लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Business ›   RBI set for fourth straight rate hike to quell inflation say experts

RBI: महंगाई पर काबू पाने के लिए लगातार चौथी बार रेपो दरों में वृद्धि करेगा आरबीआई! विशेषज्ञों ने कही यह बात

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: निर्मल कांत Updated Sun, 25 Sep 2022 05:16 PM IST
सार

आरबीआई ने मई के बाद से रेपो रेट में 140 बेसिक पॉइंट्स (बीपीएस) की वृद्धि की है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि केंद्रीय बैंक इसे अब 50 बेसिक पॉइंट्स की वृद्धि के साथ तीन से उच्च स्तर (5.9 प्रतिशत) पर ले जा सकता है।

rbi new
rbi new - फोटो : istock
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) मंहगाई पर काबू पाने के लिए लगातार चौथी बार रेपो दर बढ़ा सकता है। इसके लिए वह यूएस फेडरल रिजर्व समेत अन्य देशों के केंद्रीय बैंकों की भी राय ले सकता है। 



आरबीआई ने मई के बाद से रेपो रेट में 140 बेसिक पॉइंट्स (बीपीएस) की वृद्धि की है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि केंद्रीय बैंक इसे अब 50 बेसिक पॉइंट्स की वृद्धि के साथ तीन वर्षों में उच्च स्तर (5.9 प्रतिशत) पर ले जा सकता है।


केंद्रीय बैंक ने मई में रेपो रेट में 40 बेसिक पॉइंट्स और जून व अगस्त में 50 बेसिक पॉइंट्स की बढ़ोतरी की थी। वर्तमान में 5.4 प्रतिशत है। 

उपभोक्ता मूल्य आधारित (सीपीआई) खुदरा महंगाई ने मई में नरमी के संकेत दिखाना शुरू कर दिया था लेकिन अगस्त में यह फिर से बढ़कर 7 प्रतिशत हो गई। केंद्रीय बैंक अपनी द्विमासिक मौद्रिक नीति तैयार करते समय खुदरा महंगाई को ध्यान में रखता है। 

आरबीआई गवर्नर के नेतृत्व वाली मौद्रिक नीति समिति (एमसीपी) बुधवार से अपनी तीन दिवसीय बैठक शुरू करने वाली है। इस बैठक के फैसले की घोषणा शुक्रवार 30 सितंबर को की जाएगी। 

अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व ने हाल में ही महंगाई में पर नियंत्रण पाने के लिए ब्याज दरों में 0.75 प्रतिशत बढ़ाने की घोषणा की है। लगातार तीसरी बार वृद्धि के बाद बैंक का बेंचमार्क फंड दर बढ़कर 3 प्रतिशत से बढ़कर 3.25 प्रतिशत हो गया है। ब्रिटेन और यूरोपीय संघ के केंद्रीय बैंकों ने भी महंगाई पर काबू पाने के लिए दरों में वृद्धि की है। 

बैंक ऑफ बड़ौदा के चीफ इकोनॉमिस्ट मदन सबनवीस ने कहा कि भारत में महंगाई लगभग सात प्रतिशत के उच्च स्तर पर बनी हुई है और इसके जल्द ही नीचे आने की कोई संभावना नहीं है।
विज्ञापन

सरकार द्वारा आरबीआई को आरबीआई को यह सुनिश्चित करने का काम सौंपा गया है कि खुदरा महंगाई चार प्रतिशत पर बनी रहे। हाउसिंग डॉट कॉम के ग्रुप सीईओ ध्रुव अग्रवाल कहते हैं कि लचीला आर्थिक विस्तार और मजबूत क्रेडिट ग्रोथ के बीच महंगाई पर लगाम लगाना आरबीआई की सबसे बड़ी चिंता बनी रहेगी। 

उन्होंने कहा, दरों में किसी भी तरह की वृद्धि के चलते बैंक होम लोन की ब्याज दरों में भी बढ़ोतरी करेंगे। लेकिन हमारी राय है कि इसका खास प्रभाव नहीं होगा, क्योंकि प्रोपर्टी की मांग मजबूत नी हुई है। इस त्योहारी सीजन के दौरान इस मांग में और तेजी आएगी।  

आईसीआरए की चीफ इकोनॉमिस्ट अदिति नायर को भी सितंबर 2022 में मौद्रिक नीति समिति से 50 बेसिक पॉइंट्स की वृद्धि की उम्मीद है।  

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और Budget 2022 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00