बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW
विज्ञापन
विज्ञापन
साप्ताहिक राशिफल 16 से 22 मई : धनु राशि समेत इन तीन राशियों के लिए बहुत ख़ास होगा ये सप्ताह, जानें भाग्यफल
Myjyotish

साप्ताहिक राशिफल 16 से 22 मई : धनु राशि समेत इन तीन राशियों के लिए बहुत ख़ास होगा ये सप्ताह, जानें भाग्यफल

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

गर्व : चंडीगढ़ की शूटर गौरी श्योराण बनीं ग्लोबल एंबेसडर, अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर मिला सम्मान

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर चंडीगढ़ की शूटर गौरी श्योराण को इंटरनेशनल वुमन क्लब ने 2021 का ग्लोबल एंबेसडर नियुक्त किया है। एक ऑनलाइन कार्यक्रम में चेक...

18 अप्रैल 2021

विज्ञापन
Digital Edition

कोरोना संकट: पंजाब में अभी राहत नहीं, सरकार ने 31 मई तक बढ़ाई पाबंदी, कैप्टन ने जारी किया सख्त आदेश

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच पंजाब में लोगों को अभी राहत नहीं मिलने वाली है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सभी मौजूदा पाबंदियों को 31 मई तक बढ़ाने का आदेश दिया है। कैप्टन ने प्रतिबंधों को बेहद सख्ती से लागू करने को कहा है। 

बता दें कि पंजाब में कोरोना से हालात बेहद खराब है। तमाम कोशिशों के बाद संक्रमण थमता नहीं दिख रहा है। शनिवार को रिकॉर्ड 217 संक्रमितों ने दम तोड़ दिया, जबकि 429 की हालत गंभीर बनी हुई है। 6,867 संक्रमण के नए मामले सामने आए हैं। अब तक राज्य में 11,693 संक्रमितों की मौत हो चुकी है। 

पंजाब के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार राज्य में अब तक 81,40,404 लोगों के नमूने लिए जा चुके हैं, जिनमें 49,0755 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आ चुकी है। अच्छी बात यह है कि 4,01,273 संक्रमित स्वास्थ्य लाभ लेकर ठीक हो चुके हैं। सक्रिय मामलों की संख्या 77,789 पहुंच चुकी है। 

9,902 संक्रमितों को सांस लेने में परेशानी होने पर ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखा गया है। शनिवार को अमृतसर में 26, बरनाला में 4, बठिंडा में 24, फरीदकोट में 5, फाजिल्का में 20, फिरोजपुर में 7, फतेहगढ़ साहिब में 3, गुरदासपुर में 12, होशियारपुर में 8, जालंधर में 11, लुधियाना में 18, कपूरथला में 5, मानसा में 3, मोहाली में 7, मुक्तसर में 14, पटियाला में 19, रोपड़ में 3, संगरूर में 15, एसबीएस नगर में 4 और तरनतारन में 5 मौतें हुई हैं।
... और पढ़ें
कैप्टन अमरिंदर सिंह। (फाइल फोटो) कैप्टन अमरिंदर सिंह। (फाइल फोटो)

कोरोना वायरस: हरियाणा सरकार ने एक सप्ताह बढ़ाया लॉकडाउन, 24 मई तक जारी रहेगी पाबंदी

हरियाणा सरकार ने प्रदेश में लॉकडाउन की अवधि एक सप्ताह बढ़ाने की घोषणा कर दी है । पूरे प्रदेश में अब 24 मई सुबह छह बजे तक लॉकडाउन रहेगा। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने पानीपत में इसकी घोषणा की। रविवार को उन्होंने पानीपत और हिसार में 500-500 बेड के अस्थायी अस्पतालों का उद्घाटन किया। वहीं गुरुग्राम में 400 बेड की क्षमता वाले दो कोविड अस्पाताल भी शुरू करेंगे। 

हरियाणा में धीमी पड़ने लगी संक्रमण की रफ्तार
हरियाणा में कोविड के नए मामलों में गिरावट आ रही है। 21 अप्रैल के बाद शनिवार को एक बार फिर 10 हजार से नीचे 9676 नए संक्रमित दर्ज किए गए। शनिवार को 144 संक्रमितों की मौत हो गई और 12,593 मरीज ठीक होकर घर लौटे। वहीं, 16 जिलों में नए मामलों की संख्या 500 से नीचे है।

