बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW
विज्ञापन
विज्ञापन
इन तीन राशियों के लिए निवेश का शुभ समय, भाग्यफल से जानें अन्य राशियों का हाल
Myjyotish

इन तीन राशियों के लिए निवेश का शुभ समय, भाग्यफल से जानें अन्य राशियों का हाल

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

गर्व : चंडीगढ़ की शूटर गौरी श्योराण बनीं ग्लोबल एंबेसडर, अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर मिला सम्मान

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर चंडीगढ़ की शूटर गौरी श्योराण को इंटरनेशनल वुमन क्लब ने 2021 का ग्लोबल एंबेसडर नियुक्त किया है। एक ऑनलाइन कार्यक्रम में चेक...

18 अप्रैल 2021

विज्ञापन
Digital Edition

पंजाब: बरगाड़ी बेअदबी के सभी छह आरोपी चार दिन के रिमांड पर, अब 21 को होगी पेशी 

पंजाब के बरगाड़ी बेअदबी मामले में एसआईटी ने रविवार को छह डेरा प्रेमियों को गिरफ्तार किया था। सभी आरोपियों को सोमवार को फरीदकोट की अदालत में पेश किया गया। अदालत ने सभी आरोपियों को 4 दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। 21 मई को सभी को दोबारा अदालत में पेश किया जाएगा। 

रविवार को पुलिस ने कहा था कि आरोपियों को बेअदबी मामले से संबंधित दो घटनाओं गांव बुर्ज जवाहर सिंह वाला के गुरुद्वारा साहिब के बाहर भद्दी शब्दावली वाला पोस्टर लगाने व बरगाड़ी के गुरुद्वारा साहिब के बाहर पावन ग्रंथ की बेअदबी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। वहीं सोमवार को सिर्फ बरगाड़ी बेअदबी मामले में ही आरोपियों की गिरफ्तारी दिखाई गई।  


पंजाब के बरगाड़ी बेअदबी मामले में गठित एसआईटी ने रविवार शाम डेरा सच्चा सौदा सिरसा के फरीदकोट जिले से संबंधित छह अनुयायियों को गिरफ्तार किया था। आरोपियों की पहचान सुखजिंदर सिंह सन्नी कंडा, शक्ति सिंह, रणजीत सिंह, बलजीत सिंह, निशान सिंह व प्रदीप सिंह  के तौर पर हुई थी।

पिछले साल गांव बुर्ज जवाहर सिंह वाला के गुरुद्वारा साहिब से पावन ग्रंथ चोरी करने के मामले में इन आरोपियों को जमानत मिल गई थी। बाद में इस केस की जांच को लेकर सीबीआई व एसआईटी के बीच कानूनी विवाद खड़ा हो गया, जिसमें पंजाब हरियाणा उच्च न्यायालय ने फैसला सुनाते हुए जांच एसआईटी को सौंप दी थी और एसआईटी प्रमुख डीआईजी रणबीर सिंह को बदलने की हिदायत दी थी। इसके बाद पंजाब सरकार ने आईजी सुरिंदरपाल सिंह परमार की अगुवाई में एसआईटी गठित की थी, जिसने रविवार को कार्रवाई करते हुए ये गिरफ्तारियां कीं। 

पंजाब पुलिस की नई एसआईटी ने 2015 के बरगाड़ी बेअदबी मामले की इसी साल मार्च माह में फिर से जांच शुरू की थी। इससे पहले पिछले साल एसआईटी ने कार्रवाई शुरू करते हुए गांव बुर्ज जवाहर सिंह वाला के गुरुद्वारा साहिब से पावन ग्रंथ चोरी करने के मामले में डेरा सच्चा सौदा सिरसा के प्रेमियों को गिरफ्तार किया था और डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम समेत कुल 11 के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी।
... और पढ़ें
बरगाड़ी बेअदबी मामले के आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया। बरगाड़ी बेअदबी मामले के आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया।

चंडीगढ़: एक सप्ताह बढ़ा मिनी लॉकडाउन, पंजाब और हरियाणा की तरह जारी रहेंगी बंदिशें

