विज्ञापन
विज्ञापन
लाभ पंचमी - सौभाग्य वर्धन का दिन,घर बैठे कराएं लक्ष्मी गणेश पूजन एवं लक्ष्मी सहस्रनाम पाठ,मात्र 101/- में,अभी बुक करें
Myjyotish

लाभ पंचमी - सौभाग्य वर्धन का दिन,घर बैठे कराएं लक्ष्मी गणेश पूजन एवं लक्ष्मी सहस्रनाम पाठ,मात्र 101/- में,अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

हरियाली के प्रहरी: पहले उठाते हैं कूड़ा फिर लगाते हैं बूटा, पीयू के इन प्रोफेसरों का योगदान है महान

आज हम हरियाली के एक ऐसे प्रहरी से आपका परिचय करवाने जा रहे हैं जिनके शोध तो देश-दुनिया में प्रसिद्ध हैं हीं, साथ ही पर्यावरण बचाने के लिए बेहतरीन कार्...

24 अक्टूबर 2021

Digital Edition

टीकरी बॉर्डर पर बंगाल की युवती से दुष्कर्म का मामला: आरोपी की अग्रिम जमानत याचिका पर पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट ने रखा फैसला सुरक्षित

टीकरी बॉर्डर पर कोरोना से जान गंवाने वाली बंगाली युवती से दुष्कर्म के आरोपी जगदीश सिंह बराड़ की अग्रिम जमानत याचिका पर मंगलवार को पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने सभी पक्षों की दलीलों को सुनने के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया।

मंगलवार को जैसे ही जगदीश की याचिका पर सुनवाई आरंभ हुई तो हरियाणा सरकार ने जमानत का विरोध किया। राज्य सरकार के वकील ने कहा कि याची पर गंभीर आरोप हैं और मामले की जांच जारी है। यदि याची को जमानत का लाभ दिया गया तो वह जांच को प्रभावित कर सकता है।

वहीं, याची पक्ष की ओर से कहा गया कि इस मामले में उसकी कोई भूमिका नहीं है और उसे फंसाया जा रहा है। याची पक्ष ने कहा कि वह जांच में सहयोग करने को पूरी तरह से तैयार है, लेकिन उसे हिरासत में न रखा जाए। दोनों पक्षों को सुनने के बाद हाईकोर्ट ने याचिका पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया। इससे पहले हाईकोर्ट इस मामले में अन्य दो आरोपियों की जमानत याचिका को खारिज कर चुका है।

यह भी पढ़ें: 
नारनौल: बिमला मर्डर केस में गैंगस्टर पपला गुर्जर को उम्रकैद, छह साल बाद मिला परिवार को इंसाफ

यह है मामला
बातचीत की रिकार्डिंग पुलिस को देते हुए पिता ने बताया था कि जब उसकी बेटी ट्रेन से टीकरी बॉर्डर की ओर जा रही थी तो आरोपियों ने उससे छेड़छाड़ की थी। इसके बाद टीकरी बॉर्डर पहुंचने पर उसे अंकुर, अनूप व अन्य के साथ टेंट साझा करना पड़ा था। वे इस दौरान लगातार दबाव बनाते हुए उसे ब्लैकमेल कर रहे थे। पिता ने बताया था कि इस बारे में उसने अपनी साथियों से भी बात की थी। इसके बाद पीड़िता कोरोना से संक्रमित हो गई और जिसके चलते उसकी मौत हो गई थी। पीड़िता के पिता की शिकायत पर बहादुरगढ़ पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया था।
... और पढ़ें
पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट

बड़ी खबर: अब रोहतक में बनेंगे सेना के लिए बुलेट प्रूफ जैकेट, हेलीकॉप्टर और बख्तरबंद वाहन, आईएमटी में लगेगा देश का पहला प्लांट

भारतीय सेना और दूसरे सशस्त्र बलों के लिए रोहतक में बुलेट प्रूफ जैकेट, बुलेट प्रूफ हेलीकॉप्टर, बख्तरबंद और माइन प्रूफ गाड़ियां बनेंगी। यह देश का पहला संयंत्र होगा, जहां हर तरह का सुरक्षा कवच बनेगा। भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र की टेक्नोलॉजी पर सर्वाधिक सुरक्षित भाभा कवच (बुलेट प्रूफ जैकेट) बनेगा। मिश्र धातु निगम के इस संयंत्र का उद्घाटन आजादी का अमृत महोत्सव के तहत केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह दिसंबर में करेंगे। ये बातें मंगलवार को निगम के चेयरमैन डॉ. संजय कुमार झा ने बताई।

