकियों ने कुलगाम में बिहार के राजा ऋषि देव और जोगिंदर ऋषि देव की गोली मार कर हत्या कर दी थी। दोनों के शव 19 अक्तूबर को विमान से पटना लाए गए। उपमुख्यमंत्री प्रसाद ने इस मौके पर कहा, 'यह हिंदू या मुस्लिम का मामला नहीं है। आतंकवादियों का मकसद क्षेत्र में भय पैदा करना है।' राज्यसभा सदस्य सुशील मोदी ने कहा कि जम्मू कश्मीर प्रशासन ने मृतकों के आश्रितों को 11-11 लाख रुपये और बिहार सरकार तीन-तीन लाख रुपये की सहायता प्रदान करेगी।

पटना से अररिया ले जाए गए शव
एयरपोर्ट से दोनों के शव एंबुलेंस से अररिया ले जाए गए। बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने कहा कि आतंकी बिहारी नहीं बल्कि मजदूरों, हिंदुओं, सिखों और गैर-कश्मीरी लोगों को टारगेट कर रहे हैं। एनआईए ने पूरे मामले को अपने हाथ में ले लिया है। अभी तक ऑपरेशन में 13 आतंकियों को मार गिराया गया है और आगे भी सुरक्षा एजेंसी अपने काम में सफलता हासिल करेगी।

विधायक की मांग, मुफ्त में दी जाए एके-47  
वहीं, बिहार के लोगों की कश्मीर में हत्या पर भाजपा विधायक ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू ने इसे कायराना हरकत बताते हुए कहा कि पाकिस्तान गरीबों को मार रहा है। विधायक ने केंद्र सरकार से कार्रवाई करने की मांग की और सुरक्षा देने की मांग की, ताकि वहां से बिहार के लोगों का पलायन न हो।

साथ ही विधायक ने कहा कि एक जगह रोजगार की व्यवस्था की जाए जहां सुरक्षा भी हो। विधायक ने यह भी कहा कि बाहर से आए लोगों को संविधान में संसोधन कर सरकार हथियार का लाइसेंस दे जिससे वो आतंकियों से अपनी रक्षा कर सकें। विधायक ज्ञानू ने यहां तक कह दिया कि बिहारियों को मुफ्त में एके-47 दें जिससे वो वो खुद अपनी सुरक्षा कर सकें। 
 
... और पढ़ें

बिहार : चिराग पासवान ने 'लालू मुझे गोली मरवा सकते हैं' बयान के लिए सीएम नीतीश कुमार की आलोचना की

लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) के अध्यक्ष चिराग पासवान ने बुधवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की उस बयान के लिए उनकी आलोचना की, जिसमें उन्होंने दावा किया था कि राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव उन्हें गोली मरवा सकते हैं। इस तरह की बातें लोगों में भय का मनोविकार पैदा करती है।
 
लालू प्रसाद ने मंगलवार को एक बयान में कहा था कि वह बिहार में 30 अक्तूबर को होने वाले उपचुनाव में नीतीश कुमार का 'विसर्जन' (राजनीतिक विनाश) सुनिश्चित करेंगे, जिसके बाद जद (यू) नेता नीतीश कुमार ने पलटवार किया कि पूर्व उन्हें गोली मरवा सकते हैं लेकिन कुछ और नहीं कर सकते।
 
यह हास्यास्पद और चिंताजनक है कि बिहार के मुख्यमंत्री, जिनके पास गृह विभाग भी है, इस तरह के बयान दे रहे हैं। जब सीएम ऐसा कहते हैं तो बिहार की जनता कानून-व्यवस्था की स्थिति को अच्छी तरह समझ सकती है। चिराग पासवान ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि बिगड़ती कानून व्यवस्था ने लोगों में भय का माहौल पैदा कर दिया है।

बिहार के जमुई निर्वाचन क्षेत्र के सांसद ने कहा कि इस तरह के बयान देने के बजाय, सीएम को बिहार में बढ़ते अपराध ग्राफ की जांच के लिए ठोस कदम उठाने चाहिए।
... और पढ़ें
चिराग पासवान चिराग पासवान

