खरी-खरी: मैनचेस्टर टेस्ट रद्द की आलोचना पर बोले गावस्कर, कहा- भारतीय टीम के बारे में इंग्लैंड वाले कभी अच्छा नहीं कहेंगे

स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: ओम. प्रकाश Updated Sun, 12 Sep 2021 08:58 AM IST

सार

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने मैनचेस्टर टेस्ट रद्द की आलोचना करने वाले इंग्लैंड के लोगों को आड़े हाथों लिया है। उनका कहना है कि इंग्लैंड वाले कभी भारत के बारे में अच्छा नहीं कहेंगे। उन्हें सच्चाई का पता लगाना चाहिए। 
सुनील गावस्कर
सुनील गावस्कर - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

भारत और इंग्लैंड के बीच खेला जाने वाला मैनचेस्टर टेस्ट रद्द होने के बाद की लोगों के लिए पहेली बन गया। शुरुआत में यह माना गया कि भारतीय टीम ओल्ड ट्रैफर्ड में असिस्टेंड फीजियो योगेश परमार के कोरोना संक्रमित होने के बाद उतरने के लिए उत्सुक नहीं थी। जिसके चलते उसने निर्णयायक मैच में खेलने से इनकार कर दिया था। इसके बाद कई रिपोर्ट सामने आईं जिनमें कहा गया कि मैनचेस्टर टेस्ट को रद्द करना कोविड-19 के प्रकोप का कारण नहीं था। बल्कि यह अनिश्चितता थी कि आगे क्या हो सकता है। वहीं, टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने कहा है कि लोगों को आलोचना करने से पहले सही चीजों का पता लगा लेना चाहिए। 
विज्ञापन

हैरिसन ने लगाया रवि शास्त्री पर आरोप

इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी टॉम हैरिसन ने टीम इंडिया में कोरोना संक्रमण फैलाने के आरोप रवि शास्त्री पर लगाया। क्यों की रवि शास्त्री ने कुछ दिन मई में अपनी पुस्तक का विमोचन लंदन में किया था जहां काफी भीड़ थी। 

गावस्कर ने साधा हैरिसन पर निशाना

मीडिया से बात करते हुए सुनील गावस्कर ने कहा, किसी को कैसे पता चलेगा कि यह किताब के बिमोचन के दौरान हुआ था, क्यों किताब के लॉन्च के बाद जब खिलाड़ियों का टेस्ट किया गया तो सबकी रिपोर्ट निगेटिव थी, इसके बाद मैच से पहले जब खिलाड़ियों की कोरोना जांच की गई तब भी उनकी रिपोर्ट निगेटि थी। यदि हमारा कोई खिलाड़ी पॉजिटिव नहीं था तो समस्या क्या थी। लिटिल मास्टर ने आगे कहा, और जो रिपोर्ट बताती हैं, कि भारतीय खिलाड़ियों ने मैच खेलने से इनकार कर दिया मैं जानना चाहता हूं कि यह कौन था, यह रिपोर्ट केवल अंग्रेजी अखबारों में है, वे कभी भारतीय टीम के बारे में अच्छा नहीं बोलेंगे और न ही लिखेंगे। वे हमेशा उन्हें ही जिम्मेदार ठहराएंगे, कृपया पता लगाएं कि सच्चाई क्या है फिर उंगली उठाएं। 

भारत ने शायद ही खेलने से मना किया हो

सुनील गावस्कर को लगता है कि भारतीय खिलाड़ियों के मैनचेस्टर टेस्ट में मना करने की संभावना कम है क्योंकि जिस तरह से उन्होंने टेस्ट सीरीज में प्रदर्शन किया था। भारत इस सीरीज में 2-1 से आगे था, सिर्फ एक मैच बाकी था। गावस्कर का मानना है कि भारत 14 साल बाद इंग्लैंड की धरती पर अपनी पहली टेस्ट सीरीज में जीत दर्ज करने के लिए मैदान पर उतरता और 3-1 की जीत के साथ समाप्त करता। गावस्कर ने आगे कहा, हमारे खिलाड़ियों ने सीरीज में 2-1 से बढ़त बनाने के लिए काफी मेहनत की। मैनचेस्टर में भारतीय गेंदबाजों को मदद मिलती, वे क्यों नहीं खेलना चाहेंगे? वे मैच खेलना चाहेंगे क्योंकि वे सीरीज 3-1 से जीत सकते हैं। इसलिए मैं कभी नहीं मानूंगा कि भारतीय खिलाड़ियों ने 5वां टेस्ट खेलने से इनकार कर दिया।

इरफान ने वॉन को दिया मुंहतोड़ जवाब

मैनचेस्टर टेस्ट रद्द होने के बाद इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने ट्वीट कर लिखा था, आईपीएल टीमें चार्टर्ड प्लेन से उड़ान भर रही हैं, संयुक्त अरब अमीरात में छह दिन अनिवार्य क्वारंटीन रहना होगा, सातवें दिन से आईपीएल शुरू हो जाएगा, कोई मुझे बताए कि टेस्ट मैच रद्द करने की आईपीएल के अलावा और कौन वजह हो सकती है।

वॉन के इस बयान पर पूर्व क्रिकेटर इरफान पठान ने उन्हें खरी-खोटी सुनाते हुए ट्वीट कर कहा, मेरा दांत टूट गया है तो क्या मैं आईपीएल को दोष दूं।  
 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें क्रिकेट समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। क्रिकेट जगत की अन्य खबरें जैसे क्रिकेट मैच लाइव स्कोरकार्ड, टीम और प्लेयर्स की आईसीसी रैंकिंग आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00