ये भी पढ़ें-
हिसार: दोपहर को मुख्यमंत्री मनोहर लाल पहुंचे एयरपोर्ट, विकास कार्यों का किया निरीक्षण

डॉ. संजय ने बताया कि 2017 में मिश्र धातु निगम ने आईएमटी में 10 एकड़ जमीन पर यह संयंत्र स्थापित किया, जिसका 80 फीसदी से ज्यादा काम हो चुका है। अभी तक सुरक्षा कवच विदेशी तकनीक पर आधारित हैं, मगर अब स्वदेशी व सर्वाधिक सुरक्षित कवच भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र की तकनीक पर बनेगा। नई तकनीक के सुरक्षा कवच का नाम भाभा कवच रखा है, जो 20 से 30 फीसदी हल्का है। इसके अलावा रोहतक में मूविंग व्हीकल (बख्तरबंद गाड़ियां) बनेंगी।

नक्सल प्रभावित एरिया में बारूदी सुरंग बिछाकर होने वाले विस्फोट से बचाव को लेकर माइन प्रूफ गाड़ियां भी रोहतक में बनेंगी। बुलेट प्रूफ हेलीकॉप्टर भी बनेंगे। इस संयंत्र का शुभारंभ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से दिसंबर में कराया जाएगा। इस दौरान मुख्यमंत्री मनोहर लाल के अलावा सैन्य व अर्द्धसैनिक बलों के अधिकारी भी मौजूद रहेंगे।

ये भी पढ़ें-जगी आस: 11 महीने से बंद टीकरी बॉर्डर खुलवाने के लिए हरियाणा सरकार और किसानों के बीच बातचीत शुरू

एक साल में इतने बन सकेंगे सुरक्षा कवच
डॉ. संजय ने बताया कि फिलहाल संयंत्र में एक साल के अंदर 15 हजार भाभा जैकेट, 25 हेलीकॉप्टर, 100 बख्तरबंद गाड़ियां और हजारों की संख्या में वेस्ट पुलिस जैकेट, एनएसडी जैकेट, बीपी हेलमेट व पटके बनाए जा सकेंगे।

बॉर्डर नजदीक होने की वजह से चुना रोहतक
डॉ. संजय ने बताया कि रोहतक से न सिर्फ देश की राजधानी नजदीक है, बल्कि पाकिस्तान का बॉर्डर भी ज्यादा दूर नहीं है। जरूरत पर सैन्य बलों को तुरंत आपूर्ति की जा सके, इसलिए रोहतक को संयंत्र लगाने के लिए चुना गया है।

ये भी पढ़ें-फतेहाबाद: भूना के ठेकेदार पंकज खुराना हत्याकांड में आरोपी सुखा बुवान और प्रवीण पिन्नी गिरफ्तार

विशेष कपड़ा व कार्बन नैनो ट्यूब से बना है भाभा कवच
डॉ. संजय ने बताया कि भाभा कवच पूर्णरूप से सुरक्षित है, जिस पर एके-47 के कई हमले भी बेअसर होते हैं। इसमें विशेष किस्म का कपड़ा (अल्ट्रा हाई मॉलीक्यूल वेट पॉलीथिलीन और कार्बन नैनो ट्यूब आदि इस्तेमाल होता है।

नियमानुसार 75 फीसदी कर्मी होंगे हरियाणा के
चेयरमैन ने बताया कि संयंत्र में हरियाणा राज्य सरकार के नियमानुसार 70-75 फीसदी कर्मी हरियाणा के होंगे। इसके अलावा अन्य लोगों को भी अस्थायी रोजगार मिलेगा। उन्होंने बताया कि जिन लोगों का चयन किया जाएगा, उनको इंजीनियर ट्रेनिंग देंगे।

ये भी पढ़ें-नारनौल: बिमला मर्डर केस में गैंगस्टर पपला गुर्जर को उम्रकैद, छह साल बाद मिला परिवार को इंसाफ

सर्विलांस सिस्टम और सुरक्षा पहरा होगा सख्त
चेयरमैन ने बताया कि संयंत्र की सुरक्षा हर पहलू से होगी। न सिर्फ अपना सर्विलांस सिस्टम काम करेगा, बल्कि सुरक्षा पहरा भी कड़ा होगा। इसके अलावा वॉच टावर भी लगाए जाएंगे। 
... और पढ़ें

जगी आस: 11 महीने से बंद टीकरी बॉर्डर खुलवाने के लिए हरियाणा सरकार और किसानों के बीच बातचीत शुरू