सोनिया-लालू बातचीत पर सस्पेंस: तेजस्वी का दावा- बात हुई, भक्त चरण दास बोले- दावे में कोई सचाई नहीं

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राजद प्रमुख लालू यादव के बीच फोन पर बातचीत को लेकर दावे-प्रतिदावे किए जा रहे हैं। राजद नेता तेजस्वी यादव ने दावा किया है कि लालू यादव व सोनिया गांधी के बीच बात हुई है। उधर, बिहार कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास ने कहा कि इस दावे में कोई सचाई नहीं है। दरअसल बिहार की दो सीटों पर उपचुनाव हो रहा है। इसमें महागठबंधन में टूटन हो गई है। कांग्रेस व राजद ने अपने अपने प्रत्याशी खड़े किए हैं, जबकि एनडीए ने दोनों सीटें सहयोगी जदयू को दे दी है। 

तेजस्वी ने यह कहा- 
बुधवार को बिहार के तारापुर और कुशेश्वरस्थान विधानसभा क्षेत्रों में चुनावी सभा के लिए जा रहे तेजस्वी यादव ने सोनिया गांधी- लालू यादव के बीच चर्चा की खबरों को लेकर कहा, 'हां, बात हुई है। दोनों नेताओं के बीच बात होती रहती है। उनके बीच शुरू से ही अच्छे संबंध रहे हैं।' तेजस्वी ने यह नहीं बताया कि दोनों शीर्ष नेताओं के बीच गठबंधन टूटने को लेकर क्या बात हुई? तेजस्वी ने इस बारे में कोई जवाब नहीं दिया। 

भक्त चरण दास ने किया खारिज
उधर, बिहार प्रदेश कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास ने कहा है कि सोनिया गांधी व लालू प्रसाद यादव के बीच कोई बातचीत नहीं हुई है। यदि बात होती तो मुझे सूचित किया जाता। इस दावे में कोई सचाई नहीं है। 

लालू यादव ने रैली में यह कहा- 
तारापुर में उपचुनाव रैली में राजद सुप्रीमो लालू यादव ने कहा, 'सोनिया गांधी से हमारी बातचीत हुई है। सोनिया जी के स्वास्थ्य के बारे में मैंने जानकारी ली। हमने उनसे विपक्ष के सभी नेताओं की एक बैठक बुलाने की मांग की है।'

नीतीश के बयान को लेकर तेजस्वी का निशाना
मंगलवार को बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने लालू प्रसाद यादव के उस बयान पर पलटवार किया था, जिसमें लालू यादव ने कहा था, 'हम नीतीश सरकार का विसर्जन करने आए हैं'। इसके जवाब में नीतीश कुमार ने कहा था, 'लालू यादव उनको गोली ही मरवा दें।' इस पर तेजस्वी ने कहा, 'जिसकी जैसी दृष्टि, उसको वैसी सृष्टि नजर आती है।'
... और पढ़ें

पटना गांधी मैदान ब्लास्ट केस: नौ आरोपी दोषी करार और एक रिहा, आठ साल पहले मोदी की रैली में हुए थे धमाके

बिहार की राजधानी पटना के गांधी मैदान ब्लास्ट मामले में  एनआईए की विशेष अदालत(पटना) ने आज फैसला सुना दिया है। इसके तहत कोर्ट ने 10 में से 9 आरोपियों को दोषी करार दिया है, जबकि एक आरोपी को सबूत के अभाव में बरी कर दिया है। बता दें कि आठ साल पहले आज के ही दिन वर्ष 2013 में (27 अक्तूबर) पटना के गांधी मैदान में पीएम मोदी की रैली में सीरियल ब्लास्ट हुए थे। इस धमाके में सात लोगों की जान चली गई थी और 90 लोग घायल हो गए थे। हालांकि इन धमाकों के बाबजूद रैली भी हुई और नरेंद्र मोदी ने इसे संबोधित भी किया था। इस मामले में इंडियन मुजाहिदीन (आईएम) के नौ संदिग्धों और स्टूडेंट्स इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया (सिमी) के एक संदिग्ध को आरोपी बनाया गया था।

