Hindi News ›   Delhi ›   Delhi NCR ›   CAB meeting today in discussion of new education policy compulsory hindi remove from draft

नई शिक्षा नीति की बैठक में हिंदी भाषा पर हो सकती है तकरार, बचने के लिए केंद्र ने किया ये काम

सीमा शर्मा, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: पूजा त्रिपाठी Updated Sat, 21 Sep 2019 10:02 AM IST
हिंदी दिवस
हिंदी दिवस - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन
ख़बर सुनें

भारतीय शिक्षा में बदलाव को शनिवार को होने वाली कैब बैठक में हिंदी को अनिवार्य बनाने के मुद्दे पर तकरार हो सकती है। मोदी सरकार गैर हिंदी राज्यों के साथ नई शिक्षा नीति पर कोई टकराव नहीं चाहती है। इसलिए बीच का रास्ता निकालते हुए ड्रॉफ्ट से हिंदी अनिवार्य की सिफारिश हटा दी है।

विज्ञापन


सूत्रों के मुताबिक, भाषा पर टकराव की बजाय नई शिक्षा नीति को लागू करवाना है। राज्यों के सहयोग के बगैर लागू नहीं किया जा सकता है। बैठक में केंद्र के प्रतिनिधि गैर हिंदी राज्यों पर हिंदी थोपने से परहेज करते हुए प्राथमिक शिक्षा मातृभाषा में करवाने पर फोकस करेंगे। इसका मकसद पांचवीं कक्षा तक बच्चा अपने घर में बोली जाने वाली भाषा को पढ़े, जाने और समझे। इससे संस्कृति व प्रदेश से जुड़ सकेगा।


हिंदी को अन्य भारतीय भाषाओं की तर्ज पर बढ़ावा दिया जाएगा। राज्य अपनी मातृभाषा को पहले की तर्ज पर बढ़ावा दे सकते हैं। इसलिए प्राथमिक शिक्षा तक की पढ़ाई मातृभाषा में करने पर मंजूरी दी जाएगी। इसके लिए राज्य चाहें तो एनसीईआरटी से विशेष पाठ्यक्त्रस्म भी तैयार करवाने पर चर्चा होगी। हाई स्कूल की शिक्षा में हिंदी को जोडऩे की योजना है। हालांकि इस पर भी राज्यों से सहमति ली जाएगी।

ये भी पढ़ें : सेमेस्टर सिस्टम पर साल में दो बार बोर्ड परीक्षा, जानें CBSE ने क्या कहा

सूत्रों के मुताबिक, थ्री लैंग्वेज फार्मूला में संस्कृत के साथ तीन भारतीय भाषाओं की पढ़ाई करवाने की अनिवार्य कमेटी की सिफारिश पर चर्चा होगी। इसके अलावा इलेक्टिव में विदेशी भाषा को शामिल करने पर भी राय ली जाएगी। यदि कोई भारतीय समेत शास्त्रीय भाषाओं में पढ़ाई करवाना चाहेगा तो केंद्र सरकार आर्थिक रूप से मदद देगी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें शिक्षा समाचार आदि से संबंधित ब्रेकिंग अपडेट।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00