उत्तराखंड : बदरीनाथ हाईवे खुला, दूसरे दिन भी पिथौरागढ़-घाट राष्ट्रीय राजमार्ग बंद

न्यूज़ डेस्क, अमर उजाला, चमोली Published by: Nirmala Suyal Nirmala Suyal Updated Thu, 17 Jun 2021 11:45 AM IST

सार

टनकपुर-पिथौरागढ़ राष्टीय राजमार्ग लोहाघाट-पिथौरागढ़ के बीच भारतोली में बंद है।
highway, land slide
highway, land slide - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

बदरीनाथ हाईवे बिरही के समीप कोड़िया में बुधवार देर रात से बंद हाईवे गुरुवार को सुबह साढ़े 10 बजे सुचारू हो गया है। रात 2 बजे यहां पहाड़ी से भारी मात्रा में मलबा और बोल्डर हाईवे पर आया और हाईवे बंद हो गया। हाईवे के दोनों ओर वाहनों की लंबी लाइन लग गई थी। 
विज्ञापन


मुसीबत: मलबा आने से पिथौरागढ़-घाट हाईवे बंद, दिनभर भूखे-प्यासे फंसे रहे सैकड़ों यात्री, तस्वीरें...


 टनकपुर-पिथौरागढ़ राष्टीय राजमार्ग लोहाघाट-पिथौरागढ़ के बीच भारतोली में बंद है। दूसरे दिन भी पिथौरागढ़-घाट राष्ट्रीय राजमार्ग नहीं खुला है। यहां सैकड़ों वाहन फंसे हैं।

भारत-चीन सीमा को जोड़ने वाले हाईवे की मरम्मत का काम रुकने से आवाजाही ठप
भारत-चीन सीमा को जोड़ने वाले मलारी हाईवे के टूटे हिस्से को बनाने का काम तीसरे दिन भी शुरू नहीं हो पाया। प्रशासन लगातार ग्रामीणों से वार्ता कर रहा है, लेकिन अभी तक सहमति नहीं बन पाई है। ग्रामीणों का कहना है कि ऋषिगंगा की आपदा से पहले ही उनका गांव खतरे की जद में आ गया था। अब गांव के नीचे से हाईवे के लिए जमीन कटेगी तो मकान धंस सकते हैं। इसलिए पहले गांव को विस्थापित किया जाए।

सोमवार सुबह हुई तेज बारिश में रैणी गांव के नीचे हाईवे का करीब 40 मीटर हिस्सा पूरी तरह से टूट गया था। अब यहां पर जमीन काटकर सड़क बनाई जाएगी। इसके लिए रैणी गांव की जमीन काटनी पड़ रही है। साथ ही पंचायत भवन भी इसकी जद में आ रहा है।

भारत-चीन सीमा:  तीसरे दिन भी नहीं खुला जोशीमठ-मलारी हाईवे, लोग विस्थापन की मांग पर अड़े

ग्रामीणों से जमीन देने को लेकर प्रशासन तीन दिन से लगातार बैठक कर रहा है। लेकिन अभी तक सहमति नहीं बन पाई है। इस संबंध में तहसीलदार चंद्रशेखर वशिष्ठ का कहना है कि बातचीत का दौर जारी है। ग्रामीणों की सहमति मिलते ही काम शुरू कर दिया जाएगा। 

बारिश से लुढ़का पारा, आज भी बारिश के आसार 

राजधानी देहरादून व आसपास के इलाकों में बुधवार को भी मौसम का बदला मिजाज देखने को मिला। तेज हवाओं के बीच बारिश की फुहारों से मौसम ठंडा होने से गर्मी से राहत रही। वहीं गुरुवार को भी बारिश के आसार हैं और मैदानी क्षेत्रों में 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी। पिथौरागढ़ और बागेश्वर जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश की संभावना है। 

