विरोधी घर में किए नजरबंद, सुरक्षा रही चाक चौबंद

Noida Bureau नोएडा ब्यूरो
Updated Fri, 26 Nov 2021 01:51 AM IST
Anti house arrest, security tightened
विज्ञापन
ख़बर सुनें
ग्रेटर नोएडा। नोएडा एयरपोर्ट के शिलान्यास और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम की सुरक्षा के लिए पुलिस-प्रशासन व विभिन्न सुरक्षा एजेंसियों की मेहनत रंग लाई। कार्यक्रम के दौरान सुरक्षा चाक-चौबंद और मुस्तैद रही। विरोध करने की चेतावनी देने वाले लोगों को पुलिस ने बुधवार रात से ही नजरबंद कर लिया था। बड़ी संख्या में ऐसे लोगों को नोटिस देकर कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी गई थी।
विज्ञापन

दादरी के सम्राट मिहिर भोज प्रतिमा प्रकरण में काले झंडे लेकर निकले कुछ लोगों को पुलिस ने रोक दिया। वहीं, कार्यक्रम स्थल और रास्तों पर भी पुलिस फोर्स तैनात रही। ज्ञापन देने निकले किसानों को दनकौर में रोका गया। हालांकि, वहां किसान व पुलिस की नोकझोंक भी हुई। इस बीच चकमा देकर हाईकोर्ट बेंच की मांग कर रहे आगरा के वकील सभा स्थल पर बैनर ले जाने और लहराने में कामयाब हो गए। इसे कड़ी सुरक्षा के बीच सुरक्षाकर्मियों की चूक माना जा रहा है।

चेतावनी देने वालों के बेडरूम में सोए पुलिसकर्मी
विरोध प्रदर्शन व काले झंडे दिखाने की चेतावनी देने वालों को नजरबंद कर पुलिसकर्मी उनके बेडरूम तक में सोते नजर आए। इसके अलावा ऐसे लोगों को चेतावनी के लाल और सफेद रंग के नोटिस भी भेजे गए। इसमें उन पर किसी भी तरह की कानून व्यवस्था बिगड़ने पर कार्रवाई की चेतावनी दी गई थी। आजाद समाज पार्टी के जिलाध्यक्ष रविंद्र भाटी ने दादरी में सम्राट मिहिर भोज प्रतिमा के शिलापट्ट से गुर्जर शब्द हटाने को लेकर विरोध की चेतावनी दी थी। रविंद्र भाटी ने बताया कि इसके बावजूद काले झंडे लेकर निकलने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक दिया। उनकी पुलिस से नोकझोंक भी हुई। सपा युवजन सभा के जिलाध्यक्ष दीपक नागर को भी पुलिस ने हिरासत में रखा। राष्ट्रीय लोकदल के जिलाध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी, किसान एकता संघ की राष्ट्रीय महिला अध्यक्ष गीता भाटी और कांग्रेस सेवादल के महासचिव अशोक पंडित को पुलिस ने उनके घर में ही नजरबंद किया।
---
आज किरेन रिजिजू से वकीलों के प्रतिनिधिमंडल की वार्ता
जनपद दीवानी एवं फौजदारी बार एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष मनोज भाटी ने बताया कि हाईकोर्ट बेंच स्थापना केंद्रीय संघर्ष समिति (पश्चिमी उत्तर प्रदेश) के बैनर तले 25 अगस्त को परी चौक पर एकत्रित होकर फिर जेवर जाकर प्रधानमंत्री को ज्ञापन सौंपने की घोषणा की गई थी, लेकिन केंद्रीय कानून मंत्री किरेन रिजिजू से प्रतिनिधिमंडल की वार्ता शुक्रवार शाम चार बजे निर्धारित होने के बाद उन्होंने ज्ञापन देने के निर्णय को रद्द कर दिया है। प्रतिनिधि मंडल में मेरठ बार के अध्यक्ष महावीर सिंह त्यागी, समिति के संयोजक सचिन चौधरी, मेरठ बार के पूर्व अध्यक्ष नरेंद्र पाल सिंह, मुरादाबाद के अध्यक्ष आदेश श्रीवास्तव, गौतमबुद्धनगर के अध्यक्ष मनोज भाटी शामिल हैं।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00