विज्ञापन
विज्ञापन
गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें
Myjyotish

गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

हरियाली के प्रहरी: पहले उठाते हैं कूड़ा फिर लगाते हैं बूटा, पीयू के इन प्रोफेसरों का योगदान है महान

आज हम हरियाली के एक ऐसे प्रहरी से आपका परिचय करवाने जा रहे हैं जिनके शोध तो देश-दुनिया में प्रसिद्ध हैं हीं, साथ ही पर्यावरण बचाने के लिए बेहतरीन कार्...

24 अक्टूबर 2021

Digital Edition

पटियाला: कारों की आमने-सामने की टक्कर में बुजुर्ग महिला, दोहते समेत चार की मौत, दो गंभीर घायल

नाभा-भादसों रोड पर रविवार को दोपहर दो कारों की आमने-सामने की टक्कर में एक बुजुर्ग महिला, उसके आठ साल के दोहते समेत चार लोगों की मौत हो गई, जबकि दो अन्य गंभीर घायल हो गए। घायलों को पटियाला के एक निजी अस्पताल में दाखिल कराया गया है। 

मृतकों में बलैनो कार सवार बुजुर्ग गुरबचन कौर की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि उसके तीन परिवारिक मेंबर गंभीर घायल हो गए। इनमें से बुजुर्ग महिला के आठ साल के दोहते उदयविराज की बाद में पीजीआई चंडीगढ़ में मौत होने की सूचना है। स्विफ्ट कार सवार दो लोगों की भी मौके पर ही मौत हो गई। इनमें जतिंदर कुमार निवासी गांव मटोरड़ा शांमिल है और एक मृतक की खबर लिखे जाने तक पहचान नहीं हो सकी थी।

संबंधित पुलिस चौकी रोहटी पुल से एसआई जग्गा सिंह ने बताया कि बलैनो कार सवार सभी लोग पंचकूला में एक भोग समागम में हिस्सा लेने के बाद वापस लौट रहे थे। पुलिस के मुताबिक बुजुर्ग महिला गुरबचन कौर के दामाद की विदेश में मौत हो गई थी। वहां से वापसी के वक्त रास्ते में नाभा-भादसों रोड पर रोहटी पुल के नजदीक एक तेज रफ्तार स्विफ्ट कार ने गलत साइड में आकर उनकी बलैनो कार में सीधे टक्कर मारी। यह टक्कर इतनी भीषण थी कि बुजुर्ग गुरबचन कौर की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि कार में सवार एक अन्य महिला, एक युवक व बुजुर्ग महिला का दोहता सवार थे। जिन्हें पटियाला के एक निजी अस्पताल में दाखिल कराया गया था। लेकिन वहां आठ साल के उदय विराज की गंभीर हालत को देखते हुए डाक्टरों ने उसे पीजीआई चंडीगढ़ रेफर कर दिया। जहां खबर लिखे जाने तक बच्चे की मौत भी हो गई थी। पुलिस के मुताबिक अभी जांच की जा रही है कि हादसा कैसे हुआ। हो सकता है कि तेज बारिश कारण हादसा हुआ हो। लेकिन जांच के बाद ही मामले में कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

हरसिमरत कौर का तंज: नवजोत सिद्धू के आने पर कॉमेडी शो बनी कांग्रेस, सोनी टीवी बनाए सीरियल

करवाचौथ के एक समागम में रविवार को स्थानी होटल में पहुंचीं पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं सांसद हरसिमरत कौर बादल ने कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू के आने से कांग्रेस कॉमेडी शो बन चुकी है। प्रदेश के नए मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी सिर्फ फोटोशूट मंत्री हैं। मुंबई से सोनी टीवी वाले आकर कांग्रेस पर सीरियल बनाएं।

सांसद ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि साढे़ चार वर्ष तक कांग्रेस सरकार ने पंजाब के लिए कुछ नहीं किया और अब कैप्टन अमरिंदर सिंह को बादलों के साथ सांठगांठ होने का बहाना बनाकर कुर्सी से उतार दिया। अब नए मुख्यमंत्री प्रदेश के लिए काम करने के बजाय अपना फोटोशूट करवाकर सिर्फ सोशल मीडिया और विज्ञापन तक सीमित रह गए हैं। इससे प्रदेश की जनता पिस रही है।

