बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
हर संकट होगा समाप्त, सावन प्रदोष पर कराएँ विशेष नवग्रह पूजा - फ्री, अभी रजिस्टर करें
Myjyotish

हर संकट होगा समाप्त, सावन प्रदोष पर कराएँ विशेष नवग्रह पूजा - फ्री, अभी रजिस्टर करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

गर्व : चंडीगढ़ की शूटर गौरी श्योराण बनीं ग्लोबल एंबेसडर, अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर मिला सम्मान

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर चंडीगढ़ की शूटर गौरी श्योराण को इंटरनेशनल वुमन क्लब ने 2021 का ग्लोबल एंबेसडर नियुक्त किया है। एक ऑनलाइन कार्यक्रम में चेक...

18 अप्रैल 2021

विज्ञापन
Digital Edition

अब सिद्धू को धर्मसोत ने दी सीख: पंजाब में अब भी कैप्टन ही कप्तान, उनकी क्षमता के बारे में गलतफहमी न पालें 

पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में ताजपोशी के मौके पर नवजोत सिंह सिद्धू ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के प्रति जो तेवर दिखाए थे, उसका विरोध बढ़ने लगा है। शनिवार को विधायक राजकुमार वेरका के बयान के बाद सोमवार को प्रदेश के वन मंत्री साधु सिंह धर्मसोत ने भी नवजोत सिद्धू के व्यवहार की जमकर आलोचना की।

धर्मसोत ने एक बयान में कहा कि कैप्टन की क्षमता के बारे में किसी को गलतफहमी नहीं रहनी चाहिए। कांग्रेस आज पंजाब में सिर्फ कैप्टन अमरिंदर सिंह की वजह से जिंदा है। पहले 2002 में और अब 2017 में, राज्य में कांग्रेस की सरकार अगर बनी है, तो यह केवल कैप्टन की वजह से। 

धर्मसोत ने ताजपोशी समारोह के दौरान नवजोत सिद्धू द्वारा कैप्टन के साथ किए गए दुर्व्यवहार की निंदा करते हुए कहा कि सिद्धू को अपने पद की शालीनता का पालन करना चाहिए और ध्यान रखना चाहिए कि कैप्टन अब भी पंजाब में कांग्रेस के कप्तान हैं। अगर भविष्य में वे कैप्टन को फिर कभी नजरअंदाज करने या दुर्व्यवहार करने की कोशिश करेंगे तो इसके परिणाम अच्छे नहीं होंगे। 

 
... और पढ़ें
साधु सिंह धर्मसोत ने नवजोत सिद्धू पर साधा निशाना। साधु सिंह धर्मसोत ने नवजोत सिद्धू पर साधा निशाना।

भारतमाला परियोजना: किसानों के भूमि अधिग्रहण मामले को लेकर नितिन गडकरी से मिलेंगे कैप्टन अमरिंदर सिंह

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने किसानों के प्रतिनिधिमंडल को भरोसा दिलाया है कि वह केंद्रीय सड़क यातायात एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी से मिलकर राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) द्वारा ‘भारतमाला परियोजना’ प्रोजेक्ट के तहत अधिग्रहीत की जाने वाली जमीन के लिए मुआवजे की राशि पर फिर से विचार करने की मांग करेंगे। उल्लेखनीय है कि जिला राजस्व अफसर, जिन्हें सीएएलए (भूमि अधिग्रहण करने के लिए सक्षम अथॉरिटी) मनोनीत किया गया है, द्वारा तय की गई मुआवजा राशि को किसान रद्द कर चुके हैं।
 
रोड किसान संघर्ष समिति ने सोमवार को मुख्यमंत्री से मुलाकात की। समिति की अपील पर मुख्यमंत्री ने वित्त कमिश्नर (राजस्व) को किसानों की इच्छा के उलट उनके खातों में मुआवजा राशि न डालने के लिए तुरंत हिदायत जारी करने को कहा। उन्होंने डीजीपी को किसानों की भूमि जबरन कब्जे में न लेने को भी यकीनी बनाने का आदेश दिया।
 
सोमवार को मुख्यमंत्री के साथ रोड किसान संघर्ष समिति के राज्य प्रधान सुखदेव सिंह ढिल्लों के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल की मीटिंग कपूरथला के विधायक राणा गुरजीत सिंह ने करवाई। इस दौरान मुख्यमंत्री ने प्रमुख सचिव को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के साथ मीटिंग के लिए जल्द समय लेने को कहा। मुख्यमंत्री ने वित्त कमिश्नर (राजस्व) रवनीत कौर और प्रमुख सचिव (लोक निर्माण विभाग बी.एंडआर) विकास प्रताप को आदेश दिया कि किसान संघर्ष समिति से परामर्श करके साझा तौर पर एक व्यापक केस तैयार किया जाए। 