चंडीगढ़ प्रशासन ने मिनी लॉकडाउन को एक हफ्ते और बढ़ा दिया। पंजाब और हरियाणा में लॉकडाउन की सख्तियों को प्रदेश की सरकारों ने बढ़ा दिया है, इसलिए चंडीगढ़ में भी लॉकडाउन को एक हफ्ते के लिए बढ़ाया गया है। इस पर फैसला लेने के लिए चंडीगढ़ के प्रशासक वीपी सिंह बदनौर ने सोमवार को ट्राइसिटी के अधिकारियों की बैठक ली। 

पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने चंडीगढ़, पंचकूला और मोहाली में एक समान रणनीति बनाने के निर्देश दे रखे हैं। पंचकूला में 24 मई तक वर्तमान में लागू सख्तियों को बढ़ा दिया गया है, जबकि मोहाली में 31 मई तक मौजूदा सख्तियों को लागू किया गया है। ऐसे में चंडीगढ़ में भी वर्तमान में लागू सख्तियों का एक हफ्ता और बढ़ना लगभग तय था।  


सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, प्रशासन दुकानों पर ऑड-ईवन सिस्टम शुरू कर सकता है, ताकि अन्य दुकानें भी इस व्यवस्था के तहत खुल सकें। अभी फिलहाल आवश्यक वस्तुओं की दुकानों को ही खोलने की छूट दी गई है, जिसमें करियाना, दूध, सब्जी-फल, मीट, पशुओं का चारा, मोबाइल रिपेयर और ऑप्टिकल्स की दुकानें शामिल हैं। इसके अलावा केमिस्ट की दुकानें, एटीएम, दवाइयां, फॉर्मास्यूटिकल व उसके उपकरणाें की दुकानें भी खुली हैं, जबकि बाकी सभी गैर-अनिवार्य दुकानें बंद हैं।

प्रशासन के एक अधिकारी ने बताया कि वह लॉकडाउन में व्यापारियों को कुछ राहत देने पर विचार कर रहे हैं। इसके तहत दुकानों पर ऑड-ईवन सिस्टम शुरू किया जा सकता है, जिसके लिए व्यापारी पिछले काफी दिनों से मांग रहे हैं। इसके अलावा तीन चार दिनों के लिए सभी दुकानें खोलने की भी अनुमति दी जा सकती है, ताकि लोग जो सामान खरीदना चाहते हैं, वह इन दिनों में खरीद सकें। इससे दुकानदारों को भी कुछ राहत मिलेगी, क्योंकि उनकी बिक्री हो सकेगी। हालांकि इस संबंध में आखिरी फैसला यूटी प्रशासक वीपी सिंह बदनौर की अध्यक्षता में वॉर रूम की बैठक में ही होगा। इसके अलावा अन्य छूट पर भी विचार किया जाएगा, क्योंकि व्यापारियों की तरफ से भी प्रशासन के पास कुछ सुझाव आए हैं।
 
... और पढ़ें

कोरोना संकट : सब्जी बेच रहे बैंड-बाजा के कारोबारी, पिछले साल भी बुकिंग रद्द हुई, इस बार भी जीरो कमाई

कोरोना संकटकाल में लागू लॉकडाउन में शादियां तो कई हुईं, लेकिन बैंड-बाजा कहीं नजर नहीं आया। जो बुकिंग हुई थी, वो भी रद्द हो गई। इस सीजन भी कमाई न के बराबर हुई है। इतनी विपदाओं के बावजूद जिंदगी कभी नहीं रुकती। पेट पालने के लिए कुछ तो करना पड़ता है। ऐसा ही कुछ इस समय बैंड-बाजे वाले कर रहे हैं। वे कारोबार बंद होने के कारण सब्जी बेचने को मजबूर हो गए हैं। कुछ मजदूरी कर रहे हैं तो कुछ किराए पर गाड़ी लेकर ड्राइवर बने हुए हैं।