नाबालिग आरोपी हो चुके हैं बरी
आरोपियों की पहचान नुमान अंसारी, हैदर अली उर्फ ब्लैक ब्यूटी, मोहम्मद मुजीबुल्लाह अंसारी, उमर सिद्दीकी, अजहरुद्दीन कुरैशी, अहमद हुसैन, फकरुद्दीन, मोहम्मद इफ्तेखार आलम और एक नाबालिग के रूप में हुई थी। वहीं नाबालिग आरोपी को 12 अक्तूबर, 2017 को किशोर न्याय बोर्ड ने कई विस्फोटों में शामिल होने का दोषी पाए जाने के बाद तीन साल की सजा सुनाई थी।

इंडियन मुजाहिद्दीन ने कराए थे धमाके
ये धमाके इंडियन मुजाहिद्दीन ने कराए थे। मामले की गंभीरता को देखते हुए इसकी जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी एनआईए(NIA) को सौंपी गई थी। एनआईए ने इस मामले में 7 आरोपियों को गिरफ्तार किया था। संभावना जताई जा रही है कि इस केस में सभी अभियुक्तों को दोषी ठहराया जा सकता है।

18 बम प्लांट किए गए थे
बिहार पुलिस के मुताबिक रैली के दिन शहर में अलग-अलग जगह कुल 18 बम प्लांट किए गए थे। इनमें से पांच बम रेलवे स्टेशन परिसर में थे, जिसमें से एक फट था और एक को निष्क्रिय किया गया था। पुलिस को स्टेशन परिसर से तीन और बम भी मिले थे।
... और पढ़ें

सियासी पिच पर फिर लालू: सोनिया ने लगाया राजद अध्यक्ष को फोन, दोस्ती में आई दरार पाटने की कोशिश

बिहार में महगठबंधन में बढ़ते विवाद के बीच एक बड़ी खबर सामने आई है। बताया जा रहा है कि कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मंगलवार देर शाम राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव से बात कर कई मुद्दों पर चर्चा की।सोनिया गांधी ने लालू से यह बात कल दिल्ली में पार्टी महासचिवों, प्रदेश प्रभारियों और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्षों की बैठक के बाद की थी। बातचीत के दौरान दोनों नेताओं ने एक दूसरे का हाल समाचार जाना।

सोनिया ने मुझसे कुशलक्षेम और स्वास्थ के बारे में पूछा: लालू यादव
सोनिया गांधी के फोन के बाद लालू यादव ने भी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि मैंने सोनिया गांधी से बात की। उन्होंने मुझसे मेरी कुशलक्षेम और स्वास्थ के बारे में पूछा। मैंने कहा, मैं ठीक हूं, आपकी पार्टी एक अखिल भारतीय पार्टी है इसलिए सभी समान विचारधारा वाले लोगों और पार्टियों को एक मजबूत विकल्प (सत्तारूढ़ पार्टी) बनाने के लिए बैठक बुलाने की जरूरत है।

लालू यादव द्वारा भक्त चरण दास पर टिप्पणी के बाद बढ़ा था विवाद 
दरअसल 24 अक्तूबर को लालू यादव ने दिल्ली से पटना के लिए निकलते समय भक्त चरण दास को 'भकचोन्हर' बोल दिया था। इस टिप्पणी के बाद से महागठबंधन में कड़वाहट आ गई है। कांग्रेस के ही कई नेता ने लालू यादव को दलित विरोधी करार दे दिया। कांग्रेस ने लालू यादव से शब्द वापस लेने की मांग की थी। कांग्रेस नेता और पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार ने भी लालू यादव की टिप्पणी पर आपत्ति जताई थी। उन्होंने कहा था कि एक बड़े नेता ने इस तरह के शब्दों का  इस्तेमाल कर देश और बिहार के दलित समुदाय के सम्मान को ठेस पहुंचाई है।

कांग्रेस के पार्टी महासचिवों, प्रदेश प्रभारियों और प्रदेश अध्यक्षों की बैठक  
इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की एक अहम बैठक में मंगलवार को पार्टी के भीतर अनुशासन एवं एकजुटता बनाए रखने पर जोर दिया और कहा कि कांग्रेस में राज्य स्तर के नेताओं के बीच नीतिगत मुद्दों पर स्पष्टता एवं समन्वय का अभाव दिखता है।
... और पढ़ें

