विज्ञापन
विज्ञापन
लाभ पंचमी - सौभाग्य वर्धन का दिन,घर बैठे कराएं लक्ष्मी गणेश पूजन एवं लक्ष्मी सहस्रनाम पाठ,मात्र 101/- में,अभी बुक करें
Myjyotish

लाभ पंचमी - सौभाग्य वर्धन का दिन,घर बैठे कराएं लक्ष्मी गणेश पूजन एवं लक्ष्मी सहस्रनाम पाठ,मात्र 101/- में,अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

दिल्लीः ऑनलाइन क्लास न कर पाने वाले बच्चों के लिए कांस्टेबल बने सहारा, मंदिर में ले रहे क्लास

दिल्ली पुलिस का एक कांस्टेबल कोरोना काल में जरूरतमंद बच्चों के लिए मदद का बड़ा हाथ बनकर सामने आया है। कांस्टेबल ने कोरोनाकाल के दौरान गरीब और जरूरतमंद...

20 अक्टूबर 2020

Digital Edition

दिल्ली: छात्रा को बंधक बनाकर घर में लाखों की लूट, किराए पर मकान लेने की बात करते हुए घुस गए दो बदमाश

पूर्वी दिल्ली के कल्याणपुरी इलाके में बदमाशों ने नौवीं कक्षा की छात्रा को बंधक बनाकर लूटपाट कर ली। वारदात के दौरान एक बदमाश ने छात्रा का गला दबाया तो पीड़िता ने अपने पेन की नोंक से एक बदमाश पर हमला कर दिया। छात्रा के चिल्लाने पर बदमाश पकड़े जाने के डर से माल समेटकर मौके से फरार हो गए। 

बदमाशों के जाने के बाद छात्रा ने फौरन मामले की सूचना अपने पिता को दी। तुरंत पिता पुलिस को खबर देने के बाद अपने घर पहुंचा। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने छानबीन के बाद लूटपाट का मामला दर्ज कर लिया है। बदमाश घर में रखे लाखों रुपये के सोने के जेवरात ले जाने में कामयाब हो गए। पुलिस आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की मदद से आरोपियों की पहचान करने का प्रयास कर रही है।

पुलिस के मुताबिक पीड़िता दीक्षा (14) परिवार के साथ कल्याणपुरी के खिचड़ीपुर में रहती है। इसके परिवार में पिता मुकेश गुप्ता, मां सरिता गुप्ता और दो भाई हैं। दीक्षा पास के सरकारी स्कूल में नौवीं कक्षा की छात्रा है। मुकेश का अपना ऑटो है, वह ऑटो खुद ही चलाता है। शनिवार शाम को वह ऑटो ठीक कराने के लिए कोटला गांव गया हुआ था। सरिता भी करवा चौथ की खरीदारी के लिए बाहर गई हुई थी। घर पर दीक्षा और उसका छोटा भाई मौजूद थे। 

शाम करीब 7.00 बजे अचानक दो युवक घर पर पहुंचे। दोनों ने कमरा किराए पर लेने की बात कर दीक्षा से उसके पिता के बारे में पूछा तो उसने फोन कर पिता से बातचीत करा दी। दोनों ने बताया कि उनको पास के परचून वाले दुकानदार ने बताया है कि आपके यहां कोई कमरा खाली है। मुकेश ने एक घंटे में आने की बात की और फोन रख दिया। इस दौरान दोनों बदमाश जबरन घर में घुस गए। एक बदमाश ने दीक्षा का गला दबाया और दूसरा घर में घुसकर सामान तलाशी लेने लगा।

आरोपी ने अल्मारी में रखे सोने के जेवरात निकाल लिए। दीक्षा का दम घुटने लगा तो उसने हाथ में लिया पेन गला दबाने वाले आरोपी के हाथ में मार दिया। दीक्षा ने शोर भी मचा दिया। पकड़े जाने के डरे से आरोपी मौके से फरार हो गए। दीक्षा ने पुलिस को सूचना दी। इसके बाद वरिष्ठ पुलिस अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। जांच के दौरान पुलिस को पता चला है कि दो बदमाश घर में लूटपाट के लिए घुसे जबकि इनका तीसरा साथी बाइक लेकर बाहर खड़ा रहा। पुलिस मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश कर रही है।
... और पढ़ें

दिल्ली: गुटखा लेने के दौरान हुए विवाद में युवक की कैंची घोंपकर हत्या, दूसरे की हालत नाजुक, तीन गिरफ्तार

शाहदरा जिले के सीमापुरी इलाके में रविवार देर रात गुटखा लेने के विवाद में एक युवक का दुकानदार व उसके भतीजे से झगड़ा हो गया। कुछ देर बाद युवक अपने दोस्तों के साथ वहां पहुंचा और उसने दुकानदार व उसके भतीजे और दोस्त पर हमला कर दिया। दुकानदार ने पलटकर किए वार में दो युवकों के पेट और सीने में कैंची घोंप दी। हमले में एक युवक की मौत हो गई, जबकि दूसरे की हालत नाजुक बनी हुई है। 

मृतक की शिनाख्त शुएब (18) के रूप में हुई है। वहीं घायल सुहैल (18) का जीटीबी अस्पताल में इलाज जारी है। पुलिस ने हत्या और हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर आरोपी दुकानदार की पहचान नर सिंह (45), उसके भतीजे हेमंत (26) और हेमंत के दोस्त आमिर (22) के रूप में हुई है। पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर वारदात में इस्तेमाल कैंची बरामद कर ली है। आरोपियों से पूछताछ कर पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