ऐसा सपने में भी नहीं सोचा था
शादियों के सीजन में कमाई काफी होती थी। हमारा तो दो सालों में कुल मिलाकर करीब 15 लाख रुपये का घाटा है। इसे कैसे पूरा किया जाएगा। सोचकर परेशान होता हूं। घर का खर्च नहीं चलने पर सब्जी की रेहड़ी लगा ली है। बच्चे तो पालने हैं। बहुत ही कठिन समय आ गया है। ऐसा समय तो सपने में भी नहीं सोचा था। सरकार हमारे लिए भी कुछ सोचे। -संत ताल डबाला, मालिक कैपिटल ब्रास बैंड

जल्द ही कोई दूसरा काम देखना पड़ेगा
पिछले वर्ष भी काम नहीं हुआ। गर्मी के दिनों में शादियां होती हैं। कोविड के कारण कई प्रतिबंध हैं। ऐसे में लोगों ने बुक कराया बैंड रद्द कर दिया है। समझ में नहीं आ रहा कि क्या किया जाएगा। पूरे साल परिवार का खर्च कैसे चलेगा। दुकान का किराया भी देना है। रात की नींद और दिन का चैन गायब हो गया है। एक सप्ताह और देखते हैं, वरना हमें भी कुछ और काम करना होगा। -विजय गोदियाल, मालिक, मिलन बैंड

भाड़े की गाड़ी चला रहा हूं
बैंड की बुकिंग रद्द होने पर आर्थिक परेशानी हो गई। परिवार को चलाने के लिए कुछ न कुछ तो करना था। इसलिए अब भाड़े की गाड़ी चला रहा हूं। इससे परिवार तो पल जाएगा। बैंडवालों के लिए बहुत ही मुश्किल का समय आ गया है। सरकार की ओर से आस भी उम्मीद लगाना बेकार है। प्रशासन की ओर से भी कोई सुनवाई नहीं हो रही। उन्हें कम से कम यह तो सोचना चाहिए था कि जिनके काम धंधे बंद हैं, उनका गुजारा कैसे चल रहा है। -मदन लाल, मालिक, सरस्वती बैंड

थ्री-व्हीलर पर सब्जी बेचना शुरू किया
घाटा इतना कि पूछो मत। इसे पूरा करना बहुत ही कठिन काम है। बैंड छोड़कर सब्जी बेचना शुरू कर दिया है। पिछले वर्ष सीजन से पहले बैंड के सामान खरीदने में काफी पैसा खर्च कर दिया था। इसके तुरंत बाद लॉकडाउन लग गया। पिछले साल की सभी बुकिंग रद्द हो गई। इस साल भी यही हाल है। सब कुछ बर्बादी के कगार पर है। यदि कुछ हल नहीं निकला तो काफी लोग आर्थिक नुकसान से ही मर जाएंगे। -कृष्ण कुमार, मालिक कृष्णा बैंड
 
... और पढ़ें

पंचकूला: ब्लैक फंगस का पहला मामला मिला, मरीज की आंख तक पहुंचा संक्रमण, पीजीआई रेफर

पंचकूला में ब्लैक फंगस का पहला मामला सामने आया है। मरीज दिल्ली का है और पंचकूला के एक निजी अस्पताल में उसका इलाज चल रहा था। संक्रमण मरीज की आंख तक पहुंच गया जिसके बाद उसे गंभीर हालत में चंडीगढ़ पीजीआई रेफर किया गया। 

दिल्ली के 59 वर्षीय कोरोना संक्रमित मरीज का पंचकूला के निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था। सिविल सर्जन डॉ़ जसजीत कौर ने कहा कि स्टेरायड के इस्तेमाल के कारण ब्लैक फंगस हो रहा है। उन्होंने बताया कि मरीज को डायबिटीज है। उनको ऑक्सीजन भी लगी थी।


इससे पहले मरीज़ का बेटा एंफोटरइसिन-बी इंजेक्शन के लिए एक केमिस्ट से दूसरे केमिस्ट तक पता करता रहा लेकिन यह इंजेक्शन पंचकूला में कहीं भी नहीं मिला। हालत ज्यादा खराब होने लगी तो प्राइवेट अस्पताल ने मरीज को चंडीगढ़ पीजीआई रेफर कर दिया।
... और पढ़ें