किसान आंदोलन के कारण 11 महीने से बंद टीकरी बॉर्डर को खुलवाने के लिए राज्य सरकार की हाई पावर कमेटी और संयुक्त किसाम मोर्चा के प्रतिनिधियों के बीच मंगलवार को बहादुरगढ़ में बातचीत शुरू हुई। सरकार की कमेटी, एसकेएम के प्रतिनिधि और उद्यमियों के प्रतिनिधि बैठक में शामिल हैं। पहले दौर की बातचीत खत्म हो गई है। अब दोनों पक्षों ने रास्ता खोलने की संभावनाएं देखने के लिए टीकरी बॉर्डर का दौरा किया। इसके बाद कुछ ही देर में बातचीत का दूसरा दौर शुरू होगा। 

यह भी पढ़ें - 
कैप्टन की प्रेस कांफ्रेंस कल: बड़ा सियासी धमाका कर सकते हैं अमरिंदर, पंजाब से दिल्ली तक कांग्रेस में हलचल 

बैठक शुरू होने से पहले पत्रकारों से बातचीत में किसान नेता अमरीक सिंह ने कहा कि हम दिल्ली जा रहे थे। जंतर मंतर पर धरना देना चाहते थे। लेकिन सरकार ने रास्ते रोक दिए। अब भी सरकार ने रास्ते बंद कर रखे हैं। खोलना तो सरकार का ही काम है। राज्य सरकार की ओर से अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा, डीजीपी अग्रवाल, रोहतक रेंज के आईजी पुलिस संदीप खिरवार, और झज्जर व सोनीपत जिला प्रशासन के अधिकारी बैठक में मौजूद हैं।

एसकेएम की टीकरी बॉर्डर कमेटी की तरफ से अमरीक सिंह व कुलवंत सिंह मौलवीवाला सहित छह किसान नेता आंदोलनकारियों का पक्ष रख रहे हैं। टीकरी बॉर्डर बंद होने से बहादुरगढ़ के उद्योगों को हर रोज करोड़ों का नुकसान हो रहा है। इसलिए उद्यमी भी मीटिंग में अपनी समस्याएं रखेंगे। वे किसान नेताओं के समक्ष अपना दुखड़ा रोएंगे। उद्यमियों के प्रतिनिधियों के रूप में बहादुरगढ़ चैंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज (बीसीसीआई) के महासचिव सुभाष जग्गा और नरिन्दर छिकारा समेत कई उद्यमी बैठक में भाग ले रहे हैं।
... और पढ़ें

कैप्टन की प्रेस कांफ्रेंस कल: बड़ा सियासी धमाका कर सकते हैं अमरिंदर, पंजाब से दिल्ली तक कांग्रेस में हलचल

पंजाब की सियासत में पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह कल बड़ा धमाका कर सकते हैं। बुधवार को बुलाई प्रेस कान्फ्रेंस में कैप्टन नई पार्टी के नाम की घोषणा करेंगे। साथ ही अरूसा आलम, बीएसएफ और कृषि आंदोलन जैसे गंभीर मुद्दों पर भी वह बड़ी घोषणा कर सकते हैं। उनकी इस घोषणा से पंजाब कांग्रेस में भी हलचल तेज हो गई है। आलाकमान सहित दिग्गज कांग्रेसियों ने पार्टी विधायकों से संपर्क साधना शुरू कर दिया है।

यह भी पढ़ें - 
सोनीपत: कुंडली बॉर्डर पर किसान आंदोलन के 11 माह पूरे, लखीमपुर हत्याकांड के विरोध में आज देशभर में तीन घंटे प्रदर्शन करेंगे किसान 
 
पंजाब विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहा है वैसे-वैसे सियासी घमासान भी बढ़ता जा रहा है। कांग्रेस पार्टी के अंदरूनी विवाद को सुलझाना अभी बाकी है। कैप्टन और कांग्रेसियों के बीच अरूसा को लेकर जुबानी जंग छिड़ी हुई है। मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह लगातार कांग्रेस पर हमले कर रहे हैं। वहीं कांग्रेस के मंत्री और नेता कैप्टन पर तरह-तरह के मामलों को लेकर कैप्टन के हमलों का जवाब दे रहे हैं। कप्तान पर उनकी महिला मित्र अरूसा आलम को लेकर भी लगातार निशाने साधे जा रहे हैं। इन सबके बीच कैप्टन ने मंगलवार को ट्विटर पर एक पोस्ट शेयर कर 27 तारीख बुधवार को चंडीगढ़ में प्रेस कांफ्रेंस बुला ली है। इस प्रेस कांफ्रेंस का मुख्य मुद्दा नई पार्टी का गठन होगा। चर्चा यह भी है कि इसमें अरूसा आलम, बीएसएफ और कृषि कानूनों के मुद्दों को भी कैप्टन उठा सकते हैं। साथ ही कांग्रेस छोड़ने के मुद्दे पर कैप्टन अमरिंदर सिंह पहले ही कह चुके हैं कि सिद्धू के खिलाफ उनकी लड़ाई जारी रहेगी।