विवाद होने पर दोस्तों को बुला लिया था युवक
शाहदरा जिला पुलिस उपायुक्त आर. सत्यसुंदरम ने बताया कि रविवार देर रात 11.21 बजे जीटीबी अस्पताल से सूचना मिली कि सीमापुरी इलाके से दो युवक घायल अवस्था में मौके पर पहुंचे हैं। तुरंत पुलिस मौके पर पहुंची तो पता चला कि चांद मस्जिद वाली गली, शहीद नगर, गाजियाबाद निवासी शुएब की मौत हो चुकी है। इसके अलावा ओल्ड सीमापुरी निवासी सुहैल बुरी तरह जख्मी हैं। अस्पताल में ही पुलिस को दोनों युवकों के दो दोस्त अनीस व सुभान मिले। दोनों ने बताया कि रविवार रात को समीर नामक इसका दोस्त पुरानी सीमापुरी की एक दुकान पर गुटखा लेने गया था। वहां दुकानदार नर सिंह और उसका भतीजा हेमंत मौजूद थे। हेमंत की किसी बात पर समीर से बहस हुई। इसके बाद समीर ने कॉल कर अपने दोस्तों को बुला लिया। कुछ ही देर बाद समीर अपने दोस्तों अनीस, सुभान, सुहैल, शुएब और अरशद के साथ नर सिंह की दुकान पर पहुंचा। वहां नर सिंह हेमंत के दोस्त आमिर के साथ शराब पी रहा था। समीर व उसके दोस्तों ने आते ही हेमंत को पीटना शुरू कर दिया।

मामले की जांच में जुटी पुलिस
आमिर व नर सिंह ने समीर व उसके दोस्तों को रोकने का प्रयास किया। लेकिन आरोपी हेमंत को पीटते ही रहे। गुस्से में नर सिंह ने दुकान में रखी कैंची उठाकर हेमंत को पीट रहे दो युवकों को मार दी। शुएब के सीने और सुहैल के पेट में कैंची लगी। वारदात के बाद आरोपी फरार हो गए। दोस्त ही दोनों घायलों को जीटीबी अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां शुएब को मृत घोषित कर दिया। हत्या और हत्या के प्रयास का मामला दर्ज पुलिस ने जांच शुरू की। एसएचओ सीमापुरी विनय यादव, इंस्पेक्टर प्रशांत आनंद, एसआई विनित, पुष्पेंद्र व अन्यों की टीम ने तीनों आरोपियों को इलाके से दबोच लिया। पुलिस तीनों से पूछताछ कर मामले की जांच कर रही है।

कौन हैं पकड़े गए तीनों आरोपी
नर सिंह पहले कभी पुलिस के लिए मुखबिरों का काम करता था। वर्ष 2013 में एक बार गली में उसने झगड़े के दौरान गोली चला दी थी। उसके खिलाफ गोली चलाने का मामला दर्ज हुआ था। वहीं हेमंत मोबाइल रिपेयरिंग का काम करता है। दूसरी हेमंत का दोस्त आमिर कपड़े की दुकान पर काम करने के अलावा केले की रेहड़ी भी लगाता है। पुलिस पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ कर मामले की छानबीन कर रही है।
... और पढ़ें

दिल्ली: हाईकोर्ट ने कहा- त्योहारी मौसम में बाजारों में सख्ती से करें कोरोना नियमों का पालन, नहीं देखना चाहते जुर्माना वसूलते 

उच्च न्यायालय ने केंद्र, दिल्ली सरकार व पुलिस को निर्देश दिया कि इस त्योहारी मौसम में बाजारों में भीड़ को नियंत्रण के लिए निर्धारित दिशा-निर्देशों और प्रोटोकॉल का ईमानदारी से पालन सुनिश्चित करे। अदालत ने कहा कोविड उल्लंघन के लिए जुर्माना लगाने की अपेक्षा सरकार को उचित व्यवस्था करनी चाहिए।

मुख्य न्यायाधीश डीएन पटेल व न्यायमूर्ति ज्योति सिहं की पीठ ने यह निर्देश राजधानी के विभिन्न बाजारों में केविड-19 प्रोटोकॉल के उल्लंघन पर स्वयं संज्ञान लेकर शुरू मामले की सुनवाई के दौरान दिया। पीठ ने सुनवाई के दौरान कहा कि वे केंद्र, दिल्ली सरकार और पुलिस से उम्मीद करते हैं कि इन दिशा-निर्देशों, मानक परिचालन प्रक्रिया (एसओपी), कोविड उचित व्यवहार और बाजारों में भीड़ को नियंत्रित करने के लिए उनके द्वारा इस त्योहारी मौसम में ईमानदारी से पालन करेंगे।

प्रोटोकॉल का बहुत ईमानदारी से पालन किया जाना चाहिए
पीठ ने सभी पक्षों को तय नियमों का पालन करवाने के लिए उठाए गए कदमों की जानकारी सहित अपनी रिपोर्ट 30 नवंबर से पहले पेश करने का निर्देश दिया है। पीठ ने कहा यह फेस्टिवल सीजन है, ऐसे में दिशा-निर्देशों, एसओपी और प्रोटोकॉल का बहुत ईमानदारी से पालन किया जाना चाहिए। पीठ ने कहा वे मामले का निपटारा करने की अपेक्षा सुनवाई जारी रख रहे हैं, ताकि यह देखा जा सके कि अधिकारी स्थिति को कैसे नियंत्रित कर रहे हैं।
 
दिल्ली सरकार की और से पेश वकील ने कहा कि उन्होंने समय पर उचित दिशा-निर्देश जारी किए हैं और उन बाजारों को भी बंद कर दिया है जहां यह पाया गया था कि प्रोटोकॉल का सही तरीके से पालन नहीं किया जा रहा है। अदालत ने कहा कि अधिकारियों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि इन दिशा-निर्देशों, जिनका अच्छी तरह से मसौदा तैयार किया गया है, का कड़ाई से पालन किया जाए। 

दूसरी लहर में चुकाई भारी कीमत
केंद्र सरकार ने पहले उच्च को सूचित किया था कि उसने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों (यूटी) से कहा है कि वे केविड-19 प्रबंधन के लिए राष्ट्रीय निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करें और आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत आवश्यक उपाय करें। अदालत ने कहा था कि इस तरह के उल्लंघनों से केवल कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर में तेजी आएगी जिसे बिल्कुल भी अनुमति नहीं दी जा सकती। उच्च न्यायालय ने कहा था कि यदि कोविड-19 मानदंडों का उल्लंघन जारी रहता है तो हम बड़ी मुसीबत में पड़ जाएंगे। हमने दूसरी लहर में भारी कीमत चुकाई है।
... और पढ़ें