पंजाब: विधायक परगट सिंह ने लगाए सनसनीखेज आरोप, कैप्टन अमरिंदर सिंह पर साधा निशाना

black fungus
पंजाब के विधायक परगट सिंह ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह पर सनसनीखेज आरोप लगाया है। सोमवार को विधायक परगट सिंह ने कहा कि उन्हें सीएम के सलाहकार कैप्टन संदीप संधू ने फोन किया और कैप्टन का नाम लेकर धमकी दी। संधू ने कहा कि अमरिंदर सिंह ने कहा है कि उन्होंने मेरे दस्तावेज इकट्ठे कर लिए हैं और अब कार्रवाई की जाएगी। 


 
इससे पहले रविवार को कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने अपनी सरकार पर सवाल खड़े किए । उन्होंने ट्वीट किया कि 'उचित को जान के उस पर अमल ना करना कायरता का आभास है।' एक अन्य ट्वीट पर नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि पंजाब पुलिस रोजाना हजारों मामले सुलझाती है। किसी जांच आयोग और एसआईटी की कोई जरूरत नहीं होती है। मैंने कई बार बेअदबी, बहिबल कलां और कोटकपूरा गोलीकांड के पीछे बादल की भूमिका का विस्तार से जिक्र किया।

कांग्रेस विधायक परगट सिंह ने इससे पहले कैप्टन को निशाने पर लेते हुए कहा कि मुख्यमंत्री अपने बारे में सर्वे करवा लें, उन्हें खुद ही पता चल जाएगा कि पंजाब में कांग्रेस आज कहां खड़ी है। परगट ने कहा कि राज्य में कांग्रेस की साख बहुत अच्छी नहीं रही है।

उन्होंने कोटकपूरा गोलीकांड मामले में एसआईटी की रिपोर्ट पर हाईकोर्ट के फैसले को राज्य सरकार की कमजोरी करार दिया। बाद में प्रेस कांफ्रेंस करके परगट सिंह ने कहा था कि उन्होंने बैठक में मुख्यमंत्री को साफ कर दिया है कि आज हालात लीपापोती वाले नहीं रह गए हैं। सरकार को कुछ करके दिखाना होगा। उन्होंने कहा कि अगर सरकार लीपापोती में उलझी रही तो अब ज्यादा समय नहीं बचा है। सरकार को जल्द बेअदबी और गोलीकांड के आरोपियों को सजा दिलाने के लिए कदम उठाने होंगे।
... और पढ़ें

बरगाड़ी बेअदबी मामला: डेरा सच्चा सौदा सिरसा के छह अनुयायी गिरफ्तार, एसआईटी ने की कार्रवाई 

पंजाब के बरगाड़ी बेअदबी मामले में गठित एसआईटी ने रविवार शाम डेरा सच्चा सौदा सिरसा के फरीदकोट जिले से संबंधित छह अनुयायियों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी सुखजिंदर सिंह सन्नी कंडा, शक्ति सिंह, रणजीत सिंह, बलजीत सिंह, निशान सिंह व प्रदीप सिंह को अब बेअदबी मामले से संबंधित दो घटनाओं गांव बुर्ज जवाहर सिंह वाला के गुरुद्वारा साहिब के बाहर भद्दी शब्दावली वाला पोस्टर लगाने व बरगाड़ी के गुरुद्वारा साहिब के बाहर पावन ग्रंथ की बेअदबी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। 

बुर्ज जवाहर सिंह वाला की घटना में इन सभी छह आरोपियों की, जबकि बेअदबी की घटना में निशान सिंह व प्रदीप सिंह की गिरफ्तारी की गई है। सभी को सोमवार को फरीदकोट की अदालत में पेश किया जाएगा। इससे पहले इन सभी छह आरोपियों समेत एक अन्य को पिछले साल डीआईजी रणबीर सिंह खटड़ा की अगुवाई वाली एसआईटी ने गांव बुर्ज जवाहर सिंह वाला के गुरुद्वारा साहिब से पावन ग्रंथ चोरी करने के मामले में गिरफ्तार किया था। 
... और पढ़ें

