विज्ञापन
विज्ञापन
गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें
Myjyotish

गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

आरआईएमसी परिणाम: उत्तराखंड की एक मात्र सीट पर देहरादून के ओम दत्त शर्मा का चयन

राष्ट्रीय इंडियन मिलिट्री कॉलेज (आरआईएमसी) देहरादून में उत्तराखंड राज्य की एक मात्र सीट पर देहरादून के ओम दत्त शर्मा का चयन हुआ है।

17 अक्टूबर 2021

Digital Edition

उत्तराखंड आपदा:  हल्द्वानी में बही थी गौला पुल की एप्रोच रोड, निरीक्षण करने पहुंचे मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी

बीते दिनों उत्तराखंड में आई आपदा में हल्द्वानी के गौला पुल की एप्रोच रोड बह गई थी। जिससे पुल को भी खतरा पैदा हो गया था। रविवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिहं धामी पुल का निरीक्षण करने पहुंचे। इस दौरान मुख्यमंत्री धामी ने जल्द से जल्द रोड निर्माण के आदेश दिए।

हल्द्वानी में गौला पुल की एप्रोच रोड बही, पुल को भी खतरा
नदी के उफान में आने से बाईपास में गौला नदी में बने पुल की 30 मीटर एप्रोच रोड बह गई थी। इससे पुल को खतरा पैदा हो गया है। एनएचएआई और लोनिवि के अधिकारियों ने पुल का निरीक्षण कर एप्रोच रोड के बहने का कारण अवैध खनन बताया है। हालांकि एनएचएआई के अधिकारियों ने प्रथम दृष्टया गौला पुल को सुरक्षित बताया है।

आपदा के दौरान गौला नदी ने पुल की एप्रोच रोड को काटना शुरू कर दिया था। इससे 30 मीटर एप्रोच रोड पूरी तरह कट गई थी। इससे पुल और एप्रोच रोड के बीच बनी सुरक्षा दीवार भी ध्वस्त हो गई। पुल की साइड वॉल की बुनियाद भी दिखने लगी थी। करीब 25 मीटर गहरा गड्ढा हो गया था।

उत्तराखंड आपदा: मृतकों की संख्या 80 पहुंची, व्यास घाटी से 40 और लोगों को सुरक्षित निकाला, जायजा लेने पहुंची केंद्रीय टीम

पुलिस और जिला प्रशासन के अधिकारियों ने पुल के दोनों ओर बैरीकेड कर लोगों को वहां से हटाया। एनएचएआई के प्रोजेक्ट डायरेक्टर योगेंद्र शर्मा और लोनिवि के अधिशासी अभियंता अशोक चौधरी मौके पर पहुंचे। एनएचएआई के प्रोजेक्ट डायरेक्टर ने कहा कि अवैध खनन के कारण एप्रोच रोड बही है। कहा कि अवैध खनन को लेकर कई बार जिला प्रशासन को अवगत कराया गया था। इसके बाद भी जिला प्रशासन ने इस ओर ध्यान नहीं दिया।

अवैध खनन पर प्रशासन मूकदर्शक बना रहा
नदी के पुल के दोनों ओर एक किलोमीटर तक खनन शासन ने प्रतिबंधित किया हुआ है, लेकिन हल्द्वानी गौला पुल के नीचे अवैध खनन बदस्तूर जारी रहा। अमर उजाला की ओर से भी कई बार इसको लेकर खबर प्रकाशित की गई थी, लेकिन जिला प्रशासन, पुलिस और वन विभाग की टीम ने इस ओर ध्यान नहीं दिया। यहां तक कि लोनिवि और एनएचएआई के अधिकारी अवैध खनन को लेकर कई बार डीएम से शिकायत भी कर चुके हैं। इसके बाद भी अवैध खनन पर ध्यान नहीं दिया गया।
... और पढ़ें

PM Modi Uttarakhand Visit: प्रधानमंत्री कर सकते हैं आदिगुरु शंकराचार्य के समाधिस्थल का उद्घाटन

केदारनाथ में आदिगुरु शंकराचार्य के समाधिस्थल का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कर सकते हैं। पीएम मोदी का पांच नवंबर को केदारनाथ भ्रमण प्रस्तावित है।