हरसिमरत कौर ने कहा कि पंजाब में कांग्रेस सरकार के राज में मंडियों से किसानों की फसल नहीं खरीद की जा रही। इसके अलावा जिन किसानों की फसल गुलाबी सुंडी से बर्बाद हुई उनको अभी तक कोई मुआवजा भी जारी नहीं किया गया। प्रधानमंत्री योजना के तहत जिन गरीब लोगों का उपचार होता था वो भी सरकार से पैसे न मिलने कारण बंद हो गया। वित्त मंत्री मनप्रीत बादल अपने शहर में ही फॉगिंग नहीं करवा पा रहे, जिस कारण शहर के हर घर में व्यक्ति बुखार एवं डेंगू पीड़ित हो रहा है। कांग्रेस अब अंदरूनी कलह के कारण मजाक बन कर रह गई। लोग 2022 के चुनाव का इंतजार कर रहे हैं।
... और पढ़ें

क्रिकेट का क्रेज: भारत-पाकिस्तान के बीच हाई वोल्टेज मुकाबला आज, चंडीगढ़ के होटलों और बाजारों में बड़ी स्क्रीन पर देख सकेंगे मैच

वर्ल्ड कप टी-20 मुकाबले में रविवार को चिरप्रतिद्वंद्वी भारत-पाकिस्तान की टीमें आमने-सामने होंगी। इस मैच के लिए प्रशंसक बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। चंडीगढ़ के होटलों की बड़ी स्क्रीन से लेकर लोग अपने घरों की टीवी स्क्रीन पर यह मुकाबला देखेंगे। भारत और पाकिस्तान की टीमें पांच साल बाद आमने-सामने होंगी। इससे पहले दोनों टीमों के बीच वर्ष 2016 के विश्व कप में भिड़ंत हुई थी, जिसमें भारत छह विकेट से जीता था। शहर में कई होटलों में हाई वोल्टेज मुकाबला बड़ी स्क्रीन पर देखा जाएगा। वहीं, क्रिकेट प्रेमियों ने सेक्टर-30 के शक्ति मंदिर में हवन कर भारत की जीत की दुआएं मांगीं।


सेक्टर-30 के शक्ति मंदिर में जीत के लिए दुआ करते क्रिकेट प्रेमी।

ये भी पढ़ें-
हरियाणा: विदेशी निवेश बढ़ाने के लिए अफ्रीकी देशों पर सरकार की नजर, हरियाणा-अफ्रीका कनक्लेव में पूर्वी-मध्य अफ्रीका के 18 देशों के राजदूत बुलाए

इसके लिए रेस्टोरेंट वालों ने अपना मेन्यू भी बनाया है, ताकि लोंग मैच के दौरान क्रिकेट से जुड़े फूड का भी भरपूर स्वाद ले सकें। वहीं, सेक्टर-22 की मेन मार्केट में किरण सिनेमा के साथ बड़ी स्क्रीन लगाई गई है। मार्केट में खरीदारी करने वाले लोग इस महामुकाबले का आनंद ले सकेंगे। वहीं, मनीमाजरा के निवासी अंकित अरोड़ा कन्नू की ओर से समाधि गेट स्थित श्री युगल विहार निंकुज मंदिर के बाहर बड़े प्रोजेक्टर लगाकर लोगों को मैच दिखाया जाएगा। शहर के बच्चों ने भी इस मैच को देखने के लिए टीम इंडिया को अभी से चियर करना शुरू कर दिया है।

ये भी पढ़ें-ऐलनाबाद उपचुनाव: चुनाव प्रभारी सुभाष बराला ने किया दावा, बोले-हलके में हरियाणा सरकार ने सात साल में खर्चे 700 करोड़

भारत का पलड़ा भारी, लेकिन नहीं बरतनी होगी ढील
भारतीय टीम के दाएं हाथ के पूर्व बल्लेबाज और शहर के रहने वाले दिनेश मोंगिया का कहना है कि भारत-पाक मैच हमेशा से ही हाई वोल्टेज वाला होता है। पिछले साल के टी-20 रिकॉर्ड को देखते हुए भारत का पलड़ा भारी हैं। हमारे पास बेहतर बल्लेबाज और गेंदबाज हैं। इसके बावजूद हमें इस मुकाबले में बिल्कुल भी ढील नहीं बरतनी होगी, क्योंकि टी-20 मुकाबला आखिरी गेंद पर भी पलट सकता है।

टीम इंडिया फेवरेट, बेहतरीन मुकाबला देखने को मिलेगा
शहर के रहने वाले आईपीएल और रणजी खिलाड़ी प्रशांत चोपड़ा ने कहा कि भारत-पाक मैच को देखने के लिए वह उत्सुक हैं। इस मुकाबले को देखने के लिए विश्व के सभी क्रिकेट प्रेमी इंतजार करते हैं। मौजूदा समय में भारत की टीम मैच जीतने की फेवरेट हैं। मुकाबला बेहतर होने वाला है।

