लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Punjab ›   Amritsar News ›   Former Deputy CM OP Soni appeared before Vigilance in Amritsar

Punjab: पूर्व डिप्टी सीएम सोनी से दो घंटे पूछताछ, संपत्ति का ब्योरा तलब, सात दिन में देना होगा जवाब

संवाद न्यूज एजेंसी, अमृतसर (पंजाब) Published by: निवेदिता वर्मा Updated Tue, 29 Nov 2022 01:00 PM IST
सार

साल 2007 से लेकर 2022 के बीच सोनी की संपत्ति में वृद्धि होने की शिकायत विजिलेंस को किसी ने की थी। जिसमें कहा गया था कि कांग्रेस सरकार के दौरान विभिन्न पदों पर रहते हुए सोनी ने आय स्रोतों से ज्यादा संपत्ति बनाई है।

विजिलेंस के सामने पेश हुए पूर्व उपमुख्यमंत्री ओपी सोनी।
विजिलेंस के सामने पेश हुए पूर्व उपमुख्यमंत्री ओपी सोनी। - फोटो : संवाद न्यूज एजेंसी।
विज्ञापन

विस्तार

आय से अधिक संपत्ति के मामले में पंजाब के पूर्व डिप्टी सीएम ओमप्रकाश सोनी से मंगलवार को विजिलेंस दफ्तर में करीब दो घंटे पूछताछ हुई। इस दौरान विजिलेंस ने उनसे प्रॉपर्टी और आय से संबंधित कई सवाल पूछे। साथ ही, उन्हें एक प्रोफार्मा भी दिया है, जिसमें उन्हें अपनी और परिवार की संपत्ति का ब्योरा सात दिन के भीतर भरकर देना होगा।



 इस दौरान विजिलेंस दफ्तर से बाहर निकलते वक्त उन्होंने मीडियाकर्मियों से बातचीत की। उन्होंने बताया, उन्हें किसी का भय नहीं है। वह आठ से सात बार चुनाव लड़ चुके हैं। हर बार चुनाव के दौरान शपथ पत्र में संपत्ति का ब्योरा भरकर देते हैं। चुनाव के दौरान जो संपत्ति दिखाई थी, आज भी उतनी प्रॉपटी है। जो है, वो सबके सामने हैं। विजिलेंस ने जो भी रिकॉर्ड और कागजात मांगे हैं, उसे तय समय पर उपलब्ध करवा दिया जाएगा। इस मामले में जांच एजेंसी को पूरा सहयोग दिया जाएगा।


विजिलेंस को सोनी के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति जुटाने की शिकायत मिली थी। विजिलेंस ने उन्हें नोटिस जारी कर 28 नवंबर को तलब किया था, लेकिन वह उस दिन न आकर मंगलवार को पेश हुए।

चन्नी सरकार में थे डिप्टी सीएम
ओपी सोनी चरणजीत सिंह चन्नी की सरकार में सुखजिंदर सिंह रंधावा के साथ दूसरे डिप्टी सीएम थे। वह पंजाब कांग्रेस के दिग्गज नेता हैं। हालांकि बीते विधानसभा चुनाव में उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। वह कैप्टन अमरिंदर की सरकार में स्कूल शिक्षा मंत्री भी रहे हैं। वह अमृतसर से चुनाव लड़ते रहे हैं।
 

पूर्व डिप्टी सीएम को अपने परिवार की संपत्ति का ब्योरा देने को कहा गया है। इसके लिए उन्हें एक प्रोफार्मा दिया गया है, जो सात दिन के भीतर भरकर देना होगा। वरिंदर सिंह संधू, एसएसपी, विजिलेंस ब्यूरो।

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00