गर्व : चंडीगढ़ की शूटर गौरी श्योराण बनीं ग्लोबल एंबेसडर, अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर मिला सम्मान

संवाद न्यूज एजेंसी, चंडीगढ़ Published by: निवेदिता वर्मा Updated Sun, 18 Apr 2021 01:51 PM IST

सार

  • चंडीगढ़ की शूटर गौरी श्योराण को इंटरनेशनल वुमन क्लब ने बनाया 2021 का ग्लोबल एंबेसडर 
  • देश की बेहतरीन शूटर में शुमार है गौरी का नाम
  • कोरोना काल के दौरान पहले भी गौरी को मिल चुके हैं दो अवार्ड 
शूटर गौरी श्योराण।
शूटर गौरी श्योराण। - फोटो : संवाद न्यूज एजेंसी
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर चंडीगढ़ की शूटर गौरी श्योराण को इंटरनेशनल वुमन क्लब ने 2021 का ग्लोबल एंबेसडर नियुक्त किया है। एक ऑनलाइन कार्यक्रम में चेक रिपब्लिक के सहयोग से एक्वाडोर की पूर्व राष्ट्रपति रोसिला ने गौरी को ग्लोबल एंबेसडर बनाया।
विज्ञापन


क्लब ने विश्व में सात महिलाओं को ग्लोबल एंबेसडर बनाया है। भारत से गौरी श्योराण अकेली हैं, जिन्हें यह सम्मान मिला है। कोरोना काल में महिलाओं और लोगों की सेवा के साथ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उपलब्धियों के चलते उन्हें सम्मान दिया गया। 

उपलब्धि पाकर गौरी श्योराण काफी खुश हैं। उन्होंने कहा कि देश की तरक्की के लिए महिलाओं की भागीदारी बहुत जरूरी है। यह तरक्की तब ही आएगी जब सभी कंधे से कंधा मिलाकर चलेंगे। बेटियों की काबिलियत को पहचानते हुए हर मां-बाप को उसके सपनों को जरूर पूरा करना चाहिए। 

गौरी श्योराण के पिता जगदीप सिंह मौजूदा समय में हरियाणा सरकार में वित्त सचिव के पद पर तैनात हैं। बेटी को मिले सम्मान से वह खुश हैं। उन्होंने कहा कि कि देश और विदेश अपने खेल और मानवता की सेवा करते हुए बेटी ने हमेशा से ही देश का मान बढ़ाया है। कोरोना महामारी के दौरान गौरी को यह तीसरा सम्मान मिला है। मुझे अपनी बेटी पर नाज है।  

देश की बेहतरीन शूटर 

गौरी श्योराण देश की टॉप महिला शूटिंग खिलाड़ियों की लिस्ट में शामिल हैं। वह पिस्टल इवेंट में बेहतरीन निशाने के लिए जानी जाती हैं। मौजूदा समय में वर्ल्ड यूनिवर्सिटी चैंपियन हैं। वर्ल्ड कप और साउथ एशिया गेम्स की गोल्ड मेडलिस्ट हैं। अभी तक 35 अंतरराष्ट्रीय शूटिंग प्रतियोगिता में भाग लेकर 26 मेडल बटोर चुकी हैं। 

कोरोना काल के दौरान पहले भी गौरी को मिल चुके हैं दो अवार्ड 
गौरी को इससे पहले इंटरनेशनल वुमन क्लब ने इंटरनेशनल गर्ल्स विद पोटेंशियल फॉर एक्सीलेंस अवार्ड दिया था। यह अवार्ड यूएसए चैप्टर की ओर से 2020 में दिया गया था। इसके अलावा उन्हें कोरोना महामारी में रिपब्लिक ऑफ घाना की ओर से अवार्ड दिया जा चुका है। यह अवार्ड उन्हें नई दिल्ली के उच्चायुक्त माइकल एएनएन ओक्वेय एस्क ने दिया था। गौरी ने कोरोना के खिलाफ जंग में लोगों की मदद के लिए हरियाणा सीएम फंड में एक लाख रुपये की इनामी राशि भी जमा कराई थी। उनका भाई विश्वजीत सिंह भी इंटरनेशनल लेवल का शूटर है। 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00