लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Business ›   Banking Beema ›   IRDA to investigate the role of life insurance Agent Consumer Disputes Redressal Commission Directed Insurance Regulatory

NCDRC: जीवन बीमा एजेंट की भूमिका की पड़ताल करे इरडा, उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग ने बीमा नियामक को दिया निर्देश

एजेंसी, नई दिल्ली। Published by: देव कश्यप Updated Mon, 13 Jun 2022 06:59 AM IST
सार

एचडीएफसी स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड की अपील पर डॉ. एसएम कांटीकर और सदस्य बिनॉय कुमार की पीठ ने अपने फैसले में कहा कि इससे बीमित व्यक्ति को अनावश्यक मानसिक पीड़ा और खर्च से बचाने में काफी मदद मिलेगी।

इरडा
इरडा - फोटो : social media
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

राष्ट्रीय उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग (एनसीडीआरसी) ने इरडा को जीवन बीमा पॉलिसी बेचने वाले एजेंट की भूमिका की पड़ताल करने का निर्देश दिया है। साथ ही कहा, वह नए निर्देश जारी करने के साथ प्रस्ताव प्रपत्रों को संशोधित करे ताकि ग्राहकों के ध्यान में स्पष्ट रूप से लाया जा सके कि चिकित्सा शर्तों का खुलासा न करने से बीमा क्लेम अस्वीकार हो जाएगा।



एचडीएफसी स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड की अपील पर डॉ. एसएम कांटीकर और सदस्य बिनॉय कुमार की पीठ ने अपने फैसले में कहा कि इससे बीमित व्यक्ति को अनावश्यक मानसिक पीड़ा और खर्च से बचाने में काफी मदद मिलेगी। इस अपील में जयपुर स्थित राज्य उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग के उस आदेश को चुनौती दी गई थी, जिसमें उपभोक्ता के पक्ष में फैसला सुनाया गया था। शीर्ष उपभोक्ता आयोग ने कहा कि इस मामले में प्रस्ताव प्रपत्र में तथ्यों को छिपाने से शिकायत करने वाले बीमित व्यक्ति का मामला खराब हुआ है।


शिकायतकर्ता की अपील
शिकायतकर्ता ने अपने आरोप में कहा कि बीमा कंपनी के एजेंट ने उसका प्रस्ताव फॉर्म भरते समय उसे पूरी तरह गुमराह किया। इसके साथ ही उसने उसे भरोसे में लेकर पूरा फॉर्म भरे बिना ही खाली स्थान पर हस्ताक्षर करा लिए थे।

बीमा कंपनी की दलील

  • बीमा कंपनी ने दलील में कहा था कि संबंधित व्यक्ति (मृतक) ने अपनी बीमारियों के बारे में जानकारी छिपाकर जीवन बीमा पॉलिसी प्राप्त की। वह बीमारियों से 2008 से पीड़ित था।
  • प्रतिवादी/शिकायतकर्ता के वकील ने कहा, बीमा कंपनी साबित करने में विफल रही कि बीमारियों ने बीमित व्यक्ति की मृत्यु में भूमिका निभाई। इसलिए क्लेम अस्वीकार करने का कोई आधार नहीं था।


एजेंट की जिम्मेदारियों पर नए निर्देश जारी करने की सलाह
एनसीडीआरसी ने अपील को अनुमति देते हुए राज्य उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग के आदेश को रद्द कर दिया। साथ ही भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (इरडा) को सलाह दिया कि वह जीवन बीमा पॉलिसी करते वक्त एजेंट के आचरण व जिम्मेदारियों पर नए दिशा-निर्देश जारी करे।

विज्ञापन

निर्देश में इसका जिक्र हो कि एजेंट प्रस्ताव फॉर्म भरते वक्त ग्राहक को सभी बीमारियों के खुलासे के लिए कहें। यह बताएं कि बीमारियों का खुलासा नहीं करने की स्थिति में उसके क्या परिणाम होंगे? प्रस्ताव फॉर्म को भी इसके उपयुक्त रूप से संशोधित किया जा सकता है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और Budget 2022 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00