पीयू सीनेट का कार्यकाल महज 11 दिन बचा, हाईकोर्ट के जरिए खुल सकता है अब चुनाव का रास्ता

सुशील कुमार, चंडीगढ़ Published by: खुशबू गोयल Updated Tue, 20 Oct 2020 11:30 AM IST
Punjab University
Punjab University
विज्ञापन
ख़बर सुनें
पंजाब यूनिवर्सिटी सीनेट का कार्यकाल महज 11 दिन बचा है। वीसी ने कोरोना का हवाला देते हुए चुनाव स्थगित कर दिए हैं। अब गोयल ग्रुप चुनाव कराने के लिए अड़ गया है। इसके लिए गोयल गुट हाईकोर्ट की शरण में जाने की तैयारी कर चुका है। हाईकोर्ट से जुड़े सीनेटर कहते हैं कि यदि याचिका दायर होती है तो कुछ न कुछ राहत मिल सकती है। किस आधार पर हाईकोर्ट से राहत मिल सकती है, इस पर रणनीति तैयार की जा रही है।
विज्ञापन


उधर, सूत्रों का कहना है कि केंद्र से इशारा मिल गया है कि अब सीनेट नहीं रहेगी। बोर्ड ऑफ गवर्नेंस काम करेगी। सीनेट के लिए मनोनीत सदस्य और मौजूदा सीनेटर चाहते हैं कि जल्द से जल्द चुनाव हों ताकि शिक्षकों और अन्य समस्याओं को निपटाया जा सके। सीनेट का चुनाव 2016 में चार साल के लिए हुआ था। 31 अक्तूबर को सीनेट का कार्यकाल खत्म होने जा रहा है। 


पीयू में ये है सीनेट की स्थिति 
91 सीटें चुनाव व मनोनयन के जरिए भरी जाती हैं। चांसलर कार्यालय से मनोनीत होने वाले सदस्यों की संख्या 35 होती है। वहीं 10 सदस्य पदेन पदाधिकारी होते हैं। बाकी सीटों के लिए चुनाव होता है। पीयू कैंपस के जरिए दस सीनेटर चुने जाते हैं। कॉलेजों व रीजनल सेंटरों से भी लोग चुनकर सीनेट में पहुंचते हैं। सीनेट की प्रक्रिया पुरानी और जटिल है। माना जाता है कि पीयू की सीनेट का ढांचा अपने में अलग है। इस सीनेट के जरिए तमाम निर्णय हुए और कई निर्णयों का पलटा भी गया।

जानकारों का कहना है कि सीनेट के शुरुआत चरण ठीक रहे। यहां गुटबाजी की बजाय कामों को महत्व दिया जाता रहा है, लेकिन दो दशक से राजनीति हावी होती गई। आज सीनेट में कई ग्रुप बन चुके हैं। हर बैठक में हंगामा होता है। अपने-अपने लोगों को आगे बढ़ाने की तैयारी की जाती है। इन सभी कारणों के चलते अब सीनेट सुधार की ओर कदम बढ़ाया जा रहा है। सूत्रों का कहना है कि नवंबर में सीनेट रिफॉर्म का कार्य हो जाएगा। 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

सीनेट सुधार का प्रस्ताव भाजपा ग्रुप कर रहा था तैयार

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00