ये भी पढ़ें-हरियाणा: तीन विवि में वर्तमान सत्र से हिंदी में होगी बीटेक की पढ़ाई, अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद ने दी मान्यता

आंकड़ों में भारत-पाकिस्तान मैच
भारत और पाकिस्तान टी-20 वर्ल्ड कप में पांच बार भिड़ चुके हैं। भारत ने इन सभी मैचों में पाकिस्तान को हराया। ओवरऑल टी-20 में दोनों टीम आठ बार आमने-सामने आ चुकी हैं। इसमें टीम इंडिया ने सात और पाकिस्तान ने एक मैच जीता है। सात में से एक मैच (2007) भारत ने टाई के बाद बॉल आउट में जीता था।

लुधियाना: टीम इंडिया की जीत के लिए हवन यज्ञ
दुबई में भारत और पाकिस्तान के बीच होने जा रहे टी-20 क्रिकेट मैच में भारत की जीत के लिए भारतीय जनता पार्टी पंजाब के कार्यकारी सदस्य एडवोकेट बिक्रमजीत सिंह सिद्धू की अगुवाई में हवन यज्ञ करवाया गया। यह यज्ञ हैबोवाल के जोशी नगर स्थित शिव मंदिर में करवाया। इस मौके पर बिक्रमजीत सिंह ने कहा कि आज अरदास की गई है कि मैच में भारत शानदार जीत दर्ज करे। 

भारत के 130 करोड़ लोगों की दुआएं टीम इंडिया के साथ हैं। इस मौके पर जोशी नगर हैबोवाल के इंचार्ज संदीप कुमार जुनेजा, वार्ड 81 के युवा नेता जतिन शर्मा, रजत सूद, अनिलेश मिश्रा, कृष्ण लाल सहगल, राजिंदर शर्मा, मनीश शर्मा, बलजिंदर खटीक, दीपक यादव सहित अन्य लोग मौजूद रहे। 
... और पढ़ें

उपलब्धि: पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ के डॉ. विशाल शर्मा विश्व के शीर्ष दो फीसदी वैज्ञानिकों में शामिल, 16 और वैज्ञानिक भी रैंकिंग में

पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ के नाम एक और उपलब्धि जुड़ गई है। फॉरेंसिक साइंस विभाग के अध्यक्ष डॉ. विशाल शर्मा विश्व के शीर्ष दो फीसदी वैज्ञानिकों में शामिल हो गए हैं। उनका कार्य क्षेत्र अप्लाई फिजिक्स, फॉरेंसिक, मेटीरियल्स रहा है। इनके अलावा 16 अन्य वैज्ञानिक भी दो फीसदी वैज्ञानिकों में शामिल हुए हैं। यूएसए की स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी ने वैज्ञानिकों की विश्व रैंकिंग जारी की है। पिछले एक साल के डाटा के आधार पर वैज्ञानिक इस नतीजे पर पहुंचे हैं।

यह भी पढ़ें-
ट्विटर वार: मुस्तफा ने पूर्व डीजीपी-पूर्व सीएस के साथ अरूसा का फोटो अपलोड कर पूछे सवाल, कैप्टन ने भी दिया जवाब

विभिन्न क्षेत्रों के एक लाख वैज्ञानिकों का चयन किया गया है। शोध के परिणाम, उनका प्रभाव आदि पर यह रैंकिंग जारी हुई है। इस सूची में पीयू के प्रो. संजय छिब्बर, प्रो. एसके मेहता, प्रो. नवनीत कौर, प्रो. आरके कोहली, प्रो. रजत संधीर, प्रो. रोहित शर्मा, प्रो. एसके त्रिपाठी, यूआईपीएस विभाग के प्रो. अनिल कुमार, यूआईईटी के डॉ. विशाल गुप्ता, यूआईपीएस विभाग के ए कुहड़, डॉ. गजांनद शर्मा आदि शामिल हैं।

यह भी पढ़ें-चंडीगढ़ प्रशासन की नाकामी: 10 संपर्क सेंटरों पर हो रहे ओपीडी पंजीकरण की लोगों को नहीं दी जानकारी, जीएमएसएच-16 में बढ़ रही भीड़

पीयू के बड़ी संख्या में प्रोफेसरों के नाम इस रैंकिंग में आने से सभी खुश हैं। इस सूची को देखकर अन्य वैज्ञानिक भी और बेहतर कार्य करने की तैयारी में हैं, ताकि उनका नाम भी इसमें शामिल हो। हर साल यह रैंकिंग स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी की ओर से जारी की जाएगी।
... और पढ़ें

