चर्चा में शापूरजी पलोनजी समूह, टाटा ग्रुप के साथ 70 साल पुराना रिश्ता होगा खत्म

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: ‌डिंपल अलवधी Updated Sat, 26 Sep 2020 03:58 PM IST
रतन टाटा, साइरस मिस्त्री
रतन टाटा, साइरस मिस्त्री - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन
ख़बर सुनें
भारत के सबसे पुराने औद्योगिक घराने शापूरजी पलोनजी समूह (एसपी समूह) और टाटा समूह की 70 साल पुरानी दोस्ती खत्म होती नजर आ रही है। एसपी समूह ने हाल ही में टाटा समूह से बाहर निकलने का निर्णय लिया है। 
विज्ञापन


मालूम हो कि एसपी की कंपनियों पर 30,000 करोड़ रुपये का कर्ज है, जिसको चुकाने के लिए कंपनी टाटा संस में अपनी हिस्सेदारी बेचना चाहती है। शापूरजी पलोनजी समूह कोरोना वायरस महामारी को लेकर पेश समाधान योजना के तहत 10,900 करोड़ रुपये के अपने ऋण का पुनर्गठन करेगा। इस संदर्भ में एक अधिकारी ने कहा कि केवी कामथ पैनल की रिपोर्ट को स्वीकार करने के बाद भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा अनुमोदित एकमुश्त ऋण पुनर्गठन योजना के तहत राहत मांगी जा रही है। 


इस सुविधा में वित्तीय रूप से तनावग्रस्त कंपनियों को दो साल के लिए अपने ऋण को टालने की अनुमति है। अधिकारी ने कहा कि, '150 साल पुरानी शापूरजी पलोनजी ग्रुप की होल्डिंग कंपनी शापूरजी पलोनजी कंस्ट्रक्शन रिजर्व बैंक के द्वारा अनुमोदित कोविड-19 समाधान ढांचे के तहत एकमुश्त ऋण पुनर्गठन के माध्यम से 10,900 करोड़ रुपये के अपने ऋण का पुनर्गठन करना चाहती है।' 

यह घटनाक्रम ऐसे समय सामने आया है जब टाटा ने पांच सितंबर को उच्चतम न्यायालय पहुंचकर एसपी समूह की टाटा संस में 18.37 फीसदी हिस्सेदारी के एक हिस्से के बदले में कर्ज जुटाने की पहल को रोकने की याचिका दायर की।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2020 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00