दिल्ली: सीमापुरी इलाके में आग लगने से एक ही परिवार के चार लोगों की मौत, जांच में जुटी पुलिस

शाहदरा जिले के सीमापुरी इलाके में मंगलवार तड़के एक मकान की तीसरी मंजिल पर आग लगने से एक ही परिवार के चार लोगों की मौत हो गई। मृतकों की शिनाख्त होरीलाल (59), पत्नी रीना (55), बेटा आशु (24) और बेटी राधिका उर्फ रोहिनी (18) के रूप में हुई है। हादसे के समय परिवार कमरे में खिड़की दरवाजे बंद कर सो रहा था। उसी दौरान अचानक कमरे में आग लग गई। 

तड़के पड़ोसियों ने होरीलाल के घर से धुंआ निकलते देखा तो दूसरी मंजिल पर सो रहे होरीलाल के दूसरे बेटे अक्षय (19) को उठाया गया। पड़ोसियों के साथ अक्षय किसी तरह तीसरी मंजिल पर पहुंचे और कमरे का दरवाजा तोड़ा। अंदर कमरे में धुंआ भरा था। इस बीच खबर मिलने के बाद दमकलकर्मी, पुलिस व एंबुलेंस की गाड़ियां भी वहां पहुंच गईं। दमकलकर्मी अंदर दाखिल हुए तो कमरे में सो रहे चारों मृत मिले। 

दम घुटने से मौत
सभी मामूली रूप से झुलसे थे। आशंका व्यक्त की जा रही है कि धुंआ से दम घुटने से इनकी मौत हो गई। कमरे में बने छोटे से मंदिर में अखंड ज्योत जलने के अलावा फर्श पर मच्छर भगाने वाली क्वाइल भी जल रही थी। शुरुआती जांच के बाद आशंका जताई जा रही है कि क्वाइल या मंदिर की ज्योत से ही आग लगी। सीमापुरी थाना पुलिस मामला दर्ज कर जांच कर रही है।

चपरासी का काम करते थे होरीलाल
शाहदरा जिला पुलिस उपायुक्त आर. सत्यसुंदरम ने बताया कि मूलरूप से गांव खारी-नंगला, मथुरा, यूपी निवासी होरीलाल अपने परिवार के साथ मकान नंबर-जी-261, स्थित दूसरी और तीसरी मंजिल पर रहते थे। इसके परिवार में पत्नी रीना के अलावा दो बेटे आशु, अक्षय और एक बेटी रोहिनी थे। होरीलाल शास्त्री भवन के एक दफ्तर में चपरासी थे। वहीं इनकी पत्नी रीना ईडीएमसी में सफाई कर्मचारी की नौकरी करती थीं। बेटा आशु लॉकडाउन में बेरोजगार हो गया था। बेटी रोहिणी पास के सरकारी स्कूल में 12वीं कक्षा की छात्रा था। 

एक साल पहले खरीदा था मकान
जिस मकान में होरीलाल रह रहे थे करीब डेढ़ साल पहले उन्होंने इसकी दूसरी व तीसरी मंजिल सुनील कुमार धीमान से खरीदी थी। अभी ग्राउंड फ्लोर व पहली मंजिल सुनील के पास है। सोमवार देर रात करीब 12.30 बजे छोटा बेटा अक्षय बाहर से घर पहुंचा। इसके बाद वह खाना खाकर दूसरी मंजिल पर सो गया। तीसरी मंजिल के कमरे में जमीन पर बिस्तर बिछाकर होरीलाल, उसकी पत्नी और दोनों बच्चे सो रहे थे। अचानक देर रात कमरे में आग लग गई, सोते समय आग लगने से शायद परिवार को हादसे का पता नहीं चला। होरीलाल के मकान के ठीक सामने रहने वाली कांता देवी व उसके बेटे बिट्टू ने 3.30 बजे मकान से धुंआ निकलता देखकर शोर मचा दिया।

चारों अंदर मिले मृत
इसके बाद पड़ोसियों ने किसी तरह दरवाजा खटखटाकर अक्षय को जगया। पड़ोसी बेटे के साथ ऊपर पहुंचे। इसके बाद अक्षय ने पड़ोसियों की मदद से किसी तरह पैर से कमरे का दरवाजा तोड़ा तो अंदर धुंआ भरा हुआ था। कोई अंदर जाने का साहस नहीं जुटा पाया। करीब 4.03 बजे मामले की सूचना पुलिस व दमकल विभाग को दी गई। पुलिस, दमकल और एंबुलेंस की गाड़ियां मौके पर पहुंची। दमकलकर्मी अंदर पहुंचे तो होरीलाल, रीना, आशु और रोहिनी जमीन पर मृत पड़े थे। सभी 15 से 20 फीसदी या उससे भी कम झुलसे थे। फौरन क्राइम टीम और एफएसएल की टीम को मौके पर बुलाया गया। घटना स्थल से सक्ष्य उठाए गए। 

अखंड ज्योत से आग लगने की आशंका
शुरुआती जांच के बाद पुलिस का कहना है कि कमरे में शार्ट सर्किट से आग लगने के कोई सबूत नहीं मिले हैं। बिजली के सभी उपकरण सही-सलामत हैं। पूछताछ के दौरान अक्षय ने बताया है कि कमरे में बने छोटे मंदिर में 24 घंटे अखंड ज्योत जलती थी। वहीं, पिछले कुछ दिनों से मच्छर अधिक होने के कारण परिवार फर्श पर ही मच्छर भगाने वाली क्वाइल जला रहा था। आशंका व्यक्त की जा रही है कि क्वाइल या मंदिर की ज्योत से ही घर में आग लगी है।

आग कैसे लगी इसकी पड़ताल की जा रही है, फिलहाल सीमापुरी थाने में आग लगने और लापरवाही से मौत का मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी गई है। एफएसएल व क्राइम टीम ने मौके से सक्ष्य जुटाए हैं। -आर. सत्यसुंदरम, शाहदरा जिला पुलिस उपायुक्त
... और पढ़ें
घटना स्थल पर मौजूद लोगों की भीड़ घटना स्थल पर मौजूद लोगों की भीड़

