बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
बुध का तुला राशि गोचर, जानें क्या होगा आपके जीवन पर प्रभाव
Myjyotish

बुध का तुला राशि गोचर, जानें क्या होगा आपके जीवन पर प्रभाव

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

UPSC Result: देहरादून की निहारिका ने बढ़ाया मान, हासिल की 121वीं रैंक

देहरादून की रहने वाली निहारिका तोमर ने अखिल भारतीय सिविल सर्विसेज परीक्षा में 121वीं रैंक हासिल कर अपना, परिवार, स्कूल और प्रदेश का मान बढ़ाया है।

25 सितंबर 2021

Digital Edition

देहरादून: करीब पांच महीने बाद लगा रोजगार मेला, 400 पदों पर है भर्ती का मौका, बड़ी संख्या में पहुंचे युवा

सृजित पदों के बराबर आवेदक न आने की वजह से दो-तीन बार रोजगार मेला स्थगित कर चुके देहरादून क्षेत्रीय सेवायोजन विभाग का रोजगार मेला करीब पांच महीने बाद आज मंगलवार को आयोजित किया गया। मेले में नौकरी के लिए बड़ी संख्या में युवा पहुंचे हैं। इस बार रोजगार मेले में 23 निजी कंपनियों के करीब 400 पदों पर रोजगार के अवसर हैं। सोमवार शाम तक 450 अभ्यर्थियों ने पंजीकरण कराया है। अभ्यर्थी मौके पर भी पंजीकरण करा सकते हैं। 

क्षेत्रीय सेवायोजन अधिकारी अजय सिंह ने बताया कि मेले में कोरोना गाइडलाइन का पालन हो इसके लिए पंजीकरण अनिवार्य किया गया है। मेले के दिन भी अभ्यर्थी अपना पंजीकरण करा सकते हैं। इस बार आवेदकों की संख्या 500 करीब होने की उम्मीद है।

उत्तराखंड: जल्द होगी 2600 से अधिक पदों पर शिक्षकों की भर्ती, शिक्षा सचिव ने जारी किए आदेश

मेले में भाग लेने वाली कंपनियों की संख्या को 16 से बढ़ाकर 23 कर दी गई है। किसी भी सूरत में मेले को स्थगित नहीं किया जाएगा। युवाओं को उनकी योग्यता के अनुसार रोजगार मिले इसके लिए पूरी तैयारियां की गई हैं। 
... और पढ़ें
देहरादून में रोजगार मेले में उमड़ी भीड़ देहरादून में रोजगार मेले में उमड़ी भीड़

खुशखबरी: पुलिस विभाग में नौकरी की राह देख रहे युवा हो जाएं तैयार, उत्तराखंड में जल्द होगी 1521 सिपाहियों की भर्ती

उत्तराखंड में पुलिस भर्ती का इंतजार कर रहे युवाओं के लिए अच्छी खबर है। जल्द ही सिपाहियों के 1521 पदों पर भर्ती प्रक्रिया शुरू होने वाली है। पुलिस मुख्यालय ने इसके लिए अधीनस्थ सेवा चयन आयोग को प्रस्ताव भेज दिया है। 

बता दें, युवा लंबे समय से भर्ती का इंतजार कर रहे थे। बीते छह साल में पुलिस विभाग में सिपाहियों की नई भर्तियां नहीं हुई थीं। पिछले दिनों बेरोजगार युवाओं ने सोशल मीडिया पर उम्र बढ़ाओ अभियान नाम देकर सेल्फी अभियान भी चलाया था। इसी क्रम में पुलिस मुख्यालय ने यह राहत भरी खबर दी है। 

देहरादून: करीब पांच महीने बाद लगा रोजगार मेला, 400 पदों पर है भर्ती का मौका, बड़ी संख्या में पहुंचे युवा

मुख्यालय से मिली जानकारी के अनुसार विभाग में कांस्टेबल संवर्ग के अंतर्गत सीधी भर्ती से जनपदीय पुलिस (पुरुष) के 785 पद, पीएसी आईआरबी के 291 और फायरमैन के 291 पदों पर भर्ती की जाएगी। इसके साथ ही महिलाओं के लिए 133 पद अनुमन्य करते हुए कुल 445 पदों पर भर्ती होगी।

