चमोली आपदाः तीसरे दिन मिले चार शव, 174 अभी भी लापता, राहत और बचाव कार्य जारी

अमर उजाला नेटवर्क, देहरादून Published by: पूजा त्रिपाठी Updated Tue, 09 Feb 2021 11:30 PM IST
Uttarakhand chamoli news glacier burst flash flood live updates 9 February 26 took out from tunnel many missing people loosing hope rescue operation continue all we need to know
- फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन

खास बातें

ऋषिगंगा में आई जल प्रलय से 174 लोग अभी भी लापता हैं, इनमें से टनल में फंसे हुए करीब 35 मजदूरों को निकालने की कवायद जारी है। वहीं, 32 शव निकाले जा चुके हैं, इनमें से 2 की शिनाख्त हो गई है। सभी शव टनल से और आसपास के क्षेत्रों में नदियों के किनारे से मिले हैं। वहीं उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने आज सुबह बताया कि टनल में थोड़ा और आगे बढ़े हैं, अभी टनल खुली नहीं है। अधिकारियों के मुताबिक आज सारा मलबा साफ होने की उम्मीद है। पढ़ें दिनभर के अपडेट्स....
विज्ञापन

लाइव अपडेट

11:29 PM, 09-Feb-2021
तपोवन में 1800 मीटर लंबी सुरंग के अंदर अभी भी टनों मलबे के ढेर लगे हैं। मलबे को हटाने में एकमात्र जेसीबी लगी है, जो तीन दिनों में लगभग 130 मीटर में फैले मलबे को ही हटा पाई है। राहत और बचाव कार्य मंगलवार की शाम लगभग आठ बजे तक जारी था।  रविवार सुबह के बाद से अब तक प्रभावित क्षेत्र से 32 शव बरामद हो चुके हैं। इनमें से सोमवार शाम तक 28 लापता लोगों के शव मिले थे। मंगलवार को चार शव और मिले, जिसमें लापता पुलिस कर्मी बलवीर गड़िया का शव भी शामिल था। 
10:06 PM, 09-Feb-2021
चमोली आपदा को लेकर रक्षा भू सूचना विज्ञान अनुसंधान प्रतिष्ठान के निदेशक लोकेश कुमार सिन्हा ने कहा कि पहाड़ पर लटकी हुई बर्फ की पूरी चादर नीचे गिर गई थी। इसके साथ बहुत तेजी से भूस्खलन हुआ पूरा पहाड़ और बर्फ नदी में आ गए। इस वजह से आपदा आई। 
08:59 PM, 09-Feb-2021
लापता लोगों के परिचित इस मोबाइल नंबर पर संपर्क कर सकते हैं। डीआईजी नीलेश अनन्द भरण ने मोबाइल नम्बर +91 7500016666  जारी किया है। व्हाट्स एप के माध्यम से अज्ञात लोगों और शवों की तस्वीरें भेजी जाएंगी। 
07:16 PM, 09-Feb-2021
तपोवन क्षेत्र में नेवी मार्कोस (मरीन) कमांडो का 30 सदस्यीय दल भी रेस्क्यू के लिए पहुंचा है। मंगलवार को कमांडो का दल तपोवन पहुंचा और परियोजना टनल व आसपास के क्षेत्रों का जायजा लिया। 
06:49 PM, 09-Feb-2021
पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चौहान के निर्देश पर चमोली  पुलिस ने एक कंट्रोल रूम तैयार किया है। साथ ही हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए हैं। जिसमें रैणी और  तपोवन क्षेत्र की आपदा से संबंधी जरूरी जानकारी ली जा सकती है। साथ ही रेस्क्यू के बारे में भी यहां से जानकारी प्राप्त की जा सकती है। पुलिस कंट्रोल रूम ने 01372-251487, 9084127503, 9411112977, एसआई धर्मेंद्र गुसाईं- 9634182313, वर्चुवल पुलिस स्टेशन (व्हट्सएप नंबर)-  9458322120 जारी किए हैं। जिनसे आपदा से संबंधित जानकारी ली जा सकती है।
06:24 PM, 09-Feb-2021
रैणी में बहे मोटर पुल के बाद से 13 गांवों का संपर्क कटा हुआ है। इन गांवों में प्रशासन की ओर से राशन किट, मेडिकल सुविधा सहित जरूरी सामान पहुंचाया जा रहा है। मंगलवार को भी गांवों में राहत सामग्री पहुंचाई गई। इसके साथ ही 126 लोगों को हेलीकॉप्टर से उनके गंतव्य जोशीमठ से तपोवन और नीती घाटी तक पहुंचाया गया वहीं प्रशासन ने लापता लोगों की खोज के लिए पहुंचे परिजनों के लिए शिविर लगाकर भोजन और जलपान की व्यवस्था कराई है।
05:20 PM, 09-Feb-2021
एसडीआरएफ ने आपदा से प्रभावित सीमांत गांव रैणी के पास खाद्य एवं अन्य आवश्यक वस्तुओं को पहुंचाने हेतु जिप लाइन लगाई है। गांव के प्रधान एवं ग्रामीणों से मुलाकात कर उनकी समस्याओं की जानकारी लेते हुए उन्हें हर सम्भव सहायता के प्रति आश्वस्त किया गया है। 
04:28 PM, 09-Feb-2021
लोकसभा में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि केंद्र सरकार स्थिति की निगरानी कर रही ह। पीएम खुद इसकी निगरानी कर रहे हैं। गृह मंत्रालय के दोनों नियंत्रण कक्ष 24 घंटे स्थिति पर निगाह बनाए हुए हैं। राज्य को हर संभव सहायता प्रदान की जा रही है। 
03:46 PM, 09-Feb-2021