रणजीत नगर दुष्कर्म मामला: 72 घंटे बाद भी सदमे में मासूम, हर किसी को दहला रहीं चीखें और सिसकियां

राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती रणजीत नगर दुष्कर्म पीड़िता मासूम की सेहत में बेशक धीरे-धीरे सुधार आ रहा है, लेकिन 72 घंटे बाद भी वह मानसिक आघात से उबर नहीं सकी है। दिन का उजाला हो, रात का अंधेरा, उसकी चीखें हर उस शख्स को अपने दर्द का हिस्सा बना रही हैं, जो जाने अनजाने अस्पताल के जनरल वार्ड से गुजर रहा होता है। चिकित्सकों का कहना है कि अभी यह बता पाना मुमकिन नहीं कि वह सामान्य कब हो सकेगी। मासूम के दिमाग पर इतना गहरा असर पड़ा है कि संभव है कि इसमें लंबा वक्त लग जाए। दरअसल, शुक्रवार को रंजित नगर इलाके में एक छह वर्षीय बच्ची के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया था। वह इस वक्त राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती है। दुष्कर्म की शिकार बच्ची की सेहत में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है, लेकिन मानसिक आघात से वह उबर नहीं सकी है। वह अभी भी सदमे में है। ... और पढ़ें

1933 के बाद हुई सबसे ज्यादा बारिश: दिल्ली में 25 अक्तूबर तक हुई 1502.8 मिमी वर्षा, टूट सकता ऑल टाइम रिकॉर्ड


दिल्ली की बारिश ने नया रिकॉर्ड कायम किया है। 120 सालों में दूसरी बार सबसे ज्यादा सालाना बारिश दर्ज की गई है। मौसम विभाग के दर्ज इतिहास में सबसे ज्यादा बारिश अपने नाम करने के आंकड़े से साल 2021 सिर्फ 32 मिमी पीछे है। अगले दो महीने में अगर इतनी मात्रा में दिल्ली में बारिश होती है तो इस साल की बारिश ऑल टाइम का रिकॉर्ड बनाएगी। उधर, मौसम विभाग का कहना है कि अगले एक हफ्ते दिल्ली में बारिश होने की कोई उम्मीद नहीं है। जबकि शुक्रवार को पूरे देश से इस साल का मानसून वापस लौट गया है।  

मौसम विभाग का कहना है कि 1901 से 2021 के बीच तीन साल ऐसे रहे हैं जबकि सालाना बारिश 1200 मिली से ज्यादा हुई है। 2021 में 25 अक्तूबर तक दिल्ली में 1502.8 मिमी बारिश दर्ज हुई। इससे पहले 1933 में 1534.3 मिली बारिश हुई थी। वहीं, 1975 में यह आंकड़ा 1252.9 मिमी था। इस लिहाज से 1901 के बाद यह दूसरा साल है, जब सालाना बारिश सबसे ज्यादा हुई है। अभी ऑल टाइम रिकॉर्ड से 32 मिली पीछे है। अभी एक हफ्ते तक बारिश का अंदेशा नहीं है।

इससे पहले मौसम विभाग की ओर से रविवार के लिए बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया था। देर शाम बारिश के साथ कुछ इलाकों में ओलावृष्टि हुई। सोमवार सुबह तक बारिश का सिलसिला जारी रहा। सुबह 8:30 बजे तक 27.5 मिमी बारिश हुई। हालांकि, मौसम विभाग ने दिन में कहीं भी बारिश रिकॉर्ड की है।

अब सर्दी के लिए हो जाएं तैयार, इस सप्ताह पारा गिरेगा
दिल्ली में रिकॉर्ड बारिश के बाद अब सर्दी के लिए तैयार हो जाएं। इस सप्ताह तेजी से न्यूनतम तापमान में गिरावट होगी, इससे रात की ठिठुरन बढ़ जाएगी। इस तरह से अब मौसम करवट लेना शुरू करेगा। इस सप्ताह न्यूनतम तापमान 14-15 डिग्री के बीच रहने की संभावना है। वहीं रविवार की बारिश ने अधिकतम तापमान को सामान्य से तीन डिग्री तक लुढ़का दिया। 27 अक्तूबर से अधिकतम तापमान बढ़ेगा जबकि न्यूनतम तापमान में गिरावट होनी शुरू होगी।

रविवार को हुई बारिश के कारण मौसम विभाग ने सोमवार सुबह 8.30 बजे तक 27.5 मिमी बारिश दर्ज की। लोदी रोड केंद्र पर सबसे अधिक 29.4 मिमी और रिज केंद्र पर 27.8 मिमी बारिश दर्ज हुई। मंगलवार को मौसम साफ रहेगा और सुबह केसमय हल्की धुंध रहने की संभावना है। मंगलवार को मौसम का मिजाज और तापमान ऐसे ही बने रहने की संभावना है। अधिकतम तापमान 29 डिग्री और न्यूनतम तापमान 16 डिग्री रहने का पूर्वानुमान है।

बारिश से धुली हवा, गुणवत्ता संतोषजनक 
दिल्ली-एनसीआर की हवा को सोमवार तड़के तक की बारिश ने एक बार फिर से धुल दिया है। इस महीने हवा की गुणवत्ता बेहतर रही है। सोमवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक 82 रिकॉर्ड किया गया। यह संतोषजनक स्तर में रही। इससे पहले 18 अक्तबूर को 46 सूचकांक के साथ गुणवत्ता अच्छी दर्ज की गई थी। इसके बाद से खराबी का सिलसिला शुरू हुआ। 20 अक्तूबर को यह खराब स्तर में पहुंच गई थी। वहीं, बाकी दिनों में यह औसत दर्जे में रही। रविवार को भी गुणवत्ता सूचकांक 160 पर था। 