हरियाणा सरकार की पहल: कोरोना के कारण तनाव झेल रहे लोगों को मनोवैज्ञानिक देंगे सलाह, नंबर जारी 

हरियाणा सरकार ने कोरोना महामारी के कारण तनाव झेल रहे लोगों को मानसिक रूप से संबल देने के लिए मनोवैज्ञानिकों की ड्यूटी लगाई है। पीड़ित व्यक्ति स्वास्थ्य विभाग की हेल्पलाइन के माध्यम से परामर्श ले सकता है। सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए थे कि कोरोना महामारी से पीड़ित होने के कारण जिन लोगों में तनाव की समस्या हो जाती है, उनके तनाव को दूर करना आवश्यक है। ऐसे पीड़ित लोगों को स्वस्थ रखने के लिए परामर्श से संबंधित कोई व्यवस्था की जाए।

मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार स्वास्थ्य विभाग ने राज्य कोविड हेल्पलाइन नंबर 1075 और 855889311 में प्रावधान कर दिया है। यह हेल्पलाइन कॉल करने वाले पीड़ित व्यक्ति को एक मनोवैज्ञानिक से जोड़ती है, जो उन्हें जरूरत के अनुसार सलाह देगा। 


वर्तमान में 12 मनोवैज्ञानिकों की ड्यूटी लगाई गई है जो सप्ताह के सातों दिन सुबह 9 बजे से शाम 6 बजे तक अलग-अलग समय-स्लॉट में उपलब्ध रहेंगे। इन मनोवैज्ञानिकों को कल ट्रेनिंग भी दी गई है कि पीड़ित व्यक्तियों से कैसे व्यवहार करना है।

लॉकडाउन के चलते पिछले एक सप्ताह से प्रदेश में संक्रमण के केस कम आने और रिकवरी दर बढ़ने से अब अस्पतालों के हालात सुधरने लगे हैं। पहले जहां ऑक्सीजन व वेंटिलेटर वाले बेड के लिए मारामारी थी, अब स्थिति में सुधार होने लगा है। अब प्रदेश के हर जिले में ऑक्सीजन के बेड उपलब्ध हैं। इतना ही नहीं केवल नूंह, चरखीदादरी और करनाल को छोड़कर सभी जिलों में वेंटिलेटर बेड भी खाली हैं। प्रदेश में कुल ऑक्सीजन के 3652 और वेंटिलेटर वाले 801 बेड खाली हैं।

सबसे अधिक मरीज पानीपत के अस्पतालों में दाखिल
प्रदेश में बेशक गुरुग्राम व फरीदाबाद में सबसे अधिक केस आ रहे हैं, लेकिन सबसे अधिक मरीज अस्पतालों में पानीपत में दाखिल हैं। पानीपत के कोविड अस्पतालों में 2679 मरीज दाखिल हैं, जबकि गुरुग्राम व हिसार में 1397-1397 मरीज दाखिल हैं। सबसे कम मरीज चरखीदादरी में 11 दाखिल हैं। अंबाला में 652, फतेहाबाद 813, करनाल 548,  रेवाड़ी 823, सिरसा 643, यमुनानगर के अस्पतालों में 505 मरीज दाखिल हैं। शेष जिलों में 500 से कम मरीज कोविड अस्पतालों में हैं।
 
... और पढ़ें

पंजाब: बहिबल गोलीकांड की जांच के लिए भी नई एसआईटी, आईजी नौनिहाल सिंह बने अध्यक्ष

पंजाब सरकार ने कोटकपूरा गोलीकांड के बाद बहिबल गोलीकांड केस की जांच के लिए भी नई स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) बना दी है। पंजाब-हरियाणा उच्च न्यायालय में कोटकपूरा गोलीकांड केस की जांच रिपोर्ट रद्द करने व एसआईटी भंग किए जाने के बाद आलोचना का सामना कर रही पंजाब सरकार रविवार को एक्शन में दिखी। 