बिहार पंचायत चुनाव: पांचवें चरण की मतगणना जारी, कई सीटों पर परिणाम घोषित

सोनिया गांधी और लालू यादव
बिहार पंचायत चुनाव के पांचवें चरण की मतगणना सुबह 8 बजे से जारी है। कई सीटों के परिणाम भी आने लगे हैं। बक्सर के केसठ प्रखंड की रामपुर पंचायत से निवर्तमान मुखिया अनामिका पांडेय ने जीत हासिल कर ली है। वहीं, भोजपुर की ठकुरी पंचायत से मोनिका देवी मुखिया पद का चुनाव जीत गई हैं।मतगणना केंद्रों पर  प्रत्याशी और समर्थकों की भारी भीड़ है।

इधर मतगणना केंद्रों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं चुनाव आयोग से प्राप्त पास वालों को ही केंद्रों के अंदर जाने की अनुमति है।  मुखिया और सरपंच के 845 पद, जिला परिषद सदस्य के 124 पद, पंचायत समिति सदस्य के 1171, ग्राम पंचायत सदस्य और ग्राम कचहरी पंच के 11553 पद का रिजल्ट जारी होना है। 

शुरूआती जानकारी के मुताबिक, मुजफ्फरपुर के कुढ़नी में सुबह छह बजे से ही प्रत्याशी और समर्थकों की भारी भीड़ उमड़ पड़ी जिसके बाद पुलिस जवानों को लाठीचार्ज करना पड़ा। वहीं, बिहियां प्रखंड में BDO ने मतदानकर्मी से दुर्व्यव्हार करने की घटना के बाद फिलहाल मतगणना शुरू नहीं हो पाई है। 

पंचायत चुनाव अपडेट्स
  •  बक्सर में दो प्रखंडों की 16 पंचायतों में मतगणना चल रही है. इसमें सबसे पहले केसठ प्रखंड की 3 पंचायतों की मतगणना शुरू की गई है।
  •  पूर्वी चंपारण (मोतिहारी) के मतगणना केंद्र डायट में मतगणना का काम सुबह से जारी है। 5339 प्रत्याशियो के भाग्य का फैसला होना है। 
  • खगड़िया जिले के सदर प्रखंड में सातवें चरण में 12 पंचायतों में होने वाले मतदान को लेकर नामांकन के अंतिम दिन कुल 254 प्रत्याशियों ने विभिन्न पदों के लिए नामांकन पर्चा दाखिल किया
  •  मुजफ्फरपुर जिले के औराई प्रखंड में 11 वें चरण में होने वाले चुनाव को लेकर नामांकन करने का आज पहला दिन है। पहले दिन जिला परिषद, मुखिया, सरपंच पद के लिए कई प्रत्याशियों ने नामांकन दाखिल किया। रतवारा-बिंदवारा पश्चिमी से मुखिया पद के प्रत्याशी अब्बु बकर ने पर्चा भरा। 

38 जिलों के 58 प्रखंडों में हुई थी वोटिंग
बता दें कि पांचवें चरण का मतदान रविवार को संपन्न हुआ था। 38 जिलों के 58 प्रखंडों में मतदाताओं ने मताधिकार का प्रयोग किया था। इस चरण के तहत मुखिया और सरपंच पद की 845 सीटों और जिला परिषद सदस्य की 124 सीटों के लिए वोट डाले गए। राज्य निर्वाचन आयोग के मुताबिक, 60.79% वोटिंग हुई. महिलाओं ने 59.54% और पुरुषों ने 62.04% मतदान किया। वहीं, सबसे अधिक पूर्वी चंपारण में 82% मतदान हुआ था, जबकि सबसे कम मुंगेर में 49.07% वोट डाले गए थे। मतदान से पहले और उस दौरान बाधा पहुंचाने के आरोप में अलग-अलग क्षेत्रों से 276 लोगों को गिरफ्तार किया गया था और 48 वाहन जब्त भी किए गए थे। 
 
