Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Lucknow ›   DCW chief meets unnao assault survivor says country with her assures treatment in delhi

उन्नाव रेप पीड़िता के परिजनों से मिलीं DCW अध्यक्ष स्वाति मालीवाल, बोलीं- योगीजी अस्पताल आओ

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: पूजा त्रिपाठी Updated Mon, 29 Jul 2019 02:13 PM IST
स्वाति मालीवाल उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता से मिलने पहुंची
स्वाति मालीवाल उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता से मिलने पहुंची - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

उन्नाव के बहुचर्चित माखी दुष्कर्म कांड की पीड़िता की चाची व मौसी की रविवार को रायबरेली में भीषण हादसे में मौत हो गई। गुरुबख्शगंज थाना क्षेत्र में रायबरेली-लालगंज राष्ट्रीय राजमार्ग पर हुए हादसे में पीड़िता व वकील गंभीर रूप से घायल हो गए। दोनों को लखनऊ के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती किया गया है। पीड़िता से मिलने दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष लखनऊ पहुंच गई हैं।

विज्ञापन


गौरतलब है कि स्वाति ने पीड़िता के परिजनों से मुलाकात कर ली है और उसके बाद बताया कि, "मैं उन्नाव पीड़िता के वकील और डॉक्टर से मिली। डॉक्टर ने बताया लड़की और वकील की हालत बहुत नाजुक है और बचने के आसार कम हैं। वो मानते हैं उनको तुरंत एयर लिफ्ट कर दिल्ली के बेस्ट अस्पताल में ले जाना चाहिए। परिवार भी यही चाहता है। अस्पताल से मैं बात कर रही हूं। ये जिम्मेदारी हम उठाएंगे।" इस बीच उन्नाव के परियर घाट पर पीड़िता की चाची का अंतिम संस्कार किया गया। 


वहीं इसे लेकर उन्होंने एक अन्य ट्वीट करते हुए यूपी सरकार पर भी सवाल उठाया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, "योगी आदित्यनाथ सरकार से अभी तक परिवार से मिलने कोई न आया। डीजीपी कह रहा है की दुर्घटना थी। योगी जी अस्पताल आओ। कुलदीप सेंगर की विधायकी छीनो। सुप्रीम कोर्ट को केस दिल्ली ट्रांसफर कर 15 दिन में सेंगर को फांसी दिलानी चाहिए। आज वो बच गया तो देश भर की निर्भया हताश हो जाएंगी।"

इससे पहले उन्होंने ट्वीट कर बताया था कि वह लखनऊ में पीड़िता से मिलने जा रही हैं। उन्होंने लिखा, "उन्नाव पीड़िता से मिलने लखनऊ हॉस्पिटल जा रही हूं। वो इस लड़ाई में अकेली नहीं हैं, पूरा देश उसके साथ है। उसकी सुरक्षा और ट्रीटमेंट सुनिश्चित करवाऊंगी। कोशिश करके बेहतर इलाज के लिए सभी इंतजाम दिल्ली में करवाऊंगी। अब उसके साथ और कोई साजिश ना होने पाए!"
बताया जा रहा है कि डीसीडब्ल्यू अध्यक्षा स्वाति मालीवाल और वंदना मरीज को देखने अंदर गईं, जबकि बाकी लोगों को बाहर रोक लिया गया है।

स्वाति ने अपने ट्वीट में साजिश की बात लिखी है और ऐसा कहने वाली वह अकेली नहीं है। कई अन्य लोग भी इस दुर्घटना को साजिश करार दे रहे हैं। इसके पीछे दुर्घटना में इस्तेमाल में शामिल ट्रक के नंबर प्लेट से लेकर कई ऐसी बातें हैं जो इस घटना के साजिश होने की ओर इशारा करती हैं। आगे जानिए क्या हैं बातें जो इस दुर्घटना के पीछे किसी षड्यंत्र की ओर इशारा करती हैं.....