पीएम मोदी ने किया था शिलान्यास
केदारनाथ धाम में समाधिस्थल का पुनर्निर्माण कार्य लगभग पूरा होने वाला है। सोमवार को यहां आदिगुरु शंकराचार्य की मूर्ति को भी स्थापित कर दिया जाएगा। अन्य जरूरी कार्य अगले दस दिनों में पूरे हो जाएंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजक्ट में शामिल केदारनाथ में आदिगुरु शंकराचार्य के समाधि स्थल को भव्य बनाया जा रहा है। 20 अक्तूबर 2017 को पीएम मोदी ने केदारनाथ पहुंचकर पुनर्निर्माण कार्यों का शिलान्यास किया था। इसमें समाधिस्थल का पुनर्निर्माण कार्य भी शामिल है।

अमर उजाला खास: केदारनाथ धाम में हेली कंपनियां उड़ा रहीं नियमों की धज्जियां

पांच नवंबर को केदारनाथ भ्रमण प्रस्तावित
25 अक्तूबर को यहां आदिगुरु शंकराचार्य की मूर्ति को यहां स्थापित कर दिया जाएगा। यह मूर्ति कर्नाटक में बनाई गई है, जिसका वजन 35 टन है। बताया जा रहा है कि पांच नवंबर को केदारनाथ पहुंचकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समाधि स्थल का उद्घाटन कर सकते हैं।
 
... और पढ़ें

अमर उजाला खास: केदारनाथ धाम में हेली कंपनियां उड़ा रहीं नियमों की धज्जियां

केदारनाथ यात्रा में हेलीकॉप्टर सेवा का संचालन करने वाली हेली कंपनियां भारतीय वन्य जीव संस्थान के मानकों और एनजीटी के नियमों का पालन नहीं कर रही हैं। केदारघाटी से धाम के लिए हेलीकॉप्टर निर्धारित 600 मीटर की ऊंचाई पर नहीं उड़ रहे हैं। साथ ही हेली कंपनियां प्रतिदिन का शटल, साउंड व ऊंचाई का रिकाॅर्ड केदारनाथ वन्य जीव प्रभाग को नहीं भेज रही हैं। इस संबंध में प्रभागीय स्तर से हेली कंपनियों को पत्र भेजकर जवाब मांगा गया है।

चारधाम यात्रा 2021: एक महीने में तीर्थयात्रियों की संख्या दो लाख पार, केदारनाथ में उमड़ा हुजूम, तस्वीरें

इस वर्ष छह कंपनियों के हेलीकॉप्टर गुप्तकाशी, शेरसी व बडासू हेलीपैड से केदारनाथ के लिए उड़ान भर रहे हैं। लेकिन ये हेलीकॉप्टर नदी तल से 150 से 250 मीटर की ऊंचाई पर ही उड़ रहे हैं। हेलीकॉप्टरों की उड़ान की यह ऊंचाई केदारनाथ वन्य जीव प्रभाग के भीमबली में स्थापित मॉनीटरिंग स्टेशन में रिकाॅर्ड हो रही है।

उत्तराखंड आपदा: केंद्रीय टीम ने लिया आपदा से क्षति का जायजा, व्यास घाटी से 40 और लोगों को रेस्क्यू किया

केदारनाथ वन्य जीव प्रभाग गोपेश्वर अमित कंवर का कहना है हेलीकॉप्टर की तेज आवाज से अति संवेदनशील क्षेत्र में प्रवास करने वाले दुर्लभ वन्य जीवों, वनस्पतियों को नुकसान पहुंच रहा है। साथ ही लोगों को भी परेशानी हो रही है।
... और पढ़ें

उत्तराखंड चुनाव 2022: प्रदेश कांग्रेस के नेताओं को सोनिया गांधी का बुलावा, 26 अक्तूबर को दिल्ली में होगी बैठक

कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रदेश कांग्रेस के नेताओं को 26 अक्तूबर को दिल्ली बुलाया है। बताया जा रहा है कि इस दौरान सोनिया गांधी उत्तराखंड में आई आपदा की समीक्षा के साथ चुनावी तैयारियों पर प्रदेश के नेताओं के साथ चर्चा करेंगी। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने इसकी पुष्टि की है।

प्रदेश में भारी बारिश के बाद आपदा ने जानमाल का खासा नुकसान पहुंचाया है। ऐसे में सरकार के स्तर पर किए जा रहे आपदा प्रबंधन और राहत कार्यों पर विपक्ष की भी नजर है। विपक्ष इस भूमिका में खरा उतरने की कोशिश भी कर रहा है।