अधिकतम तापमान:  28.4 डिग्री सेल्सियस
न्यूनतम तापमान: 16.4 डिग्री सेल्सियस
पूर्वानुमान: आसमान साफ रहेगा, सुबह के समय हल्की धुंध रहने की संभावना।
26 अक्तूबर को सूर्यास्त: शाम 5 बजकर 41 मिनट
27 अक्तूबर को सूर्योदय: सुबह 6 बजकर 29 मिनट
... और पढ़ें

रंजीत नगर दुष्कर्म केस: 72 घंटे बाद भी छह वर्षीय मासूम की नहीं थम रही चीखें, डॉक्टर बोले- कब सामान्य होगी कहना मुश्किल

दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती रंजीत नगर दुष्कर्म पीड़ित मासूम की सेहत में बेशक धीरे-धीरे सुधार आ रहा है, लेकिन 72 घंटे बाद भी वह मानसिक आघात से उबर नहीं सकी है। दिन का उजाला हो, रात का अंधेरा, उसकी चीखें हर उस शख्स को अपने दर्द का हिस्सा बना रही हैं, जो जाने अनजाने अस्पताल के जनरल वार्ड से गुजर रहा होता है। चिकित्सकों का कहना है कि अभी यह बता पाना मुमकिन नहीं कि वह सामान्य कब हो सकेगी। मासूम के दिमाग पर इतना गहरा असर पड़ा है कि संभव है कि इसमें लंबा वक्त लग जाए।

डॉक्टर से लेकर मरीज तक हर कोई बच्ची की चीखें सुन दर्द में
दरअसल, शुक्रवार को रंजित नगर इलाके में एक छह वर्षीय बच्ची के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया था। वह इस वक्त राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती है। दुष्कर्म की शिकार बच्ची की सेहत में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है, लेकिन मानसिक आघात से वह उबर नहीं सकी है। वह अभी भी सदमे में है। हर मिनट चीखती है। अपने दर्द को शब्दों में भी बयां न कर पाने वाली यह मासूम असहनीय पीड़ा और खौफ का सामना कर रही है। हालात इस कदर हैं कि आसपास वार्ड में भर्ती मरीज, डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ और तीमारदार हर कोई बच्ची के लिए भगवान से इंसाफ मांग रहा है।
 
डॉक्टर बोले- ऐसे मामले देख गुस्सा और दुख दोनों आता है
ऑपरेशन के बाद एक दिन आईसीयू निगरानी और फिर सामान्य वार्ड में पहुंची बच्ची को लेकर एक डॉक्टर ने यहां तक कहा कि बच्ची के दिल-दिमाग पर वह घटना इस तरह हावी है कि उसे ठीक होने में लंबा वक्त लग सकता है। उन्होंने बताया, 'जब भी मैं ऐसे मामले देखता हूं तो गुस्सा और दुख दोनों ही रहता है। उस बच्ची का जीवन अभी शुरू भी नहीं हुआ है और उसे ऐसे दर्द से सामना करना पड़ रहा है जिसका अंत कब हो पाएगा, इसका जबाव चिकित्सीय विज्ञान के पास नहीं है। हम चाहकर भी उसे सामान्य जिंदगी नहीं दे सकते, जब तक वह या उसका परिवार न संभाल ले।'

'उसकी हर चीख रोंगटे खड़े कर देती है'
पास के ही वार्ड में अपने पति का इलाज करा रहीं सविता ने बताया कि शनिवार और रविवार दो दिन से वह लगातार बच्ची की चीखें सुन रहीं हैं। पहले उन्हें नहीं पता था लेकिन एक नर्स से पता चला तो उसकी हर चीख रोंगटे खड़ा कर देती है। भगवान ऐसा किसी के साथ न करे, बच्चों के साथ तो बिलकुल भी नहीं। मुझे नहीं पता कि यह सब कैसे और किसने किया है? लेकिन जिसने भी यह अपराध किया है उसे सरेआम फांसी होनी ही चाहिए।

वहीं नीचे की मंजिल पर स्थित एक वार्ड में भर्ती मरीज सुरेश ने तो यहां तक कहा कि दिल्ली ऐसे घिनौने अपराध का अड्डा बनता जा रहा है, पुलिस को एक मजबूत संदेश देना चाहिए। लोगों में डर होना चाहिए। उस बच्ची के दर्द के आगे उन्हें अपना भी दर्द महसूस नहीं हो रहा है।
... और पढ़ें

दक्षिण-पश्चिमी जिला डीसीपी का तुगलकी फरमान: रात में दो इंस्पेक्टर ड्यूटी पर रहेंगे, एक थाने में रुकेगा तो दूसरा गश्त करेगा

फाइल फोटो
दक्षिण-पश्चिमी जिले में पुलिस स्टेशनों में तैनात दो इंस्पेक्टर अब रात को पुलिस स्टेशनों में रूकेंगे। इनमें से एक इंस्पेक्टर रात को थाने में रूकेगा, जबकि दूसरा इंस्पेक्टर रात को इलाके में गश्त करेगा। दक्षिण-पश्चिमी जिले के डीसीपी गौरव शर्मा ने अपने जिले में ये तुगलकी फरमान जारी किया है। इस तुगलकी फरमान से जिले में तैनात इंस्पेक्टर व  पुलिसकर्मियों में भारी नाराजगी है। डीसीपी ने 12-24 घंटे की ड्यूटी के मायने भी बदल दिए हैं। 

दक्षिण-पश्चिमी जिले के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि डीसीपी गौरव शर्मा ने शुक्रवार को जिले के अफसरों की बैठक बुलाई थी। इस बैठक में गौरव शर्मा ने फरमान सुनाया था कि अब थानों में रात को दो इंस्पेक्टर रूकेंगे। एक इंस्पेक्टर रात को पेट्रोलिंग करेगा जबकि दूसरा थाने में नाइट स्टे करेगा। गौरतलब है कि पुलिस थाने में थानाध्यक्ष, एटीओ व तफ्तीश तीन इंस्पेक्टर होते हैं। अभी तक रात को एक ही इंस्पेक्टर थाने में रूकता था। ये इंस्पेक्टर थाना इलाके समेत सब-डिवीजन में भी गश्त करता था। 