समिति द्वारा उठाए गए एक अन्य मुद्दे पर मुख्यमंत्री ने लोक निर्माण विभाग के प्रमुख सचिव को नए बनने वाले ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस-वे के नजदीक किसानों को उनके खेतों में जाने के लिए रास्ता देने की संभावना तलाशने को भी कहा। 
... और पढ़ें

पंजाब में टीकाकरण प्रभावित: सिर्फ 5.35 प्रतिशत लोग ही सुरक्षित, ली दोनों खुराकें

कोरोना की तीसरी लहर की संभावनाओं के बीच टीकाकरण को लेकर अच्छी खबर नहीं है। टीकाकरण की धीमी रफ्तार के कारण पंजाब में महज 5.35 प्रतिशत लोग ही सुरक्षित हो पाए हैं। 17.62 लाख लोग ही कोरोना टीके की दोनों खुराकें ले पाए हैं। पंजाब सरकार ने टीकाकरण की धीमी रफ्तार के लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिद्धू ने केंद्र से पंजाब में टीके की आपूर्ति बढ़ाने को कहा है।

स्वास्थ्य मंत्री ने निकट भविष्य में कोरोना वायरस के संभावित मामलों में होने वाली वृद्धि को रोकने के लिए राज्य सरकार की टीकाकरण मुहिम को और बढ़ावा देने की जरूरत बताई है। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि पंजाब में अब तक 94,79,351 व्यक्तियों को टीका लगाया जा चुका है, जिनमें से 77,16,433 ने पहली खुराक ली है। 17,62,918 ने दोनों खुराकों के साथ टीकाकरण पूरा कर लिया है। 

उन्होंने बताया कि पंजाब को कोविड-19 टीके की भाजपा शासित राज्यों से कम सप्लाई मिल रही है। केंद्र सरकार को कई बार टीके की आपूर्ति में तेजी लाने की अपील की है लेकिन अभी तक केंद्र के द्वारा आपूर्ति में तेजी नहीं की गई है। इसके कारण राज्य के लोग टीके के अभाव में असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में पंजाब में टीके की दोनों खुराक वाले लोगों की संख्या सिर्फ 5.35 फीसदी है। इसलिए स्वास्थ्य बुनियादी ढांचे के अलावा कोविड-19 की तीसरी लहर से बचने के लिए केंद्र सरकार को टीके की सप्लाई बढ़ाने की जरूरत है जिससे पूरी आबादी को कवर किया जा सके।

उन्होंने कहा कि कोविड-19 की तीसरी लहर का डर बढ़ता जा रहा है, जिसके मद्देनजर कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार पहले ही बड़ी संख्या में मामलों से निपटने के लिए तैयार है। पंजाब में संक्रमण की तीसरी लहर की संभावनाओं को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने बुनियादी ढांचे की क्षमता बढ़ाने पर जोर दिया है।
... और पढ़ें

हरियाणा:  हाईकोर्ट ने नौ न्यायाधिकारियों का किया तबादला, दो एडिशनल डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन जज बने डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन जज

पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने हरियाणा सुपीरियर ज्यूडिशियल सर्विस के नौ अधिकारियों का तबादला एवं नियुक्ति आदेश जारी किया है। आदेश के अनुसार दो एडिशनल डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन जज को डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन जज बनाया गया है। रेवाड़ी के एडिशनल डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन जज राकेश कुमार यादव को रोहतक व सोनीपत के एडिशनल डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन जज देशराज को फतेहाबाद में डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन जज के पद पर नियुक्ति दी गई है।

हिसार के एडिशनल डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन जज विजय सिंह को करनाल, नूह के एडिशनल डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन जज शैलेंद्र सिंह को सोनीपत, रेवाड़ी के एडिशनल डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन जज कुलदीप सिंह को सिरसा, गुरुग्राम के एडिशनल डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन जज संजय कुमार को नूह, भिवानी के एडिशनल डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन जज जसबीर सिंह को चंडीगढ़, फरीदाबाद के एडिशनल डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन जज राजेश शर्मा को दुष्कर्म मामलों की फास्ट ट्रैक कोर्ट में एडिशनल डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन जज के तौर पर नियुक्त किया गया है। साथ ही फरीदाबाद के एडिशनल डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन जज कंवर पाल का भिवानी तबादला किया गया है।
 