चुनावी वर्ष में राहत कार्यों में थोड़ी भी ऊंच-नीच किसी भी पार्टी के लिए वरदान या घातक कदम साबित हो सकती है। ऐसे में भाजपा केंद्रीय नेतृत्व के साथ विपक्षी हाईकमान भी पूरी तरह से सचेत है। राजनीतिक सूत्रों की मानें तो सोनिया गांधी की प्रदेश के दिग्गज नेताओं के साथ बैठक इसी रणनीति का एक हिस्सा हो सकती है।

इस दौरान राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रदेश में किए जा रहे आपदा राहत कार्यों पर रिपोर्ट मांग सकती हैं। इसके अलावा आगामी चुनावी रणनीति पर भी चर्चा होगी। इस संबंध में प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने बताया कि 26 अक्तूबर को उनकी मुलाकात पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी से होनी है। इस दौरान पार्टी के प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव भी मौजूद रहेंगे। अन्य नेताओं में पूर्व सीएम हरीश रावत और नेता प्रतिपक्ष भी इस बैठक में उपस्थित हो सकते हैं।

पांच नवंबर के बाद आयोजित होगी परिवर्तन यात्रा
कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने बताया कि राज्य में परिवर्तन यात्रा का अगला चरण पांच नवंबर के बाद शुरू होगा। इसके अलावा हल्द्वानी में आयोजित होने वाला विजय संकल्प शंखनाथ कार्यक्रम फिलहाल स्थगित कर दिया गया है। गोदियाल ने बताया कि 31 दिसंबर को पूर्व प्रधानमंत्री स्व. इंदिरा गांधी की पुण्यतिथि 31 अक्तूबर को प्रियदर्शनी शौर्य सम्मान दिवस के रूप में मनाई जाएगी। इस दौरान पूर्व सैनिकों और शहीदों के परिजनों को सम्मानित किया जाएगा।
... और पढ़ें
सोनिया गांधी सोनिया गांधी

चारधाम यात्रा 2021: केदारनाथ यात्रा में हेलीकॉप्टर की ब्लैक टिकटिंग पर रखी जा रही पैनी नजर

केदारनाथ यात्रा में हेलीकॉप्टर के लिए ब्लैक टिकटिंग को रोकने के लिए इस बार जिला प्रशासन ने कड़ी निगरानी कर रहा है। हेलीकॉप्टर सेवा के नोडल अधिकारी के द्वारा हेली कंपनियों के काउंटर का प्रतिदिन निरीक्षण के साथ टिकट बुकिंग की रिपोर्ट मांगी जा रही है। साथ ही यात्रियों से भी फीडबैक लिया जा रहा है। वहीं, जिलाधिकारी कार्यालय से भी हेलीकॉप्टर सेवा की मॉनीटरिंग की जा रही है।

केदारनाथ के लिए इस वर्ष 6 हेली कंपनियों के द्वारा गुप्तकाशी, फाटा व शेरसी से हेलीकॉप्टर सेवा का संचालन किया जा रहा है। 23 दिनों में हेलीकॉप्टरों के द्वारा अलग-अलग हेलीपैड से दो तरफा 3526 शटल की गई हैं। इस दौरान 18961 यात्री हेलीकॉप्टर से केदारनाथ पहुंचे हैं। जबकि बाबा केदार के दर्शन कर 18578 यात्री वापस भी लौटे हैं।

अमर उजाला खास: केदारनाथ धाम में हेली कंपनियां उड़ा रहीं नियमों की धज्जियां

प्रतिदिन हेलीकॉप्टर से ढाई सौ से अधिक शटल हो रही हैं। इस बार खास बात यह है कि अभी तक किसी भी हेली कंपनी के द्वारा टिकट ब्लैक नहीं किए गए हैं। क्योंकि प्रशासन द्वारा तैनात नोडल अधिकारी/जिला पर्यटन व सहासिक खेल अधिकारी सुशील नौटियाल द्वारा प्रत्येक हेली कंपनी के बुकिंग काउंटर से प्रतिदिन की टिकट बुकिंग रिपोर्ट मांगी जा रही है।