नई पार्टी के एलान से पहले कैप्टन का बड़ा बयान: कहा- पहले किसानों की समस्या हल करे केंद्र, तभी भाजपा से होगी गठबंधन पर बातचीत

पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़
पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह अगले महीने अपनी नई राजनीतिक पार्टी का एलान करेंगे। इन दिनों वह पार्टी के गठन की तैयारियों में जुटे हैं। भविष्य में उनका कौन सहयोगी होगा, इसका भी खुलासा उन्होंने कर दिया है। कैप्टन को भाजपा के साथ गठबंधन से गुरेज नहीं है लेकिन कांग्रेस उन्होंने कुबूल नहीं है। भाजपा के साथ कैप्टन अमरिंदर सिंह की नई राजनीतिक पार्टी का गठबंधन सशर्त होगा। कैप्टन की यह शर्त क्या है, इसकी जानकारी उन्होंने खुद अपने फेसबुक पेज पर दी है। 

किसानों की समस्या हल के बाद ही गठबंधन की पहल
पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के लिए किसानों का मुद्दा बेहद अहम हैं। इनके समाधान के बगैर वह भाजपा से नाता नहीं जोड़ेंगे। अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर कैप्टन ने लिखा कि केंद्र सरकार को पहले किसानों के समस्याओं का समाधान करना चाहिए, इसके बाद भारतीय जनता पार्टी से किसी भी राजनीतिक समझौते पर चर्चा की जाएगी। पंजाब में भाजपा को एक कद्दावर नेता की तलाश है। ऐसे में यह स्पष्ट है कि कैप्टन को अपने साथ लाने से पहले भाजपा को किसानों का मुद्दा हल करना होगा। 



नाराज नेता बनेंगे कैप्टन के सिपाही
सीएम पद से इस्तीफा देने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह पंजाब में अपनी सियासी फौज खड़ी करेंगे। कैप्टन की इस फौज का हिस्सा दूसरे दलों के नाराज नेता बनेंगे। कहा जा रहा है कि पंजाब कांग्रेस के कई नेता कैप्टन की पार्टी का हिस्सा बन सकते हैं। विधानसभा टिकट बंटवारे के दौरान पंजाब कांग्रेस में असंतोष पनपने की आशंका है। अगर ऐसा होता है तो अमरिंदर सिंह इस अवसर को भुनाने की कोशिश जरूर करेंगे। वहीं शिअद से नाराज टकसाली नेताओं पर भी कैप्टन का फोकस है। हाल ही में कैप्टन अमरिंदर सिंह ने यह दावा किया था कि कई विधायक उनके संपर्क हैं। 
... और पढ़ें

अच्छी खबर: चंडीगढ़ की धरोहर रहे सिनेमाघर अब लेंगे मल्टीप्लेक्स का रूप, नीलम और केसी थिएटर के डिजाइन को मिली मंजूरी

सिटी ब्यूटीफुल के सिनेमाघर नीलम, केसी और निर्माण थिएटर मल्टीप्लेक्स का रूप लेंगे। डिजाइन तैयार हो गया है। हालांकि डिजाइन तो किरण सिनेमा का भी तैयार है, लेकिन हेरिटेज इमारत होने के कारण पेच फंसा है। प्रशासन को उम्मीद है कि इस बदलाव से सेक्टर-17 अपनी पुरानी रौनक को पा सकेगा। वहीं, लोगों को मनोरंजन के साथ खाने-पीने और खरीदारी के विकल्प भी मिलेंगे। सेक्टर-17 में स्थित नीलम सिनेमा शहर का सबसे पुराना सिनेमाघर है। इसी तरह केसी थिएटर में भी एक समय काफी लोग जुटते थे।

ये भी पढ़ें-
चंडीगढ़ प्रशासन की नाकामी: 10 संपर्क सेंटरों पर हो रहे ओपीडी पंजीकरण की लोगों को नहीं दी जानकारी, जीएमएसएच-16 में बढ़ रही भीड़

नीलम में लगाई जाएंगी तीन स्क्रीनें
सिंगल स्क्रीन की जगह अब ये मल्टीप्लेक्स में बदल जाएंगे। नए डिजाइन के अनुसार नीलम सिनेमा में एडवांस साउंड सिस्टम के साथ तीन स्क्रीन होंगी, एक स्क्रीन में 200 से 250 लोगों के बैठने की व्यवस्था है। जबकि केसी मल्टीप्लेक्स में चार स्क्रीन का प्रस्ताव पास हुआ है। वहीं, कई सारे फूड प्वाइंट्स के साथ खरीदारी के विकल्प और रेस्टोरेंट की सुविधा भी होगी। सिनेमाघरों ने मल्टीपलेक्स में ही भूमिगत पार्किंग की व्यवस्था की है।