प्रत्यक्षदर्शी जता रहे साजिश की आशंका

उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की कार को इसी ट्रक ने मारी टक्कर
उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की कार को इसी ट्रक ने मारी टक्कर - फोटो : अमर उजाला
गौरतलब है कि पीड़िता कार से रायबरेली जिला जेल में बंद अपने चाचा से मिलने जा रही थी। इसी दौरान सामने से आ रही एक तेज रफ्तार ट्रक ने टक्कर मार दी। ट्रक के आगे लिखे नंबर पर कालिख पुती थी। माखी दुष्कर्म कांड में ही उन्नाव के भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर जेल में बंद है।

हादसा या फिर साजिश

हाईवे पर हुई घटना को प्रथम दृष्टया हादसा बताया जा रहा है, लेकिन प्रत्यक्षदर्शी वाहनों की दशा देखकर साजिश से भी इंकार नहीं कर रहे हैं। घटनास्थल का नजारा दोनों ओर इशारा कर रहा है। उन्नाव जिले का हाई प्रोफाइल मामला होने के कारण हर कोई इस घटना को अलग-अलग नजरिये से देख रहा है। घटना के बाद जिस तरह पड़ताल कराई जा रही है, उससे साफ जाहिर है कि इसको लेकर किसी तरह की चूक पुलिस महकमा नहीं करना चाहता है। खास बात ये है कि जिस समय हादसा हुआ, उस उस समय ट्रक की रफ्तार 100 किमी प्रति घंटे थी। सवाल ये भी खड़े हो रहे हैं कि आमने-सामने भिडं़त होने की बात कही जा रही है, लेकिन ट्रक और कार की दिशा और दशा कुछ और ही कहानी कह रहे हैं। 

100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हाईवे पर फर्राटा भर रहा था ट्रक

उन्नाव रेपकांड से जुड़ा मामला होने के कारण रायबरेली के साथ ही लखनऊ तक बैठे पुलिस अफसरों में हड़कंप मचा है। ट्रक की रफ्तार 100 किमी प्रति घंटे थी। इसी दौरान ट्रक और कार में भिड़ंत हो गई। हादसे में घायल रेप पीड़िता के मामले में भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर जेल में बंद चल रहे हैं। मामला राजनीति रंग न ले, इसलिए पुलिस भी इसे सड़क हादसे के साथ ही साजिश को भी देखते हुए पड़ताल कर रही है। एसपी सुनील कुमार सिंह का कहना है कि वैसे तो प्रथम दृष्टया मामला हादसा है, लेकिन इसकी पड़ताल हर बिंदु पर कराई जा रही है।

ट्रक में आगे का नंबर पुता, जबकि पीछे पूरा लिखा था

कार से भिड़ने वाले ट्रक के आगे यूपी 71 लिखा था, जबकि बाकी नंबरों में कालिख पुती थी, जबकि पीछे यूपी 71 एटी 8300 लिखा हुआ है। इस मामले को लेकर भी पुलिस पड़ताल कर रही है कि ऐसा क्यों है? इसकी भी जांच की जा रही है कि कहीं नंबर को लेकर कोई गफलत तो नहीं है।

दूसरे गांव में मिला चालक, अटौरा चौकी में पूछताछ

उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता सड़क दुर्घटना में घायल
उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता सड़क दुर्घटना में घायल - फोटो : अमर उजाला
हाईवे पर हुई घटना के बाद चालक मौके से भागकर दूसरे गांव पहुंच गया। उच्चाधिकारियों के मामले को गंभीरता से लेने के बाद पुलिस ने तेजी दिखाते हुए उसे दूसरे गांव से दबोच लिया। चालक का नाम आशीष पाल बताया जा रहा है, जो फतेहपुर जिले का रहने वाला है। वहीं का ट्रक भी बताया जा रहा है। गुरुबख्शगंज थाने की अटौरा चौकी में रखकर चालक से घटना के बारे में पूछताछ की जा रही है। रात में उसे गुरुबख्शगंज थाने ले जाया जा सकता है।

मृतकों को लेकर रही ऊहापोह की रही स्थिति
घटना की जानकारी होने के बाद सदर कोतवाल अतुल सिंह, गुरुबख्शगंज थानेदार राकेश सिंह और अटौरा चौकी इंचार्ज कमलेश कुमार जिला अस्पताल पहुंचे। इस दौरान मृतकों की पहचान करने को लेकर ऊहापोह की स्थिति रही।

एक्सपर्ट टीम के लिए किया गया अनुरोध :  एसपी
एसपी ने बताया कि हाईवे पर हुई घटना की पड़ताल के लिए विधि विज्ञान प्रयोगशाला लखनऊ के डायरेक्टर से जांच के लिए एक्सपर्ट टीम को भेजने के लिए अनुरोध किया गया है। लखनऊ से एक्सपर्ट टीम भी आकर इस मामले की पड़ताल करेगी और जानने की कोशिश करेगी कि यह घटना कैसे हो गई। हादसा ही है या फिर कुछ और तो नहीं है।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00