... और पढ़ें

लालू का वार: मैं वापस आ गया हूं...अब मचेगी भगदड़, बिहार में बनाएंगे सरकार

तीन साल बाद बिहार लौटे राजद प्रमुख लालू यादव अपने पहले वाले सियासी अंदाज में लौट चुके हैं। इसकी शुरुआत उन्होंने पटना पहुंचने से पहले दिल्ली में बिहार कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास के खिलाफ टिप्पणी से कर दी थी। मंगलवार को लालू यादव ने सुबह-सुबह ट्वीट कर केंद्र, राज्य और कांग्रेस पर हमला बोला। लालू यादव ने कहा कि देश की जनता विकल्प चाहती है और इसमें सबसे ज्यादा आगे कांग्रेस पार्टी की भूमिका होनी चाहिए। कांग्रेस की भूमिका राष्ट्रीय स्तर पर होनी चाहिए। कांग्रेस पार्टी के विषय में जो लोग बोलते हैं, किसी ने कांग्रेस पार्टी की हमसे ज्यादा मदद की है क्या? राजद मुखिया लालू यादव ने महंगाई और पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि देश में अब घी से महंगा तेल बिकेगा। 

नीतीश कुमार पर भड़के लालू यादव
राजद प्रमुख लालू यादव एक के बाद एक ट्वीट कर एनडीए सरकार पर निशाना साधा। लालू यादव ने दूसरे ट्वीट में लिखा "नीतीश कुमार का गुणगान किया जा रहा है। बीजेपी और पीएम मोदी को सब पता है। हर कोई नारा लगा रहा है कि नीतीश कुमार जैसा प्रधानमंत्री होना चाहिए। उन्हें पीएम मटेरियल बताया जा रहा है। ये अहंकार और लालच है।'




दोनों सीट पर राजद की जीत पक्की- लालू यादव
 कुशेश्वर स्थान और तारापुर में होने वाले उपचुनाव में रैली करने को लेकर लालू यादव ने कहा कि वह बुधवार (27 अक्तूबर) को दोनों विधानसभा क्षेत्रों का दौरा करेंगे। उन्होंने ट्वीट किया मैं अभी बीमारी में चल रहा था, लेकिन बिहारवासियों का मोह मुझे खींच कर लाया कि ऐसा महसूस हुआ कि वो लोग मुझे बुला रहे हैं इसलिए मैं निरोग हो गया।  उन्होंने कहा कि इन दोनों सीटों का बहुत महत्व है, निश्चित रूप से इनके यहां भगदड़ मचेगी और हम लोग सरकार बनाएंगे।

तेजस्वी ने पार्टी को संभाला
लालू यादव ने भाजपा-जदयू पर तंज कसते हुए कहा कि बेईमानी से ये कब तक टिकेंगे? हम दोनों सीटों पर शानदार वोट से जीत रहे हैं। लालू यादव ने अपने छोटे बेटे की भी प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि मेरी गैरमजूदगी में तेजस्वी ने पार्टी को संभाला और अच्छा काम किया । 


... और पढ़ें

बिहार: पटना की मॉडल मोना राय की हत्या के लिए दी गई थी सुपारी, आरा से पकड़ा गया 'शार्पशूटर' भीम यादव

बिहार की राजधानी पटना में 12 अक्तूबर को जानी मानी मॉडल अनिता देवी उर्फ मोना राय हत्याकांड मामले में पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। दरअसल, इस मामले में पुलिस ने भोजपुर से एक सुपारी किलर को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपी का नाम भीम यादव है और वह भोजपुर जिले के भगवतीपुर उतवंदनगर का रहने वाला है। पुलिस सूत्रों के अनुसार पांच लाख रुपये में सुपारी ली गई थी, उसमें भीम यादव को 70 हजार रुपये मिली थी। पुलिस के अनुसार इस मामले अब दूसरे आरोपी की भी तलाश की जा रही है।

बिल्डर और उसके रिश्तेदारों पर शक
पुलिस को इस मामले में एक बिल्डर और उसके रिश्तेदारों पर शक है। हालांकि अभी इस मामले में  हत्या का कारण सामने आना बाकी है। पुलिस, प्रेम प्रसंग और पैसे के लेन देन के एंगल से जांच कर रही है। शार्पशूटर के पकड़े जाने के बाद से उम्मीद है कि जल्द ही मुख्य आरोपी पकड़ा जाएगा।

