पर्दाफाश: लैपटॉप फर्म ने बड़े पैमाने पर आयात मूल्य को कम दिखाया, आईटी विभाग ने पकड़ी इनवॉइस व टैक्स की चोरी

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: मुकेश कुमार झा Updated Sat, 16 Oct 2021 01:47 PM IST
टैक्स
टैक्स - फोटो : iStock
विज्ञापन
ख़बर सुनें
आयकर विभाग ने एक लैपटॉप फर्म पर आयात के तहत बड़े पैमाने पर इनवॉइस और कर चोरी का पता लगाया है। शनिवार को इसकी जानकारी कर विभाग के लिए नीति बनाने वाली संस्था केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने दी। बोर्ड ने कहा कि विभाग ने हाल ही में लैपटॉप और मोबाइल फोन के एक व्यापारी के यहां छापेमारी की थी। सीबीडीटी ने कहा, 'लगभग पूरा कारोबार इस तरह के तौर-तरीकों से चलता पाया गया है।'
विज्ञापन


विभाग ने कहा कि तलाशी के दौरान मिले और जब्त किए गए सबूतों से पता चलता है कि विदेशी माल भेजने वालों को इस तरह के कम कर दिखाए गए बिलों का भुगतान हवाला के जरिए किया गया है।छापेमारी के दौरान 2.75 करोड़ रुपये की नकदी जब्त की गई। सीबीडीटी के अनुसार, 10 अक्टूबर को दिल्ली-एनसीआर समेत हरियाणा और पश्चिम बंगाल के कई इलाकों में इस संबंध में छापेमारी की गई थी।


सीबीडीटी ने कहा कि कोलकाता बंदरगाह पर रखे एक कंटेनर की तलाशी ली गई। इस दौरान 'एचडीएमआई केबल' का बिल पाया गया, जिसकी कीमत 3.8 लाख रुपये बताई जा रही है। हालांकि, डी-सीलिंग और उसे खोजने पर, यह पता चला है कि आयात होने वाले सामान लैपटॉप, मोबाइल फोन आदि जैसे उच्च मूल्य की वस्तुएं हैं, जिनकी कीमत 64 करोड़ रुपये है।

कर अधिकारियों ने पाया कि इस व्यापार समूह ने मुखौटा कंपनियों के जरिये कम मूल्य दिखाकर आयात किया। जांच में यह तथ्य सामने आयात कि इस समूह ने तीन साल के दौरान सिर्फ 20 करोड़ रुपये का आयात दिखाया है जबकि इस अवधि के दौरान आयात का मूल्य 2,000 करोड़ रुपये से अधिक हो सकता है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2020 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00