भाजपा के साथ बागी अकालियों को लेंगे साथ
चर्चा यह भी है कि कैप्टन नई पार्टी की घोषणा के साथ ही भाजपा और बागी अकालियों को साथ लेंगे। 2022 में होने वाले चुनाव से पहले कैप्टन केंद्र और आंदोलनरत किसानों के बीच सेतु का काम करेंगे और कृषि कानूनों को लेकर दोनों के बीच विवाद को सुलझाने का काम करेंगे।

पार्टी में जोड़ेंगे कांग्रेस
नई पार्टी को लेकर कैप्टन के करीबी सांसद जसबीर सिंह डिंपा ने ट्वीट किया है। जिसमें उन्होंने साफ संकेत दिए हैं कि कैप्टन की नई पार्टी के नाम में कांग्रेस शामिल रहेगा।  कैप्टन के करीबियों का कहना है कि जिस प्रकार ममता बनर्जी ने तृणमूल कांग्रेस और शरद पवार ने नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी बनाई है, उसी प्रकार से कैप्टन भी अपनी पार्टी के नाम में कांग्रेस शब्द को शामिल करेंगे।

कैप्टन की होगी दूसरी पार्टी
52 वर्ष के राजनीतिक सफर में 79 वर्षीय कैप्टन के लिए यह दूसरा मौका होगा, जब वह अपनी राजनीतिक पार्टी का गठन करेंगे। 1992 में शिरोमणि अकाली दल से अलग होकर उन्होंने शिरोमणि अकाली दल (पंथक) पार्टी का गठन किया था। हालांकि वह इसमें सफल नहीं हो पाए, 1998 के चुनाव में दो सीटों पटियाला और तलवंडी साबो पर उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। जिसके बाद उन्होंने वापस कांग्रेस ज्वाइन कर ली थी।

पत्नी का भी मिलेगा साथ
कैप्टन की पत्नी और पटियाला से सांसद परनीत कौर नई पार्टी की सदस्यता लेंगी। चर्चा यह भी है कि कैप्टन की नई पार्टी के गठन पर 10 से अधिक कांग्रेस के विधायक भी कैप्टन के साथ मंच साझा करेंगे। जानकारी यह भी है कि उनके कार्यकाल में मंत्री रह चुके कई दिग्गज कांग्रेसी भी अलग-अलग रूप में कैप्टन का साथ देने का आने वाले समय में एलान करेंगे।
... और पढ़ें

नारनौल: बिमला मर्डर केस में गैंगस्टर पपला गुर्जर को उम्रकैद, छह साल बाद मिला परिवार को इंसाफ

अमरिंदर सिंह
नारनौल के गांव खैरोली निवासी बिमला हत्याकांड में कोर्ट ने मंगलवार को राजस्थान एवं हरियाणा के वांछित गैंगस्टर विक्रम उर्फ पपला गुर्जर को उम्रकैद की सजा सुनाई है। उसे सोमवार को दोषी करार दिया गया था। मामले की सुनवाई सोमवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से हुई थी। इस मामले में सुनवाई के दौरान 19 लोगों की गवाही हुई। कोर्ट ने पपला को दोषी मानते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई है। मालूम हो कि विक्रम उर्फ पपला पर बिमला के भाई महेश एवं उसके बेटे संदीप की हत्या का आरोप था। पपला उक्त मामले में राजीनामा करना चाहता था।

ये भी पढ़ें-
हरियाणा: अधिक बारिश से गिरी धान की फसल, बासमती चावल के काला पड़ने की आशंका, निर्यात होगा प्रभावित