अल्मोड़ा से चार सदस्यीय टीम करेगी चमोली आपदा के कारणों का पता 

चमोली के जोशीमठ क्षेत्र में आई प्राकृतिक आपदा का सही कारण जानने के लिए जीबी पंत नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हिमालयन इनवायरमेंट अल्मोड़ा की टीम चमोली रवाना होगी। इस टीम में वैज्ञानिक और इंजीनियर होंगे।
03:14 PM, 09-Feb-2021

मंगलवार को बरामद हुए छह शव, कुल मृतकों की संख्या हुई 32

मंगलवार को आपदा प्रभावित क्षेत्र से छह शव बरामद हुए हैं। इनमें चार शव रैणी और एक-एक शव डिडौली व सेकोट से मिले हैं। सूचना विभाग ने यह पुष्टि की है। अब मृतकों की कुल संख्या 32 और लापता लोगाें की संख्या 174 हो गई है।
02:51 PM, 09-Feb-2021

एहतियात के तौर पर अर्ली वार्निंग सिस्टम लगाने की तैयारी - केंद्रीय ऊर्जा मंत्री

केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह ने कहा है कि 93 एनटीपीसी कर्मी फिलहाल लापता हैं। 39 लोग अभी भी सुरंग में फंसे हुए हैं। उन तक पहुंचने के प्रयास जारी है। उन्होंने बताया कि हम हिमस्खलन के पास एहतियात के तौर पर अर्ली वार्निंग सिस्टम लगाने की योजना बना रहे हैं। बता दें कि अभी 175 लोग लापता बताए जा रहे हैं।
 
02:22 PM, 09-Feb-2021

हैदराबाद की टीम रिमोट सेंसिंग उपकरण से कर रही लापता लोगों की तलाश

उत्तराखंड डीजीपी आशोक कुमार ने कहा कि हैदराबाद की टीम के पास एक रिमोट सेंसिंग उपकरण है जो जमीन में 500 मीटर तक गहरे मलबे का पता लगा सकता है। हम एक हेलीकॉप्टर की मदद से डिवाइस का उपयोग कर रहे हैं।
 
02:04 PM, 09-Feb-2021

हेलीकॉप्टर के जरिए पहुंचाई जा रही रसद

मलारी हाईवे पर पुल बह जाने के बाद 13 गांव अलग-थलग पड़े हैं। इन गांवों मे हेलीकॉप्टर के जरिए रसद पहुंचाई जा रही है। आईटीबीपी के करीब 50 जवान रसद पहुंचाने में लगे हुए हैं।
01:30 PM, 09-Feb-2021

ऑक्सीजन सिलिंडर लगाकर टनल में घुसने की योजना बना रही एनडीआरएफ

टनल में अंधेरा और ऑक्सीजन की कमी के कारण एनडीआरएफ की टीम अब ऑक्सीजन सिलिंडर लगाकर टनल में घुसने की योजना बना रही है। साथ ही टनल में ड्रोन से भी खोजबीन कार्य किया जा रहा है।
 
01:03 PM, 09-Feb-2021

केंद्र और राज्य की सभी संबंधित एजेंसियां कर रही आपदा की स्थिति की निगरानी- अमित शाह

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आज राज्य सभा में अपने संबोधन के दौरान उत्तराखंड के चमोली जिले में हिमस्खलन से आई आपदा के राहत-बचाव कार्य की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य की सभी संबंधित एजेंसियां आपदा की स्थिति की निगरानी कर रही हैं। शाह ने कहा कि आईटीबीपी के 450 जवान, एनडीआरएफ की पांच टीमें, भारतीय सेना की आठ टीमें, एक नेवी टीम और वायु सेना के पांच हेलीकॉप्टर खोज और बचाव अभियान में लगे हुए हैं।
 
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00