साथ ही गुप्तकाशी से शेरसी तक वे दिन में कम से कम दो से तीन कंपनियों के कार्यालय में दो से तीन घंटे बैठकर वहां की व्यवस्थाओं का जायजा ले रहे हैं। यही नहीं, नोडल अधिकारी द्वारा हेलीकॉप्टर से धाम जाने व लौटने वाले यात्रियों से फीडबैक भी लिया जा रहा है, जिसके माध्यम से व्यवस्था को और दुरस्त करने का प्रयास किया जा रहा है।

साथ ही पुलिस द्वारा भी हेलीपैड व हेली कंपनियों के कार्यालयों से निरंतर संपर्क बना हुआ है। इधर, जिलाधिकारी मनुज गोयल ने बताया कि हेलीकॉप्टर सेवा में ब्लैक टिकटिंग को लेकर अभी तक कोई मामला प्रकाश में नहीं आया है। इसके लिए नोडल अधिकारी बधाई के पात्र हैं। यात्रा कंट्रोल रूम से हेली सेवा की नियमित मॉनीटरिंग की जा रही है।

2019 में छह मुकदमे हुए थे दर्ज 
केदारनाथ यात्रा में हेली कंपनियों की मनमानी, ब्लैक टिकटिंग और यात्रियों के साथ अभद्रता नई बात नहीं है। वर्ष 2019 में ऑनलाइन बुकिंग के नाम पर एजेंटों के माध्यम से कई हेली कंपनियों ने मोटी कमाई का प्रयास भी किया। इस दौरान यात्रियों की शिकायत पर सोनप्रयाग, फाटा व गुप्तकाशी पुलिस कोतवाली/चौकी व थाना में मुकदमे भी दर्ज किए गए थे। तब, जांच के बाद पुलिस ने कुछ लोगों को गिरफ्तार भी किया था। वर्ष 2017 व 2018 में भी इस तरह के 10 से अधिक मामलों में सात लोगों की गिरफ्तारी हुई थी।
... और पढ़ें

उत्तराखंड में कोरोना: रविवार को छह नए संक्रमित मिले, एक मरीज की हुई मौत

उत्तराखंड में अब कोरोना संक्रमण कम हो रहा है। बीते 24 घंटे में प्रदेश में छह नए कोरोना संक्रमित मिले हैं। वहीं, एक मरीज की मौत हुई है। जबकि नौ मरीजों को ठीक होने के बाद घर भेजा गया। सक्रिय मरीजों की संख्या 163 पहुंच गई है। 

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार, रविवार को 9871 सैंपलों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। 10 जिलों अल्मोड़ा, बागेश्वर, चमोली, हरिद्वार, पौड़ी, पिथौरागढ़, रुद्रप्रयाग, टिहरी, ऊधमसिंह नगर और उत्तरकाशी में एक भी संक्रमित मरीज नहीं मिला है। वहीं,  चंपावत में एक, देहरादून में तीन और नैनीताल में दो संक्रमित मरीज मिले हैं।

उत्तराखंड: रुड़की में बेकाबू हो रहा डेंगू, 55 नए मरीजों में हुई पुष्टि, एक संदिग्ध की मौत

संक्रमण दर 0.06 प्रतिशत पहुंची
प्रदेश में अब तक कोरोना के कुल संक्रमितों की संख्या 343821 हो गई है। इनमें से 330121 लोग ठीक हो चुके हैं। प्रदेश में कोरोना के चलते अब तक कुल 7399 लोगों की जान जा चुकी है। प्रदेश की रिकवरी दर 96.02 प्रतिशत और संक्रमण दर 0.06 प्रतिशत दर्ज की गई है। 
... और पढ़ें

उत्तराखंड आपदा: वायु सेना ने दारमा घाटी में फंसे सभी पर्यटक सुरक्षित निकाले, अग्रिम चौकी के लिए भेजी रसद 

आपदा के कारण दारमा घाटी में फंसे सभी पर्यटकों को वायु सेना ने चार दिन के रेस्क्यू अभियान के बाद निकाल लिया है। रविवार को 11 पर्यटकों समेत 18 लोगों को हेलीकॉप्टर से धारचूला लाया गया। सेना ने  हेलीकॉप्टर से चीन सीमा के निकट स्थित अग्रिम पोस्ट के लिए 15 क्विंटल रसद भी भेजी।

17 से 19 अक्तूबर तक हुई बारिश और बर्फबारी के कारण सड़कें बंद होने से पंचाचूली घूमने गए पर्यटक दारमा घाटी में फंस गए थे। स्थिति को देखते हुए सरकार ने पर्यटकों और स्थानीय लोगों को निकालने के लिए वायुसेना की मदद से चार दिन तक राहत और बचाव अभियान चलाया।