कुल मिलाकर 1521 सिपाहियों की भर्ती के लिए जल्द ही प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। पिछले दिनों मुख्यमंत्री के साथ हुई मुख्यालय के अधिकारियों की बैठक में भी यह प्रमुख मुद्दा रहा था। इसमें भी सितंबर माह के भीतर भर्ती प्रक्रिया शुरू करने की बात कही गई थी। 
... और पढ़ें

सावधान: नवजातों पर भी कोरोना का खतरा, उत्तराखंड में 16 दिन के शिशु में मिली एंटीबॉडी

कोरोना का कहर फिलहाल थम गया है, लेकिन तीसरी लहर की विशेषज्ञों की आशंका को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। नवजात भी कोरोना के खतरे से महफूज नहीं हैं। उत्तराखंड के ऊधमसिंह नगर जिले के काशीपुर में इस तरह का एक केस सामने आने पर स्वास्थ्य विभाग सतर्क हो गया है। 16 दिन के शिशु में एंटीबॉडी मिली है। यह तब होता है जब कोरोना संक्रमित होने के बाद मरीज स्वस्थ हो जाता है।

देहरादून: बढ़ रहे रायनो और एडिनो वायरस के मरीज, लक्षणों के आधार पर ऐसे करें पहचान

मामला तब सामने आया जब 16 दिन के नवजात की तबीयत लगातार बिगड़ने पर परिजन अस्पताल लेकर पहुंचे। डॉक्टरों ने जांच की सलाह दी। खून की जांच के दौरान पता चला कि बच्चे में एंटीबॉडी बन चुकी हैं। इससे यह स्पष्ट हो गया कि बच्चे को कोरोना हुआ था, लेकिन अब वह ठीक हो चुका है। 

ये भी हैं कोरोना के लक्षण
बच्चे का इलाज करने वाले डॉक्टर कुशाल अग्रवाल बताते हैं कि सिर्फ खांसी, जुकाम, बुखार ही कोरोना के लक्षण नहीं हैं। बच्चों में उल्टी, दस्त ज्यादा दिन तक रहना भी कोरोना के लक्षण हो सकते हैं। हाल ही में उनके पास आए 16 दिन के बच्चे का केस इस बात का सबूत है कि नवजात भी कोरोना संक्रमित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह बहुत ज्यादा घबराने वाली बात नहीं है, लेकिन  ज्यादा सावधानी रखने की जरूरत है।
... और पढ़ें

ऋषिकेश: कोविड कर्फ्यू में छूट के बाद बढ़ने लगी रौनक, पांच महीने में 36 हजार पर्यटकों ने किया योगनगरी का दीदार 

विश्वभर में ऋषिकेश की योगनगरी के रूप में पहचान है। देश-विदेश से पर्यटक यहां घूमने के लिए पहुंचते हैं। लॉकडाउन और कोविड कर्फ्यू के दौरान पर्यटकों के आवागमन पर रोक से पर्यटन कारोबार पूरी तरह ठप हो गया था। लेकिन अब कोविड कर्फ्यू में छूट से कारोबार फिर रफ्तार पकड़ रहा है। छूट मिलने के बाद मई 2021 से अब तक करीब 36 हजार पर्यटक तीर्थनगरी पहुंच चुके हैं। इसके अलावा लक्ष्मण झूला, मुनिकीरेती क्षेत्र में करीब 50 विदेशी पर्यटक ठहरे हुए हैं। 

पर्यटन स्थल मुनिकीरेती, तपोवन, स्वर्गाश्रम, लक्ष्मण झूला वर्षभर देशी, विदेशी पर्यटकों से गुलजार रहते थे। कोरोनाकाल से पहले इन क्षेत्रों में पर्यटकों की संख्या हर महीने एक लाख से अधिक पहुंच जाती थी। कोरोनाकाल के चलते मार्च 2020 से इन क्षेत्रों में सन्नाटा पसरा गया।

चारधाम यात्रा 2021: ई-पास पंजीकरण का सरलीकरण करेगी सरकार, तीर्थयात्रियों को मिल सकती है छूट

पर्यटकों पर निर्भर व्यापारी मंदी और भूखमरी की कगार पर आ गए। प्रदेश सरकार की ओर से अप्रैल 2021 में कोविड कर्फ्यू में थोड़ी राहत मिली। जिससे धीरे-धीरे अब इन क्षेत्रों में सैलानियों की चहलकदमी शुरू होने लग गई है। अंतरराष्ट्रीय सेवाएं बंद होने से इन क्षेत्रों में अभी भी विदेशी पर्यटकों की आवाजाही नहीं हो पा रही है। क्षेत्र में वही विदेशी पर्यटक रुके हुए हैं जो कोरोनाकाल में अपने देश नहीं लौट पाए थे। जिनकी संख्या लगभग 50 हैं। जिनमें यूएसए, इजराइल और रसिया के पर्यटक शामिल हैं।

