लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Chandigarh ›   Five sports person of Haryana got Arjuna Award

Haryana News: हरियाणा के पांच खिलाड़ियों को मिला अर्जुन अवॉर्ड, बोले- मेहनत करने की प्रेरणा मिलेगी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़ Published by: ajay kumar Updated Thu, 01 Dec 2022 12:56 AM IST
सार

अमित पंघाल की जगह उनकी मां ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के हाथों पुरस्कार ग्रहण किया। खेल क्षेत्र का यह बड़ा सम्मान मिलने पर सभी खिलाड़ियों ने कहा कि इससे मनोबल बढ़ेगा और आगे और मेहनत करने की प्रेरणा मिलेगी।  

सरिता मोर, अमित पंघाल व अंशु मलिक।
सरिता मोर, अमित पंघाल व अंशु मलिक। - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन

विस्तार

बुधवार शाम आयोजित समारोह में देश के 25 खिलाड़ियों को अर्जुन अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। इनमें हरियाणा के पांच खिलाड़ी भी शामिल हैं। ये खिलाड़ी मुक्केबाज अमित पंघाल, एथलीट सीमा पूनिया, कुश्ती खिलाड़ी अंशु मलिक व सरिता मोर और बैडमिंटन के पैरा खिलाड़ी तरुण ढिल्लों हैं। अमित पंघाल की जगह उनकी मां ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के हाथों पुरस्कार ग्रहण किया। खेल क्षेत्र का यह बड़ा सम्मान मिलने पर सभी खिलाड़ियों ने कहा कि इससे मनोबल बढ़ेगा और आगे और मेहनत करने की प्रेरणा मिलेगी।  



राष्ट्रपति से बोलीं पंघाल की मां- आप कभी घर आइए, खिलाएंगे बाजरे की रोटी 
बॉक्सर अमित पंघाल की मां उषा ने बुधवार को राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से मुलाकात में उन्हें घर आने का निमंत्रण दिया। इस दौरान उन्होंने कहा कि आप कभी घर आइए, आपको बाजरे की रोटी खिलाएंगे। देसी पौष्टिक खाने का स्वाद चख कर बताना। अमर उजाला से विशेष बातचीत में परिजनों ने बेटे को मिले सम्मान पर खुशी साझा की। मायना निवासी किसान बिजेंद्र सिंह की पत्नी उषा ने कहा कि मेरे बेटे अमित ने बॉक्सिंग में शानदार प्रदर्शन कर पदक जीते हैं। उसकी मेहनत की बदौलत ही इतना बड़ा सम्मान मिल रहा है। 




राष्ट्रपति ने उन्हें अपने हाथों से अवॉर्ड दिया है। यह हमारे लिए गौरव की बात है। पिता ने भी बेटे की इस उपलब्धि पर प्रसन्नता जाहिर की। बेटे को अवॉर्ड मिलता देख माता-पिता व बड़ा भाई अजय भावुक हो उठे। चाचा राजनारायण ने कहा कि अमित ने शानदार प्रदर्शन किया है। हमें उस पर नाज है। बेटे ने पूरे परिवार का नाम व मान देश ही नहीं, दुनिया में भी बढ़ाया है। 

बॉक्सर अमित पंघाल ने कहा कि अर्जुन अवॉर्ड खेल क्षेत्र का बड़ा सम्मान है। भले यह देरी से मिला, मगर बड़ा सम्मान मिला है। इससे मनोबल बढ़ेगा। भीम अवॉर्ड के बाद अर्जुन अवॉर्ड मिला है। पहले अर्जुन अवॉर्ड मिलना था। इसके लिए संघर्ष भी किया। कोच अनिल धनखड़ ने भी इसके लिए काफी प्रयास किए। अवॉर्ड मिलने से उन्हें सबसे ज्यादा खुशी हुई है। यह सम्मान आने वाली स्पर्धाओं में जोश बढ़ाने का काम करेगा। मेरा लक्ष्य देश के लिए ओलंपिक में स्वर्ण पदक लाना है। इसके लिए और बड़ी मेहनत करूंगा।

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00