नए मल्टीप्लेक्स की बाहरी बिल्डिंग में दिखेगी पुरानी झलक
आर्किटेक्ट विनोद जोशी ने बताया कि नीलम, केसी और किरण का डिजाइन उनकी ओर से बनाया गया है। इन मल्टीप्लेक्स के बाहरी बिल्डिंग के डिजाइन को पुरानी से मिलता-जुलता ही बनाया गया है। नीलम, केसी की इंटीरियर बिल्डिंग को नए ढांचे में बदला गया है। इसे नए परिवेश और मांग को ध्यान में रखकर बनाया गया है।

ये भी पढ़ें-पंजाब: 17 साल से कैप्टन अमरिंदर सिंह की दोस्त हैं अरूसा आलम, केंद्रीय एजेंसियों की जांच रिपोर्ट के बाद लगातार मिलता रहा वीजा

मल्टीप्लेक्स बनने में इसलिए हुई देरी
चंडीगढ़ में नए डिजाइन बनाने के बाद उसे प्रशासन से अनुमति दिलाने में बरसों का समय लग जाता है। केसी का डिजाइन पास करवाने में लगभग 6-7 और नीलम को 10 साल लग गए थे।
किरण सिनेमा निजी प्रॉपर्टी के बावजूद हेरिटेज बिल्डिंग में आने के बाद उसमें कोई बदलाव नहीं किया जा सकता है। हालांकि प्रशासन की ओर से उस बिल्डिंग का न तो इस्तेमाल किया जा रहा है और न ही मालिक को उसका किराया या खर्च दिया जा रहा है।

मल्टीप्लेक्स बनने से सेक्टर-17 में लौटेगी रौनक
नीलम सिनेमा और केसी थिएटर के मल्टीप्लेक्स बनने के बाद शहर का दिल कहे जाने वाले सेक्टर-17 में फिर रौनक लौटेगी। क्योंकि सिंगल स्क्रीन की वजह से इन थिएटरों में लोगों का आना कम हो गया था। अब लोगों के लिए सेक्टर-17 नई सुविधाओं के साथ आकर्षण का केंद्र बन जाएगा।

ये भी पढ़ें-गर्व की बात: जयपुर में होने वाली चैलेंजर ट्रॉफी में चंडीगढ़ की काशवी गौतम और आराधना बिष्ट मचाएंगी धमाल

प्रशासन की ओर से केसी सिनेमा और नीलम के मल्टीप्लेक्स डिजाइन को अनुमति दी जा चुकी है। किरण सिनेमा की बिल्डिंग हेरिटेज है, उम्मीद है कि पॉलिसी में संशोधन होने पर उसमें कुछ बदलाव की अनुमति दी जा सकती है। पहले के समय में डिजाइनों को पास करने में काफी लंबा समय लगा है। इसके लिए अब स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत अब डिजिटिलाइजेशन को बढ़ावा दिया जा रहा है, शायद इससे डिजाइन मंजूर होने के कामों में भी तेजी आएगी।  
-कपिल सेतिया, चीफ आर्किटेक्ट, यूटी प्रशासन
... और पढ़ें

गर्व की बात: जयपुर में होने वाली चैलेंजर ट्रॉफी में चंडीगढ़ की काशवी गौतम और आराधना बिष्ट मचाएंगी धमाल

बीसीसीआई की ओर से 2 नवंबर से जयुपर में शुरू होने वाली वुमन चैलेंजर ट्रॉफी अंडर-19 के लिए शहर की काशवी गौतम और आराधना बिष्ट का चयन हुआ है। यूटी क्रिकेट एसोसिएशन (यूटीसीए) के अध्यक्ष संजय टंडन ने बीसीसीआई को बताया कि चयनित दोनों खिलाड़ियों को 25 अक्तूबर को जयपुर में रिपोर्ट करना है। इसके बाद उन्हें एक सप्ताह के क्वारंटाइन से गुजरना होगा। हिमाचल प्रदेश में चुनाव की तैयारियों के बीच यूटीसीए अध्यक्ष संजय टंडन ने नेशनल स्तर के इस टूर्नामेंट में चंडीगढ़ के दोनों महिला खिलाड़ियों के चयन पर खुशी जताते हुए कहा कि इससे शहर की लड़कियों में क्रिकेट के प्रति जागरूकता आएगी। उनके चयन से घरवालों में खुशी का माहौल है।