राजीनामा नहीं करना चाहती थी बिमला
बिमला राजीनामे के लिए बिल्कुल तैयार नहीं थी। बाद में विक्रम उर्फ पपला ने बिमला को खत्म करने का ही फैसला लिया। 21 अगस्त 2015 की रात बिमला अपने घर पर सो रही थी। उस रात विक्रम उर्फ पपला गुर्जर एवं उसके साथियों ने बिमला पर अंधाधुंध फायरिंग कर हत्या कर दी थी। बिमला को 23 गोलियां लगी थी। बाद में विक्रम उर्फ पपला ने नवंबर 2015 में बिमला के पिता श्रीराम निवासी बिहारीपुर नांगल चौधरी की भी हत्या कर दी।

चार लोगों की कर चुका हत्या
श्रीराम अपने बेटे महेश की हत्या का गवाह था। इस प्रकार आरोपी बिमला के भाई महेश, बेटा संदीप, बिमला स्वयं तथा पिता श्रीराम की हत्या कर चुका था। राजस्थान पुलिस ने 27 जनवरी 2021 को उसकी महिला मित्र जिया के साथ उसे महाराष्ट्र के कोल्हापुर से गिरफ्तार किया था। तब से वह अजमेर की अति सुरक्षित जेल में बंद था। 28 सितंबर को उसे नारनौल जेल में शिफ्ट किया गया था।

ये भी पढ़ें-हिसार: पिता ने ज्योति को बॉक्सर बनाना चाहा तो पड़ोसी मारने लगे ताने, आज जीत रहीं मेडल, पति भी मिला कोच-खुद दे रहा ट्रेनिंग

वहीं, पीड़ित पक्ष के अधिवक्ता अजय चौधरी ने कहा था कि वे फांसी की सजा के लिए दलील देंगे। जबकि आरोपी पक्ष के अधिवक्ता कुलदीप भरगड़ ने कहा था कि वो इस मामले में हाई कोर्ट जाएंगे। इसी केस में छह आरोपी पहले बरी हो चुके हैं। बिमला की हत्या के मामले में मृतका के देवर दूड़ाराम की शिकायत पर विक्रम उर्फ पपला एवं उसके साथियों पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया था। लगभग छह वर्ष चले मुकदमे में मंगलवार को फैसला सुनाया गया। इस मामले में 19 लोगों ने गवाही दी।

छह आरोपी हो चुके बरी
इसके अलावा पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार महिला के शरीर से छह गोलियां मिलीं थीं, जबकि 23 गोलियां मारी गई थीं। इसमें से कुछ आर-पार निकल गई, तो कुछ साइड से। शरीर से निकाली गईं कुछ गोलियां 9 एमएम तथा कुछ देसी पिस्टल की चली हुई थीं। इस मामले में अन्य छह आरोपियों को 12 अप्रैल 2018 को एडिशनल सेशन जज नाजर सिंह ने संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया था।

ये भी पढ़ें-हरियाणा: गृह मंत्री अनिल विज ने महबूबा मुफ्ती पर साधा निशाना, बोले-उनके डीएनए में ही दोष, कैसे अपने आपको भारतीय साबित करेंगी

दो बार पुलिस पर हमला कर पपला को छुड़ाया
विक्रम उर्फ पपला पर महेंद्रगढ़ में पांच लोगों की हत्या करने का आरोप है। पपला ने वर्ष 2014-15 में चार हत्याएं की थीं। पपला के साथी 7 सितंबर 2017 को महेंद्रगढ़ न्यायिक परिसर में पुलिस पर हमला कर उसे छुड़ा ले गए थे। इस फायरिंग में एक एएसआई के सिर में गोली लगी थी और करीब दो साल बाद कोमा में उसकी मौत हो गई थी। 8 सितंबर 2019 को राजस्थान के अलवर जिले के बहरोड़ थाना पुलिस ने गुर्जर को गिरफ्तार किया था।

महिला मित्र के साथ महाराष्ट्र में रहा
यहां से भी उसके साथी एके-47 से पुलिस पर हमला कर उसे छुड़ा ले गए थे। जयपुर पुलिस के विशेष दस्ते ने हरियाणा और राजस्थान पुलिस के पांच लाख के इनामी मोस्टवांटेड विक्रम उर्फ पपला गुर्जर को 27 जनवरी 2021 को उसकी महिला मित्र जिया के साथ महाराष्ट्र के कोल्हापुर से गिरफ्तार किया था। ... और पढ़ें

पंजाब: लुधियाना के धनानसू में 378 एकड़ में बन रही हाईटेक वैली, 365 करोड़ आएगी लागत, बड़ी कंपनियां करेंगी निवेश