इसके अलावा 12-24 के तहत तीन शिफ्ट में पुलिसकर्मी ड्यूटी करते हैं। दो शिफ्ट के पुलिसकर्मी छुट्टी पर रहते हैं, जबकि शिफ्ट के पुलिसकर्मी ड्यूटी करते हैं। डीसीपी गौरव शर्मा ने आदेश दिया है कि एक शिफ्ट के पुलिसकर्मी ड्यूटी करेंगे। दूसरी शिफ्ट के लोग थाने में रिजर्व में रहेंगे, जबकि तीसरी शिफ्ट के पुलिसकर्मी छुट्टी पर रहेंगे। 

पुलिसकर्मी 12 घंटे की ड्यूटी के बाद 24 घंटे का आराम करते हैं। अब जिले में थानों में एक शिफ्ट के पुलिसकर्मी थाने में रिजर्व रहेंगे। यानि वह ड्यूटी तो नहीं करेंगे मगर वह थाने में ही रहेंगे। डीसीपी के इस फरमान से जिले के इंस्पेक्टर व पुलिसकर्मियों में भारी नाराजगी है। पुलिसकर्मयों का कहना है कि वह इतनी लंबी ड्यूटी कैसे करेंगे। जिले में ये चर्चा है कि एक डीसीपी के रात को रूकने के आदेश के बाद जिला डीसीपी ने ये आदेश जारी किए हैं। 
... और पढ़ें

विशेषज्ञों की राय: दिल्ली में दिखाई दे सकता है त्योहारों के बाद कोरोना का असर

देश की राजधानी में कोरोना महामारी निचले स्तर पर है। टीकाकरण भी दो करोड़ पार हो चुका है, लेकिन यह हालात ज्यादा दिन तक एक जैसे नहीं रहने वाले हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि त्योहारों के बाद कोरोना का असर दिखाई दे सकता है। कोरोना के मामलों में उतार चढ़ाव भी हो सकता है क्योंकि राजधानी में लोगों की लापरवाही भी नजर आ रही है। त्योहारों के दौरान बाजारों से भीड़ की तस्वीरें सामने आ रही हैं। कोविड नियमों की परवाह न करते हुए लोग भीड़ का हिस्सा बन रहे हैं। इसकी वजह से अगले कुछ सप्ताह बाद संक्रमण में बढ़ोतरी हो सकती है।

स्वास्थ्य विशेषज्ञ डॉ. शांतनु सेन का कहना है कि दिल्लीवालों को यह कतई नहीं भूलना चाहिए कि यहां कोरोना का डेल्टा वेरिएंट 40 फीसदी से अधिक मरीजों में मिल चुका है। यह वेरिएंट दोबारा से संक्रमित भी कर सकता है और वैक्सीन की दोनों खुराक लेने के बाद पॉजीटिव भी कर सकता है।

नई दिल्ली स्थित आईजीआईबी के वैज्ञानिकों ने इसी साल जून माह में अध्ययन पूरा किया था जिसके मुताबिक दिल्ली से पांच हजार से अधिक सैंपल की जीनोम सीक्वेसिंग की गई और इनमें से 59 फीसदी में डेल्टा वेरिएंट ही मिला है। यह अध्ययन मेडिकल जर्नल मेडरेक्सिव में प्रकाशित भी हुआ।

सफदरजंग अस्पताल के डॉ. जुगल किशोर का कहना है कि महामारी का असर चाहे जो भी हो, लेकिन लोगों के व्यवहार में बदलाव नहीं आना चाहिए। चेहरे पर मास्क लगाने के साथ ही सोशल डिस्टैसिंग का पालन हर किसी के लिए अनिवार्य है। फिर चाहे वह युवा हो या फिर बुजुर्ग। अगर लोग अधिक लंबे समय तक लापरवाही बरतते हैं तो आगामी दिनों में हालात गंभीर भी हो सकते हैं। 

दिल्ली एम्स के डॉ. संजय राय का कहना है कि कोरोना के कुछ वेरिएंट काफी आक्रामक प्रकृति से जुड़े हैं। इन्हीं की वजह से टीकाकरण के बाद भी कोविड सतर्कता नियमों का पालन अनिवार्य किया गया। लोगों को महामारी को लेकर गंभीरता बरतनी चाहिए, वह भी तब जब कुछ माह पहले दूसरी लहर के गवाह बन चुके हों। 
... और पढ़ें

दिल्ली: 100 से ज्यादा लग्जरी कार चुराने वाले गिरोह का पर्दाफाश, फॉरच्यूर, क्रेटा और स्कोर्पियो पर ही मारते थे हाथ

लाजपत नगर थाना पुलिस ने लग्जरी कारें चुराने वाले गिरोह का पर्दाफाश कर एक वाहन चोर को गिरफ्तार किया है। गिरोह के सदस्य सिर्फ लग्जरी कारें ही चुराते थे और दिल्ली व एनसीआर से 100 से ज्यादा कारें चुरा चुके हैं। आरोपी चोरी की लग्जरी कारें सिलीगुड्डी, पश्चिमी बंगाल में बेचते थे। गिरोह के कब्जे से दो लग्जरी कारें बरामद की हैं। 

दक्षिण-पूर्व जिला पुलिस अधिकारियों के अनुसार लाजपत नगर-तीन निवासी जोबानमीत सिंह ने अपनी टोयला फॉरच्यूनर एसयूवी कार चोरी होने की शिकायत 21 अक्तूबर को दर्ज कराई थी। मामला दर्जकर लाजपत नगर थानाध्यक्ष सत्यप्रकाश की देखरेख में एसआई राजीव गौतम व हवलदार प्रदीप की टीम ने जांच शुरू की। 