जिला पर्यटन विभाग पौड़ी के अनुसार मई 2021 से लेकर अब तक क्षेत्र में लक्ष्मण झूला, स्वर्गाश्रम क्षेत्र में 16 हजार पर्यटक पहुंच चुके हैं। जिला पर्यटन विभाग टिहरी के अनुसार मुनिकीरेती और तपोवन क्षेत्र में अब तक 20 हजार सैलानियों की आवाजाही हो चुकी है। 
... और पढ़ें

नरेंद्र गिरि केस: नए अध्यक्ष के चयन को लेकर अटकलों पर लगा विराम, श्रीमहंत हरि गिरि ने कही ये बात

ऋषिकेश पहुंचे सैलानी
अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरि के ब्रह्मलीन होने के बाद नए अध्यक्ष के चयन को लेकर महामंत्री श्रीमहंत हरि गिरि ने तमाम अटकलों पर फिलहाल विराम लगा दिया है। उन्होंने कहा कि नए अध्यक्ष चयन को लेकर कोई जल्दबाजी नहीं है। प्रयाग कुंभ अभी काफी दूर है। सीबीआई नरेंद्र गिरि की मौत की गुत्थी सुलझाने तक कार्यवाहक अध्यक्ष ही परिषद की जिम्मेदारियां निभाएंगे। श्रीमहंत हरि गिरि 30 सितंबर को हरिद्वार पहुंचेंगे और अखाड़ों के संतों से रायशुमारी भी करेंगे।

अमर उजाला से टेलीफोन पर हुई बातचीत में श्रीमहंत हरि गिरि ने कहा कि अध्यक्ष नरेंद्र गिरि की साजिशन हत्या हुई है। साजिश का खुलासा और हत्यारा पकड़ा जाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि संत समाज हर तरीके से सीबीआई को जांच में मदद करेगा। संत-महंतों से लेकर जिस पर भी शंका-आशंका है, पूछताछ होनी चाहिए। बाघंबरी पीठ पर उत्तराधिकारी की गद्दी चादरपोशी होने तक अखाड़ों के संत प्रयागराज में ही हैं।

Uttarakhand News: महंत नरेंद्र गिरि के आत्महत्या मामले पर क्या बोले साक्षी महाराज, देखें वीडियो...

श्रीमहंत हरि गिरि ने नए अध्यक्ष चयन को लेकर अटकलों को अफवाह बताया। कहा कि प्रयाग कुंभ 2024 में है, इसलिए परिषद अध्यक्ष के चयन को लेकर किसी तरह की जल्दबाजी ठीक नहीं है। सीबीआई किसी नतीजे पर पहुंचे, इसके बाद ही नए अध्यक्ष चयन को लेकर कवायद शुरू की जाएगी। उन्होंने कहा कि वह 30 सितंबर को हरिद्वार पहुंचेंगे। हरिद्वार में प्रत्येक अखाड़े में स्वयं जाएंगे और रायशुमारी भी करेंगे। बिना अखाड़ों के संतों को विश्वास में लिए परिषद कोई भी फैसला नहीं लेगी। श्रीमहंत हरि गिरि ने कहा कि अधिकतर अखाड़ों के संत श्रीमहंत नरेंद्र गिरि की मौत का सच जानना चाहते हैं। भविष्य में नए अध्यक्ष के चयन प्रक्रिया होने तक उपाध्यक्ष देवेंद्र सिंह शास्त्री कार्यवाहक अध्यक्ष बने रहेंगे। 
... और पढ़ें

चुनाव 2022: आज हरिद्वार के शीतलाखेड़ा पहुंचेंगे सीएम पुष्कर सिंह धामी, जनसभा को करेंगे संबोधित

हरिद्वार के शाहपुर शीतलाखेड़ा में आज मंगलवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी पहुंचेंगे। सीएम धामी जनसभा को संबोधित करेंगे। मुख्यमंत्री की ओर से क्षेत्र के विकास के लिए बड़ी घोषणाएं करने की उम्मीद जताई जा रही है। पुलिस-प्रशासन की ओर से मुख्यमंत्री के आगमन को लेकर सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। सोमवार को कैबिनेट मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद ने भी कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण किया था।