ये भी पढ़ें-
पंजाब: 17 साल से कैप्टन अमरिंदर सिंह की दोस्त हैं अरूसा आलम, केंद्रीय एजेंसियों की जांच रिपोर्ट के बाद लगातार मिलता रहा वीजा

बेहतरीन ऑलराउंडर हैं काशवी
सेक्टर- 26 स्थित खालसा कॉलेज में बीए प्रथम वर्ष की छात्रा काशवी गौतम सेक्टर- 37 में रहती हैं। इस महिला क्रिकेटर ने यूटीसीए महिला डोमेस्टिक क्रिकेट टूर्नामेंट में रॉक जोन की कप्तानी की थी। इस दौरान काशवी ने तीन मैचों में 62 रन बनाए थे और गेंदबाजी करते हुए 7 विकेट चटकाए थे। वहीं, हाल ही में संपन्न हुई महिला अंडर- 19 में वर्षा बाधित टूर्नामेंट में काशवी ने दो मैच खेलकर तीन विकेट लिए थे, जबकि एकमात्र पारी में निचले क्रम पर खेलते हुए 11 रन बनाए थे। काशवी ने गत सीजन दुबई में आयोजित किए गए महिलाओं के आईपीएल में ट्रेब्लेजर्स टीम का भी प्रतिनिधित्व किया था।

ये भी पढ़ें-अमृतसर: डॉक्टर को धमकी देकर एक करोड़ की रंगदारी लेने आया था गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया का गुर्गा, पुलिस ने दबोचा

डोमेस्टिक टूर्नामेंट की विजेता टीम की कप्तान रही आराधना
जीरकपुर की रहने वाली और खालसा कॉलेज सेक्टर- 26 में बीए प्रथम वर्ष की छात्रा आराधना बिष्ट भी यूटीसीए डोमेस्टिक टूर्नामेंट की विजेता रॉक जोन टीम की कप्तान रही हैं। बिष्ट ने तीन मैचों में 82 रन जड़े, जबकि दो विकेट भी चटकाए थे। बीसीसीआई अंडर-19 टूर्नामेंट में खेली दो पारियों में 101 रन बनाए थे, जबकि 5 विकेट चटकाने में कामयाब रही थीं। 
... और पढ़ें

आरूसा मामले के बीच सिद्धू की चुप्पी टूटी: कहा- पंजाब के वास्तविक मुद्दों पर वापस लौटे, यह हमारी आने वाली पीढ़ियों से जुड़े

पंजाब की राजनीति में आरूसा आलम को लेकर घमासान मचा है। इस बीच नवजोत सिंह सिद्धू ने ट्वीट कर बड़ी बात कह दी। सिद्धू ने कहा कि राज्य को अपने वास्तविक मुद्दों पर वापस आना चाहिए। यह मुद्दे हर पंजाबी और आने वाली पीढ़ियों से जुड़े हैं। उन्होंने जोर देकर कहा कि वह असली मुद्दों को पीछे नहीं हटने देंगे।

नवजोत सिंह सिद्धू का यह बयान पंजाब के कई कांग्रेस नेताओं और पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के बीच पाकिस्तानी पत्रकार अरूसा आलम से दोस्ती को लेकर चल रही जुबानी जंग के मध्य आया है। नवजोत सिंह सिद्धू ने ट्वीट किया कि पंजाब को अपने वास्तविक मुद्दों पर वापस आना चाहिए। यह हर पंजाबी और हमारी आने वाली पीढ़ियों से संबंधित हैं। हम वित्तीय आपातकाल का मुकाबला कैसे करेंगे? मैं वास्तविक मुद्दों पर टिका रहूंगा और उन्हें पीछे नहीं जाने दूंगा।

पंजाब को लेकर चिंतित सिद्धू, सोनिया गांधी को लिख चुके हैं खत
पंजाब के वास्तविक मुद्दों को लेकर नवजोत सिंह सिद्धू काफी चिंतित हैं। कुछ दिन पहले ही नवजोत सिंह सिद्धू ने दिल्ली में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता केसी वेणुगोपाल और हरीश रावत के साथ बैठक की थी। इस दौरान सिद्धू ने 18 सूत्रीय एजेंडे पर चिंता जताई थी। वहीं 13 सूत्रीय एजेंडे वाला एक पत्र सोनिया गांधी को भी लिखा था। इस पत्र में सिद्धू ने नशा, बेअदबी, खनन माफिया, बिजली और एमएसपी का मुद्दा उठाया था और इन पर काम करने के लिए पंजाब सरकार को निर्देश देने की अपील की थी। सिद्धू ने पत्र में लिखा था कि पंजाब के लोग शिअद-भाजपा शासन में हुए बेअदबी मामले और कोटकपूरा पुलिस फायरिंग मामले न्याय चाहते हैं।
... और पढ़ें