उत्तराखंड में बदला मौसम: चारधाम की ऊंची चोटियों पर बर्फबारी, मैदान में बारिश से बढ़ी ठंड, तस्वीरें

शनिवार को व्यास घाटी से फंसे पर्यटकों को तो निकाल लिया गया लेकिन मौसम खराब होने के कारण दारमा घाटी में बचाव कार्य नहीं हो पाया था। रविवार को मौसम ठीक होने पर वायुसेना के एएलएच हेलीकॉप्टर ने 18 लोगों को सुरक्षित निकाला। इनमें 11 पर्यटक, चल गांव में पोस्टमार्टम करने गई स्वास्थ्य टीम के चार सदस्य और तीन स्थानीय नागरिक शामिल हैं। डीएम ने दो लोगों की मेडिकल टीम को हेलीकॉप्टर से दुग्तु गांव में स्वास्थ्य शिविर लगाने के लिए भेजा। 
... और पढ़ें

उत्तराखंड: हरक से बोले हरीश रावत, आपदा में तो सांप और नेवला भी एक हो जाते हैं, आप तो मेरे भाई हैं 

सभी पर्यटकों का सुरक्षित निकाला
अब तक मीडिया और सोशल मीडिया के जरिये संवाद के सिलसिले को गति दे रहे पूर्व सीएम हरीश रावत और वन मंत्री हरक सिंह रावत की रविवार को टेलीफोन पर बात भी हो गई। बातचीत का मकसद भले ही रामनगर के आपदाग्रस्त चुकुम गांव में राहत और बचाव कार्य पर फोकस रहा हो मगर हरीश रावत ने बातचीत की शुरुआत में ही ‘आपदा में तो सांप और नेवला भी एक हो जाते हैं, आप तो मेरे भाई हैं..’ कहकर दोनों के बीच कई दिनों से जारी सियासी कड़वाहट को खत्म करने की कवायद को एक दिशा दे दी।

रविवार को हरीश रावत रामनगर के चुकुम गांव में आपदा प्रभावितों से बातचीत कर रहे थे। इस दौरान हरीश रावत ने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल को वन मंत्री हरक सिंह रावत को फोन लगाने के लिए कहा। बातचीत शुरू होते ही हरीश रावत ने हरक से चुकुम और सुंदरखाल गांव के ग्रामीणों की मदद करने की बात कही।

उन्होंने कहा कि वह (हरक सिंह) सत्ता में बैठे हैं। वह कुछ कर सकने में सक्षम हैं, इसलिए वह एक बार इन गांवों का दौरा करें और ग्रामीणों के विस्थापन में मदद करें। हरीश रावत की फोन पर हुई बातचीत के फिर से सियासी मायने निकाले जाने लगे हैं। यह बातचीत तब हुई है जब वन मंत्री हरक सिंह रावत की ओर से पूर्व सीएम हरीश रावत से माफी मांगने की बात वायरल हुई थी।
... और पढ़ें

Karwa Chauth 2021: सुहागिनों ने चांद का दीदार कर मांगा अखंड सौभाग्य, देवभूमि में ऐसी रही करवाचौथ की रौनक, तस्वीरें...

पति की दीर्घायु के लिए सुहागिनों ने दिनभर व्रत रखने के बाद रात को चांद का दीदार कर अर्घ्य देकर अखंड सौभाग्य का आशीर्वाद मांगा। उत्तराखंड में सुहागिनों ने दिन भर के निर्जला व्रत रखा और दोपहर में विधि-विधान से पूजा अर्चना की। शाम को सोलह श्रंगार कर उन्होंने चांद निकलने का इंतजार किया। रात 8.11 बजे चांद निकलने के बाद रस्म के अनुसार चंद्रमा की पूजा कर अर्घ्य दिया और व्रत का उद्यापन किया।  

इसके बाद पति की आरती कर व्रत खोला और पतियों ने आकर्षक उपहार भी दिए। इससे पहले दिनभर घरों और मंदिरों में करवा चौथ को लेकर विशेष आयोजन हुए। कई जगह घरों में सुहागिनों ने सामूहिक रूप से करवाचौथ की कथा सुनी। 