पुलिस ने घटनास्थल पर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली। टेक्निकल सर्विलांस व स्थानीय इनपुट के आधार पर पुलिस ने कार को बुलंदशहर यूपी में ट्रेस कर लिया। कार की नंबर प्लेट बदल रखी थी। इंजन व चैसिस नंबर के आधार पर कार की पहचान हुई। पुलिस ने करीब 48 घंटे तक कार पर नजर रखी। जब गांव काकौली थाना कोतवाली, जिला बुलंदशहर यूपी निवासी आरोपी आमिर उर्फ अमन (31) कार को लेने आया तो एसआई राजीव गौतम की टीम ने उसे 23 अक्तूबर को दबोच लिया। 

आरोपी की निशानदेही पर एक और कार मारुति बेलेनो बरामद की गई। ये कार साकेत इलाके से चुराई गई थी। इसके अलावा आरोपी के कब्जे से की-कोड स्कैनर मशीन, ड्रिल मशीन, हैमर, स्क्रू ड्राइवर सैट, काफी मात्रा में चाबी आदि सामान बरामद किया है। 

आरोपी ने पूछताछ में बताया कि वह अपने साथी भूरा और डरकू के साथ वाहन चोरी करता था। सदस्य वाहन चोरी करने से पहले रैकी करते थे। ये सिर्फ फॉरच्यूर, क्रेटा और स्कोर्पियो कार ही चुराते थे। दिल्ली से बाहर निकलते ही ये वाहन की नंबर प्लेट बदल देते थे। ये चोरी के वाहन सिलीगुड्डी के मोती को देते थे। शुरूआती जांच में आमिर के खिलाफ वाहन चोरी के 15 दर्ज केस मिले हैं।  
... और पढ़ें

हाई कटऑफ के साथ पॉपुलर कॉलेजों में सीटें खाली:  मिरांडा हाउस, रामजस से लेकर हंसराज तक में कई कोर्सेज में दाखिले का चांस

दिल्ली विश्वविद्यालय में तीन कट ऑफ केदाखिले केबाद स्पेशल कट ऑफ जारी कर दी गई है। स्पेशल कट ऑफ में भी पॉपुलर कॉलेजों की कट ऑफ हाई है। कट ऑफ हाई रहने केबावजूद इन कॉलेजों की सीटें खाली हैं। मिरांडा हाउस, हंसराज जैसे कॉलेज में ईकोनॉमिक्स ऑनर्स की कट ऑफ अब भी 99 फीसदी है। दौलतराम में 98.25 फीसदी कट ऑफ जारी की गई है। लेडीश्रीराम कॉलेज ने बीए ऑनर्स जर्नलिज्म की कट ऑफ 99 और साइकोलॉजी ऑनर्स की कट ऑफ 99.25 फीसदी निकाली है।

कॉलेजों ने जिस कट ऑफ में कोर्स केदाखिले बंद किए थे, वही कट ऑफ निकाली है। मसलन किसी कॉलेज में किसी एक कोर्स की कट ऑफ केदाखिले 98 फीसदी पर बंद हुए थे, तो कॉलेज ने स्पेशल कट ऑफ उसी आधार पर निकाली है। स्पेशल कट ऑफ में जिन कॉलेजों में कट ऑफ कम थी वहां सीटें भर गई हैं, जबकि जिन कॉलेजों ने हाई कट ऑफ निकाली थी वहां अब भी सीटें खाली हैं। सामान्य श्रेणी के लिए दाखिले के अवसर सीमित हो गए हैं, जबकि कुछ कॉलेजों में आरक्षित श्रेणी की सीटें खाली हैं।

डीयू की स्नातक कोर्सेज की 70 हजार सीटों पर 60 हजार से अधिक दाखिले हो चुके हैं। अब जारी स्पेशल कट ऑफ में उन्हीं छात्रों को दाखिले का अवसर मिलेगा जो किसी कारण से निर्धारित अंक होने के बावजूद दाखिला नहीं ले पाए थे। इस कट ऑफ में छात्रों को कॉलेज व कोर्स बदलने का अवसर नहीं मिलेगा। इस तरह से ना तो छात्र शिफ्टिंग कर सकेंगे और ना ही दाखिला रद कर सकेंगे।

हंसराज कॉलेज
कॉलेज ने ईकोनॉमिक्स ऑनर्स की कट ऑफ 99 फीसदी, इतिहास ऑनर्स की 98.25 फीसदी, बीकॉम ऑनर्स की कट ऑफ 98.75 फीसदी निकाली है।

हिंदू कॉलेज 
हिंदू कॉलेज में सामान्य श्रेणी के लिए अधिकतर कोर्सेज में दाखिले बंद हो गए हैं। कॉलेज नें फिलॉस्फी ऑनर्स की कट ऑफ 97.75 फीसदी निकाली है। कॉलेज में बीएससी फिजिकल साइंस विद इलेक्ट्रिनिक्स की कट ऑफ 96.33 फीसदी निकाली है। 

आईपी कॉलेज
आईपी कॉलेज ने अंग्रेजी ऑनर्स की कट ऑफ 97 फीसदी, जियोग्रॉफी ऑनर्स की 97.25 फीसदी, बीकॉम ऑनर्स की कट ऑफ 97.75 फीसदी निकाली है।

कमला नेहरु कॉलेज
कॉलेज ने ईकोनॉमिक्स ऑनर्स और पॉलिटिकल साइंस की कट ऑफ 98 फीसदी कट ऑफ निकाली है।
 
किरोड़ीमल कॉलेज
किरोड़ीमल कॉलेज ने ईकोनॉमिक्स ऑनर्स की 98.75 फीसदी, अंग्रेजी ऑनर्स की 98 फीसदी, हिस्ट्री ऑनर्स की 98.25 फीसदी, बीकॉम ऑनर्स की 98.75 फीसदी पर निकाली है।
 
रामजस कॉलेज
रामजस कॉलेज ने ईकोनॉमिक्स ऑनर्स की कट ऑफ 98.75 फीसदी, अंग्रेजी ऑनर्स की 98, हिस्ट्री ऑनर्स की 98.25 फीसदी, बीकॉम ऑनर्स की 98.75 फीसदी कट ऑफ निकाली है।