स्वास्थ्य विभाग ने संक्रमण के नए मामलों में कमी आने से राहत की सांस ली है। 21 अप्रैल को प्रदेश में 9623 संक्रमित मिले थे, उसके बाद से संक्रमितों का आंकड़ा 10 हजार से ऊपर जा रहा था। अब मामले कम होने के साथ रिकवरी रेट बढ़कर 85.04 फीसदी हो गया है और मृत्यु दर 0.96 फीसदी है। 



प्रदेश में 8.36 प्रतिशत की दर से लोग संक्रमित हो रहे हैं। 56,557 लोगों के नमूने कोरोना की जांच के लिए एकत्रित किए गए। 1,759 संक्रमितों की स्थिति गंभीर बनी हुई है। इनमें से 1,162 ऑक्सीजन और 597 वेंटिलेटर पर हैं। 95,946 सक्रिय मरीज अभी प्रदेश में हैं। कोविड से अभी तक प्रदेश में 6,546 मौत हो चुकी हैं। 
... और पढ़ें

पंजाब: ट्विटर पर 'यह कायरता का आभास' लिख सिद्धू ने पंजाब सरकार को घेरा, विजिलेंस ने खोली फाइल तो कहा- स्वागत है

पंजाब कांग्रेस में सबकुछ अच्छा नहीं चल रहा है। कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू लगातार अपनी ही सरकार पर हमला बोल रहे हैं। कोटकपूरा गोलीकांड मामले में हाईकोर्ट के फैसले के बाद से ही नवजोत सिंह सिद्धू कैप्टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ मुखर हैं। एक बार भी सिद्धू ने अपनी सरकार पर सवाल खड़े किए । उन्होंने ट्वीट किया कि 'उचित को जान के उस पर अमल ना करना कायरता का आभास है।'

एक अन्य ट्वीट पर नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि पंजाब पुलिस रोजाना हजारों मामले सुलझाती है। किसी जांच आयोग और एसआईटी की कोई जरूरत नहीं होती है। मैंने कई बार बेअदबी, बहिबल कलां और कोटकपूरा गोलीकांड के पीछे बादल की भूमिका का विस्तार से जिक्र किया।
बता दें कि पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने कोटकपूरा गोलीकांड की जांच रिपोर्ट रद्द करने के बाद नई एसआईटी गठन का आदेश दिया था। इसके बाद कैप्टन सरकार ने इस मामले में एक तीन सदस्यीय नई एसआईटी का गठन भी कर दिया है। यह नई जांच टीम छह माह में अपनी जांच रिपोर्ट पेश करेगी। इसके बाद से ही नवजोत सिंह सिद्धू पंजाब सरकार पर निशाना साध रहे हैं।
... और पढ़ें

सीसीटीवी कैमरे में कैद हुआ हादसा: दो मोटरसाइकिलों की सीधी टक्कर में दो नौजवानों की दर्दनाक मौत

स्थानीय भोलूवाला रोड पर सीमेंट फैक्टरी के बाहर शनिवार देर शाम दो मोटरसाइकिलों के बीच हुई आमने सामने टक्कर में दोनों चालक नौजवानों की दर्दनाक मौत हो गई जबकि एक मोटरसाइकिल पर सवार एक बच्चा बाल बाल बच गया। यह घटना फैक्टरी के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई है। इस मामले में पुलिस ने दोनों मृतकों के शवों को मेडिकल कॉलेज अस्पताल से पोस्टमार्टम के बाद वारिसों के हवाले कर दिया।

जानकारी के अनुसार घटना के समय गांव भोलूवाला निवासी जगदीप सिंह जोकि मेडिकल कॉलेज अस्पताल की लैब में काम करता है, अपनी मोटरसाइकिल पर सवार होकर शहर की तरफ आ रहा था। जैसे ही वह सीमेंट फैक्टरी के पास पहुंचा तो सामने शहर से मोटसाइकिल पर आ रहे गोबिंद नगर निवासी किक्कर सिंह के साथ उसकी सीधी टक्कर हो गई। 

