खरी-खरी: दूसरे टी-20 में मिली हार से बिफरे कोच द्रविड़, कहा- छुट्टियां मनाने के लिए नहीं होता टीम में चयन

स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला, कोलंबो Published by: ओम. प्रकाश Updated Thu, 29 Jul 2021 02:22 PM IST

सार

दूसरे टी-20 मुकाबले में श्रीलंका ने भारत को चार विकेट से शिकस्त दी। इस हार के बाद भारतीय क्रिकेट टीम के कोच राहुल द्रविड़ काफी निराश हुए। उन्होंने मैच के बाद टीम इंडिया के खिलाड़ियों की लताड़ लगाते हुए कहा टीम में चयन छुट्टियां मनाने के लिए नहीं किया जाता है।
राहुल द्रविड़
राहुल द्रविड़ - फोटो : social media
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

भारत और श्रीलंका के बीच तीन टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों की सीरीज का दूसरा मुकाबला 28 जुलाई को खेला गया। कोलंबो के आर प्रेमदासा स्टेडियम में खेले गए इस मैच में भारतीय टीम का प्रदर्शन निराशाजनक रहा। इस मुकाबले में मेजबान श्रीलंका ने भारत को चार विकेट से शिकस्त देकर सीरीज 1-1 से बराबर कर ली। क्रुणाल पांड्या के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद भारत इस मैच में सिर्फ पांच बल्लेबाजों के साथ उतरा। क्वारंटीन प्रोटोकॉल की वजह से दूसरे मैच में भारत के 9 खिलाड़ी उपलब्ध नहीं थे। 
विज्ञापन

बुधवार को खेले गए इस टी-20 मुकाबले में भारत की तरफ से देवदत्त पडीक्कल, ऋतुराज गायकवाड़, नितीश राणा और चेतन सकारिया ने डेब्यू किया। दूसरे टी-20 मैच में भारत का प्रदर्शन काफी खराब रहा। टीम इंडिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 5 विकेट पर महज 132 रन बनाए। श्रीलंका ने दो गेंदें शेष रहते हुए यह मुकाबला 4 विकेट से जीत लिया। इस हार के बाद टीम इंडिया के कोच राहुल द्रविड़ ने भारतीय खिलाड़ियों को खरी-खोटी सुनाई। 

हार के बाद द्रविड़ काफी निराश दिखे और उन्होंने कहा, हमने एकदिवसीय सीरीज जीतने के बाद कुछ खिलाड़ियों को आखिरी में मौका दिया, यहां कि परिस्थितियों ने हमें श्रृंखला जीतने से पहले ऐसा करने पर मजबूर कर दिया है, मुझे भरोसा है कि अगर आपको भारत के लिए खेलने के लिए टीम में चुना गया है चाहें 15वें खिलाड़ी हों या 20वें इससे कोई फर्क नहीं पड़ता, आप अंतिम एकादश में खेलने के लिए काफी बेहतर हैं। 

टीम इंडिया में जिन खिलाड़ियों को मौका दिया गया वह सफल नहीं रहे। कोच राहुल द्रविड़ ने आगे कहा, निश्चित रुप से मुझे कोई संदेश नहीं दिया गया है, मैं टीम देखता हूं, जो 20 लड़के यहां हैं उनमें से प्रत्येक का चयन उनकी काबिलियत के आधार पर किया गया है। जिसके चलते वह श्रीलंका दौरे पर आए हैं। यह भारत में आसान नहीं है, हर बार ऐसा नहीं है कि हम प्रत्येक को मौका देने जा रहे हैं, लेकिन जितना हो सके उतने देने में सक्षम होना वास्तव में अच्छा है। 

द्रविड़ ने कहा कि मुझे तर्क नहीं आता, जैसा कि मैनें कहा, यदि आपको 15 सदस्यीय टीम में चुना गया है जो कोरोना की वजह से 20 हो गई, तो आपको यह ध्यान में रखते हुए टीम में चुना गया है कि आपको किसी भी समय अंतिम 11 में खेलने का मौका मिल सकता है, आपने वह मुकाम हासिल किया है जिसके चलते आपको कैप दी गई, यह आप पर निर्भर है कि आप अवसर को लें और प्रदर्शन करें। उन्होंने आगे कहा, टीम में खिलाड़ियों का चयन छुट्टियां मनाने के लिए नहीं होता है। 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें क्रिकेट समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। क्रिकेट जगत की अन्य खबरें जैसे क्रिकेट मैच लाइव स्कोरकार्ड, टीम और प्लेयर्स की आईसीसी रैंकिंग आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00