आर्यभट्ट कॉलेज
कॉलेज में सामान्य श्रेणी केलिए बीए ऑनर्स साइकोलॉजी की सर्वाधिक  97.75 फीसदी कट ऑफ निकाली गई है। बीकॉम ऑनर्स और इकोनॉमिक्स ऑनर्स की कट ऑफ 97 फीसदी, बीएससी कंप्यूटर साइंस ऑनर्स 96.5 फीसदी, बीए प्रोग्राम( हिस्ट्री- इकोनॉमिक्स) कॉम्बिनेशन की 95 फीसदी, बीए प्रोग्राम इकोनॉमिक्स-पॉलिटिकल साइंस की कट ऑफ 95.75 फीसदी रही है। वहीं बीए ऑनर्स पॉलिटिकल साइंस, हिस्ट्री ऑनर्स इंग्लिश ऑनर्स, बीएससी ऑनर्स मैथमेटिक्स और बीए प्रोग्राम हिस्ट्री- पॉलिटिकल साइंस कॉम्बिनेशन में सामान्य श्रेणी के छात्रों के लिए दाखिले का अवसर खत्म हो गए हैं।

महाराजा अग्रसेन कॉलेज
महाराजा अग्रसेन कॉलेज ने बीकॉम ऑनर्स केलिए 97 फीसदी, बीएससी फिजिकल साइंस विद कंप्यूटर केलिए 91 फीसदी, बीएससी ऑनर्स इलेक्ट्रॉनिक्स 90 फीसदी,  बीए ऑनर्स हिंदी केलिए 91 फीसदी, बीए ऑनर्स पॉलिटिकल साइंस केलिए 96.5 फीसदी कट ऑफ निकाली है। बीए प्रोग्राम के दो कॉम्बिनेशन को छोड़कर अन्य कॉम्बिनेशन में सामान्य श्रेणी के छात्रों के लिए दाखिले केअवसर शेष हैं। इस स्पेशल कट ऑफ में बीएससी ऑनर्स मैथमेटिकल साइंस, बीएससी फिजिकल साइंस विद केमेस्ट्री और बीए ऑनर्स जनरलिज्म में सामान्य श्रेणी केछात्रों के लिए दाखिले के अवसर खत्म हो गए हैं। 

साइंस कोर्सेज में दाखिले के चांस
आत्मराम सनातन धर्म, दौलतराम, हंसराज, किरोड़ीमल कॉलेज व रामजस जैसे कॉलेजों में साइंस कोर्सेज में दाखिले के चांस हैं। लेडीश्रीराम कॉलेज ने बीएससी मैथमेटिक्स की कट ऑफ 98.50 फीसदी निकाली है। बीए प्रोग्रॉम कॉम्बिनेशन में कई कोर्सेज में दाखिले के अवसर कम हो गए हैं।

दाखिले के लिए दो दिन
स्पेशल कट ऑफ के तहत छात्र 26 अक्टूबर सुबह 10 बजे से 27 अक्टूबर रात 11 बजकर 59 मिनट तक दाखिला ले सकेंगे। कॉलेजों को दाखिला 28 अक्तूबर शाम पांच बजे तक दाखिला मंजूर करना है। जबकि 29 अक्तूबर शाम पांच बजे तक छात्र फीस जमा करा सकते हैं। उसके बाद 30 अक्तूबर को चौथी कट ऑफ जारी की जाएगी।
... और पढ़ें

पानी की किल्लत: दिल्ली के कई इलाकों में मंगलवार को पेयजल आपूर्ति प्रभावित रहेगी, संभल कर करें उपयोग

दक्षिण दिल्ली के कई इलाकों में बुधवार को पेयजल आपूर्ति प्रभावित रहेगी। दरअसल दिल्ली जल बोर्ड बुधवार को सुखदेव विहार बस डिपो और मोदी मिल के पास 900 मिमी कालकाजी मुख्य लाइन में इंटरकनेक्शन करेगा। इस कारण दक्षिण दिल्ली के कई इलाकों में बुधवार को सुबह नौ बजे से रात नौ बजे तक पेयजल प्रभावित रहेगी।

दिल्ली जल बोर्ड के अनुसार कालकाजी जलाशय से जुड़े ओखला फेज-तीन, कालकाजी, कालकाजी एक्सटेंशन, गोविंदपुरी, जीबी पंत पॉलिटेक्निक, श्याम नगर कॉलोनी, ओखला सब्जी मंडी, लाजपत नगर, अमर कॉलोनी, ईपीडीपी, श्रीनिवासपुरी आदि इलाकों में पेयजल आपूर्ति प्रभावित रहेगी। दिल्ली जल बोर्ड ने प्रभावित इलाके के निवासियों को सलाह दी है कि वे अपनी आवश्यकता के अनुसार पर्याप्त मात्रा में पानी का भंडारण कर लें।
... और पढ़ें

किसान आंदोलन: आज 11 महीने पूरे, जताएंगे विरोध, राष्ट्रपति को भेजेंगे ज्ञापन

कृषि कानूनों को निरस्त करने, न्यूनतम समर्थन मूल्य सहित दूसरी मांगों के समर्थन में किसानों के आंदोलन के 11 महीने पूरे मंगलवार को पूरे हो जाएंगे। संयुक्त किसान मोर्चा ने इस मौके पर सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे के दौरान पर विरोध जताने का निर्णय लिया है। 

लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केंद्रीय राज्य मंत्री की गिरफ्तारी और मंत्रिपरिषद से बर्खास्तगी की मांग को दोहराते हुए मोर्चा ने किसानों से धरना विरोध में बढ़ चढ़कर शामिल होने की अपील की है। इसी मांग के समर्थन में राष्ट्रपति को संबोधित एक ज्ञापन भी जिला मजिस्ट्रेट के माध्यम से भेजे जाएंगे। 

संयुक्त किसान मोर्चा ने किसान आंदोलन के समर्थक दर्शन सिंह धालीवाल को शिकागो से आने के बाद भारत में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दिए जाने पर आपत्ति जताई है। उन्हें देश में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी गई और वापस भेज दिया गया। एसकेएम ने इसे सरकार का अलोकतांत्रिक बताते हुए इसकी निंदा की है।
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00