लुधियाना को उत्तर भारत का औद्योगिक केंद्र बनाने के उद्देश्य से पंजाब सरकार गांव धनानसू में 378.77 एकड़ क्षेत्र में हाईटेक वैली विकसित कर रही है। यह वैली पंजाब स्माल इंडस्ट्रीज एंड एक्सपोर्ट कारपोरेशन की ओर से तैयार की जा रही है। 378.77 एकड़ जमीन के पूरे हिस्से के लिए नक्शा, योजना, चेंज ऑफ लैंड यूज (सीएलयू), ईआईए नोटिफिकेशन के तहत पर्यावरण क्लीयरेंस, रेरा आदि की मंजूरी पहले ही प्राप्त हो चुकी है। इस प्रोजेक्ट पर 365 करोड़ रुपये की लागत आएगी।

ये भी पढ़ें-
आरोप: कश्मीरी युवकों ने लगाए ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे, यूपी के छात्रों ने किया हमला, पुलिस जांच में जुटी

पंजाब को चुना है निवेश का स्थान
हीरो साइकिल्स लिमिटेड, जो साइकिल उद्योग में एक प्रमुख संस्था है, की तरफ से हाईटेक वैली में 100 एकड़ क्षेत्र में बने हीरो इंडस्ट्रियल पार्क में अत्याधुनिक साइकिल और ई-बाइक्स के निर्माण के लिए अत्याधुनिक इकाई लगाई गई है। इसका उद्घाटन अप्रैल 2021 में किया गया था। हीरो इंडस्ट्रियल पार्क में इस यूनिट की सहायक इकाइयां भी होंगी। इसी तरह आदित्य बिरला ग्रुप, फॉर्च्यून-500 कंपनी ने अपनी प्रमुख कंपनी ग्रॉसिम इंडस्ट्रीज लिमिटेड के जरिये अपने पेंट कारोबार के लिए पंजाब को एक निवेश स्थान के तौर पर चुना है।

स्वचालित विधि का होगा प्रयोग
इस ग्रुप ने अपने नए उद्यम के लिए हाईटेक वैली में 61.38 एकड़ औद्योगिक जमीन खरीदी है। आदित्य बिरला का आगामी प्लांट नवीनतम निर्माण प्रौद्योगिकी से लैस होगा और इस तरह उच्च तकनीकी कुशलता पर काम करेगा। प्लांट को डीसीएस/पीएलसी की उन्नत तकनीक द्वारा कंट्रोल किया जाएगा। प्लांट के अंदर आरएमपीएम और एफजी वेयर हाउसों के प्रबंधन के लिए स्वचालित विधि का प्रयोग किया जाएगा। इसके अलावा जेके पेपर्स लिमिटेड को बक्सों और पैकेजिंग उत्पादों के निर्माण संबंधी यूनिट स्थापित करने के लिए 17 एकड़ औद्योगिक जमीन आवंटित की गई है।

ये भी पढ़ें-कैप्टन का दांव : सोनिया, सुषमा और मुलायम के साथ जारी की पाक पत्रकार अरूसा की तस्वीरें, पूछा- क्या ये भी सब ISI एजेंट हैं?

हाईटेक वैली में बनेगा 400 केवी का बिजली सब स्टेशन
पंजाब के उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री गुरकीरत सिंह ने कहा कि उच्च गुणवत्ता और मानक बिजली मुहैया करवाने के लिए पंजाब स्टेट ट्रांसमिशन कारपोरेशन लिमिटेड (पीएसटीसीएल) की ओर से 30 एकड़ जमीन पर 400 केवी का बिजली ग्रिड स्टेशन स्थापित किया जाएगा, जिसके लिए जमीन आवंटित कर दी गई है। उन्होंने कहा कि पीएसटीसीएल ने साइट पर पहले ही विकास कार्य शुरू कर दिए हैं।
... और पढ़ें

लखीमपुर खीरी हिंसा का विरोध: चंडीगढ़ में उपायुक्त कार्यालय के बाहर किसानों का धरना, मांगा इंसाफ

लखीमपुर खीरी की घटना पर पूरे देश में किसानों का गुस्सा बरकरार है। चंडीगढ़ में मंगलवार को किसानों और उनके समर्थकों ने उपायुक्त कार्यालय के बाहर धरना दिया। इस दौरान बड़ी संख्या में पुलिस बल मौजूद रहा।

उपायुक्त कार्यालय के बाहर धरने में पेंडू संघर्ष कमेटी, नौजावन किसान एकता चंडीगढ़ बीकेयू चढ़ूनी और टिकैत के पदाधिकारियों के अलावा सभी चौकों पर किसानी झंडा लिए समर्थक भी पहुंचे। बड़ी संख्या में पुलिस भी धरना स्थल पर तैनात है। सभी किसान नेताओं और समर्थकों ने केंद्र और यूपी सरकार के विरोध में नारे लगाए।

