उत्तराखंड: पहाड़ से लेकर मैदान तक हाड़ गलाने वाली ठंड, मसूरी में कंपनी गार्डन की कृत्रिम झील जमी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून Published by: अलका त्यागी Updated Mon, 30 Dec 2019 08:47 AM IST
ठंड से बचने के लिए अलाव सेकते लोग
ठंड से बचने के लिए अलाव सेकते लोग - फोटो : फाइल फोटो
विज्ञापन
ख़बर सुनें
उत्तराखंड में पहाड़ से लेकर मैदान तक कांप रहा है। पाले और कोहरे ने लोगों की मुसीबत बढ़ा दी है। ठंड के कारण लोग घर में दुबकने को मजबूर हो गए हैं। वहीं मौसम विभाग की मानें तो अगले दो से तीन दिन तक राहत के आसार नहीं है। सुबह से ही मैदान के कई इलाकों  में घने कोहने ने परेशानी बढ़ा दी है। पहाड़ में पाला पड़ने से भी ठंड में इजाफा हुआ है। वहीं पहाड़ों की रानी मसूरी में जबरदस्त ठंड देखने को मिल रही है। मसूरी का ठंड का आलम यह है कि कंपनी  गार्डन स्थित कृत्रिम झील रविवार की सुबह जम गई। 
विज्ञापन


वहीं, इस साल के आखिरी दिन प्रदेश का मौसम मेहरबानी कर सकता है। मौसम विभाग मान रहा है कि 31 दिसंबर और एक जनवरी को प्रदेशभर में पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय रह सकता है। इसके चलते हल्की बारिश और उच्च पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी हो सकती है।

18 सालों में 28 दिसंबर रहा सबसे सर्द दिन

बता दें कि तराई-भाबर में 28 दिसंबर 18 सालों में दिसंबर का सबसे सर्द दिन रहा। शनिवार को हल्द्वानी-रुद्रपुर का अधिकतम तापमान 12.1 और न्यूनतम तापमान 2.2 डिग्री सेल्सियस रहा है। वहीं, नैनीताल का तापमान 13 और न्यूनतम पारा चार डिग्री सेल्सियस रहा।  

वहीं, खटीमा में शुक्रवार की रात न्यूनतम तापमान दो डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। ठंड से क्षेत्र में जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है।  वहीं, गदरपुर, किच्छा और काशीपुर में शनिवार को कोहरा छाया रहा। सरोवर नगरी में रात में जमकर पाला गिरने से कड़ाके की ठंड पड़ रही है, हालांकि दिन में धूप खिली होने से लोगों को ठंड से राहत मिल रही है।

शीत लहर का प्रकोप

अल्मोड़ा में सुबह-शाम शीत लहर और हाड़कंपाती ठंड से लोग बेहाल हैं। शनिवार को यहां न्यूनतम तापमान दो और अधिकतम 14 डिग्री रिकार्ड किया गया। उधर, गाजियाबाद में कोहरा होने से हिंडन एयरपोर्ट से विमान नैनीसैनी नहीं आ सका। हेरिटेज एविएशन के हेलीकॉप्टर ने भी पिथौरागढ़ और देहरादून के केवल दो चक्कर लगाए, जिनमें कुल 13 यात्रियों ने सफर किया।

पंतनगर विवि के मौसम वैज्ञानिक डॉ. आरके सिंह ने बताया 30 दिसंबर तक कड़ाके की सर्दी से राहत मिलने की उम्मीद नहीं है। 31 दिसंबर से तापमान में सुधार होने की संभावना है। वहीं, देहरादून के मौसम विज्ञान केंद्र से प्राप्त जानकारी के अनुसार रविवार को उत्तराखंड के पर्वतीय क्षेत्रों में कहीं-कहीं पर पाला पड़ने संभावना है।

अलाव में गिरने से झुलसा बच्चा

भगवानपुर में एक बच्चा अलाव में गिरकर गंभीर रूप से झुलस गया। परिजनों की ओर से बच्चे को इलाज के लिए देहरादून भर्ती कराया गया है। रविवार की सुबह औद्योगिक क्षेत्र में रहने वाले प्रेमचंद का सात वर्षीय पुत्र सौरभ अलाव ताप रहा था।

इस दौरान सौरभ को अचानक चक्कर आ गए और वह बेहोश होकर अलाव पर गिर गया। जब तक सौरभ को उठाया जाता, तब तक वह बुरी तरह से झुलस गया था। इसके बाद परिजन सौरभ को लेकर कस्बे में ही एक चिकित्सक के पास पहुंचे, लेकिन चिकित्सक ने सौरभ की हालत को गंभीर देखते हुए हायर सेंटर रेफर कर दिया गया। इसके बाद सौरभ के परिजनों ने उसे देहरादून के एक अस्पताल में भर्ती कराया है, जहां पर उसका इलाज चल रहा है। 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00