हादसा इतना भयानक था कि दोनों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि किक्कर सिंह के साथ बैठा एक बच्चा बाल बाल बच गया। मृतकों में से जगदीप सिंह की करीब तीन माह पहले ही शादी हुई थी। इस मामले में बीड़ भोलूवाला के कांग्रेस नेता जगसीर संधू ने कहा कि घटनास्थल के पास रास्ता काफी तंह है क्योंकि वहां पर सीमेंट फैक्ट्री की बजरी इत्यादि बिखरी रहती है जिसके कारण अक्सर ही खासकर दो पहिया वाहन के हादसे पेश आ जाते है।इससे पहले भी कई हादसे पेश आए है और इस हादसे में दो जरूरतमंद परिवारों को उजाड़ कर रख दिया है।
... और पढ़ें

लुधियाना: दो एएसआई की हत्या मामले में गैंगस्टर जयपाल फिरोजपुरिया समेत चार के खिलाफ केस, पुलिस तलाश में जुटी

दो बाइक सवारों की टक्कर
शनिवार देर शाम को जगरांव की नई अनाज मंडी में दो एएसआई की गोली मार हत्या करने के मामले में पुलिस ने गैंगस्टर जयपाल फिरोजपुरिया, बब्बी (मोगा), खरड़ निवासी जस्सी (एसबीएस नगर) और एक अज्ञात के खिलाफ मामला दर्जकर लिया है। यह मामला होमगार्ड जवान राजविंदर सिंह की शिकायत पर थाना सिटी जगरांव में दर्ज किया गया है। 

पुलिस गैंगस्टर की तलाश में छापेमारी कर रही है। दोपहर बाद समाचार लिखे जाने तक उनका कोई सुराग पुलिस के हाथ नहीं लगा है। इस मामले के बाद सभी जिलों की पुलिस को अलर्ट पर रखा गया है। गौरतलब है कि शनिवार शाम को सीआईए स्टाफ में तैनात एएसआई भगवान सिंह, एएसआई दलविंदर सिंह और होमगार्डन जवान राजविंदर सिंह साधारण ड्रेस में अपनी निजी कार में गश्त कर रहे थे।

उन्हें गुप्ता सूचना मिली थी कि कुछ नशा तस्कर खेप लेकर आ रहे है। शाम लगभग छह बजे नई अनाज मंडी में एक सफेद रंग की कार के पास दो युवा एक कैंटर से कुछ सामान उतार कर रख रहे थे। शक होने पर पुलिस ने उनसे पूछताछ शुरू की। उसी समय कैंटर और कार सवार युवकों ने फायरिंग शुरू कर दी।

पहली गोली भगवान सिंह को लगी जिनकी मौके पर मौत हो गई थी। जब एएसआई दलविंदर सिंह ने पीछे हटना चाहा तो दूसरे गैंगस्टर ने गोली मार दी। एक गोली राजविंदर सिंह पर भी चलाई गई लेकिन वह किसी तरह से बच गया। इस घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी मौके से फरार हो गए।

घायल दलविंदर सिंह को अस्पताल ले जाया गया लेकिन उसकी रास्ते में मौत हो गई। देर रात को पुलिस ने इस वारदात में शामिल कैंटर को बरामद कर लिया है। अभी यह पता नहीं चल सका है कि गैंगस्टर नशे की खेप लेने आए थे या फिर हथियार। पुलिस आरोपियों की तलाश में छापेमारी कर रही है लेकिन कोई सुराग पुलिस के हाथ नहीं लगा है।
... और पढ़ें

पंजाब: लुधियाना और पठानकोट में अभी राहत नहीं, 23 मई तक बढ़ा कर्फ्यू

कोरोना के लगातर बढ़ते मामलों को देखते हुए लुधियाना जिला प्रशासन ने 23 मई तक कोरोना पाबंदियों को बढ़ा दिया है। बता दें कि पंजाब में कोरोना से सबसे खराब हालात लुधियाना में हैं। उधर, पठानकोट प्रशासन ने 17 से लेकर 23 मई तक जरूरी दुकानों को छोड़कर बाकी सभी दुकानों को बंद रखने का आदेश जारी किया है। नए आदेश के अनुसार जरूरी दुकानें सुबह 9 बजे से दोपहर एक बजे तक खुलेंगी। 