उत्तराखंड: एक अक्तूबर को पौड़ी आएंगे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, वीर चंद्र सिंह गढ़वाली की प्रतिमा का करेंगे अनावरण

भाजपा नेता शेषराज सैनी और करण सिंह का कहना है कि क्षेत्र पिछड़ा है। यहां कोई सरकारी अस्पताल नहीं है। ग्रामीणों के बीमार होने पर इलाज के लिए 30 किलोमीटर दूर हरिद्वार जिला अस्पताल जाना पड़ता है। क्षेत्र के लोग लंबे समय से अस्पताल की मांग करते आ रहे हैं।

लोग कैबिनेट मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद से भी अस्पताल खोले जाने की मांग उठा चुके हैं। भाजपा नेता संजय सिंह और पवन सिंह का कहना है कि क्षेत्र के लोग लंबे समय से फेरुपुर में विकास खंड बनाने की मांग भी करते आ रहे हैं।

हरिद्वार जिले में विकासखंड बहादराबाद जनसंख्या के आधार पर काफी बड़ा है। क्षेत्र के लोगों को लंबी दूरी तय कर वहां जाना पड़ता है। भाजपा के उत्तर मंडल अध्यक्ष विकास कुमार का कहना है किआयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी क्षेत्र की जनता के हित में कोई बड़ी घोषणा कर सकते हैं। 
... और पढ़ें

उत्तराखंड: दिल्ली से कोटद्वार के बीच चलने वाली गढ़वाल एक्सप्रेस हमेशा के लिए हुई बंद, ये है वजह

देश की राजधानी दिल्ली से कोटद्वार के बीच सिद्धबली जनशताब्दी शुरू होने से अब गढ़वाल एक्सप्रेस को हमेशा के लिए बंद कर दिया गया है। उत्तर रेलवे की ओर से इस आशय के दिशा निर्देश रेलवे के अधीनस्थ अधिकारियों को मिले हैं। दोनों ट्रेनों का समय एक ही होने के कारण इसे बंद किया गया है।

गढ़वाल के रेल यात्रियों को कोरोना की मार अभी तक झेलनी पड़ रही है। कोरोना संक्रमण के दौरान 22 मार्च, 2020 से लगे लॉकडाउन के बाद से कोटद्वार-नजीबाबाद के बीच की रेल सेवाएं समेत दिल्ली तक चलने वाली मसूरी और गढ़वाल एक्सप्रेस को बंद कर दिया गया था। तब से कोटद्वार रेलवे स्टेशन पर सिद्धबली जनशताब्दी के अलावा सभी पैसेंजर और एक्सप्रेस सेवाओं का संचालन बंद है, जिससे गढ़वाल के रेल यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कोरोना संक्रमण काल से पहले कोटद्वार और नजीबाबाद के बीच लोकल रूट पर चार पैसेंजर ट्रेन चला करती थीं। 

ट्रेन पर लगा 'ब्रेक': देहरादून से डेढ़ साल बाद शुरू हुई सहारनपुर पैसेंजर पहले दिन ही हुई टर्मिनेट, ये है वजह

राज्य सभा सांसद अनिल बलूनी के प्रयास से 03 मार्च, 2021 से कोटद्वार-दिल्ली के बीच सिद्धबली जनशताब्दी एक्सप्रेस का संचालन तो शुरू हो गया, लेकिन अन्य सेवाएं अभी तक बंद हैं। जनशताब्दी एक्सप्रेस का संचालन पूर्व में संचालित होने वाली गढ़वाल एक्सप्रेस के समय पर होने से अब उत्तर रेलवे की ओर से गढ़वाल एक्सप्रेस को हमेशा के लिए बंद करने का फरमान जारी कर दिया गया है। इसके पीछे की वजह दोनों का समय एक ही होना बताया गया है। कोटद्वार दिल्ली के बीच अब एक मात्र चेयरयान सिद्धबली जनशताब्दी एक्सप्रेस 12037 और 12038 ही चलेगी।
... और पढ़ें

चारधाम यात्रा 2021: केदारनाथ हेली सेवा के लिए आज से शुरू होगी ऑनलाइन बुकिंग, यहां करें आवेदन

केदारनाथ धाम के लिए आज मंगलवार से हेली सेवा की ऑनलाइन बुकिंग शुरू हो जाएगी। इसके लिए उत्तराखंड नागरिक उड्डयन विकास प्राधिकरण (यूकाडा) ने तैयारियां पूरी कर ली हैं। एक अक्तूबर से हेली सेवा भी शुरू हो जाएगी। तीर्थयात्री बुकिंग के लिए http://heliservices.uk.gov.in वेबसाइट पर आवेदन कर सकते हैं। 