पंजाब: 17 साल से कैप्टन अमरिंदर सिंह की दोस्त हैं अरूसा आलम, केंद्रीय एजेंसियों की जांच रिपोर्ट के बाद लगातार मिलता रहा वीजा

जालंधर का पंजाब प्रेस क्लब का उद्घाटनी समारोह अरूसा आलम और पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह की पहली सार्वजनिक मुलाकात का गवाह रहा है। जब अरूसा पहली बार कैप्टन के साथ देखी गई थीं। कैप्टन ने विशेष तौर पर अरूसा को मंच पर बुलाकर पास बैठाया था। इसके बाद अरूसा को लेकर चर्चा शुरू हुई और पता चला कि वह कैप्टन अमरिंदर सिंह की पाकिस्तानी पत्रकार मित्र हैं। वे कैप्टन को पाक दौरे के दौरान मिली थीं। अरूसा 2017 में हुए अमरिंदर सिंह के शपथ ग्रहण में उन चंद लोगों में शामिल थीं, जिनके लिए कैप्टन ने विशेष व्यवस्था की थी। 2017 में भी कैप्टन की तरफ से अरूसा को बुलाया गया था।

ये भी पढ़ें-
ट्विटर वार: मुस्तफा ने पूर्व डीजीपी-पूर्व सीएस के साथ अरूसा का फोटो अपलोड कर पूछे सवाल, कैप्टन ने भी दिया जवाब

वीडियो होते रहे हैं वायरल
केंद्र सरकार ने बाकायदा एजेंसियों से पूरी जांच करवाने के बाद वीजा दिया था। इसके बाद अरूसा लगातार पंजाब में रहीं और उनकी मंत्रियों के अलावा डीजीपी दिनकर गुप्ता व विनी महाजन के साथ उनकी तस्वीरें वायरल हुई थीं। पंजाब की कैबिनेट मंत्री रजिया सुल्ताना भी अरूसा के साथ तस्वीरों में दिखाई देती रही हैं। अकसर वीडियो वायरल होते रहे, जिसमें अरूसा पंजाब के मंत्री राणा सोढी समेत कई दिग्गजों के साथ दिखाई देती थीं, लेकिन कैप्टन ने कभी भी कुछ नहीं छिपाया।

कभी मुद्दा नहीं बनीं अरूसा आलम
17 साल से लगातार अरूसा और कैप्टन के बीच दोस्ती का रिश्ता बना रहा। इस दौरान होने वाले तमाम चुनाव में अरूसा कभी मुद्दा नहीं बनीं। विरोधी दल शिअद व आप ने कभी अरूसा को लेकर चुनाव में कैप्टन को नहीं घेरा। इतना ही नहीं, अमृतसर लोकसभा चुनाव में अरुण जेटली व कैप्टन के बीच मुकाबले में भी अरूसा का नाम सुना नहीं गया। कैप्टन ने भी अरूसा से अपनी दोस्ती को कभी नहीं छिपाया। बताया जाता है कि कैप्टन जब दूसरी बार सीएम बने तो शिमला के पास मशोबरा में अरूसा के साथ जन्मदिन मनाया। दोनों की दोस्ती की चर्चा अमरिंदर सिंह की बायोग्राफी ‘कैप्टन अमरिंदर सिंह द पीपल्स महाराजा’ में एक अध्याय में है, जिसे मशहूर पत्रकार खुशवंत सिंह ने लिखा है।

ये भी पढ़ें-होशियारपुर: पेशी भुगतने आया हवालाती पुलिस टीम को चकमा दे अदालत से फरार, दो पुलिस कर्मचारी सस्पेंड

अगस्ता-90बी पनडुब्बी सौदों पर अरूसा ने दी थी रिपोर्ट
अरूसा आलम को अगस्ता-90बी पनडुब्बी सौदों पर अपनी रिपोर्ट के लिए जाना जाता है, जिसके कारण 1997 में पाकिस्तान के तत्कालीन नौसेना प्रमुख मंसूरुल हक की गिरफ्तारी हुई थी। आरूसा, अकलीम अख्तर की बेटी हैं, जिन्हें 70 के दशक में पाकिस्तान की ताकतवर महिला माना जाता था। उन्हें जनरल रानी के नाम से जाना जाता था, क्योंकि पाकिस्तान के तीसरे राष्ट्रपति के साथ उनके घनिष्ठ संबंध थे।