बुधवार को राजधानी दून व आसपास के इलाकों में वैसे तो बादल दिन भर छाए रहे। इससे लगा कि राजधानी में जबरदस्त बारिश होगी, लेकिन मौसम का मिजाज कुछ अलग ही रहा। राजधानी के बसंत विहार, प्रेमनगर, आईएसबीटी, माजरा, जोगीवाला, इंदिरानगर, बल्लीवाला, बल्लूपुर, जीएमएस रोड, तुनवाला नकरौंदा, समेत कई इलाकों में बारिश हुई।

वहीं रायपुर, राजपुर, जाखन, नेहरू कॉलोनी, बद्रीश कॉलोनी, डालनवाला, लक्ष्मी रोड, धर्मपुर, प्रगति विहार, डिफेंस कॉलोनी, ओल्ड नेहरू कॉलोनी, घंटाघर, सहारनपुर चौक, अग्रसेन चौक, ईसी रोड, जैसे इलाके सूखे रहे। 

मौसम विभाग का कहना है कि गुरुवार को पिथौरागढ़, बागेश्वर, नैनीताल व चंपावत जैसे जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश की संभावना है। उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, नैनीताल, पिथौरागढ़ के कुछ इलाकों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।

राज्य के अन्य जिलों में तेज गर्जना के साथ आकाशीय बिजली गिरने और तेज बौछार के आसार हैं। मैदानी इलाकों में 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी। देहरादून व आसपास के इलाकों में आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे। कुछ क्षेत्रों में तेज गर्जना के साथ बारिश हो सकती है।

रायपुर में बड़ासी पुल का पुस्ता टूटा, गांवों का संपर्क टूटा

देहरादून के रायपुर क्षेत्र में बड़ासी पुल का पुस्ता टूट गया। इस हादसे से वहां के कई गांवों का संपर्क टूट गया। पुलिस प्रशासन ने आवागमन बंद कर दिया है। साथ ही वहां पर इसकी मरम्मत और आंकलन के लिए लोक निर्माण विभाग की टीम पहुंच गई है। बताया जा रहा है कि पुस्ता निर्माण में अभी कुछ दिन का समय लग सकता है।

मामला थानो रोड का है। यहां पर चंद साल पहले ही नई सड़क बनाई गई थी। इस पर कई पुल भी बने हुए हैं। इनमें से ही एक है बड़ासी पुल। एसओ रायपुर दिलबर सिंह नेगी ने बताया कि बुधवार रात को स्थानीय लोगों ने सूचना दी थी कि बड़ासी पुल का पुस्ता दरक गया है। ऐसे में एहतियात के तौर पर ट्रैफिक को रोक दिया गया था। 

कुछ देर बाद मौके पर चौकी प्रभारी मालदेवता समेत बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया। इसके बाद एसओ रायपुर मय फोर्स मौके पर पहुंच गए। एसओ ने बताया कि पुल के पुस्ते का करीब 20 मीटर का पुस्ता टूटा है। इसके चलते यहां पर आवागमन पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। मौके पर लोक निर्माण विभाग की टीम को भी बुलाया गया है। जेसीबी व अन्य वाहनों के साथ टीम वहां पर मरम्त का काम शुरू कर रही है। 

एक पुल और दरका था पिछले साल 
इस मार्ग और इस पर बने पुलों की गुणवत्ता को लेकर समय-समय पर सवाल उठते रहे हैं। पिछले साल अमर उजाला ने ही यहां के एक पुल के दरकने का खुलासा किया था। भोपाल पानी गांव के पास बने इस पुल की जांच शासन ने विभाग को दी थी। हालांकि, इस जांच में क्या सामने आया यह अभी तक किसी को नहीं पता चल सका है। 

रायपुर क्षेत्र का एक और पुल दरका था 
रायपुर क्षेत्र में बीते दिनों एक और पुल दरकने की खबरें सामने आई थीं। यह पुल रायपुर को पुलिया नंबर छह के क्षेत्र को जोड़ता था। यह पुल बनते ही क्षतिग्रस्त हो गया था। इसके चलते यहां के लोगों को काफी परेशनियों का सामना करना पड़ा था। बहुत दिनों तक आवाजाही भी बंद रही थी।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00