अड़चन: पेटीएम IPO पर संकट, अचानक सह-संस्थापक बनकर सामने आए पूर्व डायरेक्टर

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: ‌डिंपल अलावाधी Updated Mon, 23 Aug 2021 04:20 PM IST

सार

पेटीएम के एक पूर्व निदेशक खुद को कंपनी का सह-संस्थापक बताते हुए सामने आए हैं। ऐसे में कंपनी के आईपीओ से पहले इस पर ग्रहण लगता दिख रहा है।
paytm
paytm - फोटो : amarujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

इस साल आईपीओ बाजार से निवेशकों को बंपर मुनाफा हुआ है। वर्ष 2021 आईपीओ वर्ष बन सकता है। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के एक लेख के अनुसार, घरेलू यूनिकॉर्न उद्यमों के प्रारंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के साथ पूंजी बाजार में उतरने से घरेलू शेयर बाजारों में तेजी है। अब निवेशकों को डिजिटल भुगतान और वित्तीय सेवा प्रदाता कंपनी पेटीएम के आईपीओ का इंतजा है। लेकिन आईपीओ की तैयारी कर रही पेटीएम पर संकट का बादल मंडरा रहा है। अचानक कंपनी के एक पूर्व निदेशक खुद को कंपनी का सह-संस्थापक बताते हुए सामने आए हैं। अशोक कुमार सक्सेना ने बाजार नियामक सेबी से कंपनी के आईपीओ पर रोक लगाने की भी मांग की है। सक्सेना ने पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराई थी। दिल्ली की एक अदालत ने पुलिस को इस मामले की जांच पूरी करने के लिए तीन सप्ताह का समय दिया है।
विज्ञापन


क्या है मामला?
कंपनी के सह-संस्थापक होने का दावा करने वाले 71 साल के अशोक कुमार सक्सेना का कहना है कि उन्होंने दो दशक पहले कंपनी में 27,500 डॉलर का निवेश किया था, लेकिन उन्हें कभी भी शेयर नहीं मिले। दिल्ली डिस्ट्रिक्ट कोर्ट जज अनिमेश कुमार ने पुलिस को तीन हफ्तों में फाइनल रिपोर्ट देने को कहा है। उन्होंने कहा कि पुलिस को जल्दी से जल्दी इस मामले की जांच पूरी करनी चाहिए। मामले की अगली सुनवाई 13 सितंबर को होगी।


मालूम हो कि पेटीएम ने आईपीओ की मंजूरी के लिए जुलाई में ही सेबी के पास ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (DRHP) जमा कराया है। किसी भी कंपनी के लिए आईपीओ लाने के लिए डीआरएचपी फाइल करना जरूरी होता है। डीआरएचपी में कंपनी और उसके कारोबार की विस्तृत जानकारी होती है। इस दस्तावेज में कंपनी बताती है कि वह बाजार से पैसा क्यों और कितना जुटाना चाहती है। डीआरएचपी में इस मामले को क्रिमिनल प्रोसीडिंग के कॉलम में बताया गया है। सक्सेना ने कहा है कि इस आईपीओ को रोका जाना चाहिए वरना निवेशकों का इससे नुकसान हो सकता है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2020 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00