लेकिन शाम को मौसम खराब होने के कारण कई जगहों पर चांद नहीं दिखाई दिया। ऐसे में सुहागिनों ने चांद की दिशा को देखकर भी व्रत खोला। वहीं, कई जगहों पर लोगों ने ऑनलाइन दूसरे शहरों में निकले चांद को देखकर व्रत खोला। 
... और पढ़ें

उत्तराखंड: आपदा में क्षतिग्रस्त मकानों की मुआवजा राशि बढ़ाएगी सरकार, कैबिनेट बैठक में आएगा प्रस्ताव

प्रदेश में आई आपदा में जनहानि के साथ जिन लोगों के मकान-दुकान इत्यादि पूरी तरह से ढह गए हैं या क्षतिग्रस्त हो गए हैं, ऐसे लोगों को मिलने वाली मुआवजा राशि को सरकार बढ़ाने जा रही है। इस आशय का प्रस्ताव आगामी 28 अक्तूबर को होने वाली कैबिनेट बैठक में लाया जाएगा। सरकार बैठक से पहले ही इसकी घोषणा कर सकती है।

प्रदेश में अभी तक आपदा में पूर्णरूप से ध्वस्त हुए आवासीय भवनों, व्यावसायिक भवनों की मुआवजा राशि के रूप में एक लाख नौ हजार रुपये सरकार की ओर से प्रदान किए जाते हैं, जो बहुत कम हैं। ऐसे में सरकार इस मुआवजा राशि को बढ़ाने पर विचार कर रही है।

प्रदेश के आपदा प्रबंधन मंत्री डॉ.धन सिंह रावत ने बताया कि इस संबंध में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के साथ चर्चा हुई है। प्रदेश में विभिन्न मदों में आपदा राहत राशि को बढ़ाने पर विचार किया जा रहा है। आवासीय भवनों के साथ व्यवसायिक भवनों, कृषि भूमि, फसलों के नुकसान आदि पर दी जानी वाली मुआवजा राशि बढ़ाई जाएगी। शासन स्तर पर इस पर विचार किया जा रहा है। सरकार शीघ्र ही इसकी घोषणा कर सकती है। प्रस्ताव आगामी कैबिनेट बैठक में लाया जाएगा।

उत्तराखंड में बिगड़ा मौसम: आपदा से अभी उभरे नहीं, फिर जोरदार बारिश ने डराया, शासन-प्रशासन अलर्ट

मंत्री ने बताया कि प्रदेश में आपदा में मारे गए लोगों के परिजनों को चार लाख रुपये की मुआवजा राशि प्रदान की जा रही है। उन्होंने बताया कि अधिकतर मृतकों के परिजनों को मुआवजा राशि दी जा चुकी है। प्रदेश में बद सड़कों को खोलने का काम भी तेजी से किया जा रहा है। इसके अलावा कृषि भूमि और फसलों को हुए नुकसान का आकलन किया जा रहा है।

सभी जिलों के प्रशासन से शीघ्र आकलन कर रिपोर्ट देने को कहा गया है। उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार की ओर से भेजी गई टीम भी आपदा से हुए नुकसान का जायजा ले रही है। जो शीघ्र ही केंद्र सरकार को अपनी रिपोर्ट सौंपेगी। क्या इस रिपोर्ट के बाद केंद्र सरकार प्रदेश के लिए आर्थिक पैकेज की घोषणा करेगी, यह पूछे जाने पर मंत्री ने कहा कि यह परिस्थितियों और हालात पर निर्भर करेगा। यह केंद्र का विषय है, इस पर वह अपनी तरफ से कुछ नहीं कर सकते हैं।
... और पढ़ें

उत्तराखंड में बिगड़ा मौसम: आपदा से अभी उभरे नहीं, फिर जोरदार बारिश ने डराया, शासन-प्रशासन अलर्ट

उत्तराखंड में 17, 18 और 19 अक्तूबर को हुई भारी बारिश के बाद आई आपदा से अभी संभले भी नहीं थे कि रविवार शाम प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में हुई जोरदार बारिश ने एक बार फिर लोगों को डरा दिया। इस दौरान शासन-प्रशासन से जुड़े लोग एक बार फिर अलर्ट मोड पर आ गए।

