Hindi News ›   Business ›   Business Diary ›   cost of 21 days lockdown on India may be 7 to 8 lakh crore rupees

भारत को कितना महंगा पड़ा 21 दिनों का लॉकडाउन? हो सकता है इतने लाख-करोड़ रुपये का नुकसान

पीटीआई, नई दिल्ली Published by: ‌डिंपल अलवधी Updated Tue, 14 Apr 2020 10:52 AM IST
कोरोना वायरस का अर्थव्यवस्था पर प्रभाव
कोरोना वायरस का अर्थव्यवस्था पर प्रभाव - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

भारत में लॉकडाउन को तीन मई तक आगे बढ़ा दिया गया है। देश में कोरोना वायरस महामारी को फैलने से रोकने के लिए 21 दिनों के लॉकडाउन के दौरान अर्थव्यवस्था को चोट लगी है। विश्लेषकों और उद्योग मंडलों ने यह अनुमान जताया है कि 21 दिनों के लॉकडाउन से भारत की लड़खड़ाती अर्थव्यवस्था पर सात से आठ लाख करोड़ रुपये का असर पड़ सकता है। 

विज्ञापन


लॉकडाउन में ज्यादातर कारखाने और व्यवसाय बंद रहे। भारतीय रेलवे से लेकर उड़ानें तक निलंबित हैं। साथ ही वाहनों और लोगों की आवाजाही को भी प्रतिबंधित किया गया है। 


देश की आर्थिक गतिविधियां ठप
25 मार्च से 21 दिनों के लॉकडाउन से 70 फीसदी आर्थिक गतिविधियां, निवेश, निर्यात और जरूरी वस्तुओं को छोड़कर अन्य उत्पादों की खपत थम गई है। सिर्फ कृषि, खनन, उपयोगी सेवाएं, कुछ वित्तीय और आईटी सेवाएं और जन सेवाओं को ही काम करने की अनुमति मिली है। 

गुप्ता ने कहा था कि, ‘अगर लॉकाउन को हटाया जाता है तो भी ट्रकों को कामकाज के सामान्य स्तर पर आने में कम-से-कम दो से तीने महीने का समय लगेगा।’ एआईएमटीसी 93 लाख ट्रांसपोर्टर और ट्रक चालकों का प्रतिनिधित्व करता हैं, वहीं रीयल्टी कंपनियों के संगठन नेशनल रीयल एस्टेट डिवेलपमेंट काउंसिल (एनआरईडीसी) के अनुसार क्षेत्र में एक लाख करोड़ रुपये के नुकसान का अनुमान जताया है। एनआरईडीसी के अध्यक्ष निरंजन हीरानंदानी से कहा, ‘मेरे हिसाब से अखिल भारतीय स्तर पर एक लाख करोड़ रुपये का नुकसान हो सकता है।’ 

इस कारोबार को हुआ दो लाख करोड़ रुपये का घाटा 
वहीं व्यापारियों के संगठन कैट का अनुमान है कि मार्च के दूसरे पखवाड़े में कोरोना वायरस महामारी और उसकी रोकथाम के लिए देशव्यापी बंद से खुदरा कारोबार में 30 अरब डॉलर का भारी नुकसान हुआ है। देश के खुदरा क्षेत्र में सात करोड़ छोटे, मझोले और बड़े कारोबारी हैं। इस बीच, कई अंतरराष्ट्रीय एजेंसियों ने 2020-21 के लिए देश की आर्थिक वृद्धि दर के अनुमान को कम किया है। 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और Budget 2022 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00