... और पढ़ें

अच्छी खबर: चरखी दादरी के जितेंद्र को गूगल ने दिया 1.8 करोड़ का पैकेज, सात माह की मेहनत से मिली सफलता

पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट
चरखी दादरी के समसपुर गांव निवासी जितेंद्र फौगाट का गूगल में बतौर सॉफ्टवेयर इंजीनियर चयन हुआ है। उनका दावा है कि गूगल की तरफ से उन्हें 1.8 करोड़ रुपये का सालाना पैकेज मिला है। जितेंद्र ने अमेरिका स्थित गूगल ऑफिस ज्वाइन भी कर लिया है। जितेंद्र ने उच्च शिक्षा भी अमेरिका से ही ग्रहण की है। उन्होंने बताया कि सात माह की तैयारी के बाद पहले ही आवेदन में उनका चयन हो गया, जिससे वे बेहद खुश और उत्साहित हैं।

गूगल में चयनित जितेंद्र की प्रारंभिक शिक्षा दादरी शहर के केएन सीनियर सेकेंडरी स्कूल से हुई। इसके बाद उन्होंने लिंगायत यूनिवर्सिटी से इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्यूनिकेशन में बीटेक की और फिर इंफोसिस कंपनी के चंडीगढ़ ऑफिस में कुछ समय तक सेवाएं दीं। 

यह भी पढ़ें - 
हरियाणा: पत्रकारों को मिलेगा कैशलेस बीमा योजना का लाभ, महाराजा अग्रसेन के नाम पर होगा हिसार एयरपोर्ट 

इसके बाद आगे पढ़ने की चाह लेकर वह अमेरिका यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्सास चले गए। जितेंद्र ने बताया कि हमेशा से उनका सपना गूगल में जाने का था, इसके लिए उन्होंने सात-आठ घंटे प्रतिदिन पढ़ाई की। गूगल कंपनी में चयन की संभावना मात्र 0.2 प्रतिशत ही होती है। इसके लिए उन्होंने सात महीने तक डटकर तैयारी की और उसके बाद कंपनी में आवेदन किया। जितेंद्र ने बताया कि अच्छा पैकेज मिलने के साथ उनका गूगल में नौकरी करने का सपना भी पूरा हो गया है। जितेंद्र ने अपनी सफलता का श्रेय परिजनों के सहयोग और गुरुजनों के मार्गदर्शन को दिया है।

मां गृहिणी तो पिता हैं सेवानिवृत्त शिक्षक
जितेंद्र के पिता रणवीर फौगाट अंग्रेजी प्राध्यापक के पद से कुछ समय पहले ही सेवानिवृत्त हुए हैं। वहीं, जितेंद्र की मां रोशनी देवी गृहिणी हैं। उनकी बहन रवीना एमबीबीएस की पढ़ाई के बाद रोहतक मेडिकल कॉलेज में गाइनोलॉजिस्ट एमडी कर रही हैं। जितेंद्र के नाना चौधरी कपूर सिंह चहल रिटायर्ड हेड मास्टर हैं, जिनका पैतृक गांव नीमडी है।
... और पढ़ें

पंजाब: न्यू चंडीगढ़ में बनेगी देश की दूसरी सबसे बड़ी एनआईवी लैब, अब पुणे नहीं भेजने पड़ेंगे नमूने

पंजाब के न्यू चंडीगढ़ में देश की दूसरी सबसे बड़ी नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (एनआईवी) स्थापित होने जा रही है। पंजाब सरकार ने एनआईवी के साथ सोमवार को एमओयू साइन किया है। अब वायरस की जांच के लिए नमूने पुणे नहीं भेजने पड़ेंगे। पंजाब में एनआईवी रीजनल इंस्टीट्यूट के तौर पर काम करेगी।

पंजाब भवन में आयोजित बैठक में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (एनआईवी), पुणे के साथ मेमोरंडम ऑफ अंडरस्टैंडिंग (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए। इस समझौते पर पंजाब की ओर से चिकित्सा शिक्षा विभाग की निदेशक डॉ. सुजाता शर्मा और एनआईवी की निदेशक डॉ. प्रिया अब्राहम ने हस्ताक्षर किया। 

चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान मंत्री ओम प्रकाश सोनी ने बताया कि 2020 में कोरोना शुरू होने पर राज्य की सरकारी मेडिकल कॉलेजों (पटियाला, अमृतसर, फरीदकोट) की लैब ने कोरोना सैंपल के 40 टेस्ट प्रतिदिन करने शुरू किए थे, जोकि अब 10-15 हजार प्रतिदिन प्रति लैब टेस्ट करने की क्षमता हो गई है।

अभी भी कुछ टेस्ट जैसे कि जीनोम सीक्वेंसिंग, क्वालिटियसोरेनस आदि के लिए एनआईवी पुणे नमूने भेजने पड़ते हैं। अब इन बीमारियों के टेस्ट पंजाब में ही हो सकेंगे। इसके लिए आईसीएमआर की टीम द्वारा न्यू चंडीगढ़ में एनआईवी को पांच एकड़ जमीन दी गई है। 

विभागीय मंत्री ने बताया कि आज का दिन पंजाब के लिए ऐतिहासिक है, जब लगभग 70 सालों बाद देश की दूसरी एनआईवी संस्था न्यू चंडीगढ़ (मोहाली) में स्थापित की जा रही है।
... और पढ़ें

हरियाणा: पत्रकारों को मिलेगा कैशलेस बीमा योजना का लाभ, महाराजा अग्रसेन के नाम पर होगा हिसार एयरपोर्ट

हरियाणा में कर्मचारियाें की तर्ज पर मान्यता प्राप्त पत्रकारों को स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ मिलेगा। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सोमवार को यह सौगात दी। मुख्यमंत्री ने यहां आयुष्मान भारत बीमा योजना एवं अन्य स्वास्थ्य बीमा योजनाओं की समीक्षा बैठक ली।

उन्होंने कर्मचारियों एवं पेंशनर्स को स्वास्थ्य बीमा योजना में कैशलेस सुविधा प्रदान करने को भी हरी झंडी दी। समीक्षा बैठक में स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज वीसी के माध्यम से जुडे़।

बैठक में आजाद हिंद फौज के सेनानियों, आपातकाल के दौरान जेल में रहे लोगों, हिंदी आंदोलन में शामिल लोगों एवं द्वितीय विश्व युद्ध के बंदियों, उनके आश्रितों को भी सरकारी कर्मचारियों की तर्ज पर कैशलेस स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ देने का निर्णय लिया गया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि विमुक्त घुमंतु जाति, मुख्यमंत्री परिवार समृद्वि योजना के लाभार्थियों एवं निर्माण कार्य में लगे श्रमिकों को भी आयुष्मान भारत बीमा योजना में कवर किया जाएगा। इसके साथ ही नंबरदारों, चौकीदारों, आशा वर्कर, आंगनवाड़ी वर्कर, मनरेगा मजदूरों, स्ट्रीट वेंडरों, रिक्शा चालक, आटो चालक के परिवारों को भी आयुष्मान भारत योजना में शामिल करेंगे, बशर्ते उनकी पारिवारिक वार्षिक आय 1.80 लाख रुपये तक हो और 5 एकड़ से अधिक भूमि न हो। मुख्यमंत्री ने कहा कि योजना के लागू होने के बाद हरियाणा में 27 लाख परिवार लाभान्वित होंगे। सभी को परिवार पहचान पत्र के साथ लिंक करने के बाद कार्ड जारी किए जाएंगे।
... और पढ़ें

खौफनाक कदम: घरेलू कलह में बेटा-बेटी को सल्फास देने के बाद माता-पिता ने खुद भी खाया, चारों ने दम तोड़ा

तलाव गांव में सोमवार शाम करीब 4:00 बजे घरेलू कलह में बेटा-बेटी को सल्फास खिलाने के बाद माता-पिता ने खुद भी खा लिया। गंभीर हालत में चारों को सामान्य अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां से चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार के बाद पीजीआई, रोहतक रेफर कर दिया। जहां चारों ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया है। 

घटनास्थल पर सल्फास के छह पैकेट मिले हैं। इनमें से चार खाली थे। गांव के दीपक (32) पुत्र सतबीर सिंह के परिवार में तीन-चार दिन से किसी बात पर कलह चल रही थी और इसके चलते वह घर से परिवार के साथ निकल आया। कुछ दूर पर ही रेलवे अंडरपास के करीब पत्नी निशा (30 ) पुत्री बेबी (15) पुत्र अनुज (12) को सल्फास खिला दिया। इसके बाद दीपक ने खुद भी जहर खा लिया।
 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us