रविवार को राज्य सचिवालय स्थित आपातकालीन परिचालन केंद्र में फिर से हलचल बढ़ गई। हालांकि मौसम विभाग की ओर से राज्य के उत्तरकाशी, देहरादून, रुद्रप्रयाग, चमोली, नैनीताल सहित चंपावत जिले में हल्की वर्षा, गर्जन के साथ बौछारें पड़ने की चेतावनी जारी की गई थी। इसके देखते हुए शासन-प्रशासन पहले ही अलर्ट मोड में था। लेकिन बारिश शुरू होते ही लोगों के बीच डर का माहौल बन गया। खासकर आपदा प्रभावित क्षेत्रों में लोग सहमे रहे।

उत्तराखंड में बदला मौसम: चारधाम की ऊंची चोटियों पर बर्फबारी, मैदान में बारिश से बढ़ी ठंड, तस्वीरें

हालांकि राहत की बात यह रही कि इस दौरान राज्य में बारिश से किसी अप्रिय घटना का समाचार नहीं है। प्रदेश में रविवार तक सरकारी आंकड़ों के अनुसार मरने वालों की संख्या 72 ही थी, जबकि कुल मरने वालों की संख्या 80 बताई जा रही है। सचिवालय स्थित राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र से मिली सूचना के अनुसार, आपदा में अल्मोड़ा में छह की मौत हुई दो घायल हुए, चंपावत में 11 की मौत हुई चार घायल हुए, बागेश्वर में एक मौत हुई।

नैनीताल में मरने वालों की संख्या 35 है, जबकि घायलों की संख्या पांच बताई गई है। इसी तरह से यूएसनगर में दो मौत, तीन घायल, पौड़ी में तीन की मौत, दो घायल, पिथौरागढ़ में तीन की मौत, दो घायल, चमोली में एक की मौत और चार घायल और उत्तरकाशी में दस की मौत और चार लोग घायल बताए गए हैं।

क्षतिग्रस्त आवासीय भवनों की संख्या 224 पहुंची
जैसे-जैसे आपदा में हुए नुकसान का आकलन किया जा रहा है, क्षतिग्रस्त भवनों की संख्या बढ़ती जा रही है। रविवार तो क्षतिग्रस्त भवनों की संख्या 224 पहुंच गई थी। इनमें अल्मोड़ा में 40, चंपावत में 2, नैनीताल में 74, यूएस नगर में सर्वाधित 93 और चमोली में 15 भवनों को नुकसान पहुंचा है। इनमें आवासीय के साथ व्यवसायिक भवन भी शामिल हैं। कुछ भवन पूरी तरह से ध्वस्त हो गए हैं तो कुछ को आंशिक क्षति पहुंची है।
... और पढ़ें

भारत-पाक मैच: दुबई से चल रहा सट्टा पकड़ा, देहरादून में दो बुकी गिरफ्तार, 10 पुलिस की पकड़ से बाहर

भारत पाकिस्तान के मैच पर सट्टा लगाने के आरोप में पटेलनगर पुलिस ने देहराखास स्थित एक्टिंग एकेडमी में दुबई से संचालित हो रहा सट्टा पकड़ा है। सट्टा खिलवाने के आरोप में दो बुकी भी गिरफ्तार हुए हैं। इनके विभिन्न खातों में जमा 15 लाख रुपये से ज्यादा रकम फ्रीज की गई है। मामले में 10 बुकी पुलिस की पकड़ से बाहर हैं। 

पटेलनगर इंस्पेक्टर प्रदीप राणा ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि देहराखास स्थित एक एक्टिंग एकेडमी के दफ्तर में टी-20 वर्ल्ड कप के मैचों पर सट्टा लगाया जा रहा है। इस सूचना पर एकेडमी ऑफ क्रिएटिव ट्रेनिंग एंड स्किल नाम की एकेडमी में छापा मारा गया। यहां पर दो युवक लैपटॉप व अन्य इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्एस के साथ बैठे हुए थे। इनकी गतिविधियां संदिग्ध नजर आ रही थीं। पूछताछ में पता चला कि वह दोनों सट्टा खिलवा रहे थे। साथ ही रविवार को होने वाले भारत-पाकिस्तान के मैच में सट्टा लगवाने की तैयारियां कर रहे थे।

T20 World Cup 2021: भारत-पाक मैच को लेकर उत्तराखंड में चरम पर उत्साह, सट्टेबाजी की आशंका पर पुलिस अलर्ट