नवरात्र में अपराधियों ने उनके घर के सामने ही गोली मार दी थी
बिहार की राजधानी पटना की जानी मानी मॉडल मोना राय की इलाज के दौरान मौत हो गई थी। मोना राय को पिछले दिनों नवरात्र में अपराधियों ने उनके घर के सामने ही गोली मार दी थी। घटना के बाद से वह इंदिरा गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस (IGIMS) में भर्ती थीं।  

बेटी के सामने बदमाशों ने मारी थी गोली
राजीव नगर थाना क्षेत्र के रामनगरी बसंत कॉलोनी की रहने वाली 36 साल की मोना राय पेशे से मॉडल थीं और शहर में उनका अच्छा खासा नाम था। बदमाशों ने अनीता को उनकी 12 साल की बेटी के सामने उनके दरवाजे पर ही गोली मारी थी। घटना उस वक्त हुई जब वे मंदिर से स्कूटी से घर पहुंची थीं। मॉडल 2020 में मिसेज बिहार की प्रतिभागी रही थीं। वहीं उनके पति सुमन फोटो कॉपी की दुकान चलाते हैं।
... और पढ़ें

तंज: अब कन्हैया कुमार पर बरसे लालू यादव के 'लाल', तेज प्रताप बोले- सुधर जाइए नहीं तो जनता सुधार देगी

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव आखिरकार तीन साल बाद 24 अक्तूबर (रविवार) को बिहार पहुंच गए। डॉक्टरों की सलाह के बाद लालू यादव दो सीटों पर होने वाले उपचुनाव को लेकर प्रचार कर सकते हैं। इधर लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप का रंग पल-पल बदल रहा है। अब तेज प्रताप यादव ने कांग्रेस में शामिल कन्हैया कुमार पर सीधा-सीधा हमला बोला है। देर रात उन्होंने ट्वीट कर कन्हैया कुमार को आड़े हाथ लिया।


तेज प्रताप ने ट्वीट किया "भारत तेरे टुकड़े होंगे ).... कहने वाले लोग आज लोगों को देशभक्ति समझा रहे हैं जिनकी फोटो बीजेपी के पोस्टर के साथ वायरल होती है उन्हें भी कांग्रेस ज्वाइन कराती हैं गांधी के नाम पर छल करने वाले लोग गांधीवाद का पाठ पढ़ाते हैं! या तो सुधर जाइए नहीं तो जनता अपने वोट के जरिए सुधार देगी।  

तेज प्रताप को मनाने के लिए देर रात लालू उनके आवास पहुंचे
रविवार को लालू यादव के पटना पहुंचने पर तेज प्रताप ने नया ड्रामा शुरू किया था। तेज प्रताप अपने सरकारी आवास के बाहर धरना दिया और छात्र जनशक्ति परिषद के कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर खूब नारेबाजी की। तेज प्रताप के गुस्से को देखते हुए देर रात लालू प्रसाद और राबड़ी देवी उनके आवास पर पहंचे। तब जाकर उनका गुस्सा शांत हुआ। तेज प्रताप यादव ने लालू प्रसाद का पैर पानी से धोया। इस बीच कुछ देर तक कार में ही लालू यादव बैठे रहे और फिर वापस राबड़ी आवास चले गए। वापस जाने पर तेज प्रताप यादव ने कहा कि यह उन लोगों पर तमाचा है, जो हमारे परिवार को तोड़ना चाहते हैं।

तेज और तेजस्वी के बीच जारी है जंग
दोनों भाइयों के बीच विवाद अब सड़क पर उतर गया है। तेजप्रताप यादव ने तेजस्वी यादव पर कहा कि वे दूध पीते बच्चे नहीं हैं। उन्हें समझना चाहिए कि हरियाणा के संजय यादव को यहां कोई पहचानता नहीं है। इसके बावजूद ऐसे लोगों को साथ लेकर वे चल रहे हैं। ऐसे लोगों को साथ लेकर चलेंगे तो कैसे काम चलेगा? उन्हें सबको साथ लेकर चलना पड़ेगा। कुछ लोगों ने पार्टी को हाईजैक कर लिया और बर्बाद करने का काम कर रहे हैं। इस तरह का रवैया रहा तो जिसको हम अपना अर्जुन कहते हैं, वह गद्दी पर कभी बैठ नहीं पाएगा। 