धरने के बाद किसानों का एक प्रतिनिधिमंडल उपायुक्त को ज्ञापन भी सौंपेगा। पेंडू संघर्ष कमेटी के महासचिव गुरप्रीत सिंह सोमल ने बताया कि तीनों कृषि कानूनों को तत्काल वापस लिया जाए। दोषियों पर कार्रवाई हो। इस दौरान प्रोफेसर मंजीत सिंह, सतनाम सिंह टांडा, बाबा गुर दियाल, बाबा साधु सिंह, कुलदीप कुंडू टिकैत ग्रुप, जसविंदर कौर, सर्वेश यादव, गुरप्रीत सिंह सोमल और शरण जीत सिंह सहित अन्य किसान नेता उपस्थित रहे। 
... और पढ़ें

कनाडा में बैठे गैंगस्टर की करतूत: तरनतारन में पिता से मांगी एक करोड़ की रंगदारी, बेटे पर गोलियां भी चलवाई

तरनतारन के कस्बा चोहल साहिब के पेट्रोल पंप मालिक के पिता से एक करोड़ की फिरौती मांगने का मामला सामने आया है। दहशत फैलाने के लिए आरोपियों ने बेटे पर गोलियों से हमला भी किया। हमले में वह बाल-बाल बच गया। पुलिस ने गैंगस्टर लखबीर, उसके साथी सतनाम सिंह सत्ता निवासी नौशहरा पन्नूआ और तीन अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। 

थाना प्रभारी बलविदर सिंह का कहना है कि पेट्रोल पंप पर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज कब्जे में लेकर आरोपियों की पहचान की जा रही है। पेट्रोल पंप मालिक जगजीत सिंह के पिता गुरदयाल सिंह को गैंगस्टर ने शनिवार को फोन कर एक करोड़ की रंगदारी मांगी। उसी रात आठ बजे चोहला साहिब स्थित पेट्रोल पंप पर जब गुरदयाल सिंह का बेटा जगजीत सिंह मौजूद था, तभी पल्सर मोटरसाइकिल पर आए तीन बदमाशों ने उस पर पिस्टल से करीब सात राउंड फायर किए। 

हमले में किसी तरह जगजीत ने खुद को बचाया। घटना की सूचना मिलने पर सब डिवीजन गोइंदवाल साहिब के डीएसपी प्रीतइंद्र सिंह, थाना चोहला साहिब प्रभारी बलविदर सिंह, ड्यूटी अफसर एएसआई हरदयाल सिंह पहुंचे। इसके बाद उन्होंने सीसीटीवी कैमरे में कैद आरोपियों की फुटेज देखी फिर जगजीत के बयान दर्ज कर पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। जांच में पता चला है कि यह रंगदारी कनाडा में बैठे गैंगस्टर लखबीर सिंह ने मांगी है।
... और पढ़ें

आरोप: कश्मीरी युवकों ने लगाए ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे, यूपी के छात्रों ने किया हमला, पुलिस जांच में जुटी

रविवार की रात भारत-पाक क्रिकेट मैच में भारत की हुई हार के बाद कश्मीरी छात्रों पर आरोप है कि उन्होंने ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाए हैं। इसके बाद उत्तर प्रदेश के छात्रों ने कश्मीरी छात्रों पर हमलाकर दिया। इससे कुछ कश्मीरी छात्रों को मामूली चोट लगी है। घटना पंजाब के संगरूर के नजदीकी भाईगुरदास इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी कॉलेज की है। इस घटना की वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हुई है। पुलिस मामले की जानकारी जुटाने में लगी है।

जानकारी के मुताबिक रविवार रात कॉलेज के छात्र कॉलेज में भारत-पाकिस्तान क्रिकेट मैच देख रहे थे। मैच में भारत की हार के बाद कश्मीरी छात्रों ने पाकिस्तान जिंदाबाद कहना शुरू कर दिया। इसके बाद कश्मीर-यूपी के छात्रों में झगड़ा शुरू हो गया।

कश्मीरी छात्रों के मुताबिक उत्तरप्रदेश के कुछ छात्रों ने रॉड से उनके कमरे में घुसकर हमला कर दिया। वह अपने कमरों में थे जब उन्होंने बाहर से कुछ शोर सुना तो वह देखने के लिए बाहर आए। उन्होंने देखा कि कुछ लोगों ने कश्मीरी छात्रों पर हमला किया था। इस दौरान हमलावरों ने उनके कमरों के खिड़की के शीशे भी तोड़ दिए। इसके बाद उन्होंने खुद को अपने कमरों में बंद करके अपना बचाव किया।