दोनों युवकों ने अपने नाम मनीष निवासी विद्या विहार और प्रकाश सिंह निवासी रायपुर बताए। दोनों युवक अलग-अलग लैपटॉप से विभिन्न वेबसाइटों के माध्यम से सट्टा खिलवा रहे थे। कुछ संदिग्ध और कोड भाषा का भी प्रयोग किया जा रहा था। इसमे 102 विड्रॉल और 102 रीफिल आदि लिखा हुआ था। पुलिस ने इनके मोबाइल चेक किए तो इनमें एक खाता आईसीआईसीआई बैंक में एवरग्रीन एंड फूड वेजिटेबल और दूसरा एयू बैंक ग्लोबल ट्रेडिंग के नाम से था।

आईसीआईसीआई बैंक के खाते में 13 लाख रुपये और एयू बैंक के खाते में दो लाख रुपये जमा थे। पुलिस ने तत्काल उच्चाधिकारियों की मदद से इन खातों में जमा रकम को फ्रीज कराया। आरोपियों के 10 साथी अनिल उपाध्याय, रवि, महादेव रतूड़ी, अंकुश, अमन, अनमोल, मुकुल, सौरभ, अमित और प्रमोद चंद उपाध्याय अभी पकड़ से बाहर हैं। इनमें से दो लोगों की यह एकेडमी है। इन सभी के खिलाफ पटेलनगर थाने में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। आरोपियों की तलाश में विभिन्न ठिकानों पर दबिश दी जा रही है। 

24 घंटे शिफ्टों में चलता था सट्टा 
आरोपियों ने बताया कि इस दफ्तर में सट्टा 24 घंटे चलता था। यहां पर एक रजिस्टर भी रखा था, जिसमें सट्टा लगाने वालों के नाम लिखे हुए थे। यहां कुल आठ लोग छह-छह घंटे की शिफ्टों में काम करते थे। जिन खातों में यह रकम थी वह दोनों मुंबई के खाते हैं। यह सट्टा प्रमुख तौर पर दो वेबसाइटों के माध्यम से चलाया जा रहा था। इनके पास से लैपटॉप, मोबाइल व अन्य सामान बरामद हुआ है। 
... और पढ़ें

T20 World Cup 2021:  भारत-पाक मैच को लेकर उत्तराखंड में चरम पर उत्साह, सट्टेबाजी की आशंका पर पुलिस अलर्ट

टी-20 विश्व कप में आज भारत और पाकिस्तान के बीच होने वाले मुकाबले को लेकर उत्तराखंड के क्रिकेट प्रेमियों का उत्साह चरम पर है। मुकाबले से पहले सभी तरह की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। कई होटल-रेस्त्रां में क्रिकेट मुकाबले के सीधा प्रसारण दिखाने की व्यवस्था की गई है। यहां क्रिकेट प्रेमी खाने-पीने के साथ मैच देख सकते हैं। इसके अलावा लोगों ने घर पर भी मुकाबले को देखने के लिए विशेष इंतजाम किए हैं।

आज होने वाला मैच कई मायनों में खास
टी-20 विश्व कप में रविवार को पाकिस्तान के साथ मुकाबले से भारत अपने अभियान की शुरुआत करेगा। हर क्रिकेट प्रेमी को इस रोमांच का इंतजार रहता है। वहीं, आज होने वाला मैच कई मायनों में खास रहेगा। एक तो लंबे समय के बाद भारत-पाकिस्तान की क्रिकेट टीमें आमने-सामने होंगी। दूसरा, रविवार का अवकाश होने के कारण छुट्टी की भी कोई टेंशन नहीं रहेगी।

लिहाजा क्रिकेट प्रेमियों ने छुट्टी के दिन इस मैच का लाइव लुत्फ उठाने की पूरी तैयारी कर ली है। कोई अपने परिवार के साथ मैच देखेगा तो कोई दोस्तों के साथ। आमतौर पर भारतीय टीम की जीत के बाद घंटाघर पर क्रिकेट प्रेमी जश्न मनाने के लिए जुटते हैं। भारत-पाक मैच के दौरान कई बार विवाद की स्थिति भी पैदा होती है। इसको देखते हुए पुलिस भी अतिरिक्त सतर्कता बरत रही है। एसएसपी जन्मजेय खंडूरी ने सभी थानों, कोतवाली और चौकी प्रभारियों को क्षेत्र में लगातार गश्त करने के आदेश जारी किए हैं।
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00