हाईकोर्ट के आदेश पर सरकार ने 18 अक्तूबर से चारधाम यात्रा शुरू कर दी थी, लेकिन अभी तक केदारनाथ धाम के दर्शन करने जाने वाले तीर्थ यात्रियों को हेली सेवा की सुविधा नहीं मिल पाई है। मई में चारों धामों के कपाट खुलने से पहले यूकाडा ने हेली सेवा संचालन की तैयारियां पूरी कर ली थीं।

अच्छी खबर: उत्तराखंड में सात अक्तूबर से सात शहरों की हेलीकॉप्टर से करें हवाई यात्रा

गुप्तकाशी, सिरसा, फाटा हेलीपैड से हेली सेवाओं का संचालन किया जाना है। पूर्व में वेबसाइट पर हेली सेवा की ऑनलाइन बुकिंग शुरू कर दी गई थी। जिस पर करीब 1100 तीर्थ यात्रियों ने बुकिंग भी करा ली थी, लेकिन चारधाम यात्रा पर रोक होने के चलते बुकिंग रद्द कर यात्रियों को पैसा वापस कर दिया गया था। यूकाडा की मुख्य कार्यकारी अधिकारी स्वाति भदौरिया का कहना है कि 28 सितंबर से केदारनाथ हेली सेवा की ऑनलाइन बुकिंग शुरू की जाएगी और एक अक्तूबर से हेली सेवा का संचालन शुरू कर दिया जाएगा।

चारधाम यात्रा 2021: ई-पास पंजीकरण का सरलीकरण करेगी सरकार, तीर्थयात्रियों को मिल सकती है छूट

बदरीनाथ 920 और केदारनाथ में 584 यात्री पहुंचे
बदरीनाथ धाम में धीरे-धीरे तीर्थयात्रियों की संख्या बढ़ने लगी है। सोमवार को 920 तीर्थयात्रियों ने बदरीनाथ धाम के दर्शन किए। तीर्थयात्री धाम में इन दिनों पितृ तर्पण के लिए पहुंच रहे हैं। बदरीनाथ धाम में मौसम सामान्य बना है। सोमवार को धाम में दिनभर धूप खिली रही। वहीं, 566 तीर्थयात्रियों ने हेमकुंड साहिब व लोकपाल लक्ष्मण मंदिर के दर्शन किए। वहीं केदारनाथ में 584 श्रद्धालुओं ने बाबा केदार के दर्शन किए। 
... और पढ़ें

उत्तराखंड में कोरोना: सोमवार को मिले 14 नए संक्रमित, एक भी मरीज की मौत नहीं

उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में 14 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं। वहीं, एक भी मरीज की मौत नहीं हुई है। जबकि 20 मरीजों को ठीक होने के बाद घर भेजा गया। सक्रिय मामलों की संख्या 218 पहुंच गई है। जबकि रविवार को प्रदेश में 226 सक्रिय मरीज थे।

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार, सोमवार को 13096 सैंपलों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। सात जिलों अल्मोड़ा, बागेश्वर, चंपावत, पौड़ी, टिहरी, ऊधमसिंह नगर और उत्तरकाशी में एक भी संक्रमित मरीज नहीं मिला है। वहीं, चमोली में दो, देहरादून में छह, हरिद्वार, नैनीताल और रुद्रप्रयाग में एक-एक और पिथौरागढ़ में तीन संक्रमित मरीज मिले हैं। 

उत्तराखंड: डेढ़ साल बाद सभी के लिए खुलेगी भारत-नेपाल सीमा, विदेशी पर्यटकों को कोरोना जांच के बाद मिलेगा प्रवेश

प्रदेश में अब तक कोरोना के कुल संक्रमितों की संख्या 343504 हो गई है। इनमें से 329794 लोग ठीक हो चुके हैं। प्रदेश में कोरोना के चलते अब तक कुल 7393 लोगों की जान जा चुकी है। प्रदेश की रिकवरी दर 96.01 प्रतिशत और संक्रमण दर 0.10 प्रतिशत दर्ज की गई है। 

देहरादून: बढ़ रहे रायनो और एडिनो वायरस के मरीज, लक्षणों के आधार पर ऐसे करें पहचान
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X