ये भी पढ़ें-चंडीगढ़: जजों की भारी कमी से जूझ रहा पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट, लोगों को मिल रही तारीख पर तारीख

पाक नागरिक को आसानी से नहीं मिलता वीजा
2010 में अमरिंदर की किताब ‘द लास्ट सनसेट’ के विमोचन के दौरान अरूसा को दिल्ली में देखा गया था। अरूसा को लेकर एजेंसियां सक्रिय हुईं, लेकिन आईबी व अन्य खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट के बाद अरूसा को भारत का लगातार वीजा दिया गया। हालांकि उस दौरान भारत में डॉ. मनमोहन सिंह की सरकार थी। सूत्रों की मानें तो पाक नागरिक को वीजा देने की प्रक्रिया काफी जटिल है और इसमें आईबी, रॉ के अलावा बीएसएफ की इंटेलिजेंस सर्विस और राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी की रिपोर्ट मंगवाई जाती है, जिसके आधार पर ही वीजा जारी किया जाता है।
... और पढ़ें

चंडीगढ़ प्रशासन की नाकामी: 10 संपर्क सेंटरों पर हो रहे ओपीडी पंजीकरण की लोगों को नहीं दी जानकारी, जीएमएसएच-16 में बढ़ रही भीड़

कोविड से बचाव के मानकों को ध्यान में रखते हुए प्रशासन ने 10 संपर्क केंद्रों में जीएमएसएच-16 के ओपीडी पंजीकरण की सुविधा शुरू की है। सुविधा शुरू होने के 6 दिन गुजरने के बाद भी लोगों को इसकी जानकारी नहीं हो पाई है। नतीजतन शनिवार का दिन होने के बावजूद अस्पताल के पंजीकरण काउंटर पर सुबह 8 से 12 बजे तक लंबी कतार लगी रही। मरीजों और उनके परिजनों का कहना है कि उन्हें संपर्क केंद्र पर पंजीकरण शुरू होने की जानकारी ही नहीं है, वरना वे वहीं से कार्ड बनवाकर आते।

ये भी पढ़ें-
फतेहाबाद: जाखल पुलिस ने चेकिंग के लिए रोका तो युवक ने किया हंगामा, साथियों के साथ मिलकर एसएचओ से की धक्कामुक्की

दूसरी तरफ सुविधा के तहत जीएमएसएच-16 में बार-कोडेड ओपीडी कार्ड जारी करने के लिए एक अलग काउंटर उपलब्ध कराया गया है। इसके तहत ऑनलाइन पंजीकरण के बाद मरीज बिना किसी परेशानी के विशेष काउंटर से ओपीडी कार्ड प्राप्त कर सकते हैं। हालाकि ऑनलाइन काउंटर पर भीड़ को नियंत्रित करने के लिए अस्पताल प्रशासन इनकी संख्या बढ़ाने की योजना बना रहा है, लेकिन मरीजों की संख्या ही उस काउंटर पर न के बराबर है। लोग अब भी जीएमएसएच-16 में फ्री वॉक इन रजिस्ट्रेशन कराने ही पहुंच रहे हैं।

ये भी पढ़ें-पंजाब: 17 साल से कैप्टन अमरिंदर सिंह की दोस्त हैं अरूसा आलम, केंद्रीय एजेंसियों की जांच रिपोर्ट के बाद लगातार मिलता रहा वीजा

इन केंद्रों पर है पंजीकरण की सुविधा
  • संपर्क केंद्र सेक्टर-10
  • संपर्क केंद्र सेक्टर-15
  • संपर्क केंद्र सेक्टर-40
  • संपर्क केंद्र सेक्टर-43
  • संपर्क केंद्र इंडस्ट्रियल एरिया फेज-1
  • संपर्क केंद्र धनास
  • संपर्क केंद्र मौलीजागरां
  • संपर्क केंद्र बापूधाम कॉलोनी
  • संपर्क केंद्र मनीमाजरा
  • संपर्क केंद्र मलोया

धीरे-धीरे मरीजों को सुविधा की जानकारी हो रही है। 10 संपर्क केंद्रों पर मरीजों के पंजीकरण की क्या स्थिति है, इसका आकलन अब तक नहीं कराया गया है।
-डॉ. सुमन सिंह, निदेशक, स्वास्थ्य
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00