लालू यादव का कांग्रेस पर हमला 
दिल्ली से पटना रवाना होने से पहले लालू यादव ने बिहार में कांग्रेस-राजद गठबंधन टूटने वाले सवाल पर कहा कि कांग्रेस का गठबंधन क्या है। क्या जमानत जब्त होने के लिए उनके साथ गठबंधन में रहे। इतना ही नहीं लालू यादव ने बिहार कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास पर भी निशाना साधा। 

लालू यादव का पटना में जोरदार स्वागत
राजद प्रमुख हरी टोपी और हरा गमछा लगाए एयरपोर्ट से बाहर निकले, जहां उनका जोरदार स्वागत हुआ। इस दौरान उनके दोनों बेटे तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव भी आगुवानी करने एयरपोर्ट पहुंचे थे। लालू यादव का स्वागत करने और देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग जुट गए थे। पटना एयरपोर्ट से लेकर राबड़ी देवी के आवास तक सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे। 10 सर्कुलर रोड स्थित राबड़ी आवास पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है।

 
... और पढ़ें

बिहार चले लालू: महागठबंधन टूटने पर राजद अध्यक्ष ने तोड़ी चुप्पी, कांग्रेस प्रभारी भक्तचरण को बताया 'भकचोनहर'

करीब तीन साल बाद राष्ट्रीय जनता दल के प्रमुख लालू प्रसाद आज (रविवार) पटना लौट रहे हैं। दिल्ली से पटना के लिए रवाना होने से पहले लालू यादव ने कहा कि कांग्रेस का क्या गठबंधन है। क्या सबकुछ कांग्रेस के भरोसे छोड़ दें।बिहार में कांग्रेस के साथ पार्टी के गठबंधन तोड़ने वाले सवाल पर लालू यादव ने कहा ''कांग्रेस का गठबंधन क्या है? क्या हम सब कुछ कांग्रेस के भरोसे छोड़ देते?  अपनी पार्टी की जमानत जब्त होने के लिए उनके साथ गठबंधन करके रखते?'' बिहार में दो विधानसभा सीट पर उपचुनाव होना है। इसी सिलसिले में लालू यादव तीन साल बाद बिहार पहुंच रहे हैं। कयास लगाया जा रहा है कि राजद प्रमुख लालू यादव कुशेश्वरस्थान और तारापुर में राजद प्रत्याशी के लिए प्रचार करेंगे।  

लालू ने कांग्रेस के बिहार प्रभारी भक्त चरण दास पर हमला बोलते हुए  कहा कि भक्त चरण दास भकचोनहर दास है। गौरतलब है कि दो दिन पहले बिहार कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास ने राजद पर बड़ा हमला बोला था। उन्होंने कहा था कि राजद का पर्दे के पीछे से भाजपा से मिलीभगत है। अब बिहार में कांग्रेस महागठबंधन का हिस्सा नहीं है। अगले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस सभी चालीस सीटों पर चुनाव लड़ेगी।  

स्वास्थ्य में सुधार के बाद लालू यादव दिल्ली से पटना हवाई अड्डा पहुंचेंगे। पटना हवाई अड्डे पर राजद कार्यकर्ता उनका स्वागत करेंगे। कयास लगाया जा रहा है कि लालू यादव दो विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव में प्रचार करेंगे। हालांकि, दो विधानसभा क्षेत्रों में हो रहे उपचुनाव के लिए प्रचार में जाने को लेकर संशय बना हुआ है। लालू यादव की तबीयत में सुधार तो जरूर है, लेकिन उनके आने के बाद डॉक्टरों की सलाह पर ही आगे का कार्यक्रम तय होगा।