दूसरी तरफ, मामले की सूचना मिलते ही पुलिस पार्टी कॉलेज पहुंच गई। एसपी (डी) करनवीर सिंह ने बताया कि फिलहाल पुलिस मामले की जानकारी जुटाने में लग गई है और झगड़ा करने वाले छात्रों की पहचान की जा रही है।

यह भी पढ़ें : 
पंजाब: 14 प्रसिद्ध हस्तियों के साथ अरूसा की तस्वीरें साझा कर कैप्टन ने पूछा- क्या ये भी सब आईएसआई एजेंट हैं

इसके अलावा जमहूरी अधिकार सभा की तरफ से उक्त कॉलेज में हुई घटना के रोष में शहर में देर शाम को रोष मार्च निकाला और केंद्र सरकार का पुतला फूंककर जमकर नारेबाजी की गई। साथ ही घटना को अंजाम देने वाले आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने और जल्द पर्चा दर्ज करने की मांग की गई। यदि ऐसा न हुआ तो वह अन्य संगठनों को साथ लेकर लामबंदी करके संघर्ष को तेज कर देंगे।
... और पढ़ें

हरियाणा: गृह मंत्री अनिल विज ने महबूबा मुफ्ती पर साधा निशाना, बोले-उनके डीएनए में ही दोष, कैसे अपने आपको भारतीय साबित करेंगी

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने पीडीएफ की चीफ महबूबा मुफ्ती पर उनके ट्वीट के जवाब में निशाना साधा है। एक ट्वीट के जरिये विज ने कहा कि महबूबा मुफ्ती अपने आपको कैसे भारतीय कह सकती हैं। उनके डीएनए में ही दोष है। विज ने कहा कि पाकिस्तान के क्रिकेट मैच जीतने पर कश्मीर में पटाखे फोड़ने वालों का डीएनए भारतीय हो ही नहीं सकता। देश में छुपे ऐसे गद्दारों से हमें संभलकर रहना होगा।

यह भी पढ़ें-
मिसाल: रोहतक में 13 साल की जिया ने दादा की बरसी पर 15 इंच कटवाए बाल, तमिलनाडु की संस्था को कैंसर मरीजों के लिए कर दिए दान

कश्मीर में की गई थी आतिशबाजी
टी-20 विश्वकप के इतिहास में पहली बार भारत को पाकिस्तान से क्रिकेट मैच में हार का सामना करना पड़ा है। भारत की हार के बाद जहां खेल प्रेमी नाराज हैं, वहीं, जम्मू-कश्मीर के कुछ इलाकों में पाक की जीत की खुशी में आतिशबाजी की बातें सामने आई थीं। कुछ लोगों को पकड़ा भी गया था। जम्मू-कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती इनके समर्थन में उतर गई थीं। उन्होंने आक्रोशित लोगों को विराट कोहली से सीख लेने की सलाह दी थी।

महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट किया था कि पाकिस्तान की जीत का जश्न मनाने वाले कश्मीरियों के खिलाफ इतना गुस्सा क्यों? कुछ लोग तो ऐसे नारे भी लगा रहे हैं, देश के गद्दारों को, गोली मारो...कोई यह नहीं भूल सकता कि जम्मू-कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा छिनने के बाद मिठाइयां बांटकर कितने लोगों ने जश्न मनाया था।

यह भी पढ़ें-सोनीपत: कुंडली बॉर्डर पर किसान आंदोलन के 11 माह पूरे, लखीमपुर हत्याकांड के विरोध में आज देशभर में तीन घंटे प्रदर्शन करेंगे किसान

विराट कोहली की तस्वीर की थी शेयर
महबूबा ने कहा था कि विराट कोहली की तरह इसे सही भावना से लें, जिन्होंने सबसे पहले पाकिस्तानी टीम को बधाई दी। पूर्व सीएम ने ट्वीट के साथ विराट कोहली की वह तस्वीर भी शेयर की थी, जिसमें वह पाकिस्तानी बल्लेबाज रिजवान से बात करते दिख रहे हैं। अब इस ट्वीट के जवाब में अनिल विज ने उन पर हमला बोला है। हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज इससे पहले भी महबूबा मुफ्ती पर ट्वीट के जरिये निशाना साध चुके हैं।
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00