कुछ दिन पहले ही सरकार ने कोटकपूरा गोलीकांड केस की जांच के लिए नई एसआईटी गठित की थी, जिसने जांच भी शुरू कर दी। रविवार को सरकार ने बहिबल गोलीकांड केस की जांच के लिए भी नई एसआईटी का गठन कर दिया। एसआईटी की अध्यक्षता आईजी लुधियाना नौनिहाल सिंह करेंगे, जबकि एसएसपी मोहाली सतिंदर सिंह व एसएसपी स्वर्णदीप सिंह को इसका सदस्य बनाया गया है। 

यह भी पढ़ें - 
पंजाब: मालेरकोटला पर योगी के ट्वीट से भड़के कैप्टन अमरिंदर सिंह, यूपी के सीएम को दी ये नसीहत 

इससे पहले कोटकपूरा व बहिबल गोलीकांड की जांच के लिए एक ही एसआईटी काम कर रही थी, जिसमें कुल पांच सदस्य शामिल थे। इनमें से कोटकपूरा गोलीकांड की जांच की कमान आईजी कुंवर विजय प्रताप सिंह के पास थी और बाद में बहिबल गोलीकांड की जांच में भी उनकी सक्रिय भूमिका रही। 

उच्च न्यायालय के आईजी कुंवर विजय प्रताप सिंह को एसआईटी से बाहर रखने की हिदायत के बाद सरकार ने कुछ दिन पहले ही एडीजीपी विजिलेंज एलके यादव की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय एसआईटी गठित की थी। रविवार को बहिबल गोलीकांड के लिए भी नई एसआईटी का गठन कर दिया गया। 

पहले वाली एसआईटी बहिबल गोलीकांड केस की जांच लगभग पूरी कर चुकी है और इस केस में पूर्व डीजीपी सुमेध सिंह सैनी, निलंबित आईजी परमराज सिंह उमरानंगल, पूर्व एसएसपी चरनजीत सिंह शर्मा, एसपी बिक्रमजीत सिंह, एसएचओ बाजाखाना अमरजीत सिंह कुलार समेत कुल 7 के खिलाफ चार्जशीट भी दाखिल की जा चुकी है। इसके अलावा इस केस में एक आरोपी इंस्पेक्टर को वादा माफ गवाह बनाया गया था, जबकि एक के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करना बाकी है। 
... और पढ़ें

चंडीगढ़: कुत्ते को डंडे से पीटने का आरोपी गिरफ्तार, डीजीपी के निर्देश पर कार्रवाई 

चंडीगढ़ के खुड्डा जस्सू में कुत्ते पर बेरहमी से डंडे से बरसाने वाले युवक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी गुरदर्शन सिंह के खिलाफ सारंगपुर थाना पुलिस ने आईपीसी की धारा 429 के तहत मामला दर्ज किया है। हालांकि आरोपी को पुलिस ने बाद में जमानत पर छोड़ दिया है। मामले में डीजीपी संजय बेनीवाल ने आरोपी के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए थे। 

शुक्रवार को गुरदर्शन के खिलाफ एसपीसीए की तरफ से प्रीवेंशन ऑफ क्रूएलिटी एनिमल एक्ट (1960) के तहत चालान भी काटा गया था। पूछताछ में उसने बताया था कि कुछ दिन पहले इसी कुत्ते ने उसे काट लिया था, जिस कारण उसने उसे पीटा था। 


गौरतलब है कि मोगली एड संस्था की तरफ से ट्वीटर पर 44 सेकेंड का एक वीडियो शेयर किया गया था। वीडियो में एक युवक बड़ी बेरहमी से बीच रास्ते कुत्ते पर डंडे बरसा रहा था। डंडे के प्रहार से कुत्ते की आंखें बाहर निकल आईं। कुत्ते के चिल्लाने की आवाज सुनकर पास के घर से एक युवक बाहर निकला और उस युवक का विरोध किया। इसके बाद घायल कुत्ते का सेक्टर 38 स्थित पेट अस्पताल में इलाज करवाया गया। मोगली एड संस्था की तरफ से इसकी शिकायत सारंगपुर थाने में देकर युवक के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई थी।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us