जमानत पर जेल से बाहर आए लालू यादव
चारा घोटाले मामले में रांची जेल में सजा काट रहे लालू यादव को इसी साल अप्रैल में जमानत मिली है। बीपी, शूगर समेत अन्य समस्याओं को लेकर उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं चल रहा है, लेकिन पिछले कुछ समय से  उनकी सेहत में सुधार है। लालू यादव दिल्ली में बड़ी बेटी मीसा भारती के आवास पर रह रहे हैं। लालू प्रसाद पटना से 23 दिसम्बर 2017 को गए थे।

तेज प्रताप के विद्रोही तेवर से परेशान हैं लालू यादव
लालू प्रसाद के पटना आने का कार्यक्रम पहले से ही तय था। उन्हें 22 या 23 अक्टूबर को पटना आना था। 25 और 27 को वह कुशेश्वरस्थान और तारापुर में पार्टी प्रत्याशियों के लिए प्रचार कर सकते हैं। पिछले दिनों  उनके आने का कार्यक्रम तय होने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी पटना पहुंच गई थीं, लेकिन इसी बीच में राबड़ी फिर दिल्ली लौट गईं। जाते समय उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद की तबीयत ठीक नहीं है, अभी वह पटना नहीं आएंगे। जिसके बाद कयास लगाया जा रहा था कि तेजप्रताप के पार्टी के खिलाफ विद्रोही तेवर के कारण वह पटना नहीं आ रहे हैं। राबड़ी देवी पटना आईं तो सबसे पहले तेजप्रताप के आवास पर ही गईं, लेकिन तेज उनसे मिले बिना ही घर से निकल गये। उसके दो दिन बाद ही राबड़ी देवी फिर दिल्ली लौट गईं। 

लालू यादव के कड़े रुख से तेज प्रताप हुए नरम
पार्टी सूत्रों की मानें तो लालू यादव ने तेज प्रताप के बागी तेवर को देखते हुए कड़ी फटकार लगाई है, जिसके बाद तेज प्रताप नरम पड़े हैं। लालू यादव ने साफ कर दिया कि पार्टी में अनुशासनहिनता बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। लालू प्रसाद ने नाम लिए बगैर कहा कि जो पार्टी के खिलाफ काम करेगा उसे दल से बाहर जाना होगा। 
... और पढ़ें

बिहार: जिम में जमकर पसीना बहा रहे लालू के बड़े लाल तेज प्रताप, तस्वीर साझा कर दिया खास संदेश

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव अपने अलग अंदाज के लिए जाने जाते हैं। इस बीच उन्होंने जिम में पसीना बहाते हुए एक तस्वीर साझा की है, जिसके जरिए उन्होंने एक खास संदेश भी दिया है। उन्होंने फोटो के कैप्शन में लिखा है, 'यदि आपको समय नहीं मिलता है, यदि आप काम नहीं करते हैं, तो आपको परिणाम नहीं मिलता है।' दरअसल, इन दिनों तेज प्रताप अपनी ही पार्टी से बगावती सुर अपनाए हुए हैं। तेज अपने ही छोटे भाई तेजस्वी से नाराज चल रहे हैं। इससे पहले तेज प्रताप का नया हेयर स्टाइल भी सामने आया था। उन्होंने खुद अपने हेयर स्टाइल की तस्वीरें साझा करते हुए अपने विरोधियों पर तंज कसा था। तेज प्रताप ने लिखा था ति तुम मजाक उड़ाओ, हम तुम्हारी धज्जियां उड़ा देंगे। तेज प्रताप के इस पोस्ट पर लोग कमेंट के जरिए उनको नसीहत देते हुए भी नजर आ रहे हैं कि पार्टी और भाई के विरोध में उन्हें बगावती तेवर अख्तियार नहीं करना चाहिए।
 

लालू यादव तेज प्रताप के बागी व आक्रमक तेवर से परेशान हैं
पार्टी सूत्रों की मानें तो लालू यादव ने तेज प्रताप के बागी तेवर को देखते हुए कड़ी फटकार लगाई है, जिसके बाद तेज प्रताप नरम पड़े हैं। लालू यादव ने साफ कर दिया कि पार्टी में अनुशासनहिनता बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। लालू प्रसाद ने नाम लिए बगैर कहा कि जो पार्टी के खिलाफ काम करेगा उसे दल से बाहर जाना होगा। 
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00