गौरतलब है कि पठानकोट के व्यापारियों की ओर से भी सरकार एवं प्रशासन से दुकानों को रोजाना खोलने की मांग की जा रही थी। साथ ही कई व्यापारी संपूर्ण लॉकडाउन लगाने के पक्ष में है। प्रशासन के आदेश के अनुसार ग्रॉसरी, किराना, फल, सब्जी, दुग्ध उत्पाद, अंडे, पोल्ट्री फीड और आटा चक्की की दुकान सुबह नौ से दोपहर एक बजे तक खुली रहेंगी। होटल एवं रेस्टोरेंट रात नौ बजे तक होम डिलीवरी कर सकेंगे।

पंजाब में कोरोना से 217 की मौत
पंजाब में शनिवार को संक्रमण से 24 घंटे में रिकार्ड 217 संक्रमितों ने दम तोड़ दिया, जबकि 429 की हालत गंभीर बनी हुई है। 6867 संक्रमण के नए मामले सामने आए हैं। अब तक राज्य में 11693 संक्रमितों की मौत हो चुकी है। पंजाब के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार राज्य में अब तक 8140404 लोगों के नमूने लिए जा चुके हैं, जिनमें 490755 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आ चुकी है। 

अच्छी बात यह है कि 401273 संक्रमित स्वास्थ्य लाभ लेकर ठीक हो चुके हैं। सक्रिय मामलों की संख्या 77789 पहुंच चुकी है। 9902 संक्रमितों को सांस लेने में परेशानी होने पर ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखा गया है। शनिवार को अमृतसर में 26, बरनाला में 4, बठिंडा में 24, फरीदकोट में 5, फाजिल्का में 20, फिरोजपुर में 7, फतेहगढ़ साहिब में 3, गुरदासपुर में 12, होशियारपुर में 8, जालंधर में 11, लुधियाना में 18, कपूरथला में 5, मानसा में 3, मोहाली में 7, मुक्तसर में 14, पटियाला में 19, रोपड़ में 3, संगरूर में 15, एसबीएस नगर में 4 और तरनतारन में 5 मौतें हुई हैं।
... और पढ़ें

मोगा में हैवानियत: एक माह 10 दिन तक महिला से दुष्कर्म, कनाडा भेजने के नाम पर की वारदात

कनाडा में अपनी बहन के घर पर बतौर मेड भेजने का झांसा देकर 28 वर्षीय एक महिला का पहले अपहरण किया गया और फिर करीब सवा माह तक किराए के मकान में रखकर दुष्कर्म करता रहा। आरोपी के चंगुल से निकलकर भागी पीड़िता ने पुलिस के पास शिकायत की तो पुलिस ने आरोपी समेत वारदात में शामिल उसकी पत्नी और एक बिचौलिये के खिलाफ केस दर्जकर लिया है। मामला पंजाब के मोगा का है।

थाना सिटी साउथ की इंस्पेक्टर कर्मजीत कौर ने बताया कि शिकायतकर्ता महिला ने पुलिस के पास दर्ज करवाए बयान में कहा कि गांव भलूर में रहने वाला संत राम उर्फ शेरी ने उसके मायके वालों को झांसा दिया कि वह महिला को अपने खर्च पर कनाडा भेज सकता है। इसी दौरान आरोपी संत राम शेरी ने महिला और उसके मायके परिवार को रंजीत सिंह निवासी उपला (जालंधर) से मिलवाया। 

रंजीत सिंह उनके घर आया और कहने लगा कि कनाडा में उसकी बहन रहती है और वह शिकायतकर्ता महिला को उसकी बहन के घर रसोई का काम करने के लिए बतौर मेड अपने खर्च पर भेज देगा। पीड़ित महिला के अनुसार वह गरीब परिवार से संबंधित है और घर का गुजारा मुश्किल से होता है। जिसके चलते वह आरोपियों के झांसे में आ गई। 
... और पढ़ें

