लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Chandigarh ›   Haryana government withdraws the condition of e-name portal

Haryana: सरकार ने ई-नेम पोर्टल की शर्त वापस ली, आढ़तियों का आमरण अनशन खत्म, नहीं होगी प्रदेशव्यापी हड़ताल

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़ Published by: ajay kumar Updated Mon, 26 Sep 2022 11:32 PM IST
सार

करनाल में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के आग्रह पर आढ़तियों ने करनाल में चल रहा आमरण अनशन खत्म कर दिया है। वहीं प्रदेशव्यापी आंदोलन भी वापस ले लिया है। नई अनाज मंडी में धरना स्थल पर आमरण अनशन पर बैठे एसोसिएशन के पदाधिकारियों को पूर्व मुख्यमंत्री ने जूस पिलाया।

अनशन पर बैठे आढ़ती।
अनशन पर बैठे आढ़ती। - फोटो : संवाद न्यूज एजेंसी
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

हरियाणा में पिछले आठ दिनों से चल रही आढ़तियों की हड़ताल को देखते हुए हरियाणा सरकार ने ई-नेम पोर्टल की शर्त को वापस ले लिया है। अब पुराने तरीके से ही मंडियों में खरीद हो सकेगी। आढ़ती एसोसिएशन ने सरकार का आभार जताया और कहा कि अब एक अक्तूबर से प्रदेश की सभी मंडियों में सुचारू रूप से फसलों की खरीद हो सकेगी। 



हरियाणा सरकार ने इस साल खरीद सीजन से पहले शर्त लगाई थी कि एमएसपी के बिना वाली फसलों की खरीद ई-नेम पोर्टल के माध्यम से होगी। साथ ही मंडियों में ऐसी फसलों को लाने के लिए ई-नेम पोर्टल के माध्यम से ही गेट पास काटा जाएगा। इनमें बासमती धान भी शामिल है, क्योंकि सरकार पीआर (मोटा चावल) की ही एमएसपी पर खरीद करती है, जबकि अन्य किस्म के चावल को राइस मिलर्स या आढ़ती खरीद करते हैं। 


इस फैसले के विरोध में प्रदेशभर में आढ़तियों ने हड़ताल शुरू कर दी थी। पिछले तीन दिन से आढ़ती आमरण अनशन पर बैठे थे। इस संबंध में शनिवार को आढ़तियों और प्रदेश के कृषि मंत्री जेपी दलाल की बैठक भी हुई थी और कुछ चीजों को लेकर सहमति बनी थी। रविवार शाम को सरकार की ओर से ई-नेम पोर्टल की शर्त को वापस ले लिया गया। अब मंडियों में पहले की तरह ही खरीद होगी।

आढ़तियों का आमरण अनशन खत्म, प्रदेश व्यापी हड़ताल वापस ली 
उधर, करनाल में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के आग्रह पर आढ़तियों ने करनाल में चल रहा आमरण अनशन खत्म कर दिया है। वहीं प्रदेशव्यापी आंदोलन भी वापस ले लिया है। नई अनाज मंडी में धरना स्थल पर आमरण अनशन पर बैठे एसोसिएशन के पदाधिकारियों को पूर्व मुख्यमंत्री ने जूस पिलाया। साथ ही उनकी मांगों को विधानसभा में उठाने का आश्वासन दिया। 

हरियाणा स्टेट अनाज मंडी आढ़ती एसोसिएशन के चेयरमैन रजनीश चौधरी ने बताया कि सरकार द्वारा बासमती से ई-नेम वापस कर लिया गया है और पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के आश्वासन के बाद करनाल में चल रहे आमरण अनशन को खत्म कर दिया है। वहीं प्रदेशव्यापी हड़ताल भी वापस ले ली है। मंगलवार से प्रदेश की सभी मंडियों में प्राइवेट खरीद शुरू की जाएगी। 

पूर्व मुख्यमंत्री ने आमरण अनशन पर बैठे प्रदेशाध्यक्ष अशोक गुप्ता और रजनीश चौधरी सहित अन्य अनशनकारियों को जूस पिलाकर उनका अनशन स्थगित करवाया। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि वे विधानसभा और विधानसभा के बाहर किसानों और आढ़तियों की लड़ाई अपने संगठन के साथ लड़ेंगे। यदि उनकी सरकार आई तो वह उनकी सभी मांगों को पूर्ण कर देंगे। 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00