हरियाणा में ब्लैक फंगस : सिरसा में सात, रोहतक में आठ और अग्रोहा में एक मामला

हरियाणा के सिरसा जिले में ब्लैक फंगस के सात मरीजों की पुष्टि हुई है। इसमें से तीन फतेहाबाद के और तीन सिरसा के हैं और एक मरीज राजस्थान का है। सीएमओ मनीष बंसल ने बताया कि छह मरीज निजी अस्पताल में हैं और सातवां छुट्टी लेकर घर जा चुका है। फतेहाबाद के एक मरीज का इन्फेक्शन के कारण तालू काटना पड़ा है। एक मरीज की आंख संक्रमित है। 

वहीं रोहतक पीजीआईएमएस में ब्लैक फंगस के आठ मरीज हैं। डॉ. आदित्य भार्गव ने बताया कि इनमें से पांच का ऑपरेशन हो चुका है। तीन अन्य मरीजों की स्थिति पर डॉक्टर नजर बनाए हुए हैं। वहीं, मरीजों के उपचार में इस्तेमाल होने वाला इंजेक्शन शनिवार को भी शहर में नहीं मिला। परिजनों का कहना था कि उन्हें इंजेक्शन दिल्ली से लाना पड़ा।

हिसार के अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में ब्लैक फंगस का एक और मामला सामने आया है। जिले का यह तीसरा मामला है। वहीं, ब्लैक फंगस की आशंका के मद्देनजर खानपुर कलां स्थित बीपीएस राजकीय मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने उपचार में इस्तेमाल होने वाले 500 टीकों की सरकार से मांग की है।

हरियाणा में ब्लैक फंगस अधिसूचित रोग घोषित
हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि राज्य में ब्लैक फंगस को अधिसूचित रोग घोषित किया गया है। अब इन मामलों का पता चलने पर डॉक्टरों को संबंधित जिले के सीएमओ को रिपोर्ट करनी होगी। राज्य के किसी भी सरकारी और निजी अस्पताल में ब्लैक फंगस के मामले मिलने पर उसकी सूचना स्थानीय जिले के सीएमओ को देना जरूरी है ताकि बीमारी की रोकथाम के लिए उचित कदम उठाए जा सकें। 

विज ने कहा कि बीमारी के उपचार के लिए पीजीआईएमएस रोहतक के वरिष्ठ चिकित्सक प्रदेश में कोरोना का इलाज कर रहे हैं। वे सभी डॉक्टरों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग कर उन्हें ब्लैक फंगस के इलाज के संबंध में जानकारी देंगे।
... और पढ़ें

सर्वे में खुलासा: पंजाब में 58 फीसदी ग्रामीणों ने हल्के लक्षणों को किया नजरअंदाज, इसी वजह से हुईं ज्यादा मौतें

पंजाब के ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़ती मृत्यु दर को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है। स्वास्थ्य विभाग के सर्वे में यह बात सामने आई है कि हल्के लक्षणों में बरती गई लापरवाही के कारण 58 प्रतिशत संक्रमित ग्रामीण गंभीर हालत में पहुंच गए, जिससे उनकी मौत हो गई। चिकित्सकीय विशेषज्ञ ने कहा कि संक्रमण में यह लापरवाही चिंताजनक है। उन्होंने सरकार को गांवों पर फोकस करने की सलाह दी है। अभी भी देर नहीं हुई है।

ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़ते संक्रमण के दायरे को देखते हुए पंजाब सरकार अब तक कई सर्वे कर चुकी है। सभी में यह बात सामने आई है कि संक्रमण के दौरान ग्रामीण इलाज में लापरवाही बरत रहे हैं। हाल ही में एक सर्वे हुआ है जिसमें यह खुलासा हुआ कि 58 प्रतिशत ग्रामीण ऐसे थे जिनको संक्रमण के हल्के लक्षण दिखाई दिए लेकिन सही इलाज नहीं लेने और समय से टेस्टिंग नहीं कराने के कारण ग्रामीणों में संक्रमण बिगड़ा और उनकी मौत हो गई। 

सर्वे में यह भी खुलासा हुआ है कि पंजाब भर के ग्रामीण क्षेत्रों में सबसे ज्यादा मालवा क्षेत्र में संक्रमण के केस सामने आए हैं। ऐसे में सरकार अब ग्रामीण क्षेत्रों में अधिक टेस्टिंग कराने का फैसला कर चुकी है। साथ ही अन्य बिंदुओं पर भी कार्ययोजना बनाने की तैयारी कर रही है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us